एक दुसरे की बहनों की अदल बदल कर चुदाई

इरशाद और जुनेद दोनों स्कूल के समय से दोस्त हैं। तब दोनों के एक गन्दा चस्का लग गया था, दोनों स्कूल से निकल कर अक्सर शहर के बाहर जाकर सेक्सी किताबें पढ़ा करते थे | और एक दूसरे की मुठ मारा करते थे। वे अक्सर अपने क्लास की अध्यापिकाओं के बारे में सोच कर मुठ मारते थे तो कभी पड़ोस की भाभी और चाची को सोच कर उनके बारे में बातें किया करते थे, उनको बाथरूम में नहाते देखने के लिए दिन-दिन भर छत पर रहा करते थे। एक दिन जुनेद बोला- यार इरशाद, आखिर ऐसे कब तक हम मुठ मारते रहेंगे? अब तो इन किताबों से मज़ा नहीं आता है। कोई फिल्म देखने का जुगाड़ करते हैं।
इरशाद ने कहा- तेरी बात तो सही है जुनेद | कल मेरे अम्मी-अब्बू शहर से बाहर जा रहे हैं, घर पर सिर्फ छोटी बहन सकीना रहेगी। हम दोनों अपने कमरे में कल ब्लू फिल्म देखते हैं।
जुनेद बोला- ठीक है दोस्त, कल मैं कोई नई फिल्म की सीडी लाता हूँ, तू तैयार रहना | लेकिन घर में सकीना यानि सकीना होगी..?
जुनेद ने शंका से पूछा। तू फ़िक्र मत कर जुनेद | सकीना कमरे में नहीं आएगी। चल अब घर चलते हैं। अगले दिन जुनेद इरशाद के घर एक ब्लू फिल्म की सीडी लेकर पहुँच गया।
सकीना ने दरवाज़ा खोला- अरे जुनेद भाई जान…? कैसे हो? इरशाद भाई जान तो अम्मी अब्बू को स्टेशन तक छोड़ने गए हैं, इरशाद भाई जान आते ही होंगे, आप अन्दर आ जाओ। चलो, तब तक हम लूडो खेलते हैं।
जुनेद अन्दर चला गया। सकीना उसके लिए पानी लेकर आई। जब वह पानी दे रही थी तब जुनेद की नज़र उसकी कुरते से झांकते छोटे छोटे उभारों पर थी। वह जुनेद को इरशाद की तरह ही भाई मानती थी लेकिन आज वह जुनेद अचानक बहुत ही सेक्सी लग रही थी, जुनेद ने उसके जिस्म को ऊपर से नीचे तक देखा। जुनेद ने उससे कहा- सकीना, आज भाई जान की गोदी में नहीं बैठोगी? क्यों नहीं भाई जान अभी लो | कहते हुए वह जुनेद की गोदी में बैठ गई। अब बोलो, आइसक्रीम खिलाओगे? खिलाऊंगा | लेकिन एक वादा कर कि किसी को बोलेगी नहीं? क्या भाई जान?? सकीना की उम्र मात्र 18 साल की थी, उस पर अभी जवानी धीरे धीरे आ रही थी, उसके सीने पर हल्का हल्का उभार आने लगा था, उसके स्तन छोटी अम्बिया की तरह नुकीले थे। जुनेद ने उसको गोद में लेकर उसकी गोलाइयों को अपने हाथों से नापना शुरू कर दिया। ही ही ही..||| यह क्या कर रहे हो भाई जान गुदगुदी होती है | जुनेद का हाथ उसकी फ्राक अन्दर उसकी चड्डी में था, वह सकीना की छोटी सी नर्म योनि को सहला रहा था- कैसा लग रहा है सकीना…? जुनेद ने उसके गालों को चूमते हुए पूछा। अच्छा लग रहा है भईया | यह एक खेल है सकीना, लेकिन सिर्फ हम दोनों ही खेलेंगे, चुपके चुपके, किसी और को मत बताना।
ठीक है जुनेद भईया |
अन्दर चलो, बेड पर लेट जाओ तुम। जुनेद ने उसको गोद में उठा लिया था, वह उसके सीने से चिपकी थी, जुनेद के हाथ उसके चूतड़ों पर थे, जुनेद ने सकीना को बेड पर लिटा दिया और उसकी छोटी से गुलाबी चड्डी खींच कर निकाल दी।
उसकी योनि छोटी सी थी अन्दर से देखने पर एकदम सुर्ख | जुनेद ने उस पर जीभ लगा दी। ..उईए ईई यह क्या करते हो भाई जान…? सकीना मचल पड़ी जब जुनेद ने उसकी योनि चूसना चाही। कुछ नहीं होगा तुझको | बस तू चुपचाप लेटी रह, तुझे अच्छा लगेगा। कह कर जुनेद ने उसकी टांगें फैला दी और उसकी योनि पर मुँह लगा दिया। सकीना लेटी हुई थी। तभी दरवाज़े की घंटी बजी, जुनेद ने झट से सकीना की फ्राक नीचे की और उसको उठाया और कमरे से बाहर ले गया।
सकीना ने दरवाज़ा खोला।
क्या कर रही थी? सुनाई नहीं देती तुझको घण्टी?|| इरशाद सकीना पर चिल्ला कर बोला।
सकीना सहम गई।
अरे जाने दे न इरशाद, नहीं सुना होगा | …मैं भी रूम में था वरना… जुनेद ने बात सम्हालनी चाही।
बच्ची नहीं है… घोड़ी हो गई है, पढ़ती-लिखती कुछ नहीं है, दिन भर लूडो और टीवी | दसवीं में फेल हो चुकी है। कहते हुए इरशाद ने उसको एक चपत लगाई।
जुनेद ने देखा कि पीछे से सकीना की फ्राक की चैन खुली थी, देखते ही उसकी गांड फट गई। लेकिन फिलहाल इरशाद ने उस पर ध्यान नहीं दिया था।
दोनों कमरे में चले गए, इरशाद ने सीडी लगाई और सकीना को बोला कि अन्दर नहीं आना है।
मूवी में एक अँगरेज़ एक इंडियन लड़की की चुदाई कर रहा था। कुछ ही देर मैं एक अँगरेज़ और एक लड़की और आ गई, वे दोनों भी शुरू हो गए थे, बारी-बारी से दोनों लड़कियों की चुदाई कर रहे थे उनको कुतिया बना कर।
जुनेद और इरशाद दोनों को पसीना आ रहा था, तभी इरशाद ने बेड़ पर पड़ा कपड़ा उठा कर अपना मुँह पोँछा। लेकिन उसमें से उसको अजीब सी महक लगी, उसने कपड़ा खोल कर देखा यह सकीना की चड्डी थी जिससे इरशाद ने मुँह पोंछा था। देखने पर वह सोचने लगा कि सकीना की चड्डी यहाँ क्या कर रही है?
जुनेद का दिल धड़क रहा था, वह इरशाद से नज़रें चुराने लगा, उसने सकीना को आवाज़ दी और रिमोट से मूवी को बन्द कर दिया।
सकीना कमरे में आई, अभी इरशाद के हाथ में उसकी चड्डी थी, लग रहा था कि वह उससे पूछेगा कि यह यहाँ कैसे?
इरशाद- यह ले, तेरे कपड़े हैं और दोबारा मेरे कमरे में नहीं आना चाहिए।
सकीना सहम गई अपनी चड्डी लेकर वह कमरे से चली गई।
जुनेद ने मूवी को दोबारा शुरु की और इरशाद के डाऊन हो गए लंड को सहलाने लगा।
इरशाद- उसको छोड़ साले, यह बता तू सकीना के साथ क्या कर रहा था?
जुनेद- अरे || कुछ तो नहीं यार..||
इरशाद- झूट मत बोल, मुझे चुतिया समझ रहा है? मैंने देखा कि उसकी फ्राक पीछे से पूरी खुली थी, उसकी चड्डी यहाँ क्या कर रही थी.?? और दरवाज़ा खोलने में इतनी देर क्यों हुई…?? सच बता कि तूने सकीना के साथ क्या किया था?
जुनेद- बताता हूँ लेकिन तुझको दोस्ती की कसम | तू गुस्सा नहीं होगा।
इरशाद- पहले तू बता हरामी…?? वरना तुझे भी मारूँगा और सकीना को भी मारूँगा।
जुनेद- पहले तू कसम खा की तू गुस्सा नहीं होगा।
इरशाद- ठीक है | …बता…?
जुनेद- सकीना अब बड़ी हो गई है, उसके स्कूल में लड़के भी पढ़ते हैं और आज कल का मोर्डेन ज़माना है, हर लड़की का आजकल बॉयफ्रेंड है, कल सकीना का भी होगा।
इरशाद- मारूँगा पकड़ के उस माँ के लौड़े को |
जुनेद- तू पहले मेरी बात सुन | हर वक़्त तो तू सकीना के साथ रह नहीं सकता, और न ही उसको घर में बंद करके रख सकता है…
इरशाद- तू कहना क्या चाहता है?
जुनेद- अबे, तू मेरी बात सुन तो सही मेरे दोस्त | तू सकीना के हर समय साथ तो नहीं घूम सकता है, कल को उसका कोई यार भी होगा तो उसकी लेगा भी।
इरशाद- जुनेद, तू बकवास बंद कर |
यार, तू मेरी बात को ठन्डे दिमाग से समझ..पहले बता बॉयफ़्रेन्ड होगा तो लेगा या नहीं उसकी?
इरशाद- हाँ लेगा ही.||
समस्या यह नहीं है कि कोई बॉयफ़्रेन्ड उसकी लेगा, परेशानी यह है कि आजकल लड़के लड़कियों को ब्लैकमेल करने के लिए उनका वीडियो बना लेते हैं.. और फिर अपने दोस्तों को दिखाते हैं और उसको नेट पर डाल देते हैं। तू चाहेगा कि कोई सकीना के साथ ऐसे करे? या उसको ग्रुप सेक्स करने के लिए मजबूर करे…??
इरशाद- हरगिज़ नहीं…
जुनेद- लेकिन हर लड़की आजकल बॉयफ़्रेन्ड चाहती है…आखिर सकीना अब जवान हो रही है… मैं उसको अपनी गर्लफ्रेंड बनाना चाहता हूँ इरशाद |
मैंने इरशाद का लंड सहलाते हुए कहा।
इरशाद- साले भईया बोलती है वह तुझे… मैं ऐसा कैसे मान लूँ?
जुनेद- इरशाद, बात को समझ कल को कोई उसको बेहरहमी चोदे, उसकी चुदाई की वीडियो, MMS बनाये, हम उसके नंगी फोटोग्राफ्स नेट पर देखें, तुझे अच्छा लगेगा? ..यार मैं उससे प्यार करता हूँ, मेरे साथ रहेगी तो सुरक्षित रहेगी… कोई और चोदे इससे तो बेहतर है। बाकी तू जो मांगेगा, वह मैं दूंगा |
कह कर जुनेद इरशाद के सामने कुत्ते की तरह खड़ा हो गया।
इरशाद- नहीं जुनेद, मैंने तेरी गांड तो बहुत ली है। मैं तुझे सकीना का चोदू तो बन जाने दूंगा लेकिन मेरी एक शर्त है।
जुनेद- क्या…?? बोल…?? दोस्त के लिए तो जान भी हाज़िर है यार…|
इरशाद- मैं तेरी बाजी हमीदा की लूँगा। जुनेद- यह क्या कह रहा है…?? हमीदा बाजी तेरे से बड़ी हैं, और मोटी भी है वह |
जुनेद ने यह नहीं सोचा था कि इरशाद इस कुत्तागिरी पर उतर आएगा।
इरशाद- देख जुनेद, मैं तेरे फायदे की बात कर रहा हूँ। सकीना छोटी भी है और उसका किसी से कोई चक्कर भी नहीं है, जबकि हमीदा… कोई लड़का छोड़ा है उसने गली का?..जिसके साथ सोई न हो। जिसका उसने लिया न हो? 4 दिन घर से गायब रही थी, मुझे मालूम है गोवा में आरिफ और अनुज के साथ थी, फोटो देखे हैं मैंने तेरी बहन के चड्डी में और नंगे भी, गोवा के बीच पर.. और तेरी अम्मी कहती रही कि खाला के घर गई है। सोच ले फ़ायदा तेरा ही है।
जुनेद- बस कर यार मुझे भी सब मालूम है…लेकिन यार हमीदा बाजी नहीं मानेगी…
तू उसकी फ़िक्र मत कर वह मुझ पर छोड़ दे | तेरी बाजी (बड़ी बहन) है इसीलिए अब तक कुछ नहीं किया था।
ठीक है तू हमीदा बाजी को पटा, मैं सकीना के साथ कुछ करता हूँ।
इरशाद- तेरी बाजी को मैं अभी लाया 10 मिनट में |
जुनेद- नहीं उसको पटाना इतना आसान भी नहीं है, नहीं ला सकता तू उसको 10-15 मिनट में।
इरशाद- शर्त लगाता है? अगर ले आया तो उसकी तेरे सामने लूँगा।
जुनेद- चल शर्त लगी।
ठीक है | और नहीं ला पाया तो मैं तेरी छोटी बहन सकीना की तेरे सामने पूरी नंगी करके लूँगा…??
ठीक है, अभी आया 10 मिनट में तेरी चुदक्कड़ बाजी हमीदा को लेकर |
कह कर इरशाद चला गया। इधर जुनेद ने सकीना को बुला कर उसको ब्लू फिल्म दिखाना शुरू कर दी, उसे मालूम था कि इरशाद शर्त हार जाएगा और वह उसकी छोटी बहन सकीना की लूँगा।
जुनेद ने सकीना को नंगा करके अपनी गोद में बिठा रखा था, उसका हाथ उसकी मासूम छोटी सी योनि को सहला रहा था और वह आः आआह्ह्ह कर रही थी।
जुनेद ने उसको बेड पर लिटा दिया और उसकी योनि में मुँह लगा दिया था- आह… उई… उम्म… जुनेद भाई जान… छोड़ दो।
फिर जब सकीना पूरी तरह जोश में आ गई तो जुनेद ने उसको कुतिया बनाया बेड पर और उसके पीछे से उसकी योनि पर लंड रख दिया।
अभी लंड का अग्र भाग (टोपी) अन्दर गई ही थी कि तभी दरवाजे की घण्टी बज गई।
जुनेद ने देखा कि अभी मात्र 15 मिनट हुए थे और शायद इरशाद आ गया था।
तय शर्त के मुताबिक जुनेद कमरे से बाहर निकल कर छुप गया, इरशाद हमीदा बाजी के साथ था। बाजी ने पीला कुरता और सफ़ेद सलवार पहन रखी थी।
उसने हमीदा को कमरे में किया और मेरे पास आया, बोला- देखा जुनेद, मानता है मुझे | अब शर्त के अनुसार तू खिड़की में से अपनी बाजी की चुदाई का कार्यक्रम देख।
जुनेद- छोड़ न यार, मैं तो मजाक कर रहा था | मैं नहीं देखूंगा.. तू जाने दे उसको।
इरशाद- देखना तो पड़ेगा | आखिर शर्त लगाई है तूने मुझसे | यह ले स्टूल और खड़ा हो जा खिड़की पर |
जुनेद ने खिड़की से झांक कर देखा हमीदा बाजी मज़े से ब्लू फिल्म देख रही थी।
इरशाद कमरे में चला गया, उसने हमीदा बाजी के पहले कंधों पर हाथ रखा और फिर कुछ कुछ सेकंड में उसका सफ़ेद दुपट्टा गले से अलग कर दिया। इरशाद ने बाजी को अपने सीने से लगा लिया।
जुनेद ने सोचा नहीं था कि एक दिन अपनी बड़ी बहन को इस तरह से अपने ही दोस्त से चुदते देखूंगा।
हमीदा की पीठ जुनेद तरफ थी, इरशाद ने जुनेद को आँख़ मारते हुए अंगूठे से उसकी तरफ इशारा किया, उसने बाजी के कुर्ते की चेन खोलना शुरू की और दूसरा हाथ उसका बाजी के चूतड़ों पर था।
यह कहानी आप Free Sex Kahani पर पढ़ रहे हैं।
जुनेद को बड़ा अजीब सा लग रहा था, अपनी बहन को अपने सामने नंगा होते हुए देख रहा था।
हमीदा की पीठ पर उसका हाथ था और हमीदा बाजी उसके होंठो से होंठ लगाए हुए थीं।
तभी इरशाद थोड़ा सा अलग हुआ और उसने बाजी की सलवार का कमरबंद (नाड़ा) खोल दिया।
सफ़ेद पटियाला सलवार सरकती हुई फर्श पर जा गिरी, तभी जुनेद एक आईडिया सूझा, जुनेद ने सकीना को अपने पास बुला लिया और उसको गोदी में लेकर खिड़की से अन्दर का नज़ारा दिखाया।
वह खिलखिला कर हँस पड़ी, जुनेद ने उसको चुप रहने का इशारा किया।
हमीदा बाजी और इरशाद भाई जान भी यह सब खेलते हैं? सकीना ने मासूमियत से पूछा।
हाँ, वे दोनों दोस्त हैं। जुनेद ने खिड़की से झांककर देखा- हमीदा बाजी इरशाद का लंड चूस रही थी और इरशाद खड़ा था। और भी मजेदार कहानियां पढने के लिए यह क्लिक करे |
हमीदा बाजी को देख कर अब जुनेद के अन्दर सेक्स पैदा होने लगा था। वह उसे अब बड़ी बहन नहीं बल्कि एक जवान खूबसूरत लड़की लग रही थी।
इरशाद ने हमीदा को बेड पर पटक दिया था और उसकी काली चड्डी निकाल कर अलग कर दी और उसकी टांगे फैला कर उसकी योनि को चूस रहा था।
हमीदा बाजी सिसकारियाँ भर रही थी, मैंने झट से सकीना को पकड़ा और उसकी चड्डी निकाल दी और उसकी योनि पर मुँह लगा दिया, उसकी छोटी सी योनि पर हल्का सुनहरा रोंया था और वह पूरी तरह गुलाबी थी।
सकीना आह हाह अह करने लगी थी। फिर जुनेद का शानदार लण्ड सकीना के मुख के सामने था- आह | गोरा सा, तना हुआ सुपारा जोश से लाल सुर्ख हो रहा था। हाय क्या चीज़ बनाई है ऊपर वाले ने |
जुनेद ने अपना लंड सकीना को चूसने को लिए उसके मुँह में दे दिया, दूसरे ही पल उसका लाल सुपारा सकीना के नाजुक होंठों के बीच दब गया। सकीना मेरे लंड को लोलीपोप की तरह चूस रही थी। जुनेद ने खिड़की से झांक कर देखा इरशाद ने हमीदा बाजी को कुतिया बनाया हुआ था और वह बाजी की पीछे से चुदाई कर रहा था, बाजी जोर जोर से सिसकारियाँ निकाल रही थी। बाजी की चोटी इधर-उधर डोल रही थी और चूड़ियाँ खन-खन कर रही थी। बाजी का जम्पर (कुर्ता) इरशाद ने एकदम ऊपर खिसकाया हुआ था। इरशाद जुनेद की बहन की ले रहा था ज़बरदस्त चुदाई कर रहा था, बड़ी बहन छोटे भाई के सामने चुद रही थी और जुनेद चुपचाप देख रहा था।
जुनेद ने झट से सकीना को भी कुतिया बना दिया और उसके पीछे से अपने लंड को करने लगा। लेकिन बाजी और सकीना में बहुत फर्क था, सकीना मात्र 18 साल की थी जबकि बाजी की उम्र २३ साल की थी। जुनेद की बहुत कोशिश करने के बाद भी लंड सकीना की योनि में नहीं गया और ज़बरदस्ती जुनेद करना नहीं चाहता था।
उधर इरशाद बाजी को अपनी गोद में लेकर अपने लंड को अन्दर-बाहर कर रहा था।
बाजी आह अआह कर रही थी, हमीदा बाजी पूरी तरह से सेक्स की आदी थी, कॉलेज का बहाना कर के वह अनुज और आरिफ के साथ 4 दिन तक गोवा में रही थी और जब वापस आने के लिए पैसे ख़त्म हो गए थे तो उन्होंने हमीदा बाजी को कई अंग्रेजों से चुदवा कर पैसे भी कमाए थे। सोच कर ही अजीब लगता है कि किस तरह से बाजी ने दो-दो अंग्रेजों का लिया होगा। देखने में तो एकदम भोली भाली और मासूम दिखती थी। अगर दो चोटी बांध दो तो किसी स्कूल की बच्ची लगती हैं। लेकिन सच यह था कि मेरी बाजी पूरी तरह से किसी रांड से कम न थी। इरशाद ने उसको कुतिया बनाया हुआ था और उसके पीछे से उसकी चूत को मार रहा था और ..बाजी आ आह्ह्ह …आह… ह… ह… कर रही थी।
हाय चूस… ओह… आह्ह… मेरी जान… ले… मेरा… लण्ड ले ले .. मस्त चूसती है रे तू |
इरशाद उसकी लण्ड चुसाई से मस्त हो रहा था। अपना मस्त लण्ड चुसा कर फिर उसने हमीदा बाजी को खड़ा कर के एक झटके में नंगी कर गोदी में उठा लिया। दस सेकण्ड बाद ही बाजी बिस्तर पर थी। उसने बाजी की टांगें चौड़ी कर दी और चूत को मस्ती से चाटने लगा। अब बाजी अन्ट-सन्ट बकने लगी थी- ओह माई डियर… लूट ले मुझे… आह चूस ले साले… डाल दे अपना लौड़ा मेरी चूत में |
अब वो बाजी के ऊपर छा गया। उसने अपना सात इन्ची लण्ड मेरी बाजी की चूत से टकरा दिया। चूत को पूरी गीली हो कर लसलसी सी चिकनी हो गई थी। जुनेद का शरीर सनसना उठा, फ़चाक से पूरा ही लण्ड मेरी बाजी की चूत में उतर गया। आह … स्स्स्सीऽऽऽ कैसे भाई हो… तुम मेरे इरशाद? बाजी मस्ती में चहकी। चुप साली, मैं तेरा भाई नहीं हूँ। इरशाद ने कहा। सगा ना सही, पर दूर के तो हो ना, कहीं का नहीं छोड़ा मुझे, आह्ह, चोद के ही छोड़ा ना मुझे | हमीदा ने उसे उकसाया।
इधर सकीना जुनेद लंड चूस रही थी और वो खिड़की से अन्दर का नज़ारा देख रहा था। फिर इरशाद ने बाजी के होंठों पर अपने होंठ दबा दिये और उसे कचकचा कर चूसा और काट लिया। चूत में मोटा लौड़ा लेकर अपने होंठ चुसवाने का मजा कुछ ओर ही होता है, यह तो वो ही जानती है जो इस तरह से कभी चुदी हो। आह्ह हमीदा की चूत भी तभी फ़चफ़चा कर झड़ गई। शायद इसी मजे के लिये पैसे वालों की लड़कियाँ भी रांड बन जाती हैं। थोड़ी देर के बाद उसने अपना लण्ड निकाल लिया, जुनेद ने उसे प्रश्नवाचक दृष्टि से देखा। उसने अपना लम्बा लण्ड बाजी की दोनों चूचियों के बीच में रख दिया…| बाजी भी अब बेड पर गिर पड़ी थी, दोनों पूरी तरह से एकदम प्राकृतिक अवस्था मैं नंगे थे। जुनेद ने सकीना को अपने लण्ड से अलग किया और दबे पाँव उनके कमरे में गया। बाजी जुनेद को देख कर एकदम घबरा गई, उसने अपना दुपट्टा खींचते हुए पूछा- जुनेद तुम यहाँ…?? मैंने आप को सबकुछ करते हुए देखा है बाजी | मैं तो आप को बहुत सीधी सादी समझता था। लेकिन आप तो एक नंबर की रांड निकली। अब छुपाने से क्या फ़ायदा | आपकी यह मस्त लीला मैंने और सकीना दोनों ने देखी है | जुनेद बोला।

इसे भी पढ़ें   बीवी के चक्कर में बहु की गांड चुद गई – Sasur bahu ki chudai

इरशाद- सकीना…?? वह कहाँ थी..??

इरशाद सकीना का नाम आते ही उछल पड़ा- वह यहाँ थी | कहते हुए जुनेद ने सकीना को अपने पीछे से आने को कहा। सकीना उन दोनों के सामने थी, उसने छोटा सा फ्राक पहन रखा था जिसमें उसके चूतड़ और छोटी सी नर्म गुलाबी चूत साफ़ दिख रही थी।
सकीना- भाई जान, मैंने सब देखा है, अम्मी को बोलूंगी, आपकी और हमीदा बाजी की शिकायत करूंगी।
इरशाद- नहीं मेरी प्यारी गुड़िया रानी, अम्मी को मत बोलना | मैं तुझे आइसक्रीम लाकर दूंगा।
हमीदा- हाँ सकीना, मैं तुझे चॉकलेट लाकर दूंगी..
जुनेद पूरी तरह से सकीना को सिखा-पढ़ा कर लाया था कि क्या बोलना है।

सकीना- मुझे नहीं चाहिए आइसक्रीम | मुझे आप लोगों के साथ खेलना है | सकीना ने उंगली दिखाते हुए कहा।
एकदम सही कह रही है सकीना | अब हम लोग भी साथ में खेलेंगे।

यदि आप भी अपनी कहानी इस वेबसाइट पर पब्लिक करवाना चाहते हैं तो नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके अपने कहानी हम तक भेज सकते हैं, हम आपकी कहानी आपके जानकारी को गोपनीय रखते हुए अपनी वेबसाइट पर प्रकाशित करेंगे

कहानी भेजने के लिए यहां क्लिक करें ✅ कहानी भेजें

कहते हुए जुनेद ने सकीना को अपनी गोद में उठा कर चूमते हुए उसको बिस्तर पर लिटा दिया। लेकिन सकीना मेरी छोटी बहन है यार… मैं उसके साथ कैसे सेक्स कर सकता हूँ? इरशाद ने किलसते हुए कहा।

अच्छा तुम्हारी बहन – बहन है और मेरी बहन क्या रंडी है? तो क्या हुआ हमीदा बाजी भी तो मेरी बड़ी बहन है जिसको तुमने रंडी की तरह चोदा है? जुनेद बोला।

इरशाद- यार तू समझा कर जुनेद | चल ठीक है, तू अपनी बाजी हमीदा की मार ले लेकिन मैं सकीना के साथ नहीं करूंगा, कुछ भी |

हमीदा- पागल हो गए हो क्या इरशाद |?| जुनेद मेरा सगा भाई है, मैं उसके साथ नहीं कर सकती | हमीदा बाजी ने नाराज़ होते हुए कहा।
उनकी नज़र जुनेद की निक्कर पर थी जिसमें से उसका गीला लण्ड साफ़ चमक रहा था। जुनेद, प्लीज अम्मी को कहना नहीं। बाजी ने जुनेद के चेहरे पर हाथ रख कर कहा। मैं भी कुछ नहीं बताऊँगी। सकीना भी रण्बीर से चिपक कर बैठ गई।
सकीना, तू तो मेरी बहन है ना, मुझे माफ़ कर दे, जाने ये सब कैसे हो गया। इरशाद हकला कर बोला।

इसे भी पढ़ें   Christmas Sex Kahani – महंगे उपहार देकर बॉस ने मेरी चूत चोद दी

नहीं बताएँगे कुछ भी अम्मी को | हम लोग सब साथ में खेलेंगे | जुनेद बाजी के घुटनों से चादर खींचते हुए कहा।
जुनेद | लेकिन यह गलत है। कहते हुए बाजी ने अपनी टाँगें ढीली कर दी। तभी जुनेद के दोनों हाथ हमीदा बाजी के सनसनाते हुए उरोजों के उभारों पर आ गये और फिर उन्हें दबा दिया। हमीदा सिसक उठी, उसकी काम ज्वाला भड़क सी उठी। जुनेद का लण्ड कठोर होकर जैसे हमीदा बाजी की कमर में ही घुसने लगा था।

भाई जान, कुछ करने को मन कर रहा है। उसकी कमर कुछ कुछ कुत्ते की तरह चलने लगी थी। सकीना ने इरशाद की गोद में बैठते हुए कहा।
भाई, नहीं कर, मैं तो तुम्हारी बहन हूँ ना, ऐसे मत सीना दबाओ। इधर हमीदा जुनेद की हरकतों से पूरी तरह से जोश में आ गई थी। सकीना भी इरशाद की गोद में जोश में लहराने लग गई थी। उसका मन अब चुदने को होने लगा था। छोटे से मासूम तन में बिजली की चटखन होने लगी थी। बहुत अच्छा लग रहा है बहना | इरशाद वासना में डूब कर डूबते उतराते हुये जैसे कसमसा रहा था।


मुझे भी बहुत मजा आ रहा है, पर तुम मेरे भाई हो ना आह रे, अब बस करो, ओह नहीं थोड़ा सा और करो |
आह्ह्ह, मेरी प्यारी बाजी, घर की बात है बस चुपके चुपके लण्ड ले लेना, बस एक बार अपनी चूत में मेरा लण्ड ले लो। मोहल्ले के हर लड़के का तो ले चुकी हो आप बाजी। अब अपने छोटे भाई जान का भी ले लो एक बार। जुनेद के हाथ हमीदा जिस्म पर कसने लगे। उसने हमीदा को कमर पकड़ कर उठा लिया और बिस्तर पर लेटा दिया। हमीदा कामुक हो कर अपने भाई से चिपकती जा रही थी। अब वो जुनेद ऊपर चढ़ गई थी और बेतहाशा चूमने लगी थी, उसकी चूत गीली हो गई थी। अभी अभी जैसा उसने फ़िल्म में देखा था, सकीना ने कहा- भाई जान, अपना लण्ड तो चूसने दो, मजा आयेगा।
उसने जल्दी से खुद की फ्राक उतार दी। अब तक इरशाद भी जोश में आ चुका था। वह अपनी छोटी बहन सकीना की लेने के लिए तैयार था।
तब जुनेद ने भी अपने कपड़े उतार दिये।
आह |
सकीना की छोटी सी गुलाबी फ़ुद्दी कैसी पानी पानी हो रही थी। इरशाद का गोरा लण्ड कैसा मस्त हो कर लहरा रहा था। उसने उल्टा सुल्टा पोज बना कर लण्ड को सकीना के मुख की ओर कर दिया और खुद का मुख सकीना की फ़ुद्दी की तरफ़ कर दिया। इरशाद ने अपने चूतड़ सकीना के मुख पर दबा दिये। लण्ड चुटकी के मुख में आ चुका था।
हमीदा- जुनेद भाई, तू चाट ना मेरी फ़ुद्दी |
तभी हमीदा की चूत को एक ठण्डा सा मीठा सा अहसास हुआ। भाई की जीभ हमीदा की चूत में घुसने की कोशिश कर रही थी। जुनेद ने अपनी बाजी की चूत चाटनी आरम्भ कर दी थी, हमीदा उसका लण्ड फ़िल्म की भांति मस्ती से मुख में लेकर गपागप चाट रही थी।
जुनेद बेकाबू सा होने लगा था, हमीदा को लगा कि उसके भाई का लण्ड अपनी बाजी को चोदने के लिये तड़प रहा था।
तभी इरशाद ने पलट कर सकीना को दबा लिया- बस बहना बस | अब नहीं रहा जाता है।
उसका स्वर काम आवेग से थरथरा रहा था।
भाई जान, मुझसे भी नहीं रहा जा रहा है | सकीना भी चुदाने को आतुर आवेश से कांप रही थी।
इरशाद ने सकीना को लिपटा लिया और उसके होंठ चूसने लगा। तभी उसका सख्त लण्ड की ठसक सकीना की चूत में महसूस होने लगी। उधर जुनेद का लण्ड हमीदा बाजी की चूत में घुसता जा रहा था।
सकीना बेसुध होने लगी थी, काम में अंधी होकर भाई से ही चुदवाना चाह रही थी। शरीर आग का गोला बन गया था। जैसे ही इरशाद ने एक झटका मारा, सकीना की चीख पूरे कमरे में गूंज उठी, दर्द के मारे वो अपनी सुध-बुध खो चुकी थी।
जुनेद अपनी बाजी की चूचियों को नोच खसोट कर उसे जन्नत की सैर करा रहा था, बाजी चूत उछाल उछाल कर भरपूर जवाब दे रही थी, कस कर चुदाई हो रही थी, कमरे में भीगी चूत की फ़च फ़च आवाजें गूंजने लगी।
जब हमीदा झड़ गई तो भी जुनेद शॉट पर शॉट मार रहा था। हमीदा लस्त सी नीचे चूत की पिटाई सह रही थी।
हमीदा ने जुनेद को धीरे धीरे करने को कहा। उधर सकीना की चूत गीली थी और इरशाद का लंड हर धक्के के साथ अंदर समाता जा रहा था, थोड़ी ही देर में पूरा लंड अंदर समा गया। फिर वो थोड़ी देर उनसे लिपट कर यों ही पड़ा रहा और उनकी चूचियों से खेलता रहा।
अब तक दर्द के साथ कुछ मजा आने लगा था, उसकी सिसकारियाँ शुरु हो गई थी- आआ ह्ह ओह्ह ओफ्फ्फ्फ उम्म्म अह्ह्ह्ह अह |
सकीना ने अपने भाई को कस कर पकड़ रखा था, फिर इरशाद ने धीरे धीरे चोदना शुरु किया, दोनों टाँगों को पकड़ा और अपनी स्पीड तेज़ की।
हमीदा ने जुनेद को कहा- अब बस कर | अब नहीं सहा जा रहा।
इस पर जुनेद ने इरशाद को कहा- तू बाजी के साथ आ जा, सकीना को मैं चोदूंगा।
सकीना सातवें आसमान में थी और पूरे जोश में भी | और लगातार उसकी सिसकारियाँ बढ़ रही थी।
जुनेद इरशाद को हटा कर सकीना पर छा गया।
धीरे धीरे जुनेद की गति तेज़ होती जा रही थी और सकीना की सिसकारियाँ भी |
अब बाजी ने इरशाद के लण्ड को अपने मुँह में ले लिया और कुछ ही समय में इरशाद हमीदा के मुख में झड़ गया और उनके ऊपर ही लेट गया।
उस दिन जुनेद ने अपनी बाजी हमीदा और सकीना दोनों को चोदा और इरशाद कभी हमीदा बाजी को चोदता तो कभी सकीना को।

Related Posts

इसे भी पढ़ें   बाप खिलाड़ी बेटी महाखिलाड़िन- 8
Report this post

मैं रिया आपके कमेंट का इंतजार कर रही हूँ, कमेंट में स्टोरी कैसी लगी जरूर बताये।

Leave a Comment