विधवा मम्मी को सोने के बाद चोदा | Dirty Mom Hot Sexy Hindi Story

Dirty Mom Hot Sexy Hindi Story पढ़े। ईश्वर ने हमारे परिवार पर बहुत कृपा की, सब कुछ अच्छा चल रहा था, लेकिन पापा एक दुर्घटना में मर गए। मेरी बीवी से उसके बाद झगड़ा हुआ। वह चली गई।

मैं कक्षा बारहवीं पूरी करने के बाद अपने पिता के साथ दुकान पर बैठने लगा। हमारी कपड़े की दुकान कानपुर के एक मार्केट में थी। हम तीन: मैं, मम्मी और पापा। 22 साल की उम्र में मेरी शादी हो गई। मेरी शादी डेढ़ महीने बाद हुई। हमारे सभी रिश्तेदारों के कहने पर हमने शादी नहीं टाली और मैं सादगी से विवाह कर लिया।

मैं खुद को भाग्यवान मानने लगा कि मेरी पत्नी अनु इतनी सुंदर थी। मेरे सुहागरात समारोह में मेरी दुल्हन अनु ने मुझे आश्चर्यचकित कर दिया। अनु से शादी के तीन महीने तक मैंने बहुत चुदाई की।

तभी भाग्य फिर बदल गया, और अनु किसी छोटी सी बात पर अपनी माँ से झगड़ा करके अपने घर चली गई। मैंने बताया कि उसने तलाक की नोटिस भी भेजी है।

यदि आप भी अपनी कहानी इस वेबसाइट पर पब्लिक करवाना चाहते हैं तो नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके अपने कहानी हम तक भेज सकते हैं, हम आपकी कहानी आपके जानकारी को गोपनीय रखते हुए अपनी वेबसाइट पर प्रकाशित करेंगे

कहानी भेजने के लिए यहां क्लिक करें ✅ कहानी भेजें

Hot Mom Sex Ki Xxx Kahani

मेरा दिन दुकान पर खत्म हो गया, लेकिन बिस्तर पर जाते ही मुझे अनु की याद आने लगती और मेरा लण्ड टनटनाने लगता। मैं मुठ मारकर अपने लण्ड को शांत करने लगा लगभग हर दिन।

किस्मत एक बार फिर बदल गई।
मैं इतवार का दिन था और दुकान बंद होने से घर पर था। 11 बजे सुबह घर का काम पूरा करने के बाद मम्मी नहाने चली गईं, जबकि मैं टीवी देख रहा था।

तभी माँ का फोन बज गया। जब मैं फोन उठाता, घंटी बंद हो गई।
जैसा कि मैंने देखा, रेखा आंटी ने फोन किया था।

मम्मी की बचपन की दोस्त रेखा आंटी मुंबई में रहती थीं। मैंने WhatsApp खोला क्योंकि रेखा आंटी की मिस्ड कॉल के साथ उनके मैसेज भी थे। व्हाट्सएप खोले जाने पर मेरी आँखें फटी रह गईं क्योंकि रेखा आंटी ने अपनी माँ को न्यूड सेक्स क्लिप्स भेजे थे, जो वर्षों से चल रहा था। जब मैं चुदाई के हिस्से देखने लगा, तो मेरा लण्ड टनटनाने लगा।

तभी माँ नहाकर आई। अब मम्मी मुझे मम्मी नहीं बल्कि चुदाई का सामान लगने लगा। Dirty Mom Hot Sexy Hindi Story

५ फुट ५ इंच कद, गोरा चिट्टा रंग, भरा बदन, मस्त चूचियां और मोटे मोटे चूतड़ वाली माँ को मैं चुदाई की नजर से देखा। चुदाई के लिए और क्या आवश्यक है?

मैं चुदाई का तान बाना बुनने लगा जब मेरी माँ अपने कमरे में चली गईं। जब मैं अपनी माँ के कमरे में पहुंचा, वे पेटीकोट और ब्लाउज पहने हुए ड्रेसिंग टेबल पर अपने बालों को संवार रही थीं। शीशे में मम्मी की चूचियां और साक्षात चूतड़ों ने मुझे परेशान कर दिया। लेकिन मुझे हिम्मत नहीं आई कि यहीं बेड पर गिरा कर चोद दूं।

मैंने माँ को सिनेमा चलने के लिए राजी कर लिया क्योंकि मैं थोड़ा सब्र से काम लेना चाहता था। हमने फैसला किया कि हम दोपहर का खाना घर से खाकर निकलेंगे और रात को बाहर खाकर वापस आएंगे।

मिस्टर इंडिया, अनिल कपूर और श्रीदेवी की फिल्म, दो दिन पहले ही रिलीज हुई थी, इसलिए दो टिकट खरीदकर हॉल में जा बैठे।

“काटे नहीं कटते ये दिन ये रात” गाती श्रीदेवी को देखकर मैंने मम्मी से कहा कि श्रीदेवी भी आपकी तरह सुंदर है, मॉम. वह शिफॉन की झीनी सी साड़ी पहने भीगी हुई थी।
मेरी तरह? मम्मी चौंक गई।

ओह सॉरी, आपसे कम, मैंने हंसते हुए कहा।
और दोनों हंस पड़े।

फिल्म खत्म होने पर हम रेस्तरां गए और खाने के बाद घर आए।

कपड़े बदलकर मम्मी सोने लगी, तो मैंने कहा, “मॉम, दो कमरों में रात भर AC चलता है, तो क्यों न हम सिर्फ एक कमरे में सोते हैं?”
मॉम ने कहा कि आप सो सकते हैं, विचार बुरा नहीं है।

इसे भी पढ़ें   मम्मी और बहन वन्दना एक ही बिस्तर पर नंगी हुई

दोनों लोग मेरे बेडरूम में सो गए क्योंकि वह सबसे अच्छा है।

Hot Mom Porn Kahani

मैं मम्मी को नहीं जानता, लेकिन मुझे पूरी रात नींद नहीं आई। मैं अपने लण्ड को सहलाता रहा क्योंकि मैं मम्मी को बाथरूम में पेशाब करते देखकर उनकी चूत की कल्पना करता था।

यह दो दिन चला. तीसरे दिन, मैं आधी रात को पेशाब करने के लिए उठा तो मेरी माँ सो रही थी। हम लोग कमरे में एक लाइट जलाकर सोते हैं।

जब मैं पेशाब करके लौटा तो मैं माँ का बदन देखने लगा। मम्मी का गुलाबी रंग का गाऊन पहने बदन मेरी आँखों में नशा भरने लगा।
मम्मी की गोरी गोरी टांगें देखकर, घुटनों तक उठे गाऊन से बाहर उनकी जांघों और चूत के बारे में सोचते हुए मेरा लण्ड टनटना गया।

मम्मी की जांघें देखकर मैं बाथरूम जाकर मुठ मार दूंगा। यह सोचकर घुटनों के बल बैठकर माँ की गाऊन उचकाकर उसके अंदर झांका तो सन्न रह गया. माँ ने पैन्टी नहीं पहनी थी, इसलिए मुझे लगा कि माँ ने दो चार दिन पहले ही अपनी चूत साफ की थी।

मैं मम्मी के बगल में लेट गया और सोचा कि मुठ मारने से अच्छा है कि उसके चूतड़ों पर लण्ड रगड़कर डिस्चार्ज कर लूं। मैं मम्मी के पीछे सो रहा था, वह अपनी बायीं ओर करवट लेकर। मैंने माँ के चूतड़ों से लोअर के अंदर टनटनाता हुआ लण्ड सटा दिया। लण्ड को मम्मी के दोनों चूतड़ों के बीच रखकर हौले-हौले से रगड़ने लगा।

मेरा शरीर बेकाबू हो गया, जैसे मैं लण्ड रगड़ रहा था।

मम्मी के शरीर में तभी हलचल हुई, शायद वह जाग गई थी। मैं सोने का बहाना बनाने लगा।

उठकर माँ नहाने चली गई। मैंने सोचा कि वह पेशाब करने के लिए जग गई होगी। थोड़ी देर बाद, मम्मी बाथरूम से निकलीं और कमरे की लाइट बंद करके बेड पर आ गईं। बाहर से छनकर आने वाली सड़क की रोशनी में मम्मी को फिर से अपनी बायीं ओर करवट लेकर सोते देखा गया।

मैंने सोचा कि माँ सो गई है जब कुछ देर तक कुछ हुआ नहीं। धीरे-धीरे मैंने मम्मी के चूतड़ों से अपना लण्ड सटा दिया। मैंने अपना लण्ड लोअर से निकाल लिया क्योंकि प्रकाश नहीं था। अब मैं पहले की अपेक्षा बेहतर लग रहा था क्योंकि पहले मेरे लोअर और मम्मी का गाऊन लण्ड और चूतड़ों के बीच थे, लेकिन अब सिर्फ मम्मी का गाऊन था, जो भी पतला था।

मैंने सोचा कि अगर मैं मम्मी का गाऊन ऊपर सरका दूं तो लण्ड सीधे चूतड़ों के संपर्क में आ जाएगा. मैंने कुछ देर तक लण्ड को चूतड़ों के बीच सटाये रखा। ऐसा करने के लिए मैंने मम्मी का गाऊन धीरे-धीरे उनकी कमर तक उठा दिया और अपना लण्ड उनके चूतड़ों से सटा दिया।

Indian Mom Sexy Xxx Kahani

ये मन भी इतना हरामी है कि कहीं नहीं ठहरता। जब मैं अपने नंगे चूतड़ों पर लिंग रगड़ने लगा, मुझे लगा कि मेरी माँ सो रही है और मुझे एक बार चुम्मी देने में मज़ा आ जाएगा। मैं सिर्फ यही सोचकर अपने लण्ड को चूतड़ों के बीच खिसकाकर चूत तक पहुँचाने का प्रयास करने लगा।

तभी माँ का भाग्य और मेरा भी।
करवट में सो रही मम्मी उठकर अपनी टांगें चौड़ी कर दीं और मुझे अपने ऊपर आने का संकेत दिया।

मैं खट से अपनी माँ के ऊपर आ गया और अपना मूसल सा लण्ड उसके चूत में डाल दिया। मैं भी जल्दी ही बाहर निकल गया क्योंकि मम्मी की चूत भी काफी गीली हो चुकी थी। मम्मी की चूत मेरे वीर्य से भर गई।
मैं चुपचाप सो गया और मम्मी के गाऊन से अपना कपड़ा पोंछा।

सुबह देर से उठने पर मेरी माँ रसोई में बैठी हुई थीं। मैं नहाकर, नाश्ता करके दुकान चला गया।

इसे भी पढ़ें   नौकरानी को लालच देकर चोदा | Maid Sex For Money Story

रात को घर लौटा, खाना खाया, हाथ धोया और चुपचाप टीवी देखने लगा। वह अपनी माँ से नजरें मिलाने की हिम्मत नहीं कर रही थी, इसलिए वह उसे चुरा रही थी।
अब क्या हो सकता है? क्या होना था?

मैं टीवी कुछ देर देखने के बाद बेडरूम में चला गया और सोने की कोशिश करने लगा, जबकि मेरी माँ रसोई कर रही थी। साढ़े ग्यारह बजते ही मेरे बेडरूम में मेरी माँ नहीं आई।

रात के बारह बजे मेरी माँ ने मेरे फोन पर फोन करके पूछा कि मुझे नींद नहीं आ रही है। मेरे बेडरूम में आओ। दुल्हन आपका इंतजार कर रही है।

जब मैं उठकर माँ के बेडरूम में पहुंचा, तो मैं दंग रह गया। मम्मी का कमरा फूलों से सजाया गया था। मम्मी लाल साड़ी पहनकर सुहाग की सेज पर बैठी थीं।

मम्मी का चेहरा देखते ही मेरी आँखें फटी रह गईं। मम्मी श्रीदेवी को पूरे मेकअप में मात कर रही थीं। मैं प्यार करता हूँ, रेनू, मैंने मम्मी का हाथ उसके हाथ में लेकर उसे चूम लिया।
मम्मी ने कुछ नहीं कहा।

मैंने मम्मी का घूंघट उतारा, उनके माथे को चूमा और उनके होठों पर अपने होंठ लगाए। मम्मी दहक रही थी।
मैंने मम्मी को अपने हाथ में लेकर उनकी चूचियां सहलाते हुए पूछा, “मॉम, मैं तुम्हें रेनू कहकर फोन कर सकता हूँ?”
“हाँ, मेरे राजा, मेरे सोनू।“मम्मी ने कहा और मेरी बांहों में झूल गई।

मैंने पहले मम्मी की साड़ी उतारी, फिर ब्लाउज और पेटीकोट उतारा। मम्मी ब्लैक कलर की ब्रा और पैन्टी में अधिक गोरी लग रही थीं।
मैं अपनी टीशर्ट उतारकर बालों से भरी अपनी छाती से मम्मी को सटाकर उसके होंठ चूसने लगा, पैन्टी के ऊपर से उसके चूत सहलाते हुए।
कुछ देर बाद मैंने अपनी माँ की ब्रा उतार दी, और बीस-बाईस साल के अंतराल के बाद आज मेरे मुंह में फिर से माँ की चूची आ गई।
मैंने मम्मी की पैन्टी उतार दी और पैन्टी पर हाथ फेरने लगा। आज मम्मी ने अपनी चूत शेव की। मैंने मम्मी की चूत पर हाथ फेरते फेरते अपनी ऊंगली उसकी चूत में डाली, जिससे वह खुशी से चिहुंक उठी।

मैंने अपनी जीभ मम्मी की चूत में फेरने लगा और उसके होठों पर अपने होंठ रख दिया। जब मैंने अपनी जीभ की चोंच बनाकर मम्मी की चूत में डाला, तो वह फुर्ती से मेरा लण्ड अपनी मुठ्ठी में दबोच लिया और मेरा लोअर नीचे खिसका दिया।

अब मैं माँ की चूत चाट रहा था और माँ मुझे सहला रही थी।

Desi Mammi Ki Chudai Kahani

मैंने एक तकिया मम्मी की चूतड़ों के नीचे रखा और उनकी टांगों के बीच रखा जब मेरा लण्ड टनटना कर मूसल जैसा हो गया।

मैं आगे झुका और मम्मी की दाहिनी चूची दोनों हाथों से पकड़कर चूसने लगा, उसकी चूत के लबों को खोलकर अपने लण्ड का सुपाड़ा उसके मुखद्वार पर लगाकर। मम्मी ने चूतड़ उचकाकर दिखाया कि अब वे चुदवाने के लिए उत्सुक हैं।

मैं अपनी माँ की चूची चूसते हुए अपना लिंग उनकी चूत में धकेला, धीरे-धीरे पूरा लिंग उनकी चूत में गया। कल की अपेक्षा आज मम्मी की चूत टाइट लग रही थी। या तो आज मम्मी की चूतड़ों के नीचे तकिया रखने से मेरा लण्ड बहुत टनटनाया हुआ था।

मम्मी की चूत मेरे मुंह में थी, और मेरी चूत उसके मुंह में।

मम्मी ने मेरे बालों में उंगलियां चलाकर कहा, “सोनू, मेरे राजा, मेरी जान मुझे रेनू कहकर बुलाओ, मैं तुम्हारी रेनू हूँ।” मैं अश्लील भाषा में बात करता हूँ, मुझे चोदता हूँ, मेरी चूत की धज्जियां उड़ाता हूँ, मेरी चूचियों को नोचता हूँ और काटता हूँ। मेरे साथ दुर्व्यवहार करो, बरसों से मैं प्यासी हूँ, मैं बहुत तड़पी हूँ कि तुम्हारे पिता कुछ नहीं कर पाते थे। मैं गंदी गंदी बातें सुनाते हुए चोदो।

इसे भी पढ़ें   अपनी सगी विधवा माँ को चुसाया लंड | Sex Story Hindi Mom

मैंने कहा, “रेनू डार्लिंग, मेरी जान, मेरी गुलो गुलजार, मैं तुम्हें जमकर चोदूंगा, मेरा लण्ड जब अपनी रफ्तार पकड़ेगा तो तुम्हारी नाभि के भी परखच्चे उड़ा देगा”, जब मैंने अपना लण्ड आधा बाहर निकालकर जोर से अंदर ठोंका। तुम सिर्फ मुझसे चुदवाने के लिए पैदा हुए हो, और मैं सिर्फ इसीलिए पैदा हुआ हूँ कि मैं तुम्हारी चूत की आग बुझा सकूँ। हाय, मैं यहाँ हूँ।

मैंने इतना कहकर माँ की चूचियां छोड़ दीं और उनकी टांगें अपने कंधों पर रखकर अपना लण्ड उनकी चूत में डालने लगा।

धीरे-धीरे शॉट मारने के बाद मम्मी चिल्ला पड़ी।
मैंने हंसते हुए कहा, “रेनू मैडम, अब चिल्लाने से कुछ नहीं होगा; शादी ऐसे ही पूरी रात चलेगी।”

राजधानी एक्सप्रेस की स्पीड से मम्मी हाँफने लगी और हाथ जोड़कर रुकने को कहा। जब मैं रुका, मम्मी ने अपनी सांस सामान्य करने लगी और अपनी टांगें मेरे कंधों से उतार दीं।

मैंने माँ को पलटाकर घोड़ी बना दिया और उनके पीछे आकर उनके लण्ड का सुपारा रख दिया। उसने दोनों हाथों से मम्मी की कमर पकड़कर जोर से झटका मारा और पूरा लण्ड उसके ऊपर फेंक दिया।

मेरा लण्ड अकड़ने लगा जब पैसेंजर ट्रेन की रफ्तार से शुरू हुई चुदाई राजधानी एक्सप्रेस की स्पीड तक पहुंची। मम्मी के पैर दर्द करने लगे। उन्होंने बार-बार कहा कि वे सीधे होकर पीठ के बल लिटा दें।

Xxx Mom Sex Story

इस बार उनके चूतड़ों पर दो तकिये रखे, जिससे उनका मुंह आसमान की ओर था। मैं मम्मी के ऊपर लेट गया और लण्ड को उनकी चूत में डालकर रेनू रेनू कहते हुए उनकी चूचियां चोदने लगा।

जब डिस्चार्ज का समय नजदीक आया, मैंने लण्ड की स्पीड बढ़ा दी। डिस्चार्ज होने के बाद भी मैं अपनी माँ के ऊपर कुछ देर तक लेटा रहा।

जब मैं हटा तो मेरी माँ ने कहा, “सोनू, तुम लोटा भरकर डिस्चार्ज करो,” मेरी पूरी चूत भर दी।

मैंने उस रात मम्मी को तीन बार चोदा। अब यह हर दिन होता है।

करीब बीस दिन बाद, किस्मत एक बार फिर बदल गई। रात को खाना खाने के बाद हम बेडरूम में आ गए. सोते समय मैंने मम्मी की चूचियों पर हाथ फेरना शुरू किया, लेकिन वह मेरा हाथ अपने पेट पर रखकर कहा, “सोनू, तुम्हारा छोटा सोनू मेरे पेट में पल रहा है।”

मैंने अपनी माँ को बांहों में भरकर उसे चूमते हुए कहा, “रेनू, मेरी जान, मेरे बच्चे की माँ, मैं तुम्हें प्यार करता हूँ।”

अनु और मैंने इसके बाद तलाक ले लिया। अपने घर और दुकान बेचकर हम लोग कानपुर से दूर भुवनेश्वर में आकर बस गए, जहां हमें कोई नहीं जानता था। अब इस घर में तीन जीव हैं। मेरी पत्नी रेनू, मैं और हमारा बेटा मोनू। आपको हमारी Dirty Mom Hot Sexy Hindi Story कैसी लगी कमेंट में जरूर बताएं |

Read More Sexy Kahani…

पापा ने करी बहन की चुदाई | Father Sex With Sister Xxx Kahani

हॉट आंटी की काली चूत चुदाई की कहानी | Hot Aunty Xxx Chut Chudai Ki Kahani

Related Posts

Report this post

मैं रिया आपके कमेंट का इंतजार कर रही हूँ, कमेंट में स्टोरी कैसी लगी जरूर बताये।

1 thought on “विधवा मम्मी को सोने के बाद चोदा | Dirty Mom Hot Sexy Hindi Story”

  1. Praveen Singh
    Privacy & Security)
    Bihar se koi unstatisfied lady/women, Girl’s/ housewife, bhabhi/aunty, widowed/divorced ko fully satisfaction chahiye ya ” pregnant hona chahte hai” ya “Couple threesome sex krna ho” please contact me-6201488244
    About me-
    Sainik School Gopalganj boy
    Good Stamina boy (Sex time 40-45 min
    Age 25
    Height-5’6
    Penis-: 7.5-8 inches
    From-katihar
    Good looking boy
    I am friendly boy (so read krke mt rho
    Please please please contact me-6201488244 call/what’sapp

    प्रतिक्रिया

Leave a Comment