टू कपल सेक्स कहानी।

Two Couple Sex Kahani में पढ़ें कि पापा के दोस्त और उनकी पत्नी एक बार हमारे घर आए और देर रात को चारों ने मिलकर सेक्स किया। मैंने स्वयं देखा। तब मैंने क्या किया?

दोस्तो, मैं कुणाल हूँ, एक छोटे से राजस्थानी शहर में रहता हूँ।

मेरी उम्र 19 वर्ष है और मैं साढ़े पाँच फुट के हाइट का हूँ।

मेरी पिछली कहानी

यदि आप भी अपनी कहानी इस वेबसाइट पर पब्लिक करवाना चाहते हैं तो नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके अपने कहानी हम तक भेज सकते हैं, हम आपकी कहानी आपके जानकारी को गोपनीय रखते हुए अपनी वेबसाइट पर प्रकाशित करेंगे

कहानी भेजने के लिए यहां क्लिक करें ✅ कहानी भेजें

गली के रंडीबाज लड़के से चुद गई।

लड़कियों को बता दूँ कि मेरा लंड साढ़े पाँच इंच का मोटा और औसत साइज़ का है। जिसकी चूत में भी जाएगा, उसे भयभीत करने के बाद ही बाहर निकलेगा।

महिला पाठिकाएं इस Two Couple Sex Kahani से अधिक जानकारी चाहें तो मुझे ईमेल करके संपर्क कर सकती हैं।

हम तीनों मेरी मॉम, डैड और मैं रहते हैं। मेरी सौतेली माँ 36 वर्ष की हैं।

मॉम एक बला, टाइट फिगर, 36-32-40 की फिगर है।

कई बार मैंने उन्हें अपने मन में सोचकर मुठ मारी होगी।

एक दिन मैं और मेरी मॉम बस से घर वापस आ रहे थे. हम दोनों शाम को बस में चढ़े थे और स्लीपर कोच में अकेले थे।

बस चलने के दो घंटे बाद कुछ रात लग गई।

हम दोनों पहले खाना खाकर निकले।

अक्सर बस में काम नहीं होने से नींद जल्दी आती है।

वही मेरी मॉम के साथ हुआ.

मैंने देखा कि वह सो गई थी जब मैंने उनकी खर्राटे भरने की आवाज सुनी।

जब मैं उनके मम्मों पर देखने लगा, तो मेरा मन मचल गया।

मैंने बैठकर उनकी गांड पर अपना लंड रख दिया।

मॉम ने कुछ नहीं किया जब लंड ने गांड कुरेदी।

थोड़ा उत्साहित होकर मैंने मॉम के बूब्स पर हाथ रखा और हौले से दबाने लगा।

मैंने सोचा कि मॉम बहुत नींद में है क्योंकि उन्होंने अब भी कुछ नहीं कहा।

अब मैं बिंदास मॉम के बूब्स को दबाने लगा और पीछे से उसके लंड को रगड़ने लगा।

मेरा लंड मॉम की गांड में तुरंत घुस गया जब बस का एक तेज झटका लगा।

मैं तुरंत सो गया जब मॉम जाग गई।

मैं कुछ देर जागता रहा क्योंकि मुझे लगता था कि मॉम ने मुझे देखा है।

मैं न जाने कब सो गया।

हम दूसरे दिन सुबह घर पहुंचे तो मॉम ने मुझे देखकर स्माइल की, लेकिन मैं नहीं समझा।

मैंने सोचा कि कल रात बस में जो हुआ ममी जानती था।

मैं भी बाद में खुश होकर अपना काम करने लगा।

दिन समाप्त हो गया और शाम हो गई।

उस समय मेरे डैड के दोस्त एक अंकल और आंटी घर आए.

वह जोड़ी बहुत सुंदर थी और दोनों बहुत हॉट थे।

अंकल जी पूरी तरह फिट थे, और आंटी एक कॉलेज जाने वाली लड़की की तरह दिखती थीं।

उनकी उम्र भी कम नहीं थी। उसकी उम्र २६ वर्ष होगी। उन्हें 34-28-36 का सुंदर शरीर भी था।

उस दिन शाम को सभी ने एक महफ़िल में बैठकर अच्छी शराब पीकर हंसी-मजाक करते रहे।

मैं अपने कमरे में था और ऐसी शराब पार्टी से सहज था।

इसे भी पढ़ें   बिना कटे लंड से चुदने की चाहत। Xxx Goa Group Sex Kahani

दारू पीने के बाद सभी ने मिलकर खाना खाया।

डैड और अंकल सिगरेट पीते हुए बात करने लगे।

जैसे ही मैं नीचे आया, मैंने देखा कि मॉम और आंटी कुछ व्यस्त हो गए थे।

उन्होंने अपने कपड़े सही नहीं किए, हालांकि मैं आया; बल्कि मैंने देखा कि आंटी और मॉम मुझे घृणा से देख रहे थे।

मैंने सोचा कि शायद मैं उन दोनों महिलाओं की वासना पूर्ति का साधन बन जाता अगर चाचा और डैड उस समय नहीं होते।

मैंने भी अपनी मॉम को नजर भर कर देखा.

पहले मेरा ध्यान उनके मम्मों पर गया, जो उनकी साड़ी के पल्लू के ढलक जाने से लगभग खुले दिख रहे थे, साथ ही गहरे गले के ब्लाउज के दो बटन भी खुले हुए थे।

ऐसा लगता था कि उन्होंने खुद अपने ब्लाउज के बटन खोले हों।

मेरे पिता ने मुझसे कहा कि तुमने खाना खा लिया है, तो अपने कमरे में जाकर सो जाओ। रात बहुत हो गई है। आपको सुबह जल्दी उठना भी होगा।

मैं भी उन सबको शुभकामना देकर रसोई में गया और पानी की बोतल उधर से लेकर वापस अपने कमरे में चला गया।

ऊपर की मंजिल में मेरा कमरा है।

आंटी और मॉम की स्थिति को याद करते हुए कमरे में आकर मैं अपना लंड सहलाने लगा।

मैं जागकर अन्तर्वासना खोला और मॉम सन की एक सेक्स कहानी पढ़ने लगा क्योंकि मुझे नींद नहीं आ रही थी।

करीब एक घंटा बीत गया था।

तभी मैंने नीचे के कमरे से कुछ आवाजें सुनीं।

मैं उन आवाजों को सुनने लगा तो मेरा मन फोन से भंग हो गया।

ये आवाजें चुदाई की थीं।

मैं दबे पांव नीचे आया और कमरे की खिड़की से अंदर देखने लगा कि क्या हो रहा है।

जब मैं खिड़की की दरार से झांककर देखा तो मैंने देखा कि आंटी डैड और मॉम दोनों अंकल का लंड चूस रहे थे।

सीन देखकर मैं बिल्कुल हैरान हो गया।

तब से मैं वहीं बाहर खड़ा रहा और बाहर चल रही घटनाओं और भविष्य की घटनाओं को देखता रहा।

ये एक ग्रुप की शादी थी।

पहली बार मैंने अपनी माँ को नंगी देखा; उन्हें बहुत गर्म लग रहा था। मॉम का एकदम कसा हुआ चिकना बदन कहीं से भी शादीशुदा नहीं लग रहा था।

रंडी की तरह वे अंकल का लंड चूस रही थीं, हाथ में एक सिगरेट था, जिसे वे पीकर अंकल के लौड़े पर धुआं छोड़ रही थीं।

दूसरी ओर, आंटी भी पापा का लंड चूसती थीं। डैड के लौड़े को चूसते हुए सिगररेट के छल्ले उड़ाते हुए, वे मेरी मॉम की तरह सुंदर रांड लग रही थीं।

दोनों भाई-बहन के लंड 7 इंच के थे।

डैड का जरा ढीला था लेकिन मोटा ज्यादा था, और अंकल का जरा ज्यादा कड़क था।

थोड़ी देर बाद, अंकल ने मॉम के मुँह में ही अपना सामान निकाल दिया, जिसे मॉम ने पूरा निगल भी लिया।

उन्होंने माल निगलकर अपना मुँह खोलकर अंकल को दिखाया, फिर एक बार में सारा वीर्य खा लिया।

इसे भी पढ़ें   दीदी की सेक्स समस्या भाई ने दूर की

पानी पीने के बाद, मॉम ने सिगरेट का एक बड़ा पफ लिया और अंकल को सिगरेट पिला दी।

धूम्रपान करते हुए, अंकल अपनी बीवी से मेरे पिता की चुसाई देखने लगे।

डैड का लंड भी एकदम से लोहा हो गया और आंटी के मुँह में बहुत मुश्किल से बाहर निकला।

थोड़ी देर बाद, पिताजी ने भी आंटी के मुँह में सब कुछ निगल लिया, फिर आंटी ने पिताजी का लंड चूसकर साफ कर दिया।

बाहर खड़ा मैं सिर्फ अपने हाथ से मज़ा ले रहा था।

उसके बाद मम्मी और आंटी को बेड पर पटक दिया गया.

डैड और अंकल उन दोनों की चूत में लंड डालने लगे।

चुदाई का रस कमरे में फैलने लगा, तो मॉम और आंटी दोनों ज़ोर से आह आह करने लगी।

‘आह..। ओह..। आराम करो।”

थोड़ी देर बाद, दोनों चुदवाने लगे और कंठ से आवाजें निकलाने लगीं।

आह ज़ोर से..। और तेज आआहह

चुदाई बहुत तेज चल रही थी।

शायद सभी ने यौन उत्तेजना बढ़ाने वाली गोलियों को खा लिया था, इसलिए कोई भी झड़ने का नाम नहीं ले रहा था।

दारू का नशा उन्हें मनमानी करने दे रहा था.

उनका यौन संबंध कई आसनों में हुआ।

वह कभी कुतिया बनाकर चुदाई करती, कभी 69 में लंड चूत की चुसाई करती, तो कभी काऊ गर्ल की पोजीशन में आंटी और मॉम डैड और अंकल के लंड पर कूद कूद कर बाजारू राँडों की तरह आह आह करके मजा लेती।

उन्हें भी अपने पार्टनर बदल बदल कर चुदाई करनी पड़ी।

सैंडविच चुदाई का सीन भी दो कपल सेक्स में दिखाई देता था।

डैड और अंकल आगे पीछे से मॉम को चोदने लगे।

डैड मॉम की गांड मारने में लगे अंकल ने चूत में लंड डाल दिया।

लंड एक साथ दोनों छेदों में चला गया, जिससे मॉम गुस्से में चिल्लाने लगी, “आआहह आराम से… अफ आआहह!”

थोड़ी देर बाद, वे दोनों मॉम के अंदर पानी निकालने लगे, और आंटी ने उन दोनों को चूसकर वापस खड़ा कर दिया।

बाद में आंटी की गांड और चूत भी यही थी।

पिताजी और अंकल एक साथ आंटी की चुदाई कर रहे थे।

झड़ते समय दोनों ने मॉम के मुँह में लंड डाला।

तब अंकल मॉम और डैड आंटी के मम्मों से खेलने लगे।

लोग थोड़ी देर बाद फिर से यौन संबंध बनाने लगे।

मैं अपने सामान को अपने हाथ से ही निकालकर अपने कमरे की ओर चला गया।

मैं भी सो गया।

जब सुबह मॉम, डैड अंकल और आंटी उठे, वे सभी नंगे सो रहे थे।

वापस कमरे में आकर मैं लेट गया।

थोड़ी देर बाद हर कोई उठ गया।

मैं सोने की कोशिश करने लगा जब मॉम मुझे देखने आए।

जब सब फ्रेश हो गए तो अंकल और आंटी अपने घर चले गए।

दो दिन तक,मॉम डैड हर रात सेक्स करते रहते थे, और मैं अपने हाथ से लंड हिलाकर मज़ा लेता था।

एक दिन, माँ और मैं ही घर में थे डैड काम से बाहर गए हुए थे।

इसे भी पढ़ें   Virgin Girl XXX Kahani – दोस्त की बहन और गर्लफ्रेंड दोनों मुझसे चुदी

मैं आज मॉम से चुदाई करूँगा।

इसलिए मैं सेक्स पावर बढ़ाने वाली गोली ले आया था और सेक्स मूड बढ़ाने वाली दवा भी ले आया था।

रात को खाते समय मैंने मॉम को दवा दी।

उसके बाद मैंने सेक्स पावर बढ़ाने वाली गोलियां भी खाईं।

मेरा लौड़ा बहुत टाइट हो गया और कुछ ही देर में पूरी लंबाई में आ गया।

बाद में, मॉम की आंखों में भी वासना की खुमारी चढ़ने लगी और वह अपनी चूत खुजलाने लगी।

जब वो सोने आईं तो मैं भी मॉम के पास जाकर सो गया.

थोड़ी देर बाद, मॉम मेरे लंड के ऊपर हाथ फेरने लगी थीं।

मुझे लगता है कि गोली मॉम को प्रभावित करने लगी है।

मैंने मॉम के बूब्स पर एक हाथ रखा और उनके दूध को दबाने लगा।

हम दोनों सेक्स करने लगे जब मॉम ने मुझे किस किया।

मैंने थोड़ी देर बाद मॉम को नीचे बिठाकर उसे लंड चूसने को कहा।

मैं उनके मुँह में धक्का देने लगा जब मॉम मेरे लवड़े चूसने लगे।

मॉम के साथ पहली बार सेक्स करने में मुझे बहुत मज़ा आया।

मैंने मॉम के मुँह को बहुत देर तक चोदा।

और जब पानी निकलने वाला था, बहुत तेज शॉट मारकर लंड का रस अपने मुँह से बाहर निकाल दिया।

मॉम ने मेरा लंड प्यार से चूसकर साफ कर दिया,तब उसके गले में सीधे पानी आ गया।

इसके बाद मैंने मॉम के सारे कपड़े उतारे और उन्हें नंगी लिटा दिया.

जब मैं फिर से खड़ा हुआ, मैंने उनकी चूत पर अपना लंड ज़ोर से धक्का मारा, तो मॉम चिल्लाने लगीं, “आराम कर साले, मैं तेरी मॉम हूँ!”

पर मैं बिना कुछ सुने शॉट मारता जा रहा था।

बाद में, मॉम भी खुशी से चुदने लगी।

मैंने मॉम को 69, डॉगी स्टाइल में चोदा।

बाद में मैंने ज़ोर से मॉम की चूत में शॉट मारकर उनकी चूत से पानी निकाल दिया।

बाद में हम नंगे ही सो गए।

तब से हम दोनों सेक्स करते थे जब भी मॉम घर पर अकेली रहती थीं।

मैं अभी मॉम से कह रहा हूँ कि वह भी आंटी की चूत दिलवा दे..। उन्हें कुछ नखरे दिख रहे हैं। लेकिन जल्द ही वह मान जाएगी।

बाद में आंटी की चुदाई की कहानी लिखूँगा।

तब तक आपको Two Couple Sex Kahani कैसी लगी?

Related Posts

Report this post

मैं रिया आपके कमेंट का इंतजार कर रही हूँ, कमेंट में स्टोरी कैसी लगी जरूर बताये।

Leave a Comment