बहन मेरे लंड के नीचे आ गई। Xxx Brother and Sister Sex Story in Hindi

यह Xxx Brother and Sister Sex Story in Hindi पढ़ें कि मेरी सेक्सी बहन मेरे लंड के नीचे कैसे आ गई। घर में एक सेक्स कहानी की पत्रिका मिलने से पहले मैंने बहन को नहीं देखा।

मेरा नाम राहुल है और मैं बहुत समय से अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज पढ़ता हूँ।

आज मैं अपनी पहली सेक्स स्टोरी आपको बता रहा हूँ।

मैं पहले अपनी परिवार की जानकारी देता हूँ।

यदि आप भी अपनी कहानी इस वेबसाइट पर पब्लिक करवाना चाहते हैं तो नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके अपने कहानी हम तक भेज सकते हैं, हम आपकी कहानी आपके जानकारी को गोपनीय रखते हुए अपनी वेबसाइट पर प्रकाशित करेंगे

कहानी भेजने के लिए यहां क्लिक करें ✅ कहानी भेजें

हमारे घर में चार सदस्य रहते हैं।

आपने मेरी पिछली कहानी बीवी की चुत और गांड की सफाई। Wife Sex Story in Hindi

पढ़ी थीं।

पापा, मां, मैं (उम्र 25 साल) और मेरी 20 साल की बहन रिया है।

मेरी बहन रिया देखने में बहुत सुंदर है। उसकी फ़िगर साइज़ 34-28-36 है।

उसके गोरे रंग और क़ातिलाना फ़िगर को देखकर अब तक कई मर्दों की नली से खून निकल चुका है।

वह अक्सर जींस और टॉप पहनकर बाहर निकलती है, जिससे लोग उसे नज़रो से ही चोदने लगते हैं।

आखिरकार, ऐसी सुंदर लड़की को देखकर किसका लंड नहीं खड़ा होगा।

यह दो वर्ष पहले की Xxx Brother and Sister Sex Story in Hindi है।

हम सभी को दीपावली के मां ने सफाई करने के लिए लगाया।

सफाई करते समय मेरी बहन ने मुझे एक पुस्तक दिखाई।

sister sex story

हमने देखा कि पुस्तक में सेक्स कहानियां और सेक्स आसनों का उल्लेख था।

मेरी बहन इसे देखकर पूछने लगी: ये क्या है?

मैंने उसे बताया कि कुछ नहीं है।

इसके बाद मैंने पुस्तक को बंद करके अपने पास रख लिया।

वह गुस्सा होकर वहां से चली गई।

रात को साफ-सफाई करने के बाद हम सब मिलकर खाना खाया और फिर सोने चले गए।

जब मैं और मेरी बहन एक ही कमरे में सोते थे, मैंने कमरे की लाइट बंद कर दी और नाइट बल्ब जला दिया. फिर मैं उसके सोने का इंतज़ार करने लगा ताकि मैं सुबह मिली किताब को पूरा पढ़ सकूँ।

मैंने धीरे-धीरे फोन की लाइट जलायी और बहन सो गई तो मैं किताब पढ़ने लगा।

नाइट बल्ब इतना प्रकाश नहीं देता कि किताब आसानी से पढ़ी जा सकती है।

मैंने इसलिए मोबाइल की टॉर्च जला दी।

उसमें बहन और भाई के यौन संबंधों की भी कहानी थी।

मैं इसे पढ़कर बहुत उत्साहित हो गया और अपने हाथ से अपना लंड सहलाने लगा।

मेरा लंड पूरी तरह खड़ा होकर चड्डी से बाहर निकलने लगा जैसे जैसे कहानी चलती गई।

मैंने अपनी चड्डी से लंड निकालकर मुट्ठ मारने लगा।

मगर दिक़्क़त तब हुई, जब कहानी खत्म हो गई, लेकिन मेरी वासना अभी तक जारी थी।

मेरी बहन की सोती हुई गोरी और चिकनी टांगों पर मेरा ध्यान पड़ा।

मैं उसकी टांगों को देखकर मुट्ठ मारने लगा।

मैंने पहले कभी मेरी बहन को ऐसी नजरों से नहीं देखा था, हालांकि वह घर पर अक्सर शॉर्ट्स पर रहती है।

पर आज मैं अपने आप को रोक नहीं पाया, इसलिए मेरा लंड जल गया. मैं नहीं जानता क्यों।

आज लंड से भी काफी पानी निकला था।

तब मैं बहन की गोरी टांगों को देखते हुए सो गया।

मेरी बहन ने मुझे सुबह जगाया।

इसे भी पढ़ें   ड्राइवर के साथ सेक्स का मज़ा लिया

मेरी बहन ही हर दिन मुझे जगाती थी, लेकिन आज मुझे जगाने का तरीका कुछ अलग था।

कल की बात को लेकर शायद वह अब तक नाराज थी।

पर अब मैं उसकी युवावस्था का आनंद लेने लगा था, इसलिए मुझे उसके गुस्से को प्यार में बदलना था।

जब मैं उठकर कमरे से बाहर निकला, तब तक पापा घर से काम पर चले गए थे, और मां खाना बनाने में लगी हुई थी।

माँ, मैं नहाने जा रही हूँ, बहन ने आवाज दी। तब तक खाना बनाओ। फिर मुझे स्कूल जाना होगा।

मैं हॉल में बैठकर मोबाइल चलाने लगा। मैं बस बहन को नहाते हुए देखता ही रह गया।

गीले बालों वाली सफ़ेद तौलिया उसकी गोरी जांघों तक मुश्किल से पहुंचती थी।

पानी की चमकदार बूँदें उफ्फ उसके गोरे शरीर पर गिरती थीं, जो मुझे बहुत सुंदर लग रहा था।

उसे ऐसे देखते ही मुझे लगा कि मेरी तोप भी पोजीशन लेने लगी है।

indian brother sister sex story

वह सीधे बाथरूम में घुस गया और मुट्ठ मारने लगा।

उसकी नीले रंग की ब्रा मेरे ध्यान में आ गई।

फिर मैं उसकी ब्रा को अपने लंड में डालकर मुट्ठ मारने लगा, पूरा माल उसकी ब्रा पर गिरा दिया।

मैं थोड़ी देर में खुश होकर बाहर निकल आया और खाने के लिए बैठ गया।

बहन भी खाना खा रही थी।

मैंने इसके बाद मैंने पूछा कि वह गुस्सा क्यों है?

उसने कोई उत्तर नहीं दिया।

मैंने फिर पूछा तो उसने कहा कि ऐसा कुछ नहीं है।

मैंने धीरे से उससे कहा कि क्या तुम अभी भी कल की घटना पर गुस्सा हो? तुम्हारा गुस्सा खत्म कर देता हूँ। आज रात मैं तुम्हें वह सब दे दूँगा, जिसके लिए तुम गुस्सा हो।

यह सुनते ही उसका चेहरा खुश हो गया।

वह पूछने लगी, “क्या भाई?

फिर मैं घर पर रहकर शाम का इंतज़ार करने लगा जब वह स्कूल चली गई।

आज दिन काटे नहीं कटते थे।

किसी तरह दिन समाप्त हो गया। मैं अपने कमरे में आ गया जब शाम हुई और सबने खाना खाया।

थोड़ी देर में बहन भी कमरे में आ गई. उसने हल्के जालीदार लाल कपड़े पहने हुए थे और नीचे शॉर्ट्स पहने हुए थे।

वह कमरे में आकर मेरे बगल में बैठ गई और लालच से मेरी तरफ़ देखने लगी।

मैंने फिर उससे कहा कि अभी थोड़ी देर रुको, सभी को सोने दो।

10 बजे के आसपास घर पर माँ-बाप सो गए थे।

जब मैंने उसे धीरे-धीरे उठाया, तो वह तुरंत उठकर बैठ गई।

फिर मैंने उसे किताब निकालकर पढ़ने को दी और उसके बगल में बैठ गया।

वह यौन कहानियां पढ़ने लगी।

मैंने उससे कहा कि वह लेटकर आराम से पढ़े।

वह भी सोकर पढ़ने लगी, बिना कुछ कहे।

उसने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी, तो मैंने धीरे-धीरे उसके गोरी जांघ पर एक हाथ रखा।

शायद वह इतना खो गयी थीं कि उसे पता नहीं चला।

फिर मैंने उसके काले बालों से अपने दूसरे हाथ से खेलने लगा।

मैंने धीरे-धीरे उसके बूब्स पर एक हाथ रखा और उन्हें दबाने लगा।

उसने फिर पूछा, “भाई, ये क्या कर रहे हो?”

इसे भी पढ़ें   मेरी मौसी का लड़का कंडोम वाला लंड मेरी चूत में घुसा रहा था

मैंने उससे कहा, “रिया, तुम इसे पढ़कर जो महसूस कर रहे हो, उससे ज़्यादा मैं तुम्हें पसंद कर रहा हूँ ।”

उसने कहा, “तुम मेरे भाई हो!”

इसके बाद मैंने उसे भाई बहन की यौन कहानी खोला कर पढ़ने को कहा।

brother sister sex story

वह पढ़कर पूछी, भाई, क्या ये सब सच है?

मैंने कहा, और नहीं तो क्या!

फिर मैंने उससे कहा, “रिया, देखो, अब तुम बड़ी हो गयी हो”, और धीरे-धीरे उसके बूब्स को दबाने लगा। मैं तुम्हें सब कुछ सिखाऊंगा क्योंकि तुम्हें सब कुछ पता होना चाहिए।

उसने इस पर कुछ नहीं कहा और धीरे से सिर हिला दिया।

तुरंत मैंने उसके मुलायम होंठों पर अपने होंठ रखकर उसे किस करने लगा।

बाद में वह भी मेरे साथ आने लगी।

फिर मैंने धीरे-धीरे दोनों हाथों से उसके टॉप को उतार दिया।

उसने काली ब्रा पहनी हुई थी, जो उसके गोरे मम्मों को लगभग पूरी तरह से ढक रही थी।

उस काली ब्रा से बाहर निकलते हुए आधे दूध बड़े ही सुखदायक थे।

वह रोने लगी जब मैं ब्रा के ऊपर से उसके दूध दबाने लगा।

‘उफ़्फ़ आह आह उफ़्फ…’ करते हुए वह अपने होंठों को काटती थी।

मैं धीरे-धीरे उसके शॉर्ट्स को खोलने लगा और अपने हाथों को और नीचे ले गया।

मैंने जल्दी ही उसके शॉर्ट्स उतार दिए।

उसने शॉर्ट्स में काले रंग की पैंटी पहनी हुई थी।

हल्की रोशनी में गोरे बदन पर काली रंग की ब्रा और पैंटी, मेरी बहन सेक्सी लग रही थी!

मैं उस पर टूट पड़ा जब मैंने उसे ऐसे देखा।

मैंने उसके होंठ चूमने से शुरू किया।

वह भी मेरा बहुत सहयोग करती थी।

उसकी जीभ कभी मेरे मुँह में तो कभी उसके मुँह में।

फिर मैं उसकी गर्दन पर किस करते हुए उसके मम्मों को चूसने और काटने लगा।

वह रोने लगी, उफ़्फ़ ओह्ह आह।

मैंने अपने थूक से उसके दोनों मम्मों को मसाज किया और उसके पूरे पेट को मसाज किया।

थूक मसाज के बाद उसका शरीर चमकदार था।

तब मैं पैंटी के बगल से ही उसकी चूत में अपनी दोनों उंगलियां डालने लगा।

उसने तुरंत पैरों को सिकोड़ दिया।

फिर मैं उसके दोनों टांगों के बीच अपने सिर ले गया।

उसकी चूत पूरी तरह से गीली हो गई थी।

वह भी लंड के लिए उत्सुक लग रही थी।

मैंने धीरे-धीरे उसकी चूत को चाटने लगा।

उसकी चूत में जीभ डालते ही उसे लगता था कि वह मर चुकी है..। उसकी सिसकारियों से पूरा कमरा गूंज उठा, “उफ्फ आह उम्म शीईई आराम से भैया।”

उसने मेरा सिर पकड़ लिया औरअपनी चूत पर दबाने लगी।

मैंने तुरंत पूरा रस पी लिया जब उसकी चूत से पानी निकला।

उतना स्वादिष्ट रसपान मैंने पहले कभी नहीं किया था।

वह भी कमजोर हो गई।

उसकी गुलाबी चूत के होंठ कितने भयानक दिख रहे थे।

फिर मैंने अपनी चड्डी उतारी और सात इंच लम्बा लंड उसके हाथ में पकड़ा दिया।

वह लंड में हाथ लगाते ही आंखें फाड़ कर सोच-समझकर मुझे घूरे जा रही थी।

real sister sex story

मैंने पूछा कि क्या हुआ?

भाई इतना बड़ा, उसने कहा। मैं भयभीत हूँ!

इसे भी पढ़ें   बीवी के सोने के बाद साली को चोदा। Xxx Jija Sali Hot Sex Kahani

मैंने कहा, “अरे कुछ नहीं होगा; पहले इसे चूसो।”

वह पहले मना करती रही, लेकिन बहुत कहने पर मान गई।

जैसे ही उसने अपनी जीभ से मेरा लंड छुआ, मेरा लंड फटने को हो गया।

पूरी खुशी से उसने मुँह में मेरा लंड लिया।

उसकी सांस रुक जाती और वह छटपटाने लगती, जब मैं उसका सर पकड़कर पूरा अंदर तक लंड डाल देता।

दस मिनट की चुदाई के बाद वह मुझसे कही, “भाई, मेरी चूत में खुजली हो रही है, जल्दी से अब कुछ करो।”

बिना देर किए, मैंने उसे बेड पर लिटा दिया और उसकी गोरी गांड के पीछे एक तकिया डाल दिया।

उसकी गुलाबी चूत बिल्कुल भीगी हुई थी।

बिना देर किए, मैंने उसकी चूत के छेद पर अपना लंड डालकर एक जोरदार झटका मारा।

मेरा लंड झटके के बाद भी उसकी चूत में थोड़ा ही घुस पाया था, इसलिए शायद कभी उसकी चूत नहीं चोदी गई थी।

उसकी आंखें नम हो गईं।

मैंने फिर एक झटका मारा और कुछ देर इंतज़ार किया। उसकी चीख निकल गयी जब मेरा लंड सीधा उसकी चूत में घुस गया।

मैं तुरंत उसके होंठों को चूमने लगा और उसके दर्द कम होने का इंतज़ार करने लगा क्योंकि मैं डर गया कि कहीं कोई सुन ना ले।

जैसे ही उसका दर्द कम हुआ, मैंने अपना लंड धीरे-धीरे बाहर निकालना शुरू कर दिया।

धीरे-धीरे उसे भी मज़ा आने लगा।

वह भी मेरी कमर पर अपने दोनों पैरों को लपेटकर चुदाई करने लगी—उफ़्फ़ आहह हम्म्म शीई ओह आह और तेज… ऐसे ही चोदो। हाय आज मुझे मार डालो..। वाह!

ये कहानी भी पढ़े – भाभी की ख़ातिर भैया से चुदवा लिया | Bhai Behan Ki Free Xxx Kahani

उसके कामुक स्वर निकलने लगे।

बहन की गर्म आवाजें मुझे और भी उत्साहित करती थीं। मैं भी उसे चोदना शुरू कर दिया।

वह अधिक जोर से चिल्लाने लगी, “फक मी..।” और आज मेरी चूत को तेज बनाओ…। वाह!

उस समय वह पूरी तरह से चुदी हुई लड़की की तरह चुद रही थी, लगता था कि बहुत सारे लंड खा चुकी होगी।

मैंने लगभग तीस मिनट की कठोर चुदाई के बाद उसकी चूत में अपना माल छोड़ दिया।

मैंने उसे पूरी रात चार बार चोदा और फिर हमारी आंख लग गई कब पता नहीं चला।

बाद में हमने मिलकर क्या गुल खिलाए, हमें मेल से अवश्य बताएं।

क्या आपको Xxx Brother and Sister Sex Story in Hindi पढ़कर अच्छा लगा?

Related Posts

Report this post

मैं रिया आपके कमेंट का इंतजार कर रही हूँ, कमेंट में स्टोरी कैसी लगी जरूर बताये।

Leave a Comment