सगी दीदी और भाभी को एक साथ चोदा | Hot Sister And Bhabhi Hindi Sexy Kahani

Hot Sister And Bhabhi Hindi Sexy Kahani में पढ़ें कि जब मैं छुट्टियों में घर आया तो मेरी दीदी मेरे प्रति बदला हुआ व्यवहार करने लगी। दीदी ने मुझे सेक्स करने के लिए उकसा दिया और अपनी कुंवारी गुदा खुला दी।

प्रिय, मेरा नाम राज शर्मा है। आज मैं अपने साथ हुई एक वास्तविक घटना को लिख रहा हूँ।

मैं अपनी इस चुदाई कहानी में आपको अपनी बहन और भाभी को चोदा।

मैं इस Hot Sister And Bhabhi Hindi Sexy Kahani को पढ़ रहा था जब मैं 21 साल का था।

यदि आप भी अपनी कहानी इस वेबसाइट पर पब्लिक करवाना चाहते हैं तो नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके अपने कहानी हम तक भेज सकते हैं, हम आपकी कहानी आपके जानकारी को गोपनीय रखते हुए अपनी वेबसाइट पर प्रकाशित करेंगे

कहानी भेजने के लिए यहां क्लिक करें ✅ कहानी भेजें

Hot Bhabhi And Sister Xxx Kahani

मेरे परिवार में मेरे भैया भाभी, पापा और मेरी दो बहनें पूजा और काजल हैं।
पूजा मुझसे दो साल बड़ी है और वह बीए फाइनल कर रही है. काजल अभी बारहवीं में पढ़ती है।

मेरा परिवार बिहार के भागलपुर जिला के मोहनपुर गांव में रहता है, जहां यह कहानी घड़ती है।
मैं भागलपुर में पढ़ाई करता हूँ और छुट्टियों में घर जाता हूँ।

होली के अवकाश के कारण मैं दस दिनों के लिए घर गया था।
अपने घर पहुंचकर मुझे बहुत अच्छा लगा, क्योंकि मैं सभी लोगों से मिला और अपने दोस्तों से बातचीत की।

दिन भर घूमने के बाद शाम को घर आने पर भाभी मुझे परेशान करने लगी।

मेरी भाभी बहुत सकारात्मक हैं। हमारे और उनके बीच निरंतर मजाक होता रहता है।
मैंने भाभी से पूछा कि पूजा और काजल कहां हैं।

भाभी ने कहा कि वे दोनों अपनी सहेली के घर गए हैं।
मैंने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी।

तो भाभी ने मजाक करते हुए पूछा: उनकी याद क्यों आ रही है?
“याद तो आपकी आ रही है,” मैंने हंसते हुए कहा।
वास्तव में, देवर जी, भाभी ने कहा।

मैंने कहा कि हां, भाभी जी, हमारा इतना ख्याल रखने के कारण आपकी बहुत याद आ रही है।
मैंने कहा और अपने कमरे में चला गया।

थोड़ी देर बाद काजल और पूजा घर पहुंचीं।
पूजा ने मुझे देखकर गले लगा लिया।
उससे गले मिलते ही मुझे कुछ अजीब लगा।

इस बार मैं पूजा से काफी समय से मिल रहा था।

पूजा के बूब्स भी बढ़ गए थे..। जो मेरे सीने पर दबा रहे थे और मुझे बड़ा होने का अहसास दे रहे थे।

शायद पूजा को भी अपना दूध रगड़ना अच्छा लगता था। यही कारण था कि उसने मुझे कसके दबाया था।

उसने मुझसे चिपकी हुई ही पूछा: कैसे हो?
मैंने कहा: ठीक है दीदी।

तब काजल आकर पूछा, “दीदी, भैया को अब छोड़ भी दो या पूरी रात ऐसे ही रहोगी?”
तभी पूजा शर्माकर मेरे सीने से दूर चली गई।

तब काजल ने मुझे गले लगाकर कहा, “क्या बात है भैया, तुम बहुत लंबे हो गए हो।”
मैंने कहा कि चुप रहो, अगर नहीं तो मैं एक डाल दूंगा। अब बाहर निकल जाओ।

तभी भाभी ने कहा कि सब लोग आकर खाना खा लो।

नीचे आकर हम सब खाना खाने के लिए टेबल के चारों ओर बैठ गए।

पूजा मुझे अजीब तरह से देखती थी।
मैं कुछ समझ नहीं पा रहा था।

खाना खाने के बाद मैं अपना पूरा ध्यान खाने पर लगा दिया और अपने कमरे में चला गया।

रात को मैं सेक्स कहानी पढ़ना बहुत पसंद करता हूँ।
मैं अपने फोन पर भाई बहन की चुदाई वाली कहानी पढ़ रहा था।

मैं अपना फोन उठाकर बाथरूम में चला गया जब मुझे पेशाब लगी।
पूजा उसी समय कमरे में आई और मेरा फोन उठाकर देखने लगी।

जैसे ही मैं वापस आया, पूजा ने मेरा फोन तुरंत पकड़ा और अनजान बनने लगी।
मैंने सोचा कि क्या होगा अगर पूजा ने भैया को बताया।

तुम यहां क्या कर रहे हो? मैंने पूजा से पूछा। अपने कमरे में जाओ और सो जाओ।
नहीं, मुझे वहाँ नींद नहीं आती, पूजा ने कहा। आप मेरे साथ कमरे में सो जाएंगे?

इसे भी पढ़ें   बहुत मोटा है भैया - Bhaiya ne choda

मैंने सोचा कि अगर कहीं मना किया गया तो मैं इसे सभी को बता दूंगा।
मैंने कहा: “हां, ठीक है..।” मैं आता हूँ।

Desi Family Chudai Kahani

मैं पूजा कमरे में गया।
काजल भी वहीं सोई थी, और वहाँ एक बिस्तर खाली था।
मैं चला गया और उसी पर सो गया।

थोड़ी देर बाद पूजा मेरे बगल में सो गई।

थोड़ी देर बाद बगल के कमरे से कुछ आवाजें आने लगीं: आह, उह, आह।
मैंने कहा कि भाभी को शायद कोई समस्या है, हमें जाकर देखना चाहिए।
पूजा ने कहा, “अबे पागल..।” चुपचाप सो जाओ..। कोई समस्या ब्रोब्लम नहीं है।

मैंने कहा कि कोई समस्या नहीं है, इसलिए क्या हो रहा है भाभी, तुम क्यों रो रहे हो?
पूजा ने कहा कि भतीजा आने वाला है।

लेकिन मैं जानबूझकर ऐसा सवाल पूछ रहा था, हालांकि मैं सब जानता था कि चुदाई हो रही है।

मैंने बहाना बनाते हुए पूछा कि भतीजा आने का अर्थ क्या है? देखो।
चलो देखते हैं, उसने हंसते हुए कहा।

हम दोनों वहां से उठकर बरामदे की खिड़की के पास आए. भाभी के कमरे की ओर देखते ही हमारी आंखें फटी रह गईं।

भैया और भाभी पूरी तरह से नग्न थे; भैया भाभी को पीछे से पेल रहे थे।
हम लोगों ने देखा कि पूजा की गति धीरे-धीरे तेज होने लगी।

फिर हम दोनों ने देखा कि भाई ने भाभी की चूत को चाटने लगे। वह भाभी के मम्मों को भी चाट रहे थे।

मैंने पूछा कि क्या कर रहे हैं भाई?
यह खेल है, पूजा ने कहा। इसे खेलना बहुत अच्छा है। आप भी खेलेंगे?

हां, दीदी, मैं खेलेंगे, लेकिन मैं खेलने का तरीका नहीं जानता।
मैं सब कुछ सिखा दूँगी, पूजा ने कहा।

ठीक उसी समय पूजा ने अपनी कमीज उतार दी और मेरा हाथ पकड़कर छत पर ले गई।
उसके बड़े चूचे उसकी ब्रा से ऊपर की ओर भागते हुए दिखाई देते थे।

चलो जल्दी से अपने सारे कपड़े निकाल दो, पूजा ने अपने दूध दिखाते हुए कहा। मैं सीढ़ियों को बंद करके आता हूँ।
छत की खिड़की बंद कर दी।

मैंने पूजा की ब्रा को खोल दिया और अपने सारे कपड़े निकाल दिए।
उसकी 36 की चूचियां हवा में उड़ने लगीं।
उसके गुब्बारे तने हुए और बिल्कुल टाइट थे।
उसकी गांड तोप की तरह उठी हुई थी।

तभी पूजा ने मेरा लंड निकालकर अपना हाथ मेरे अंडर वियर में डाला।

वह लंड को देखकर कहा, “अबे साले, इतना बड़ा हो गया है और तुम कुछ नहीं जानते?” वास्तव में बताओ कि अभी तक कितनी लड़कियों ने चुदाई का आनंद लिया है?
मैंने कहा कि मैं अभी किसी को नहीं दिया, बस तुम्हें बचाया।

अब मेरी चूत की पूजा करो, पूजा ने वाह कहते हुए कहा।
मैंने कहा कि चिंता मत करो; अब आप जन्नत की सैर करेंगे।

मैंने पूजा को जमीन पर रखा और उसकी चूत को चाटना शुरू किया।

पूजा की छोटी, गुलाबी चूत पर छोटे बाल थे।

पूजा ने कुछ मिनट चूत चाटने के बाद मुँह में पानी छोड़ दिया।
मैंने पूजा को अपने पास खींच लिया और पूरा उसका पानी पी लिया।

मैंने अपना औजार उसके मुँह में दिया और आगे पीछे करने लगा जब तक वह कुछ समझ पाती।

दस मिनट के बाद, उसके मुँह में मेरा भारी सामान गिर गया और वह पी गया।
फिर मैं सीधे लेट गया और उसके मम्मों को दबाने लगा।

वह खुश होने लगी। कुछ देर बाद उत्तेजना फिर से बढ़ने लगी।
अब मैंने औजार रखकर उसकी चूत पर थूक लगाकर उसके दोनों पैरों को हवा में ऊपर किया।

इसे भी पढ़ें   मैंने आंटी की बेटी से पहले चुदाई कर दी | Hot Aunty Xxx Hindi Sex Stories

Vasna Sex Stories In Hindi

मेरा लिंग फिसल गया।
कारण यह था कि पूजा अभी कुंवारी थी, इसलिए उसका अंतर छोटा था।
मैंने सोचा कि इसके दूध 36 वर्ष के हो गए हैं क्योंकि यह चुदक्कड़ हो चुकी है।

मैंने दो-तीन बार चूत में लंड को सैट करके धक्का लगाया जब मुझे पता चला कि ये सील पैक माल है।
मेरे लौड़े का सुपारा बड़ी मुश्किल से उसकी चूत की फांकों में घुस गया।

वह रोने लगी।
तो मैंने उसके मुँह पर हाथ लगाकर चुप रहने को कहा।
वह दबी हुई आवाज में लंड निकालने के लिए कह रही थी।

मैं थोड़ी देर तक उसके शरीर को सहलाता रहा, उसके दूध को मुँह से चूसता रहा।

वह जल्द ही शांत हो गई और मैंने धीरे-धीरे शॉट मारना शुरू कर दिया।

अब भी पूजा दबी हुई आवाज में तड़फ रही थी।
छोड़ दो, वह विनती करती थी..। मैं जाऊँगा।
उसके गुप्तांग से खून बह रहा था।

उसकी चूत में से रस निकलने लगा जब वह कुछ देर बाद गांड हिलाने लगी।

रस की चिकनाई से मेरा लंबा लंड पूरी तरह से उसकी चूत में घुसने लगा।
अब वह मज़ा ले रही थी और कामुक सिसकारियां ले रही थी, “आह… उफ… आह..।”

उसकी इन कामुक आवाजों से मैं खुश हो गया।
मैं अपनी बहन को रांड की तरह चोदने लगा।

पूजा ने लगभग पंद्रह मिनट की निरंतर चुदाई के दौरान चूत से पच पच की आवाजें सुनाई दीं और उसने जवाबी धक्के देने लगे।
उसे यौन क्रिया का पूरा मजा आने लगा।

मैंने देखा कि पूजा कुछ देर बाद गिर गई।
जब मैंने उससे पूछा, तो वह मुझे हाथ दिखाकर रुकने को कहा।

लौड़े को चूत से निकालकर मैंने उसको पीछे घुमा दिया।
वह समझ गई कि मैंने उसकी बात सुनकर चुदाई बंद कर दी है।

लेकिन मेरे मन में कुछ और था। वह घूमी तो मैंने उसकी टांग उठा कर उसकी गांड में जोर से धक्का लगाया।

मैं उसकी गांड में घुस गया।
मैंने भी अपने दोनों हाथों को काम पर लगाया।

उसने एक हाथ से अपना मुँह बंद कर रखा था और दूसरे हाथ से अपने लौड़े से उसकी कमर को चिपका रखा था।

वह चिल्लाने और छटपटाने लगी, लेकिन मेरी दृढ़ता ने उसे कुछ नहीं करने दिया।

मैं उसकी गांड मारने लगा।
पूजा कुछ देर बाद मेरे लौड़े से अपनी गांड चुदाने लगी।

Kamukta Hindi Family Sexy Kahani

उस रात में हम दोनों ने दो बार सेक्स किया और सो गए।
सुबह हम दोनों उठे तो पूजा ठीक से नहीं चल रही थी।

मैंने पूजा को बताया, “कोई बात नहीं, आज कहीं मत जाना।” मैं भाभी को बता दूंगा कि आप बीमार हैं।

फिर मैं मेडिकल स्टोर गया और वहां से दर्द की गोली लाकर पूजा को दी।
दोपहर तक पूजा बिल्कुल सही ढंग से हुई।

मेरा और पूजा का रिश्ता पहले की तरह नहीं था; हमारा दृष्टिकोण बदल गया था।

दोपहर में काजल कॉलेज से घर आई और पूछा, दीदी, आज कॉलेज नहीं गई क्यों?
पूजा ने कहा कि आज मेरा मन नहीं कर रहा था और मेरी तबीयत भी खराब थी।

रात में आप कमरे में भी नहीं थे, दीदी, काजल ने कहा। मैं एक बार उठ गया था!
यह सुनकर पूजा चौंक गई। मैं बाथरूम में गया होता।

अब तुम मेरे साथ चलो, काजल ने कहा।
कहां जाना है, पूजा ने पूछा।
‘दीदी, होली आने वाली है, क्या आप कुछ खरीदने नहीं जाओगे?’ काजल ने पूछा।
हां, वह करना चाहिए, पूजा ने कहा। मैं चलता हूँ।

इसे भी पढ़ें   विधवा मौसी बनी मेरे बच्चे की माँ। Hot Mousi Hindi Sex Kahani

पूजा और काजल शॉपिंग करने चली गईं।

मैंने अपनी भाभी से पूछा कि उस रात आप क्या कर रहे थे?
भाभी ने कहा, “रात की तो बात ही नहीं पूछिए, आपके भैया बिल्कुल काम नहीं करते।” शुरू होते ही बंद हो जाते हैं।

मैंने कहा, “ठीक है, तो मुझे एक मौका देकर देखो।”
भाभी ने कहा कि अभी आपके ऊपर दो काम हैं।

मैं हैरान हो गया।
मैं सब जानता हूँ, भाभी ने कहा। कल आपने पूजा को छत पर रखा था। पूजा ने मुझे सब कुछ बताया है। उसकी चिंता थी कि कहीं वह गर्भवती नहीं हो जाएगी। मैंने उसे दवा दी है, इसलिए अब कोई खतरा नहीं है।

मैं भाभी को देखने लगा।
तब भाभी ने कहा, “यह लो देवर जी, कंडोम है।” अंदर डालते समय इसका उपयोग करना..। और डर मत करो। यह सब पूजा की योजना और मेरी वजह से हुआ है। आज आपको एक और सुंदर माल मिलेगा। आपकी छोटी बहन काजल भी रसीले हो गए हैं..। चख लीजिए।

यह सुनते ही मैंने भाभी को पकड़ लिया और कहा, “अब तो तुम्हारी मुसम्मियां चूसने की बारी है।”

नहीं, कोई आ जाएगा, भाभी ने कहा..। मुझे छोड़ दो..। ठीक है, पहले दरवाजा बंद करो।

तुरंत दरवाजा बंद करके भाभी की साड़ी निकालकर उंगलियों से उनकी चूत को सहलाने लगा।
भाभी का शरीर गर्म होने लगा।

तब मैंने उनके मुँह में अपना लंड डाल दिया और भाभी मेरा लंड चाटने लगी।

Desi Bhabhi Sister Porn Stories

कुछ देर बाद भाभी ने कहा, “आज पीछे का स्वाद ही मिलेगा, देवर जी।” आगे पान चबा रहे हैं।

मैंने उनकी माहवारी को समझते हुए कहा, “कोई बात नहीं भाभी, आज छोटी लाइन पर इंजिन दौड़ा लूँगा।”

तब मैं जोर से आगे पीछे करने लगा और भाभी की गांड में अपना लंड सैट किया।

मैंने भाभी के चिल्लाने पर हाथ रख दिया।
करीब दो घंटे के बाद भाभी ने कहा कि आप अपने भाई से ज्यादा शक्तिशाली हो।

मैं बाथरूम में चला गया और हँस पड़ा।

हम सब ने शाम को खाना खाकर सो गए।

काजल आज जागी हुई थी।
मैं उठा और जानबूझकर उससे कहा, “पूजा, मैं छत पर हूँ।” आओ..। मुस्कुराओ।

काजल ने पूजा की आवाज बनाते हुए कहा कि नहीं, वह जाग नहीं जाएगी।

मैंने कहा कि यदि वह जाग जाएगी तो मैं भी उसे चोद दूंगा। भी मचल रही है।
यह सुनते ही काजल ने मेरा हाथ खींचकर मुझे अपने ऊपर गिरा दिया।

“काजल जाग आई है भइया,” उसने कहा। चूस दीजिए।

प्रिय पाठकों, अगली बार मैं काजल के साथ चुदाई की कहानी लिखूंगा।
मेरी Hot Sister And Bhabhi Hindi Sexy Kahani आपको कैसी लगी?

Read More Sexy Kahani…

चाचा की बेटी की चुत फाड़ी | Cousin Sister Sex Stories

अंकल से उत्सुक होकर गांड मरवाया | Gay Hindi Sex Stories

Related Posts

Report this post

मैं रिया आपके कमेंट का इंतजार कर रही हूँ, कमेंट में स्टोरी कैसी लगी जरूर बताये।

Leave a Comment