बड़ी दीदी को चुदते हुए पकड़ा। Xxx Hot Sister Group Sex Kahani

जब मैं Xxx Hot Sister Group Sex Kahani पढ़ा, तो मुझे अपनी बहन बहुत सेक्सी लगी। मैंने उसे चोदना चाहा। मैंने एक पड़ोसन से सुना कि मेरी बहन चालू माल है।

जय शर्मा मेरा नाम है।

मैं मध्य प्रदेश के भोपाल में रहता हूँ।

मेरे परिवार में चार सदस्य हैं; मैं, मेरी बड़ी बहन मंजू शर्मा और मम्मी पापा।

यदि आप भी अपनी कहानी इस वेबसाइट पर पब्लिक करवाना चाहते हैं तो नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके अपने कहानी हम तक भेज सकते हैं, हम आपकी कहानी आपके जानकारी को गोपनीय रखते हुए अपनी वेबसाइट पर प्रकाशित करेंगे

कहानी भेजने के लिए यहां क्लिक करें ✅ कहानी भेजें

आपने मेरी पिछली कहानी आंटी की काली चुत देखकर मन मचला। Xxx Hot Aunty Ki Kali Chut

पढ़ी थी।

यह एक Xxx Hot Sister Group Sex Kahani है, इसलिए आपको हम दोनों के बारे में पता होना चाहिए।

मम्मी 45 और पापा 50 वर्ष के हैं, और मंजू दीदी 24 वर्ष की है।

मैं 21 वर्ष का हूँ।

Xxx Hot Sister Hindi Sex Stories

मैं एक खूबसूरत पहलवान की तरह मर्द हूँ और अपने गाँव की चार भाभियों को खा चुका हूँ।

मैंने भाभियों को पेलने की चर्चा इसलिए की है क्योंकि मुझे उनसे पता था कि मेरी बहन बहुत चुदक्कड़ है और एक भाभी के साथ लेस्बियन सेक्स करती है।

मेरी बहन ने फोरसम सेक्स भी किया था।

उस भाभी को चोदने के बाद मुझे पता चला कि मेरी बहन एक रांड है और उसे चोदने में कोई बुराई नहीं है।

साथ ही, मेरी भाभी ने कहा कि मैं कुछ ऐसा कर सकती हूँ कि तुम उसको मेरे घर में ही चोद ले।

मैंने कहा कि मैं सोचकर बताऊंगा कि क्या मुझे अपनी बहन से सेक्स करना चाहिए।

“लंड और चूत में सिर्फ चुदाई का संबंध है,” भाभी ने हंसते हुए कहा। भाई बहन का संबंध दिखाने के लिए है।

उस दिन मैं भाभी से चुदाई करके वापस आ गया और कुछ नहीं बोला।

मैंने भाभी के घर से निकलते ही उनसे कहा कि मैं आपकी चुदाई करता हूँ और मेरी बहन को इसकी जानकारी नहीं देना, वरना मैं फिर से आपको चोदने नहीं आऊंगा।

हां, भाभी ने कसम खाकर कहा था।

मुझे पता चला कि मेरी बहन ने एक बल्ले से नहीं बल्कि कई बल्ले से अपनी चूत गांड चुदवाई है।

मैं अपनी दीदी को जल्द से जल्द चोदना चाहता था, लेकिन सही मौका नहीं मिल पा रहा था।

जिस तरह से मैं घर में दीदी को देखता था, शायद उसने समझा होगा कि मैं उनकी गांड और चूचियों को देखता हूँ।

एक दिन माँ और पापा दोनों शादी के लिए नानी के घर गए।

तीन दिन बाद वापस आना था।

मैं और दीदी उस समय घर में अकेले थे।

रात करीब बारह बजे मैं स्नान करने उठा तो दीदी के कमरे से कुछ आवाज आई।

ध्वनि सुनकर मैं दीदी के कमरे की ओर चला गया. मैंने देखा कि वह अपने प्रेमी धर्मेन्द्र के साथ चूत चुदवाते हुए उसे किस कर रही थीं।

मैं वहीं से शोर मचाया: यह सब हो रहा है..। क्या घर एक रंडीखाना है?

दीदी और उनका प्रेमी मेरी कड़क आवाज से भयभीत हो गए।

इसे भी पढ़ें   Mummy Ke Sath 2 Chut Aur Chodi

वे चादर से ढककर एक तरफ खड़ी हो गईं।

धर्मेन्द्र ने भी एक तकिया उठा कर अपने लंड पर लगाया और एक कोने में खड़ा होकर थरथर कांपने लगा।

मैंने घुड़की देकर दरवाजा खोला।

मैंने पहले दरवाजे की कुंडी लगाई जब मैं अंदर आया।

धर्मेन्द्र कमरे से बाहर निकलने की कोशिश करते हुए मैंने उसे बिस्तर पर गिरा दिया।

मैं दीदी को देखता रहा।

तब धर्मेन्द्र और दीदी ने मुझे सॉरी कहा।

साथ ही, मैंने दीदी की चुदाई का सही समय जानकर सोचा कि यही सही समय है और इसका लाभ उठाना चाहिए।

मैंने पहले उन दोनों को नियंत्रित किया और माफी मांगने को कहा।

धर्मेन्द्र ने अपने कान पकड़े और मुझसे माफी मांगी।

तब मेरी बहन मंजू आई।

Desi Sister Ki Chudai Ki kahani

तो मैंने उससे कहा कि मैं अपने माता-पिता को बताऊंगा कि घर में चकला चल रही है और तुम सिर्फ धर्मेन्द्र के साथ नहीं बल्कि कई आदमी से सेक्स करती हो।

यह सुनकर धर्मेन्द्र कुछ गुस्से में मेरी दीदी की ओर देखने लगा।

जब उन्होंने अपने जुगाड़ को गुस्सा होते देखा, मंजू दीदी ने मेरी बात का विरोध किया, कहा, “छोटे, यह तुम क्या कह रहे हो?” धर्मेन्द्र मैं प्यार करता हूँ। मैंने इसे घर बुलाया है, यह मेरी छोटी सी गलती है।

मैंने कहा कि धर्मेन्द्र के सामने बहुत पवित्र नहीं होना चाहिए। आप सारे गाँव में चर्चा में हैं। अभी निहारिका भाभी से बात करूँ?

मेरी बहन ने निहारिका भाभी के साथ ग्रुप और लेस्बियन सेक्स किया था।

मेरी बहन का चेहरा उनका नाम सुनते ही हवा में उड़ गया।

वे चुप रह गई।

धर्मेन्द्र मंजू दीदी से कहा, “तुम ऐसी होगी, मैं नहीं जानता था।”

ठीक उसी समय मैंने धर्मेन्द्र को गाली देते हुए कहा, “ओए भोसड़ी के..।” ईमानदारी से अधिक चरित्रवान होने की कोशिश मत करो। आप भी आधी रात को मेरी बहन को चोदने मेरे ही घर में आए थे।

वे दोनों मुझे नियंत्रित करने के लिए चुप हो गए।

अब तक, दीदी ने बाथरूम में जाकर ब्रा पैंटी और सलवार कुर्ता पहन लिया था।

फिर मैंने धर्मेन्द्र को माफ कर दिया, और वह मेरे कंधे पर हाथ रखकर मुझे माफ करने लगा।

मैं चिल्लाया, ” घंटे की माफ़ी”। तुम्हारी माँ को चोदूँ..। मेरी बहन को चोदकर माफ़ी माँग रहा है।

यह सुनकर धर्मेन्द्र चुप रह गया।

मेरी तेज आवाज सुनकर दीदी बाहर आ गईं और मुझे देखने लगीं, थोड़ा उदास होकर।

दीदी सलवार सूट में बेहतरीन लगी।

दीदी के बूब्स चुस्त सलवार सूट के कारण उनके कुर्ते के ऊपर से ही काफी बड़े लग रहे थे।

धर्मेन्द्र ने मेरी कामुक नजरों को भांप लिया था और मेरी दीदी को चोदने के बाद उन्हें रांड समझकर अब मुझे दीदी को चोदते हुए देखना चाहता था।

मैंने कहा कि कल को कोई और भी आपके ऊपर चढ़ेगा, दीदी, आज मैंने तुम दोनों को सेक्स करते हुए पकड़ा है। अब क्या करेंगे?

इसे भी पढ़ें   प्रियंका दी की चुदाई - Pura Nanga Pariwar

धर्मेन्द्र ने दीदी को संकेत दिया और मेरी बात सुन ली।

Hot Sister Group Sex Kahani

साथ ही, दीदी ने मेरी बात को समझा और मौके का लाभ उठाना सही समझा।

तब दीदी ने अपनी सलवार कुर्ती जल्दी से उतार दी।

उसने काली ब्रा पैंटी पहनी हुई थी।

दीदी और भी सेक्सी लगने लगी।

दीदी के बड़े बूब्स एक काली ब्रा में फंस गए।

दोनों बूब्स को देखने से लगता था कि दोनों ब्रा के कपों में बहुत सारे आम फंसे हुए हैं।

मेरा लंड खड़ा हो गया जब मैं दीदी को इस हालत में देखा।

धर्मेन्द्र ने फिर दीदी की ओर इशारा किया।

वे मेरे पास आकर मेरी पैंट की जिप खोल दीं और फिर नीचे झुक गईं।

जब मंजू दीदी ने मेरा लंड मुँह में डाला, मेरा सारा बदन ठंडा हो गया।

मैं रोने लगा।

लॉलीपॉप की तरह, मंजू दीदी ने मेरे लंड को पूरा मुँह में डाल दिया।

दूसरी ओर, दीदी का प्रेमी धर्मेन्द्र ने भी बाक्सर से अपना लिंग निकाल लिया था।

उसका लंड मेरे लंड से लगभग आधा छोटा था।

धर्मेन्द्र ने दीदी की सलवार का नाड़ा फिर से खोला।

उसने दीदी की पैंटी साइड में डाल दी।

वह मेरी दीदी की गांड चाटने और सूंघने लगा।

मेरे लौड़े में दीदी ने आग लगा दी।

वासना का सैलाब दीदी के अंदर भी बह निकला जब मैंने अपना हाथ आगे बढ़ाकर दीदी के एक दूध को मसलना शुरू किया।

वह बहुत चुदासी थीं।

जय, अब डाल दे, दीदी ने कहा।

मैं नीचे लेट गया और धर्मेन्द्र ने यह सुना।

मेरे ऊपर दीदी चढ़ गई।

मंजू दीदी ने इशारा करते हुए अपनी चूत के ऊपर मेरे बड़े लंड को हाथ से पकड़ लिया।

मैंने तुरंत अपने लौड़े को धक्का दिया।

उसने कभी इतना बड़ा लंड नहीं लिया था, इसलिए दीदी रोई।

दीदी रोने लगीं और मुझे बाहर निकालने को कहने लगीं जब मेरा लंड सिर्फ दो इंच अंदर था।

मैंने दीदी के मुँह पर जोर से झटका दिया।

Hot Bahan Ki Xxx Chudai Ki Kahani

दीदी की चूत से हल्का सा खून निकलने लगा जब मैं पूरा लंड डाल दिया।

मेरे लौड़े को दीदी धीरे-धीरे अपनी चूत में नचा रही थीं।

दीदी को चोदने का यही कातिलाना तरीका था।

मैं दीदी के बूब्स पकड़कर झटके मारने लगा।

दीदी उछल उछल कर अपने लंड और चूत को लड़वाती हुई आह आह करती थीं।

उधर धर्मेन्द्र दीदी की गांड को देखकर हंस पड़ा।

ऐसा लगता था कि वह दीदी को मार डालने का विचार कर रहा था।

अब उसने दीदी को देखा और संकेत दिया, फिर अपने लौड़े में थूक लगाकर उसे चिकना कर दिया।

उसने दीदी को पकड़ा, तो वह हिलना बंद कर दी।

धर्मेन्द्र ने एक झटके में अपना आधा लंड गांड में डाल दिया।

दीदी ने चिल्लाकर कहा कि उनकी मां मर गई, जब उसका लंड उनकी गांड में पड़ा। भैन के लिंग..। एक-एक करके चोदना..। मेरी गांड फट गयी।

इसे भी पढ़ें   मालिश से कामुक होकर मम्मी चुदवाने लगी

धर्मेन्द्र ने दीदी की गांड पर एक कठोर चांटा मारा और कहा, “साली रंडी ले… ले कुतिया मेरा लंड अपनी गांड में ले।”

साथ ही, दीदी ने कहा, “साले भोसड़ी के पहले पूरा डाल तो सही… आह।”

मैं खुली आंखों से दोनों को गाली देते देखा।

धर्मेन्द्र ने दीदी का कंधा पकड़कर गांड में पूरा लंड डाल दिया।

दीदी चीखते हुए उछल पड़ी।

अब दीदी को दोनों लंड मिलकर चोद रहे थे।

अह यसस्स ऊईईई अहह ओह की आवाजें थीं।

पांच मिनट तक इसी आसन पर चुदाई हुई।

फिर धर्मेन्द्र ने दीदी की चूत लेने का मुद्दा उठाया।

धर्मेन्द्र ने कहा कि तुम पीछे आ जाओ।

Indian Didi Ki Xxx Porn Stories

जैसे ही मैं अपना लंड बाहर निकाला, दीदी फिर से हँसीं।

मैंने कहा, दीदी, आपकी गांड बहुत सुंदर है।

धर्मेन्द्र ने कहा कि जय सही कहा, तुम्हारी दीदी की टाइट और सुंदर गांड है।

जैसे ही मैंने अपना लंड दीदी की गांड में डाला, वह कंपने लगी और रोने लगी।

मुझे मना करने लगी।

उस समय मेरे लौड़े में सिर्फ चार इंच की जगह थी।

दीदी ने लौड़ा निकालने को कहा।

मैंने उन्हें गाली देते हुए कहा, “रंडी साली, तू मजे से गैर मर्दों के लंड लेती है और भाई चोद रहा है तो भैन की लौड़ी नाच रही है।”

ऐसा कहते हुए मैंने दीदी की गांड में कठोर धक्का लगाया और उसके चूतड़ में एक कठोर चांटा मारा।

जिससे मेरा लौड़ा अंदर चला गया।

बड़ी बहन की गांड से खून निकलने लगा, और दीदी रोने लगी।

धर्मेन्द्र ने रोते हुए दीदी की चूत से लंड निकालकर उनके मुँह में डाल दिया।

डॉगी स्टाइल में दीदी चुदवा रही थीं और अपने प्रेमी का लौड़ा मुँह में चूस रही थीं।

ये कहानी भी पढ़े – रक्षाबंधन पर भाई से चुद गई। Hot Xxx Didi Sexy Kahani in Hindi

कमरे के साइड में दर्पण में दीदी कातिलाना रांड दिखाई देती थीं।

हम एक ब्लू फिल्म की सेक्सी एक्ट्रेस की तरह लड़ रहे थे।

धर्मेन्द्र और मैंने कई बार दीदी को छेद बदल बदल कर चोदा, फिर झड़ कर सो गए।

इस तरह मेरी दीदी को चोदने का मेरा सपना पूरा हो गया।

अब दीदी और मैं हर रात चुदाई करते हैं।

Xxx Hot Sister Group Sex Kahani आपको कैसी लगी, कृपया बताएं।

Related Posts

Report this post

मैं रिया आपके कमेंट का इंतजार कर रही हूँ, कमेंट में स्टोरी कैसी लगी जरूर बताये।

Leave a Comment