मोम की कामुकता सेक्स स्टोरी | Mom Ki Kamukta Sex Story In Hindi

मेरी माँ बहुत आधुनिक और सुंदर हैं। मैं हर दिन उनकी मालिश करता हूँ। मेरी Mom Ki Kamukta Sex Story In Hindi पढ़ें, जो उन्होंने मुझे अपनी वासना का शिकार बनाया।

नमस्कार दोस्तों, मैं अहब, 24 वर्ष का हूँ, और मैं आपको अपनी माँ की कामुकता और यौन संबंधों की कहानी बताने जा रहा हूँ। यह मेरा परिवार है। मेरे परिवार में चार सदस्य हैं। व्यवसाय करने वाले मेरे पिता अक्सर बाहर रहते हैं।

मेरी माँ 42 साल की हैं और बहुत युवा हैं। मैं भी इसी परिस्थिति में बड़ा हुआ था। मम्मी और पापा दोनों मिलकर पीते थे, और मेरी मॉम पापा के साथ सिगरेट और अन्य पेय पीती रहती थी।

kamukta hindi story

मैं बहुत हॉट ड्रेस पहनने को आदी हो गया था। मेरी माँ घर में एक छोटे से फ्रॉक पहनकर घूमती थीं। हालाँकि, मैं उनको इस ड्रेस में देखकर बेहोश हो गया। एक और बात थी कि मेरी मॉम नहाने से पहले मुझे मसाज करती थीं। मैं उनके घायल शरीर को अपने हाथों से रगड़ने में बहुत मज़ा लेता था।

यदि आप भी अपनी कहानी इस वेबसाइट पर पब्लिक करवाना चाहते हैं तो नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके अपने कहानी हम तक भेज सकते हैं, हम आपकी कहानी आपके जानकारी को गोपनीय रखते हुए अपनी वेबसाइट पर प्रकाशित करेंगे

कहानी भेजने के लिए यहां क्लिक करें ✅ कहानी भेजें

मोम की कामुकता सेक्स स्टोरी | Mom Ki Kamukta Sex Story In Hindi

मेरे माता-पिता के अलावा मेरी एक बहन है, जो 22 साल की है। वह अपनी पढ़ाई में व्यस्त रही।

मैं 20 साल का था जब यह Sex Kahani हुई।

एक दिन जब पिता जी एक व्यावसायिक यात्रा पर गए। मैं हर दिन की तरह मसाज करने के लिए मॉम से कहा।

उस दिन, मॉम ने रोज की तरह कपड़े नहीं पहने थे; उसने एक तौलिया अपने मम्मों पर और दूसरा अपनी गांड पर लगाया था। इस समय वो औंधी लेटी हुई थीं।

मैंने मॉम की पीठ पर तेल लगाना शुरू कर दिया। मैं मॉम की पीठ पर तेल लगाते हुए हाथ उनके मम्मों तक ले जाता था। इससे मेरे हाथों में मॉम के मम्मों पर ढकी तौलिया बार-बार फंस जाती थी।

मैंने मॉम को बताया कि आपकी तौलिया परेशान कर रही है।
तो मॉम ने कहा, “ठीक है, तौलिया हटा दो।”
घर पर रहते हुए मैं कैप्री पहनता हूँ। Xxx Mom ने कहा कि तुम भी बदलकर आ जाओ जब मैंने उसकी तौलिया उतारी..। नहीं तो इस कैपरी को तेल लगेगा।
मैंने कहा, मॉम, अगर मैं कुछ भी पहनूंगा, तो तेल लगेगा।
मैम ने कहा कि या तो तुम नंगे हो जाओ या मेरी तरह तौलिया पहन लो।

इसे भी पढ़ें   लन्ड की मालिश करवाकर मम्मी को चोदा

मैं फिर से मॉम की मालिश करने आ गया, तौलिया लपेटकर अपनी कैपरी उतार दी।
मैंने उन्हें तेल लगाने की कोशिश की।

अब मैं बार-बार उनके मम्मों को छू रहा था। मेरी मॉम के चुचे बहुत ठोस और कठोर थे। तीन इंच मोटा और साढ़े सात इंच लंबा मेरा लंड उनके मम्मों से टकरा गया।

hindi sex stories kamukta 

तब मॉम ने कहा, “अब तुम मेरे पैरों पर तेल लगाओ।”

मैंने मॉम के पैरों पर तेल लगाना शुरू किया। मेरी मॉम बहुत खुश थी जब मैं उनकी पिंडलियों पर तेल लगा रहा था।

अब थोड़ा ऊपर भी लगाओ, उन्होंने कहा।
मैंने उनकी गांड पर रखी तौलिया में हाथ डालकर अपना हाथ उनकी जांघों तक बढ़ाया। मैं सिर्फ मॉम की चिकनी जांघों पर हाथ फिसला। तब मैंने सोचा कि वो पूरी तरह से नग्न हैं।

मॉम की तौलिया एक तरफ सरक गई जब उसने अपनी टांगें फैला दीं। मैंने अपनी भी तौलिया उतारी और मॉम की गांड पर ढकी हुई तौलिया उतारी।
अब हम दोनों नंगे थे।

मॉम की गांड पर मैं उनकी जांघों से मालिश करने लगा। मेरा खड़ा लंड मॉम के शरीर से टकराने लगा जब मैं कुछ और ऊपर चढ़ गया। मेरा खड़ा लंड मॉम ने देखा जब वह अपना सर घुमाया।

मोम की कामुकता सेक्स स्टोरी | Mom Ki Kamukta Sex Story In Hindi

मुझे हटाते हुए वह मुस्कुराकर खड़ी हो गईं। मेरा लंड तना हुआ था, वे देखते थे।
वाह, तुम बड़ा हो गया है, मोम ने कहा।

उसने मेरे लिंग की ओर देखा और कहा, “तुम्हारा लिंग तुम्हारे पिता पर गया है।” अब से मैं तुम्हें मॉम नहीं मानता..। अपनी रखैल बना ले और हर दिन सुबह और शाम मेरी चूत पर अपने लंड चलाना।
यह कहते हुए, वे नीचे बैठ गईं और मेरा लंड चूसने लगीं।

मैं जानता था कि मेरी लॉटरी होने वाली थी। मेरी मॉम मुस्कुराकर मेरा लंड अपनी चूत में डाल देगी। मेरा लंड मोटा हो गया और मॉम उसे चुदाई की हालत में फनफनाने लगा।

इसे भी पढ़ें   गर्लफ्रेंड की माँ से चुदाई पार्ट-2 | Girlfriend Ke Maa Ki Chudai

मुझे उनकी चालिस इंच की चूचियों को चूसने को कहा, जब वे अपना लंड मुँह से निकाल लिया।

मैंने मॉम की चूचियां चूसने शुरू कर दीं। उनकी सुंदर चूचियां थीं। दस मिनट तक मैंने उनकी चुचियों को खूब दबाकर चूसा। मैंने उनकी चुचियों को पूरी तरह से लाल कर दिया।

फिर मेरी माँ छटपटाने लगीं और उनकी चुचियों से दूध निकलने लगा।
मैंने सोचा कि आपकी चुचियों से दूध कैसे निकलता है।
मॉम ने कहा कि वह नहीं जानता कि कुदरत ने मेरे साथ क्या किया है, लेकिन मेरी चुचियों से दूध टपकने लगता है जब भी उन्हें अच्छी तरह से चूसा जाता है।

मैंने मॉम के स्तनों पर अपने होंठ फिर से लगाए और उनका दूध पीने लगा। मुझे मॉम ने अपनी छाती में दबाकर दूध पिलाने लगा। मैं मॉम की नाभि में उंगली डालने लगा क्योंकि मेरी उत्तेजना बढ़ रही थी।

kamukta hindi story

फिर मैं धीरे-धीरे मॉम की चूत के पास चला गया। मैंने सोचा कि मेरी माँ की चूत बहुत चिकनी थी। Xxx Mom ने अपने दोनों पैरों को फैलाकर मेरा हाथ अपनी चिकनी चूत के पास रखा।

मैं अब इसे पसंद करने लगा क्योंकि यह मेरे साथ पहली बार था। मैंने मॉम की चूचियां छोड़ दीं और नीचे आकर उसकी चूचियों को अपनी जीभ से चूसने लगा।

मॉम चुत चटते हुए मजे में सिसकारियां ले रहा था। उनके पैर पूरी तरह से खुले थे।

मॉम ने कुछ देर तक चुत चाटने के बाद मुझे हाथ फेरा और मुझे इशारा किया।
मैं समझ गया और चुदाई की स्थिति में आ गया। मैंने साढ़े सात इंच का अपना लंड मॉम की चूत की फांकों में डालकर एक बार में पूरा लंड चूत में डाल दिया।

लंबे समय से चुदने से मॉम की चूत टाईट हो गई। उसने हल्के से कराह दिया। हम दोनों एक मिनट में बेहोश हो गए। अब मैंने अपने लंड को कसकर मॉम की चूत में डालना शुरू किया।

मोम की कामुकता सेक्स स्टोरी | Mom Ki Kamukta Sex Story In Hindi

मैं मॉम की चूचियों का दूध पीते हुए उसका दूध पीता था।

अब मॉम भी चुदने में बहुत खुश था। वह मुझे उत्साहित कर रही थीं, उम्म्ह, अहह, हय, याह। राजा, मेरे सैयां, मेरे बलम को चोदो, मेरी चूत को फाड़ दो..। वाह, बेटा।

इसे भी पढ़ें   माँ बेटे का प्यार और संस्कार भाग 4

मैं मॉम की चूत को चूसते हुए अपने होंठों को उनके होंठों से सटा रहा था। मेरी माँ भी नीचे से अपनी गांड को उछाल-उछाल कर मेरे लंड से अपनी चूत को चुदवा रही थीं। मॉम की चूत को मेरा लंड अच्छी तरह से चोद रहा था। मॉम भी चिल्लाकर अपनी चूत चुदवाने लगी।

फिर मॉम की चूत कुछ मिनट बाद झड़ गई, लेकिन मेरा लंड अभी भी खड़ा था। तब उन्होंने कहा कि यह झड़ना ही होगा, नहीं तो इसी तरह चलेगा।

sex story kamukta

मैं फिर से उनके मुँह में झड़ गया जब वो मेरा लंड चूसने लगीं।

बाद में मुझे मॉम ने सिगरेट की बोतल और दो गिलास पानी, बर्फ और नमकीन लेने को कहा।

हम दोनों ने सोफे पर नंगे ही बैठकर पैग लगाने लगे। नीचे बैठकर, मॉम ने सिगेरट जला दिया और मेरे लंड को चूसना शुरू कर दिया।

एक बार फिर चुदाई शुरू हुई। जब मैंने इस बार मॉम को उनकी गांड मारने की इच्छा जताई, तो वे बेहोश हो गईं। मैंने मॉम की चुचियों को भींचते हुए उनकी गांड मारी।

मैं कुछ समय बाद मॉम की गांड में झड़ गया।

इसके बाद से, मॉम हर दिन ऐसा करता था। वह सुबह और शाम मेरे लंड से अपनी चुत और गांड को शांत करने लगी।

आप मेरी Mom Ki Kamukta Sex Story In Hindi को कैसा लगा? प्लीज को ईमेल से भेजें।

Related Posts

Report this post

मैं रिया आपके कमेंट का इंतजार कर रही हूँ, कमेंट में स्टोरी कैसी लगी जरूर बताये।

Leave a Comment