मेरी रंडी माँ की चुत में खुजली। Xxx Mom Fuck Kahani

मैं अपनी Xxx Mom Fuck Kahani सुनता हूँ। वह पापा से चुदाई करने से खुश नहीं थी, इसलिए मम्मी हर बार दूसरे मर्द पटाकर अपनी गर्म चूत को ठंडा करती थी।

दोस्तो, मैं अपनी हवसी माँ की असली Xxx Mom Fuck Kahani लिख रहा हूँ।

मेरी उम्र 21 वर्ष है और मेरी माँ 41 वर्ष की है।

उनका नाम ललिता है। वे सुंदर और काफी सेक्सी हैं। उनका गांड काफी मोटा है।

यदि आप भी अपनी कहानी इस वेबसाइट पर पब्लिक करवाना चाहते हैं तो नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके अपने कहानी हम तक भेज सकते हैं, हम आपकी कहानी आपके जानकारी को गोपनीय रखते हुए अपनी वेबसाइट पर प्रकाशित करेंगे

कहानी भेजने के लिए यहां क्लिक करें ✅ कहानी भेजें

मेरी माँ चुदाई करवाना चाहती हैं और चाहे तो किसी को भी अपनी हवस की आग में पटक देती हैं।

मेरा मतलब है कि वे सिर्फ अपने ग्राहक से पैसे नहीं लेती हैं, बाकी उनकी हरकत किसी वेश्या की तरह है।

यह Xxx Mom Fuck Kahani इतनी बेबाकी से लिख रहा हूँ क्योंकि मैं बचपन से अपनी माँ को अलग-अलग आदमी से खुलकर चुदवाते देखा हूँ।

आज तक मुझे पता है कि वे कम से कम दस मर्दों से चुदाई कर चुकी हैं।

Xxx Hot Mom Sexy Kahani

हमारे परिवार में एक माँ और दो भाई-बहन हैं।

मेरे पिता चार साल पहले मर गए।

मेरी माँ की शादी बहुत छोटी उम्र में हुई थी।

मम्मी और मेरे पापा की उम्र में कई साल का अंतर था।

उस समय मम्मी के परिवार में एकलौती लड़की थी, क्योंकि पापा सरकारी काम करते थे।

उनके परिवार में कोई भी सरकारी नौकरी नहीं करता था।

इसलिए पापा अपनी नौकरी के चलते शहर में रहते थे और मम्मी गांव में।

मेरा जन्म होने के बाद हम सभी को गांव से शहर में आना पड़ा।

मम्मी की उम्र में अंतर देखकर, पापा के डिपार्टमेंट के लोगों ने उन्हें पापा की पत्नी नहीं माना करते थे।

उन्हें लगता था कि ये कोई और व्यक्ति हैं, और इसी वजह से मेरी माँ को हर कोई गाली देता था।

मम्मी के परिवार से बहुत से लोग शहर में रहते हैं, और पापा के परिवार से भी बहुत से लोग।

जब मैंने अपनी हवसी मम्मी की चुदाई पहली बार सुनी, तो मैं हैरान हो गया।

छोटा होने के कारण मुझे मम्मी के साथ सोना पड़ा, जबकि दीदी, भैया और पापा एक अलग कमरे में सोते थे।

उस समय मैं माँ के पास रहता था और दीदी भैया स्कूल जाते थे।

एक दिन, वे सब खाना खाकर सो गए।

तभी मेरे चाचा ने लाइट बंद कर दी और वह मम्मी के साथ सोने आगए।

जब वे मम्मी के बगल में आकर सो गए, चाचा ने तुरंत उसे चूमना शुरू कर दिया।

थोड़ी देर में वे माँ पर चढ़ गए।

अंधेरे में भी कुछ कुछ दिखाई दे रहा था।

मम्मी पूरी तरह से नंगी नहीं थीं; वह सिर्फ पेटीकोट पहने हुए थीं और कुछ भी नहीं पहनी थीं।

माँ पैंटी नहीं पहनी थी।

लंबे समय तक चूमने के बाद चाचा ने मम्मी की चूत में अपना लंड ठेल दिया और उसे धीरे-धीरे अंदर बाहर निकालने लगे।

मैं बगल में सोया था, इसलिए मैं उनको ये सब करते देख रहा था।

कुछ देर बाद चाचा ने चार नंबर का गियर लगाकर माँ की चूत चुदाई करना शुरू कर दिया।

मम्मी पलंग रही थीं और हिल रही थीं, लंबी सांसें लेती थीं।

इसे भी पढ़ें   दोस्त की मा की चुदाई का किस्सा | Friend Ke Maa Ki Chudaai

उस समय माँ को चाचा ने बहुत देर तक चोदा था।

ऐसा सप्ताह में तीन से चार बार होता था; कभी-कभी दिन में तो कभी-कभी रात में।

हम तीनों के जन्म के बाद हमारे पापा ने माँ से चुदाई नहीं की।

दूसरी ओर, माँ लंड से प्यार करती थी।

लौड़े के लिए वे रंडी बन जाती थीं।

साली बेवकूफ किसी भी आदमी से चुदवा लेती थी।

और ऐसा क्यों हुआ?..। मुझे बहुत जल्दी पता चला।

मुझे पता चला कि मेरी माँ को कठोर लौड़े की जरूरत है, जिसके चक्कर में वे किसी के सामने भी अपनी टांगें फैला देती हैं।

अब बस मैं अपनी माँ को बिल्कुल नंगी देखना चाहता था।

चाचा की दृष्टि से मैं मम्मी को देखने लगा।

Desi Mom Ki Chudai Kahani

लेकिन मैं उनसे प्यार करता हूँ, इसलिए मैं सिर्फ उनके खेल को देखकर अपना लंड हिलाता हूँ।

एक दिन मैं अपनी माँ के बगल में सोया था जब वह सो रही थी।

मैं धीरे-धीरे माँ की साड़ी को ऊपर कर रहा था।

मुझे उनकी चूत देखने की उम्मीद थी।

लेकिन उन्होंने चड्डी पहनी हुई थी उस दिन। मैं निराश हो गया।

मैं हर दिन ऐसा करता था कि मम्मी का छेद कभी भी दिख जाए।

मेरा सपना एक दिन पूरा हुआ जब मेरी माँ ने चड्डी नहीं पहनी थी।

मैं उनकी चूत को देखा।

मम्मी अचानक जाग गईं और मुझे देखकर अपनी साड़ी ठीक करने लगीं।

डर से मैं वहां से भाग गया।

मुझे भी कुछ नहीं बताया गया।

ऐसा होता रहा।

एक दिन चूत के दर्शन होते थे और दूसरे दिन नहीं।

मैं मुठ मारकर खुश हो जाता था।

उस समय मेरे लंड से बहुत अधिक पानी भी नहीं निकलता था।

मैं अपनी माँ से चुदाई करते हुए सपने देखता था और बाथरूम में जाकर अपने छोटे से लंड को हिलाता था।

उसी समय मैं ब्लू फिल्में देखने की आदत डाल दी।

मेरे भाई मोबाइल में ब्लू फिल्में रखता था। मैं चुपचाप उनका मोबाइल लेकर ब्लू फिल्म देखता था।

मैंने एक रात सपना देखा कि मैं अपनी माँ को चोद रहा हूँ। मेरी नींद अचानक खुल गई जब मेरे लंड से बहुत ज़ोर से पानी निकल रहा था।

मैं भयभीत था कि क्या हुआ!

मैंने नहीं समझा कि लंड साला स्वयं भी रस निकालता है।

धीरे-धीरे मैं सब कुछ जानने लगा।

मैं सिर्फ ब्लू फिल्म देखकर या माँ के बारे में सोचकर मुठ मार लेता था।

मेरी युवावस्था अब पूरी हो चुकी थी।

उस समय चाचा की भी शादी हुई थी, और वह अपने परिवार के साथ रहने लगा था।

अब माँ की हवस को कौन मिटाता? इसलिए माँ ने एक ड्राइवर को पटा लिया।

अब वे उससे चुदवाया करती थीं।

ड्राइवर बहुत कम आया करता था, इसलिए मामला हल नहीं हुवा था।

माँ हवसी थीं..। वे किसी भी व्यक्ति से चुदवा सकती थीं।

तभी एक बेवकूफ आशिक आया।

Hot Mom Chudai Ki Desi Kahani

फिर उसके साथ सेक्स किया गया।

वह मेरी माँ को पूरी तरह से नंगी करके चोदता था और उसके फोन में उसकी नंगी तस्वीरें खींचकर रखता था।

इसे भी पढ़ें   होटल में देखी जापानी माँ बेटे की चुदाई

उससे चुदाई करवाने के लिए मेरी मादरचोद रंडी मम्मी पगलाई सी रहती थीं।

मेरी रंडी मम्मी को उसके बारे में पता नहीं था।

उस आदमी को सिर्फ मम्मी के पैसे से प्यार था। उसकी वजह से मम्मी पापा से तक लड़ाई हुई।

फिर बुरी तरह से खराब स्वास्थ्य के कारण पिता ने काम छोड़ दिया।

हम एक अलग घर में चले गए।

उस आशिक़ की शादी भी कुछ दिन बाद हो गयी।

वह आशिक और मम्मी अलग हो गए।

मेरी रंडी माँ अब अपनी चूत की आग में जल रही थी।

नए घर में आने पर, हर किसी का अपना अलग कमरा था, लेकिन मेरी माँ मुझे अपने बगल में सुलाती थीं।

वे ऐसा क्यों करती थीं, पता नहीं।

मैं उस समय हर समय मॉम-सन से संबंधित सेक्स वीडियो और कहानी देखता और पढ़ता था। वीडियो देखने के बाद मुठ मारता था।

तब मुझे रहा नहीं जाता था; मुझे लगता था कि मैं मम्मी को पकड़ कर अभी चोद दूँगा।

लेकिन ऐसा करने से मैं बहुत गलत होता।

मेरी पुरानी आदत एक रात जब मेरी माँ सो गई।

उस समय मैं कपड़ों के ऊपर से मम्मी की गांड में लंड लगाकर रगड़ दिया करता था।

मैं मम्मी का हाथ पकड़कर उसे अपनी चड्डी में डाल देता था। उस समय मैं सोने का नाटक करता था और माँ भी कुछ नहीं बोलती थी।

बस यही होता था।

एक रात, मैंने मम्मी की साड़ी ऊपर को देखा तो उन्होंने कुछ नहीं पहना था।

मैंने मम्मी की गांड के छेद में अपना लंड डालना शुरू किया, लेकिन वह नहीं घुस पाया।

गांड के छेद से लंड अलग हो रहा था।

मैं ऐसा करते हुए हिलने लगा जब मेरा लंड अचानक चूतड़ों की दरार में चला गया।

कुछ देर बाद मैं नियंत्रण खो दिया और मम्मी की गांड के छेद से चूत तक मेरा पूरा लंड पहुंचा।

मैं जल्दी से अपना लंड निकालकर चुपचाप सोने लगा।

मम्मी को अहसास हुआ तो उठकर बैठ गईं।

वे अपने सिर पर हाथ रखकर कुछ विचार कर रही थीं।

मैं उन्हें देख रहा था, ऐसा लगता था कि मम्मी सोच रही थी कि ये पानी कहां से आया।

मैं भी डर गया।

हालाँकि, वे चुपचाप सो गईं।

सुबह मुझे डर लग रहा था और मेरी गांड फट रही थी कि मम्मी उस बात को किसी को बता दें।

मुझे अब ऐसा करने की आदत हो गई है।

Indian Mom Ki Hindi Sex Stories

जैसे मैंने पहली बार मम्मी की गांड के छेद में पानी छोड़ा था, मैं बिंदास अपना लंड उसकी गांड में डाल देता और ब्लू फिल्म देखते हुए कमर को पीछे करके रस छोड़ देता था।

यह काम बहुत दिनों तक चला।

मैं थोड़ा समझ गया और फिर ये सब करना बंद कर दिया।

अब मैं सिर्फ मॉम की चुदाई की ब्लू फिल्में देखकर सोता था।

मित्रों, बहुत दिन बीत गए हैं।

घर में दूधिया दूध देने आता था।

मैं नहीं जानता कि माँ ने उसे कब पटा लिया।

एक रात माँ ने उसको फोन किया।

इसे भी पढ़ें   नींद की गोली देकर मॉम को चोदा। Step Mother Xxx Kahani

उस दिन मम्मी ने हम सबको जल्दी सोने को कहा।

मैंने समझा कि कोई आने वाला था।

रात को वे कहा, “तुम लोग यहाँ सो जाओ, मैं बाहर वाले कमरे में सो रहा हूँ।”

मैं जानता था कि क्या हो रहा है, लेकिन मैं कुछ नहीं कर सकता था।

मैं चुपचाप उठा और दीदी सो गईं।

मैंने बाहर दूध वाली साइकल देखी।

मैंने पाया कि मेरी रंडी मम्मी ने दूधवाले को चुदाई करवाने के लिए फोन किया है।

वैसे भी, मेरा लंड मम्मी के नाम से ही खड़ा है, इसलिए मैं पूरी रात खड़ा रहा।

दूध वाले ने फिर Xxx मॅाम फक का मजा लिया।

वे मेरे बगल में आकर सो गईं, जब मैं सोया नहीं था।

मुझे अब सिर्फ किसी तरह इन्हें चोदा जाना था।

मैं बाथरूम में जाकर सो गया।

अब माँ को एक और चुदाई करने वाला मिल गया।

उन दोनों को ऐसी स्थिति में कई बार देखा गया है।

जब मैं उनकी ओर देखता हूँ, तो मम्मी बस हंसती रहती है।

मैं भी अपनी माँ से हवस वाला प्यार करता हूँ।

Antarvasna Mom Ki Hot Xxx Kahani

मम्मी भी अपनी हवस के आगे हम लोगों की भावनाओं को नहीं समझती। वे सिर्फ अपने मन की बात करते हैं।

पिताजी की मौत भी हो गई थी, लेकिन माँ को सिर्फ अपनी हवस मिटाने का नशा है।

एक बार मैंने अपनी माँ को चोदने का विचार किया..। लेकिन न जाने क्यों मन में एक अजीब सा डर भी आता है और अंदर से लगता है कि सब गलत है।

मैं सिर्फ यही सोचकर हाथ से काम करता।

मम्मी एक दिन आ गईं जब मैं मुठ मार रहा था।

मैंने इन सब को तुरंत बंद कर दिया।

मम्मी ने देखा और मुस्कुराकर चली गई।

फिर दूसरे दिन मैंने यही सोचा।

इसलिए मैं सिर्फ सप्ताह में एक दो बार मम्मी से मुठ मारता हूँ।

भाई, आज मैं किसी भी सुंदर लड़की को चोदने के लिए ले आता हूँ। लेकिन मेरी माँ को ध्यान में रखकर मेरा लंड खड़ा नहीं होता।

मैं आज 21 साल का हूँ, लेकिन मेरी मम्मी मेरे साथ ही सोती हैं। मैं उनका कारण नहीं जानता।

उनकी इसी कार्रवाई मुझसे मुठ मरवाती है।

प्रिय, मेरी ये Xxx Mom Fuck Kahaniअसली है। भले ही आप मानते हैं या नहीं।

प्लीज कमेंट सेक्शन में अपने विचार व्यक्त करें।

storylalita@gmail.com पर संपर्क करें

Related Posts

Report this post

मैं रिया आपके कमेंट का इंतजार कर रही हूँ, कमेंट में स्टोरी कैसी लगी जरूर बताये।

Leave a Comment