विधवा मौसी बनी मेरे बच्चे की माँ। Hot Mousi Hindi Sex Kahani

मेरी मौसी ने मुझपर डोरे डालकर Hot Mousi Hindi Sex Kahani में सेक्स करने के लिए उकसाया। मेरी माँ ने भी बहन पर तरस खाकर हमारे यौन संबंधों को बढ़ावा दिया।

दोस्तो, जिंदगी में केवल दो अवसर मिलते हैं..। बचपन और युवावस्था।

अब बचपन खत्म हो गया है, तो युवा जीवन बर्बाद क्यों करें?

लेकिन हमारा समाज इसमें बहुत बड़ा अवरोध बनता है।

यदि आप भी अपनी कहानी इस वेबसाइट पर पब्लिक करवाना चाहते हैं तो नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके अपने कहानी हम तक भेज सकते हैं, हम आपकी कहानी आपके जानकारी को गोपनीय रखते हुए अपनी वेबसाइट पर प्रकाशित करेंगे

कहानी भेजने के लिए यहां क्लिक करें ✅ कहानी भेजें

आपने मेरी पिछली कहानी मौसी को वासना की नजर देखा। Xxx Mousi Sex Story

पढ़ी थी।

यहां लड़कियां आसानी से पटती नहीं हैं, इसलिए घर की एकमात्र महिला को सैट करना पड़ता है।

मेरी महबूबा माया मौसी की एक Hot Mousi Hindi Sex Kahani है।

माया ही उनका नाम है। वे सेक्स की देवियों की तरह हैं।

वे 42 साल की हैं, लेकिन क्या उनका शरीर है?

मौसी विधवा हैं।

Desi Mousi Ki Porn Story

उनका बेटा और बहू अकेले रहते हैं क्योंकि वे अमेरिका में बस गए हैं।

वे फोन पर मेरी मां से बहुत बातें करती हैं; मेरे साथ भी कभी-कभी बातचीत करती हैं।

एक दिन मां ने कहा: “बेटा, मेरी बहन माया अकेली रहती है, उसे बुरा लगेगा।” थोड़े दिन के लिए अपनी मौसी को यहीं बुला लो। वे यहां रहेंगी तो उसे खुशी होगी। अकेलेपन से मन पागल हो जाता है। अपनी मौसी को लेकर आओ। उसके सामान, कपड़े सब लेकर आना।

मैं कहां में कभी भी मना कर सकता हूँ? मैं उन्हें कार से उनके घर लेने गया।

जब मैं उनके घर पहुंचा, मैंने मौसी को नमस्कार करके पूछा: कैसी हो?

मौसी सफेद साड़ी पहनी हुई थी। ब्लाउज का गला पीछे से काफी खुला हुआ था। जिसकी वजह से माया मौसी की गोरी पीठ दिख रही थी।

वास्तव में, ये एक अद्भुत महिला है!

हमने फोन पर मौसी से पहले ही बातचीत की थी, और वे मेरे आने का इंतजार कर रही थीं, अपने सामान सहित।

हम दोनों जल्दी ही कार में बैठ गए।

मैं कार चलाने लगा और वे मेरे बाजू की सीट पर बैठ गईं।

मौसी के बड़े और मादक दूध थे। सीट बेल्ट बांधने से वे पूरी तरह से चिपक गए थे, जिससे वे कुछ ज्यादा बाहर आकर अपना आकार दिखाने लगे।

क्या बताऊं, वह दृश्य बहुत ही मनोरंजक था!

उनका दूध।

वे कार से बाहर देख रही थी।

जब मैं कार को धीमी गति से चला रहा था, तो मैं कनखियों से उनके हवा में थिरकते चूचे देख रहा था।

लेकिन वे भी इसे जानती थीं।

यात्रा लंबी थी और हमने बहुत कुछ बात किया।

उनके गालों पर मुस्कुराहट थी। वह बहुत ज्यादा ही स्माइल कर रही थी।

मैंने कहा कि तुम्हारी स्माइल बहुत क्यूट है!

वे कुछ नहीं कही।

मैंने उन्हें घर लाया।

मेरी मां को देखकर वे बहुत प्रसन्न हुईं। दोनों गले मिलने लगे।

मैंने कार से सामान निकाला।

यही कारण था कि वे हमारे घर आकर रहने लगीं।

उनका जीवन मां के साथ चलने लगा। किचन में कभी-कभी मदद करती हैं। टीवी देखतीं और मां से अच्छी तरह बातें करतीं।

अब वे खुश दिखती थीं।

यह सही है कि अकेलापन पागल बनाता है।

हम दोनों एक दूसरे के लिए खुले हुए थे।

मैं फिलहाल कुंवारा हूँ।

मैंने देखा कि मौसी चुदास है। लेकिन वे अपनी इच्छा को व्यक्त नहीं करने देती थीं।

मौसी को चुदना था, लेकिन अपनी पसंद के लंड से।

मौसी को शायद पापा को पटाने की जगह जवान लंड को ज्यादा कड़क पसंद आया था, इसलिए उन्होंने मुझ पर सिग्नल देना शुरू किया।

एक दिन वे पोंछा फेरने लगीं।

नीचे झुककर पोंछा मारते हुए मौसी बहुत गर्म लग रही थीं।

जब वे पीछे देखती हैं, तो उनकी गांड ऐसी लगती है मानो कोई बड़ा हथियार चल रहा हो।

मैं उस समय लैपटॉप पर काम कर रहा था।

Antarvasna Mousi Ki Kamuk Chudai Kahani

वे पोंछा मारकर मेरी तरफ आई। मौसी की क्लीवेज साड़ी हटने से उनके चूचों के बीच की लकीर साफ हो गई।

मैं वहीं रुक गया।

उसने मेरी नजर भांप दी और पूछा, क्या देख रहा था?

मैंने मुँह मोड़ दिया।

वे मुस्कुराने लगीं।

मौसी के गालों के गड्डे इस बार गुलाब की तरह खिलने लगे।

इसे भी पढ़ें   मालिश से कामुक होकर मम्मी चुदवाने लगी

मैं सिर्फ उनकी स्माइल पर नज़र डालता रहा।

उनका मुस्कुराता हुआ चेहरा कितना मनोहर था।

वे भी पोंछा मारते हुए मुझे देख रही थीं।

कुछ देर बाद मौसी कमरे से बाहर चली गईं।

उस दिन से वे विचित्र व्यवहार करने लगी थीं।

कभी-कभी मेरे बाजू में बैठकर टीवी देखतीं, कभी-कभी मुझे टच करतीं।

मां को हमारा प्यार खटकने लगा, वे भी ये सब देख रही थीं।

एक दिन माँ ने मुझसे कहा, “किशु, माया से थोड़ा दूर बैठो।”

मैंने पूछा कि इसमें क्या समस्या है? वे सिर्फ मेरी मौसी हैं!

हमारे परिवार में सब लोग बहुत खुले और मॉर्डन हैं, इसलिए मां को मुझसे बात करने में कोई हिचक नहीं आई।

“कुछ भी हो सकता है, माया मेरी बहन है,” माँ ने कहा।

लेकिन आपने कहा कि अकेलापन बुरा है। क्या आपको बुरा लगता है कि मैं उनसे बात करूँ?”

माँ ने कहा की मैं आप दोनों की गतिविधियों को देख रही हूँ। वे यहां आने के बाद कुछ अधिक हवा में उड़ने लगी हैं। मुझे कोई चिंता नहीं है। मैं भी चाहती हूँ कि मैं और आप दोनों खुश रहें।”

मां का आखिरी वाक्य मुझे बहुत हैरान कर गया।

मैंने पूछा भी कि आपने क्या कहा?

हां, बेटे, वे बहुत दुखी महिला है। उसके पति ने उसे बहुत पीटा था। उसका बेटा भी अमरीका चला गया। मैं आप दोनों को एक दूसरे से जोड़ देती हूँ अगर यह मुश्किल नहीं है। तेरी मौसी मान जायेगी । उसे मैं जानती हूँ।”

उस रात हम दोनों को पास में बुलाकर मां ने कहा, “माया, मेरे बेटे से जो करना है, करो।” मैं कोई शिकायत नहीं करुँगी।

माया मुस्कुराकर हम दोनों की तरफ देखने लगी।

वे बहुत शर्मा रही थीं और पूछने लगीं, “क्या कह रहे हो?”

मैंने भी साहस करके कहा, मौसी, तुम बहुत सुंदर हो। तुम अपने युवा जीवन को बेकार क्यों बर्बाद कर रही हो? जब मां को कोई दर्द नहीं है, तो आपको हिचक क्यों है? अब मैं भी तुम्हें प्यार करने लगा हूँ।

मां कमरा छोड़कर बाहर चली गई पर और कहा की तुम दोनों को जितना मजा लेना है। ले जाओ। किसी को नहीं बताना। मैं खिड़की को बंद कर रहीं हूँ। माया, शर्म छोड़ो। तुम इतने वर्षों अबला कैसे रहोगी? मैं आप से कहती हूँ कि मेरे बेटे को हर तरह से खुश करो…। तुम दोनों के लिए मैं सहमत हूँ!

फिर मेरी मां ने मुझसे कहा, “सुन पगले, मेरी बहन को बहुत खुश करो।” ठीक है!

मां ने इतना कहकर दरवाजा बंद कर दिया और चली गई।

आधी रात हो गई।

दोनों हम कमरे में अकेले थे।

मौसी बहुत शर्मा गईं।

Indian Mousi Porn Story

मैं यह बिल्कुल नहीं चाहता। मैं चाहता हूँ कि वे सिर्फ खुद को खुश कर सकती हैं।

पलंग पर वे सिकुड़ी सी बैठी थीं।

मैंने उनकी पीठ पर हाथ फेरने शुरू किया।

वे सर झुकाए बैठी रहीं और कुछ नहीं बोलीं।

मैं जी भर कर उनके शरीर को घूर रहा था।

अब मैंने बेशर्म होकर कहा, “हां, मौसी, आप मुझे सेक्सी लगती है।” मैं अपने लौड़े से आपकी चूत को मजा देना चाहता हूँ। कृपया मेरा साथ दें।

वे ये चूत लौड़ा शब्द सुनकर पीछे मुड़ गईं।

मैंने सोचा कि अजीब है कि आप विरोध नहीं कर रही हैं या कुछ नहीं बोल रही हैं। ये बहुत शर्मनाक हैं। इनके साथ धीरे-धीरे काम करना होगा।

मैं उनके नीचे बैठा।

मौसी पलंग पर बैठ गईं।

मैं जानता हूँ, मौसी, तुम कई दिनों से इशारे कर रही हो, मैंने उनकी जांघों पर हाथ रखकर कहा। आप कुछ नहीं कह रही हैं..। लेकिन मैं हर बात को समझता हूँ। एक बार कृपया मेरे सामने आओ…। मैं यहां आसमान उतार दूंगा।

मैंने कहा और उन्हें अपनी बांहों में भरकर पलंग पर लेटा दिया।

मैंने माया मौसी को अपनी छाती में कसकर भींच लिया।

अब मौसी मेरी पीठ पर हाथ फेरने लगी और आहें भरने लगी।

मैंने उनकी साड़ी उतारी और उनके चूचे दबाने लगा।

वे हँसने लगीं।

मुझे उनकी यही विनम्रता बहुत भाती है।

जब वे हौले से एक तरफ अपना चेहरा ऊंचा करके औरतबाजी वाला हल्का मुस्कान देती हैं, तो वे बहुत सुंदर लगती हैं।

इसे भी पढ़ें   ताऊ ने तेल लगा कर मेरी माँ चोद दी

उनके बदन में गुलाब की महक है।

मैं एक निप्पल चूसने लगा।

काले अंगूर की तरह मोटे और सख्त हो गए थे उनके निप्पल।

कितने सुंदर निप्पल थे!

मौसी आह करने लगी।

मैंने उनका नाम लेते हुए कहा, “मेरी माया मुझे सेक्सी लग गई है!”

अब वे मुझसे कुछ अधिक खुलने लगीं।

मौसी मेरा हाथ अपनी चूत पर लेकर नीचे फेरने लगी और रगड़ने लगी।

मैं मौसी की चूत पर हाथ फेरते हुए एक ओर निप्पल चूस रहा था।

फिर मैंने उनका रूप बदलकर कुतिया बनाया। डॉगी में वे बहुत कंटीला दिखती थीं।

हाय, मौसी की खूबसूरत काया!

उनकी कमर बहुत सेक्सी थी। पूर्वानुमान है कि यह 32 रहा होगा..। लेकिन उनकी 36 इंच गोल गांड कमर पर थी।

ये शेप कातिल था। उनका शरीर एक अप्सरा से कम नहीं था।

Mousi Sex Xxx Kahani

उस समय, उनके बाल खुले हुए थे, और उनके कमर पर मदहोश छाया हुआ था।

वे कुतिया बन गई और मेरा गांड हिलाने लगी।

वे अपनी भारी गांड को ऐसे हिला रही थीं कि किसी नामर्द का भी लंड खड़ा हो जाएगा।

मैंने उनके एक चूतड़ पर हाथ फेरकर कहा, “तुम्हारी गांड बहुत सुंदर है।” यह कैसे बना?

मैं पहले डांस करती थी ना, मोसी ने कहा। डांस से मुझे मेरा बहुत प्यार था, लेकिन शादी के बाद मेरे पति ने सोचा कि ये सब मूर्ख महिलाओं का काम है।

मैंने कहा कि नहीं, मौसी, इसमें कोई बुराई नहीं है।

उनकी गांड हिलाने की अदा बेहतरीन थी।

एक चूतड़ ऊपर, दूसरा नीचे..। उनमें गजब की चर्बी थी।

वे क्या कदम उठाती थी..। ये सब मुझे देखकर बहुत अच्छा लगा।

मैंने पूछा: तुम डांस करके मुझे दिखाओ?

इस पर वे शर्मिंदा हो गईं।

लेकिन मेरे बार बार कहने पर वे मान गई।

वे खड़ी हो गईं। उस समय वे मेरे सामने खड़ी होकर अपना पेट हिलाने लगीं।

कमर ऐसे हिला रही थी जैसे सांप रेंगता है।

माया मौसी बिल्कुल अय्या फिल्म की रानी मुखर्जी की तरह कमर हिलाती हुई दिखाई दी।

उनका खूबसूरत डांस देखकर मैं पागल हो गया।

मैंने उनके पैर उठाकर गोद में लिया।

फिर खड़े होकर मौसी की चूत में अपना लंड डाल दिया।

उसने अपनी कमर को कसकर पकड़ लिया और धकापेल चूत को चोदने लगा।

मौसी की चूत में लंड डालने से मानो उसके अंदर बिजली सी कौंध गई।

‘आह मरी…’

होंठ चबाकर लंड निकाला।

फिर मैं खड़ा होकर मौसी को चोदा।

कुछ देर बाद मौसी की चूत टपक गई और उसके अंदर कीचड़ जम गया।

मैंने मौसी को पलंग पर गिरा दिया और उनकी चूत से लंड निकाला।

वे हांफ रही थीं और चादर पकड़ कर अपने होंठों को काटने लगी थीं: आह, मेरे शेर, आ जा। तुम मेरे पति हो और मैं तुम्हारी पत्नी…। फिर से पेल दे!

और वे कूल्हे हिलाने लगीं और अपनी चूत पौंछने लगीं।

ऊपर से मौसी अपने चूतड़ हिलाकर आग में घी डाल रही थीं, मुझ पर चूत चोदने का भूत सवार था।

वे घोड़ी की तरह पलंग पर अपने कूल्हे हिला रही थीं।

मैंने मौसी को पीछे से पकड़ लिया और उनके दोनों मस्त पौंदों को पकड़कर उसके गर्म चूत में लंड डाला।

लौड़े को पकड़कर दबादब को चोदने लगा।

Mousi Chudai Ki Free Sex Kahaniya

मौसी की गोरी गांड पर मेरे दोनों हाथों के निशान छप रहे थे।

वे पहले से भी अधिक गर्म हो गई और उनकी गोरी गांड लाल हो गई।

मैं उनकी गांड पर चांटा मारने लगा। मैंने उनके दूध को दबाकर पकड़ लिया और चुदाई का खेल शुरू कर दिया।

हाय… मेरी आत्मा..। तुम मुझे पूरी रात ऐसे ही चोदते रहो। यही मेरी इच्छा थी..। जोर से घुमाकर अंदर डाल..। तुम्हारे लंड की शक्ति भी आज मैं देख ही लेती हूँ..। मुझे चोद यार..। आज तुम मेरी हत्या करो…। आह, मेरी फुद्दी।”

ऐसी बातों से मौसी की सारी शर्म अब गायब हो गई थी।

मैं और भी क्रोधित हो गया और जोर से स्ट्रोक मारने लगा।

ऐसे ही मैंने मौसी की चूत में लगभग चार सौ धक्के मारे होंगे।

फिर मैं भी निढाल हो गया और अपने लंड की सारी मलाई मौसी की गांड पर डाल दी।

इसे भी पढ़ें   ठरकी पापा की ख़ूबसूरत बेटी - 2

वे बहुत खुश लग रही थीं।

मेरी गांड पूरी तरह से भरी हुई थी।

“वाह बेटे, आज तू मेरा पति बन गया है,” वे हंसते हुए गांड मटका रही थीं।

फिर उठकर मेरे पैर छूने लगी।

क्या कर रहे हो? तुम मुझसे बड़े हो।”

लेकिन पति रिश्ते में बड़ा होता है ना..। तुमने मुझे इतनी खुशी दी! तो अब तुम मेरे पतिदेव हो। मेरे पति से मेरे साथ बहुत मारपीट हुई। क्या आप ऐसा हीं करोगे?

मैं ऐसा नहीं हूँ।”

तब मैंने फिर से मौसी को अपनी बांहों में ले लिया और उनके गर्म मुँह में अपने होंठ डालकर कसके किस करने लगा।

मेरे ऊपर फिर से आहें भरने लगीं।

मेरे स्वामी, मैं आज आपके ऊपर आकर आपको अपनी चूत का रस पिलाऊंगी।

इसके बाद वे मेरे ऊपर आकर मुझे पुचक पुचक करके चुदने लगीं।

मौसी का पेट सपाट और भरा हुआ दूध बहुत भारी है।

अब वह मुझे चोदने लगी।

वे कुछ देर बाद मेरी बांहों में सो गईं।

नाश्ता करते समय मां ने पूछा कि कल रात क्या हुआ था? पूरी तरह से सफल हो गया?

ये कहते हुए मां जोर से हंसने लगीं।

फिर से मौसी शर्मा गईं।

तुरंत मौसी ने कहा, “सासु जी, कल रात बहुत अच्छी थी।”

“माया, आप क्या कह रही हो? आप मेरी बहू नहीं हो..। तुमने कहीं किशु से प्रेम तो नहीं किया? मज़ा लेकर भूल जाओ..। खैर, बहुत भावुक मत बनो!”

लेकिन मौसी मुझे देख रही थीं, क्योंकि मैं सिर्फ इनको अपना पति मान चुकी हूँ। मैं अब भी यही रहूंगी। अब मुझे जीवन का मजा लेना है, दीदी, तुम्हें जो करना है करो।

Tmkoc Mousi Ki Chudai Kahani

उन्होंने इतना कहा और कमरे में चली गईं।

लेकिन मैं डर गया कि क्या मेरे पिता इस शादी को मानेंगे अगर वे जानते हैं।

थोड़ी देर बाद मौसी निकलीं।

उन्हें देखकर मां की आंखें भर आईं।

बिल्कुल सुहागन की तरह, उन्होंने लाल साड़ी पहनी थी।

मौसी के हाथ में सिंदूर था। मौसी ने अपने हाथों से सिंदूर लगाकर मां की ओर देखा और कहा, “दीदी, तुम शादी करो या नहीं, अब आखिर सांस तक यही मेरा दिल और मेरा पति है।” मैं भी इसके बच्चे की मां बनना चाहती हूँ, हालांकि मैं अभी 42 साल की हूँ। आजकल गैरलड़कियां शादी करके सभी को बर्बाद कर देती हैं। हम एक दूसरे को जितना जानते हैं, उतना ही मैं कुछ भी नहीं करूँगा!”

मां अब बहुत परेशान लग रही थी।

ये कहानी भी पढ़े – मेरी रंडी माँ की चुत में खुजली। Xxx Mom Fuck Kahani

मैंने सोचा कि मौसी सही है। मां का मौसी से अच्छा सम्बन्ध है। क्या मैं इनको अपनी बीवी बना सकता हूँ?

बाद में पिता ने इस बारे में बहुत रोया था।

लेकिन अगर वे मानते हैं या नहीं मानते हैं..। मौसी मेरी पत्नी है।

आज मैं और मेरी मौसी बीवी हर रात काफी मजा लेते हैं। वे अच्छा खाना पका कर और डांस करके मेरा दिल जीत लेती हैं।

पापा ये सब पसंद नहीं करते, लेकिन मुझे अब कोई डर नहीं है।

हम दोनों ने एक साल बाद बच्चे को जन्म दिया, जिससे मां बहुत खुश हुई।

अब मैं जमकर अपनी बीवी पेलता हूँ।

आपको लग सकता है कि ये Hot Mousi Hindi Sex Kahani नकली है, लेकिन यह एक वास्तविक घटना पर आधारित है।

Related Posts

Report this post

मैं रिया आपके कमेंट का इंतजार कर रही हूँ, कमेंट में स्टोरी कैसी लगी जरूर बताये।

Leave a Comment