माँ की अन्तर्वासना चुदाई की कहानी | Mom and Son Antarvasna Sex Story

Mom and Son Antarvasna Sex Story, स्टेप माँ सन की सेक्स कहानी में मैंने अपनी सौतेली माँ के साथ यौन संबंध बनाने की घटना बताई है। सिर्फ 35 वर्ष की उम्र में मेरी माँ विधवा हो गई। मैंने उनकी वासना को अपनी वासना से जोड़ा।

मेरा नाम राज है। मैं मुंबई का निवासी हूँ।

यह मेरी पहली सेक्स स्टोरी है।

मेरे घर में बस तीन लोग हैं: मैं, मेरी माँ और बहन।
मेरी माँ मनीषा है। उनकी उम्र 35 वर्ष है।
बहन दीपिका 19 वर्ष की है और मैं 22 वर्ष का हूँ।

यदि आप भी अपनी कहानी इस वेबसाइट पर पब्लिक करवाना चाहते हैं तो नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके अपने कहानी हम तक भेज सकते हैं, हम आपकी कहानी आपके जानकारी को गोपनीय रखते हुए अपनी वेबसाइट पर प्रकाशित करेंगे

कहानी भेजने के लिए यहां क्लिक करें ✅ कहानी भेजें

ये छोटा सा अंतर इसलिए है कि मेरी माँ मुझे सात साल की उम्र में छोड़ दी थीं। बाद में पापा ने अपनी पूर्व पत्नी से शादी कर ली, जो मेरी पूर्व पत्नी की दूसरी शादी थी।

अपनी कमजोर आर्थिक स्थिति के कारण नवजात मां-बाप ने एक अधेड़ उम्र के आदमी से शादी कर दी।
वह आदमी औलाद नहीं दे सका और एक साल बाद मर गया।

जब मेरे पापा ने शादी कर ली, तो मेरी इन वाली मम्मी ने उस लड़की को भी अपने साथ ले आई।

फिर मेरे पापा एक दुर्घटना में मर गए जब मैं आठ साल का था।

Papa के जाने के बाद माँ घर की सारी जिम्मेदारी लेने लगी।

मेरे पिता एक सरकारी अधिकारी थे, इसलिए उनकी माँ पेंशन पाने लगी।
हमारा घर अच्छी पेंशन से चलने लगा।

प्रिय, अब मैं आपको अपनी माँ के बारे में बताऊँगा। मेरी मम्मी घरेलू काम करती हैं। वह 35 वर्ष की हो गई थी, लेकिन वह अभी भी 26 वर्ष की लगती है।
वह बहुत मेंटेन रहती हैं। उनका रंग भी बहुत गोरा है, और फिगर की बात करूँ तो उनका वजन 38-32-38 है।

मेरी माँ साड़ी पहनती है।
मेरी बहन भी खूबसूरत दिखती है और उसका वजन 32-28-34 है। वह घर में लैगी के साथ टी-शर्ट पहनती है, जिसमें उसके चूचे और गांड पूरी तरह से उभर रहे हैं, और हमेशा जीन्स और टॉप पहनती है।

मैं और मेरी माँ घर पर अकेले रहते समय आपस में बहुत मजाक करते हैं। वह सिर्फ कहती हैं कि तू मेरा दोस्त है।
मैं भी मजाक में कहता कि हां, मनीषा, तुम मेरी प्रेमिका हो।

Maa-Bete Ki Anrtarvasna Chudai Ki Kahani

वो भी मेरी बात से खुश हो जातीं और कभी-कभी मेरे गले से लग जाती थीं, जिससे मुझे अपनी छाती में मम्मी की चूचियां गड़ जाती थीं और मेरा लौड़ा खड़ा हो जाता था, जिससे मम्मी मुझसे दूर हो जाती थीं।

यह स्टेप माम सन सेक्स कहानी दीवाली के दौरान मेरी बहन के मामा के घर की है।
मैं और मेरी माँ घर पर थे।

माँ की अन्तर्वासना चुदाई की कहानी | Mom and Son Antarvasna Sex Story

उस समय मेरी माँ मुझे नए कपड़े लेने के लिए कह रही थीं, लेकिन मैं उन्हें नहीं पसंद करता था, तो मैं उन्हें अपने साथ लेकर गया।
हम दोनों एक दुकान में कपड़े खरीदने लगे।

मम्मी ने कहा, “हां, ठीक है, इसे ट्राइ करके देखो” जब मैंने पैंट को पसंद किया।
लेकिन मैं शर्मा रहा था क्योंकि मैंने उस दिन अंडरवियर नहीं पहनी थी।

मैंने मम्मी को भी बताया कि मैंने अंदर कुछ नहीं पहना है..। मैं घर जाकर देखूँगा।
लेकिन माँ ने कहा कि अभी नहीं देखो। ट्रायल रूम में जाओ!

मैं कमरे में घुसते ही उसे बंद करना भूल गया। जब मैं पैंट बाहर निकालकर खड़ा हुआ, तो मेरी मम्मी मेरा लौड़ा देखकर हैरान हो गईं।

तुमने अंडरवियर क्यों नहीं पहनी? वह मेरे लौड़े को देखकर पूछा।
मैंने कहा कि मैं अंदर कुछ नहीं पहना था।

यह कहकर मैंने अपना लौड़ा हिलाकर मम्मी को दिखाते हुए जल्दी से पैंट पहन ली।
मम्मी भी हंसती हुई होंठ दबाती थी।

उस दिन मम्मी ने मेरा लौड़ा देखा था।
अंदर से मैं बहुत खुश था।

तब हम दोनों कपड़े लेकर घर वापस आने लगे।

मम्मी ने कहा, “चल, पहले तुम्हारे लिए अंडरवियर भी ले लो।”
मैंने कहा कि वे मेरे हैं!

मम्मी ने पूछा: तो पहनी क्यों नहीं थी?
मैंने कहा कि मुझे ऐसा ही आराम मिलता है।

मम्मी ने हंसते हुए कहा कि अगर तुम्हें नंगा घूमना अच्छा लगेगा तो क्या आप नंगे ही घूमते रहेंगे?
मैंने पूछा कि क्या मम्मी, आप भी सिर्फ पीछे पड़ गए?

इसे भी पढ़ें   Amma Bur Chudwane Lagi Bete Ke Lund Se

उसने धीमी आवाज में कहा कि वह पीछे नहीं बल्कि आगे बढ़ गई।
मैंने सुना, लेकिन चुप रहा।

Step Mom And Son Sex Stories

फिर हम दोनों एक और दुकान पर गए।
मुझे 85 नंबर की चड्डी लगती थी, लेकिन मेरी माँ ने 90 नंबर की चड्डी खरीदी।

मम्मी, ऐसा क्यों हुआ?
लेकिन वह कुछ नहीं कहती।

फिर मम्मी ने भुगतान करते हुए कहा, “चल, मुझे अपनी भी शॉपिंग करनी है।”
मम्मी और मैं एक महिला की दुकान में चले गए।

जहां माँ ने विक्रेता से ब्रा दिखाने को कहा
विक्रेता ने माँ से साइज़ पूछा।

माँ की अन्तर्वासना चुदाई की कहानी | Mom and Son Antarvasna Sex Story

मम्मी ने कहा: ३८ साइज़ वाली दिखाओ। मैं करके देखता हूँ।
फिर मम्मी ट्रायल रूम में ब्रा ट्राइ करने गईं और कहा, “यह थोड़ा और बड़ा दिखाओ।”

फिर माँ ने लाल रंग की जालीदार ब्रा और पैंटी उठाई।
फिर माँ ने कहा, “अठारह साल की लड़की को भी ब्रा पैंटी दिखाओ।”

उसने दुकानदार से छोटी साइज़ की ब्रा पैंटी मांगी।
मैंने माँ से पूछा, “क्या तुम इतनी बड़ी लगती हो?” फिर ऐसा क्यों हुआ?

मम्मी ने कहा कि तुम्हारी बहन भी अब बड़ी हो गई है।
मैंने कहा कि लड़कियां समीज पहनती हैं..। ब्रा क्यों होती है?

तुम कुछ भी नहीं जानते, माँ ने कहा। मैं घर पर तुम्हें बता दूँगा। अब वह ब्रा भी पहनता है।
मैं ब्रा लगने लगने का कारण नहीं समझ पाया।
मैंने सिर्फ “ओके” कहा।

फिर हम घर चले गए।
रास्ते में मम्मी ने मुझसे गाड़ी फिर से रोकने को कहा।

बेटा, मैं तुम्हें आइसक्रीम और कुछ चॉकलेट देना चाहता हूँ।

Desi Village Mom Sex Story

मम्मी ने पांच सौ रुपये दिए।
मैं चार कुल्फी, दो डेयरीमिल्क चॉकलेट और दो आइस क्रीम लेकर आया।

हम दोनों घर की ओर चले गए।

घर जाते ही मम्मी ने मुझसे कहा कि पहले अंडरवियर बदलकर देखो।
मैंने कहा कि मैं बाद में करूँगा।

लेकिन मम्मी ज़िद कर रही थीं, तो मैं अपने कमरे में जाकर अंडरवियर पहन रहा था कि मम्मी आ गईं और कहां, “बेटा, ये ठीक है।”
वह चड्डी में मुझे देखकर वहां से चली गईं।

मैंने फिर से अपनी माँ को कहा, “मम्मी, आप भी ट्राई करके देखो ना!” मैंने कुछ सोचा।
हां बेटा, मैं बाद में कर लूंगी, माँ ने कहा।

लेकिन अब मैं भी ज़िद करने लगा हूँ।
मैं भी उनको नंगी देखना चाहता था।

जब मैं ज़िद करने लगा, मेरी माँ कमरे में आई और कहा, “ठीक है।” मैं अपनी कमरे में जाकर ऐसा करता हूँ।
मैंने पूछा: क्या समस्या है? यही करो!

मम्मी शर्मा रही थीं, लेकिन वह अपना ब्लाउज खोलने लगी।
फिर वह अचानक मुझे देखने लगी।

माँ की अन्तर्वासना चुदाई की कहानी | Mom and Son Antarvasna Sex Story

मैंने ब्रा में ही उनकी मिल्क फैक्ट्री को देखा और उनका ब्लाउज निकाल दिया।

उनका दूध बिल्कुल कसा हुआ था।
मम्मी के दूध को देखकर मैं एकदम हैरान हो गया और उनके मम्मों को देखकर अपने लौड़े को सहलाने लगा।

मम्मी ने भी अपनी पुरानी ब्रा उतारी।
मम्मी के बूब्स अब मेरे सामने खुले हुए थे।

मम्मी ने अपने छोटे बेटे को अंडरवियर में खड़ा देख लिया।
मैंने अपना लिंग निकाल दिया।

तुमने क्या किया?मैंने माँ से कहा, “तुम नई ब्रा पहनो.” मैंने कुछ नहीं कहा।

मम्मी ब्रा पहनती थी।
इस जाली वाली ब्रा में वह बेहद खूबसूरत लग रही थीं..। सनी लियोनी की तरह लग रही थीं।

मम्मी ने मुझे देखकर पूछा: कैसा है बेटा?
मैंने लंड को अंदर डालते हुए कहा, “बहुत अच्छा, लेकिन मम्मी, इतनी बड़ी क्यों ली?”

बेटा, मेरी छातियों में दर्द होता है क्योंकि मैं ज़्यादा फिट रहता हूँ।
मैंने ओके कहा।

मैं बाहर जा रहा था।

मैंने फिर से माँ से कहा कि वह पैंटी भी पहन कर देख लो।
नहीं, मैं उसे बाद में पहनूँगी, मम्मी ने हंस कर कहा। तुम्हारी हालत बिगड़ जाएगी अगर तुम इसे पहली बार देखो!
मैंने जिद करते हुए कहा: नहीं, मम्मी, अब नहीं होगा।

मैं अभी भी सामने मेरी माँ की ब्रा और पेटीकोट में था, वैसे ही अंडरवियर में।

फिर मम्मी का पेटीकोट नीचे गिर गया।
मेरी माँ नई ब्रा और पुरानी पैंटी में मेरे सामने खड़ी थीं।

Sauteli Maa Ki Chudai

मम्मी तौलिया पहनकर पैंटी बदल रही थीं।
मैंने माँ से कहा कि टॉवल नहीं पहनना चाहिए। आप मुझे नंगा देखकर खुद को छिपा रहे थे। मैं भी आपको नंगी देखना चाहता हूँ।

इसे भी पढ़ें   नशे में माँ की जोरदार चुदाई करी - Mom Sex Story in Hindi

मम्मी ने कहा, “ऐसी जिद क्यों, बेटा, बाद में देखो।” आज नहीं।
मैंने कहा कि घर पर छुटकी रहेगी। तुरंत दिखाओ!

यह सुनते ही माँ ने अपनी पैंटी मेरे सामने उतार दी।
मम्मी की चुत देखकर मैं मानो मदहोश हो गया। मेरा लौड़ा और अधिक अकड़ गया।

मैं नीचे बैठ गया और अपनी माँ के पास गया।
मां खड़ी थीं।
मैं घूरकर उनकी चुत को देख रहा था।

मम्मी ने पूछा कि आप ऐसे क्यों देख रहे हैं?
मैंने कहा, मम्मी, मुझे देखना है।

उसमें देखने को क्या है, मम्मी ने हंसकर पूछा।
लेकिन मैंने उनकी बात नहीं सुनी और मम्मी की चुत पर अपने होंठ लगा दिए।

माँ की अन्तर्वासना चुदाई की कहानी | Mom and Son Antarvasna Sex Story

तुम क्या कर रहे हो बेटा, मम्मी ने पूछा।
मैंने कहा, “कुछ नहीं, बस टच कर रहा हूँ।”

दो मिनट बाद माँ ने कहा, “चलो बेटा, अब छोड़ो”। मैं कपड़े पहनना चाहता हूँ।
मैं अब माँ को चोदना चाहता था, इसलिए मैं माँ को मना कर रहा था।

नहीं, मम्मी, मुझे देखो।
“बेटा, मैं खड़ी हूँ,” माँ ने कहा। पहले बेड पर बैठो और अच्छी तरह से देखो।

मैं अपनी माँ की चुत के पास चला गया जब वह बेड पर बैठ गई।
मैं सिर्फ मम्मी की चुत को चूसना शुरू कर दिया।

उनकी चुत का रस बहुत स्वादिष्ट लग रहा था।
नमकीन स्वाद था।
मैं बहुत खुश था।

उनकी चुत बिल्कुल साफ थी।
मुझे मना करने लगी मम्मी, जो कामुक सिसकारियां लेने लगी।

फिर मैंने मम्मी का एक हाथ उठा कर उसके अंडरवियर के ऊपर रख दिया, और वह मेरा लंड भी दबाने लगी।
मैं उनकी चुत चाटने लगा।

मम्मी ने “आआ ईई…” की आवाज़ निकाली।
मैं बहुत खुश था।

कई मिनट तक मैं उनकी चुत चूसता रहा।

फिर हम 69वें स्थान पर पहुंचे।
अब मम्मी ने भी मेरा लंड चूस लिया।

मेरा लंड मम्मी के मुँह में आधा ही जा रहा था।
मैं उनसे पूरा लौड़ा लेने को कह रहा था, लेकिन वे नहीं मानती थीं।
लेकिन कुछ मिनट बाद माँ ने पूरा लौड़ा अपने हाथ में ले लिया।

मैं अब बहुत खुश था।

Xxx Mom And Son Sex Story

उस समय माँ ने कहा, “मुझे सुसू लगी है, मैं टॉयलेट जाकर आती हूँ।”
मम्मी, मैंने कहा, “यही कर दो ना।” मैं भी सोचा कि मैं भी आपके मुँह में कर देता हूँ।

हम दोनों ने एक दूसरे को मूत दिया।
मूत बहुत नमकीन और स्वादिष्ट था।

मेरा मूत भी माँ ने पी लिया था।
रात के 9 बज गए।

बेटा, मैं अब खाना बना दूंगी, माँ ने कहा। बाद में जो कुछ करना है, करो!
मैंने माँ को कहा कि मुझे भूख नहीं है, मैं आइस क्रीम खाऊँगा।

मम्मी ने कहा: ठीक है..। पहले खाओ, फिर जो चाहो करो।

मैं उठकर किचन में गया, आइस क्रीम लेकर कमरे में आया।

मैंने मम्मी को भी कहा कि तुम भी खाओ।
मैंने मम्मी के बूब्स भी चूसना शुरू किया, ब्रा भी निकाल दी।

मैं मम्मी का दूध चूस रहा था जब वे आइसक्रीम खा रहे थे।

बूब्स चूसते हुए मैंने मम्मी के मम्मों पर आइसक्रीम डाल दी और उसे चाटकर साफ करने लगा।
मम्मी बहुत खुश हुई।

तब मैंने उनकी चुत और मुँह पर आइस क्रीम डाली, और मम्मी ने 69 में आकर मेरे लौड़े पर भी डाल दी. फिर हम दोनों एक दूसरे के कपड़े पर आइस क्रीम चाटने लगे।

मेरी मम्मी भी मेरा लॉलीपॉप चूसने लगी।
यह बहुत मनोरंजक था।

अब मैं मम्मी को मनीषा नाम से कह रहा था और वह मुझे अपने पति कह रही थीं।

फिर मैंने कुल्फी को फ्रिज से निकालकर माँ की चुत में डालने लगा।
मम्मी ने ठंडी कुल्फी से चिल्लाकर कहा, “बेटा इतना मत तड़पा।” तुरंत अपना काम पूरा करें।

मम्मी पूरी तरह उत्साहित थीं।
मैंने उनसे कुल्फी निकालकर चूसने को कहा।

मम्मी कुल्फी को लंड की तरह चूसकर खाने लगी। मैं एक और कुल्फी माँ की गांड में डालने लगा।
वह कुल्फी को अपनी गांड में नहीं डालती थी। मम्मी की गांड काफी पतली थी।

Desi Kamukta Mom Sex Sex Story

बाद में मैंने माँ की गांड में उंगली डाली।
मम्मी ने जोर से चिल्लाकर कहा, “बस मेरा राजा..।” मत डालो।

इसे भी पढ़ें   कुंवारी लड़की की जवानी की गर्मी शांत किया - Bhabhi Hot Daughter

लेकिन मैंने उंगली फिर से निकाल कर डाल दी।
इस बार मेरी पूरी उंगली मम्मी की गांड में गई।
फिर से उन्हें रोना पड़ा।

मैंने उंगली निकालकर मुँह में चाट दी।
यह देखते ही मेरी माँ ने मुझे चूम लिया।

माँ की अन्तर्वासना चुदाई की कहानी | Mom and Son Antarvasna Sex Story

हम एक दूसरे को किस देने लगे।
मैं मम्मी की चुत में उंगली डालकर उन्हें गाली दे रहा था, आह मेरी जान मनीषा साली..। कब से मैं तुम्हारी चुत चोदने को उत्सुक था।

मम्मी भी मेरी उंगली से अपनी चुत को रगड़ते हुए झड़ गईं।
मैं मम्मी की चुत से पूरा पानी पी गया।
वास्तव में बहुत सख्त था।

अब मैंने माँ को चुदाई की मुद्रा में लिटाकर अपना लौड़ा उनकी चुत के ऊपर रखा।

मैंने उन्हें धक्का देकर अभी भी संभल नहीं पाया।
गीली चुत से मेरा लंड अंदर घुस गया।

लंड इतना बड़ा था कि मम्मी की चुत में आसानी से नहीं जा सका।
दर्द से माँ जोर से चिल्ला रही थीं।

मैंने मम्मी को किस करने लगा, उनके होंठों पर अपने होंठ जमाए।
मैं मम्मी को चुंबन देते हुए अपना पूरा लंड उनकी चुत में डालने लगा।

मम्मी ने जोर से चिल्लाकर कहा कि आई मर गई जब लंड अचानक घुसा। धीरे-धीरे साले टूट जाएगा क्या?

उन्हें देखते हुए मैं जोर से धक्के मारता जा रहा था।
कुछ देर बाद, मम्मी हवा में अपनी दोनों टांगें उठा कर वर्षों बाद पाए गए लौड़े का आनंद लेने लगी।

दस मिनट की चुदाई के बाद मुझे झड़ना पड़ा।
मैंने चुत से लौड़ा निकालकर माँ के मुँह में झड़ गया।

मेरा लौड़ा देर तक मम्मी ने चूस लिया।
मेरा लौड़ा फिर से उठ गया।

मैंने माँ से कहा कि मुझे तुम्हारी गांड मारनी है।
पिताजी ने कहा, “नहीं बेटा, आज तक मैंने गांड में लंड नहीं लिया है।” ऐसा मत करो, कृपया।

मैंने उन्हें गाली देते हुए उनके बाल पकड़कर कहा, “चल रंडी, कुतिया बन जा।” आज मुझे कुछ सुनने को नहीं मिलेगा।

वे समझ गईं कि मेरे अंदर का मर्द जाग गया है और अब मुझे गांड मारना पड़ेगा।

जब मैंने माँ को डॉगी की तरह आने को कहा, तो वे कुतिया बन गईं।
मैं उनकी गांड के छेद को चूसने लगा।

Free Mom Sex Story In Hindi

थोड़ी देर चूसने के बाद, उनका लौड़ा फनफनाने लगा, इसलिए मैंने लंड की नोक को उनकी गांड पर रखकर जोर से धक्का मारा।

धक्का लगते ही वह तड़फने लगी।
मैंने उन्हें गाली देते हुए फिर से उठाया, “बहन की लौड़ी।” सामान्य ड्रामा चोदता है।

मैंने अपना लौड़ा मम्मी की गांड में डाल दिया जब वे घोड़ी बन गईं।
उसने बहुत जोर से चिल्ला दिया। मैं फिर भी गांड मारता रहा।

मैं उनकी गांड में कुछ मिनट तक झड़ गया।
तब दोनों सो गए।

मैंने उस रात मनीषा को तीन बार चोदा।
मेरी बहन सुबह आने वाली थी।

मैं भी दीपिका को चोदना चाहता हूँ, मैंने माँ को बताया।

हां, मम्मी ने कहा, हम थ्रीसम करेंगे।
मैं ओके कहकर सो गया।

उस दिन भी दीपिका मेरे लौड़े से चुदने वाली थी।
अगली कहानी में आपको बताऊंगा कि मैंने उन दोनों को एक साथ कैसे चोदा।

आप मेरी Mom and Son Antarvasna Sex Story कहानी को कैसा लगा? कृपया कमेंट करके बताएं।
momandson2343143@gmail.com

Read More Stories…

रंडी सौतेली माँ की उछल उछल कर चुदाई करी | Hot Xxx Mom Porn Kahani

सौतेले Bete के साथ की Chudai भाग -1 | sauteli maa ki chudai

Related Posts

Report this post

मैं रिया आपके कमेंट का इंतजार कर रही हूँ, कमेंट में स्टोरी कैसी लगी जरूर बताये।

Leave a Comment