पति से नाख़ुश होकर बेटे से चुदवाया। Xxx Step Mom Son Kahani

Xxx Step Mom Son Kahani, माँ अपने पति के शरीर से खुश नहीं थी, इसलिए उसने अपने सौतेले बेटे के साथ रहने की योजना बनाई। उसने उसे अपनी ओर आकर्षित करने के लिए चीजें कीं और उसकी योजना काम कर गई।

मैं इस वक्त 35 साल का हूं. मेरी छाती के आसपास का माप 36 इंच है, मेरी कमर के आसपास का माप 34 इंच है, और मेरे निचले हिस्से के आसपास का माप 40 इंच है।

आपने मेरी पिछली कहानी भाभी समझकर भैया ने मुझे चोदा। Xxx Hot Brother Sister Chudai Kahani

पढ़ी थी।

यदि आप भी अपनी कहानी इस वेबसाइट पर पब्लिक करवाना चाहते हैं तो नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके अपने कहानी हम तक भेज सकते हैं, हम आपकी कहानी आपके जानकारी को गोपनीय रखते हुए अपनी वेबसाइट पर प्रकाशित करेंगे

कहानी भेजने के लिए यहां क्लिक करें ✅ कहानी भेजें

मेरे पति, जिनका नाम विक्रम है, मुझसे 10 साल बड़े हैं। उनकी उम्र 45 साल है और उनका प्राइवेट पार्ट 4 इंच लंबा है।

मेरी शादी एक ऐसे आदमी से हुई है जिसकी शादी मुझसे पहले हुई थी। पहली शादी से उनका एक बेटा है जो 19 साल का है। उसका नाम अयान है.

Hot Step Mom Son Ki Chudai Kahani

मेरे पति का प्राइवेट पार्ट मेरी इच्छा से छोटा है और यह मुझे अंतरंग पलों के दौरान उतना अच्छा महसूस नहीं कराता जितना मैं चाहती हूं।

यह Xxx Step Mom Son Kahani एक सौतेली माँ और उसके बेटे के एक साथ समय बिताने के बारे में है जिसके बारे में बच्चों को जानना उचित नहीं है।

इसलिए, जब मैं इंटरनेट पर चीजें ढूंढ रहा था, तो मुझे अन्तर्वासना नाम की एक वेबसाइट मिली। यह एक ऐसी जगह है जहां लोग बड़े हुए रिश्तों और चीज़ों के बारे में कहानियाँ साझा करते हैं। मुझे अन्तर्वासना पर वो कहानियाँ पढ़ने में बहुत मजा आता है।

एक बार, मैंने एक कहानी पढ़ी कि एक माँ और बेटा कुछ अनुचित कर रहे हैं। इससे मुझे आश्चर्य हुआ कि क्या वास्तविक जीवन में ऐसा कुछ हो सकता है। यदि ऐसा होता है, तो लोग घर पर अपने परिवार के सदस्यों के साथ यौन संबंध बनाना ठीक समझेंगे।

मेरे पति ज्यादा कुछ नहीं करते या मुझ पर ध्यान नहीं देते। वह वास्तव में जितना है उससे अधिक उम्र का व्यवहार करता है। वह अपना काम शुरू करने के बाद बहुत जल्दी खत्म कर लेते हैं।

मेरे मन में पानी पीने का विचार आया, इसलिए मैंने ऐसा करने के लिए अपने बेटे के लिंग का उपयोग करने के बारे में सोचा। उसके बाद, मैंने सोचना शुरू कर दिया कि मैं अपने बेटे के लिंग को सख्त बनाने में कैसे मदद करूँ ताकि मैं उसके साथ सेक्स कर सकूँ।

फिर मैं माँ और बेटों के बीच एक खास तरह के रिश्ते के बारे में और भी कहानियाँ पढ़ता रहा। मुझे यह विचार उन्हीं से मिला।

अगले दिन, जब मेरे पति काम पर चले गए, तो मैंने अंडरवियर के बिना एक बहुत पतला नाइटगाउन पहन लिया। मैंने जानबूझकर नाइटगाउन इस तरह रखा था कि मेरा बेटा देख सके कि मैं अभी भी कितनी जवान दिखती हूं।

मैं उसे चाय देने के लिए उसके पास गई और आगे की ओर इस तरह झुकी कि वह आसानी से मेरी छाती देख सके। वह दालान में बैठा था और अपने फोन से खेल रहा था।

उसने एक बार नाइटी के अंदर देखा तो कुछ देर तक देखता ही रह गया.

जब मैंने उससे पूछा कि वह क्या देख रहा है, तो वह थोड़ा डर गया और चाय पीने लगा।

मैं जानबूझ कर अपने नितम्ब हिलाते हुए अन्दर चली गयी। जैसे ही मैं पलटने लगी तो उसने देखा कि मेरा नाइट गाउन मेरे नितंबों के बीच फंसा हुआ है.

मैं जहां बैठा था वहां से छुप कर उसे देख रहा था कि वो आगे क्या करेगा. मैंने देखा कि वह अपने कपड़ों के ऊपर से अपने प्राइवेट एरिया को छू रहा था।

वह मेरे यह सब करने से डरता है।’ मुझे अब भी ऐसा लग रहा था कि यह इस तरह से कभी नहीं किया जाएगा।

इसे भी पढ़ें   माँ बेटे का प्यार और संस्कार भाग 2

उस दिन, मैं सचमुच भाग्यशाली था। मेरे पति को काम पर रुकना पड़ा क्योंकि उन्हें कुछ काम करने थे।

फिर मैंने आज अपने बच्चे के साथ कुछ खास करने का प्लान बनाया. मैं दुकान पर गया और इसे और भी मज़ेदार बनाने के लिए कुछ खरीदा।

मैंने अपने बेटे से कहा कि उसके पिता आज घर पर नहीं हैं, इसलिए वह मेरे साथ सो सकता है। उन्होंने कहा कि यह ठीक है.

मैंने दूध में एक गोली डाल कर उसे पीने को दे दी. फिर हम दोनों सोने चले गये.

रात को मैंने अपने कमरे की लाइट जला ली और फिर सो गया.

अब ड्रेस मेरे निचले हिस्से को ढक रही थी. फिर मैंने धीरे से अपना पायजामा ड्रेस ऊपर खींच लिया।

मेरा बेटा सोना चाहता था, लेकिन वह सो नहीं सका क्योंकि उसने जो दवा ली थी उससे उसे अलग महसूस होने लगा था।

जब मैंने उसे बिना बताए देखा तो उसका प्राइवेट पार्ट खड़ा हुआ था और वह उसे बार-बार छू रहा था। फिर मैंने देखा कि वो टॉयलेट में गया है तो मैं भी वहां चला गया.

मैंने देखा कि बाथरूम का दरवाज़ा खुला था, तो मैंने उसे हल्का सा धक्का दिया और वह और खुल गया। जब मैंने अंदर देखा तो देखा कि वह अपना प्राइवेट पार्ट बाहर निकालकर इधर-उधर घुमा रहा था।

मैंने देखा कि उनका प्राइवेट पार्ट मेरे पति से बड़ा था. मैं कुछ समय से उस जैसे प्राइवेट पार्ट के बारे में कल्पना कर रहा था।

Xxx Step Mom Hindi Sex Story

मुझे अपने निजी क्षेत्र में बहुत दर्द महसूस होने लगा, जैसे कोई तेज़ चीज़ मुझे चोट पहुँचा रही हो।

जैसे ही मैं उठा, मुझे एहसास हुआ कि वह कुछ नहीं करने वाला था, इसलिए मुझे पता था कि मुझे कार्रवाई करनी होगी।

मैं बहुत तेजी से बाथरूम में घुस गया. वह डर गया और उसने अपना प्राइवेट पार्ट अंदर डाल दिया।

उसका निजी क्षेत्र उसके कपड़ों के माध्यम से ध्यान देने योग्य था और वह बहुत बड़ा लग रहा था।

मैंने उससे पूछा कि वह क्या कर रहा है, और उसने कहा कि वह कुछ नहीं कर रहा है। लेकिन वह डरा हुआ था क्योंकि उसके लिंग में दर्द हो रहा था, इसलिए वह उसे बेहतर महसूस कराने की कोशिश कर रहा था।

मैंने उससे पूछा कि उसने मुझे क्यों नहीं जगाया और मुझे दिखाया कि उसके निजी अंगों में कहाँ दर्द हो रहा है। हम दोनों एक साथ कमरे में चले गये.

लेकिन वह ना कहने लगा. मैंने उससे कहा कि वह अपने सोने के कपड़े उतार दे।

मैंने उसका पजामा पकड़ा और नीचे खींच दिया। फिर मैंने उसका अंडरवियर भी नीचे खींच दिया.

जैसे ही उसने अपना अंडरवियर उतारा, गलती से उसका प्राइवेट एरिया मेरी नाक से छू गया. मेरे बेटे का निजी क्षेत्र असहज महसूस हुआ।

मैं उसके करीब गया और उसके प्राइवेट पार्ट को पकड़ लिया। वह मुझसे दूर चला गया.

पहली बार, मैंने एक बहुत बड़े मुर्गे को देखा और छुआ था… ओह, यह काफी प्रभावशाली था। उस पल के दौरान मुझे कैसा महसूस होगा, इसके बारे में मैं आपको क्या बताऊं?

मैंने धीरे से उसके गुप्तांग को आगे-पीछे किया, फिर मैंने अपने हाथों को और तेज़ी से चलाना शुरू कर दिया।

उसने अपनी आंखें बंद कर लीं और मजा लेने लगा. मेरे बेटे को मजा आने लगा.

फिर मैंने उसके गुप्तांग को अपने मुँह में डाल लिया और स्ट्रॉ से पीने जैसा कुछ करने लगा।

मैंने उससे कहा कि कुछ भी गलत नहीं है और उसे जल्दी से आने के लिए कहा ताकि मैं मजा कर सकूं।

मेरी बिल्ली दर्द में थी और उसने ऐसे व्यवहार किया जैसे कुछ भी गलत नहीं था। उन्होंने वैसा नहीं सोचा.

मैंने उसे पकड़ लिया और कहा कि चुपचाप कुछ करो. मैंने उसके पिता को यह बताने की धमकी दी कि अगर उसने मेरी बात नहीं मानी तो वह मुझे बाथरूम में देखता है और मेरे अंडरगारमेंट्स को छूता है। उन्होंने पूछा कि उन्होंने ये चीजें कब कीं। मैंने यह कहते हुए जवाब दिया कि उसके पिता को नहीं पता कि उसने ऐसा किया या नहीं, लेकिन वह मुझ पर विश्वास करेगा। अब उसे वही करना होगा जो मैं कहूंगा.

इसे भी पढ़ें   नशे में अपने बेटे से चुदवाने लगी विधवा माँ

उसके मन में भी कुछ पाने की प्रबल भावना थी, इसलिए उसने सहमत होने और हां कहने का फैसला किया।

फिर मैंने उसके सारे कपड़े उतरवा दिए और उसके प्राइवेट पार्ट को अपने मुँह में डाल लिया और चूसने लगा. मैंने भी उससे कहा कि जल्दी से मेरे कपड़े उतारो.

उसने मेरे कपड़े उतार दिए और मेरी छाती को घूरने लगा. मेरे शरीर पर कोई कपड़ा नहीं था और मैं बहुत उत्साहित और डरा हुआ महसूस कर रहा था।

फिर मैं झिझकते हुए बिस्तर पर लेट गया और अपनी उंगलियों से उसे अपने करीब बुलाया।
मैंने उससे कहा- चलो, करते हैं.

उन्होंने कहा कि उन्हें नहीं पता कि क्या करना है. मैंने उससे कहा कि मेरे करीब आओ और मेरे ऊपर लेट जाओ. फिर मैंने एक जल्दी से किस के लिए कहा.

वह मेरे पास आया और मेरे ऊपर चढ़ गया, फिर मुझे ढेर सारे चुम्बन देने लगा। और मैं इससे खुश था और मुझे यह पसंद आया।

थोड़ी देर बाद, मैंने उससे मेरे स्तनों को छूने और उनसे दूध पीने के लिए कहा, ठीक वैसे ही जैसे वह बचपन में करता था। उसने मेरे स्तनों को दबाया और मेरे निपल्स को चूसा और दूध निकल आया.

मैंने उसे अपने निप्पल को चूसने दिया जैसे उसने तब किया था जब वह एक बच्चा था, और इससे मुझे वास्तव में अच्छा महसूस हुआ।

मुझे अपने शरीर में कुछ महसूस हुआ और बाद में मेरे शरीर से कुछ तरल पदार्थ निकला।

फिर मैंने उससे कहा- अब नीचे जाओ और मेरी टांगों के बीच में जो आग लगी है उसे बुझाओ.

जब वह नीचे गया तो मैंने उसे चूमने दिया।

फिर जब उसने धीरे से अपनी जीभ से मेरे प्राइवेट एरिया को छुआ तो बहुत अच्छा लगा. मुझे बहुत खुशी महसूस हुई और मैं आप सभी के साथ यह साझा करना चाहता था कि मैं कैसा महसूस कर रहा हूं।

मैं धीरे-धीरे उसके बालों को अपने हाथ से छू रहा था और यह वास्तव में अच्छा लग रहा था। मेरा बेटा अपनी मां को खास अंदाज में किस कर रहा था और इससे मुझे भी खुशी महसूस हो रही थी. मुझे यह इतना पसंद आया कि इसने मुझे सचमुच उत्साहित कर दिया।

Desi Step Mom Ki Chudai Kahani

मैंने धीरे से उसके सिर को उसके पेट पर छुआ और अपने शरीर को ऊपर-नीचे किया, अपने हाथ से उसके पेट को रगड़ा।

मेरे शरीर में बहुत जकड़न महसूस हो रही थी और मुझे नहीं पता था कि क्या करूँ। मैं और भी उत्तेजित हो गया और फिर अचानक से थोड़ा सा पानी निकल गया.

मैंने एक बड़ी साँस ली और उससे दूर चला गया। फिर मैं बिस्तर पर उसी स्थिति में लेटा रहा.

वो भी मेरे पास आकर लेट गया.

मैंने उससे कहा, “बेटा, तुम्हारे पिता बूढ़े हो रहे हैं और अब कुछ काम नहीं कर पाते। मैं तुमसे पूछता हूं, अगर तुम्हारी पत्नी तुम्हें इस तरह से खुश नहीं कर पाती तो तुम क्या करोगे?” उसने कोई जवाब नहीं दिया और बस मेरी छाती से खेलने लगा।

थोड़ी देर बाद, उसने कहा कि वह बहुत क्रोधित हो जाएगा और किसी अन्य व्यक्ति के साथ अंतरंग समय बिताएगा। मैंने उससे कहा कि वह किसी और के साथ भी रह सकता है, लेकिन मैं भी मजे करना चाहती हूं। मेरे मन में भी ये भावनाएँ हैं, लेकिन मैंने उन पर कार्रवाई नहीं की है क्योंकि मैं आपको ठेस नहीं पहुँचाना चाहता।

इसे भी पढ़ें   माँ बेटे का प्यार और संस्कार भाग 3

बच्चा: माँ, अगर पापा को पता चल गया तो क्या होगा? मैं: पापा को कैसे पता चलेगा? हम किसी को नहीं बताएंगे, इसलिए यह हमारा रहस्य होगा।

बच्चा – मैं भी तुमसे प्यार करता हूँ मम्मी। माता-पिता – धन्यवाद, मेरे बच्चे। मैं आपसे बहुत प्यार है। बच्चा- ठीक है माँ. मैं तुम्हारे लिए सब कुछ करूंगा.

हम फिर से एक दूसरे को चूमने लगे. थोड़ी देर बाद हमारे बीच अंतरंग पल होने लगे और इससे हमें बहुत गर्माहट महसूस होने लगी।

मैंने अतीत में कुछ बहुत गलत किया और अपने बच्चे के साथ कुछ अनुचित किया।

उसने एक ऐसी दवा ली जिससे उसका प्राइवेट पार्ट बहुत सख्त हो गया। मैंने अपने बच्चे से कहा कि जल्दी करो और एक खास निजी क्षेत्र में कुछ रख दो।

वह मेरे ऊपर बैठ गया और अपने गुप्तांगों को मेरे गुप्तांगों से छूने लगा। मैंने भी अपने शरीर को हिलाया और उसके प्राइवेट पार्ट को अपने शरीर के अंदर जाने देने की कोशिश की। तभी अचानक मेरा बेटा आ गया और सारा सामान एक साथ अंदर चला गया.

मैंने बेचैनी की आवाज निकाली और कहा, “ओह, प्रिये, मैं गलती से तुमसे टकरा गया… तुमने इतना जोर से धक्का क्यों दिया?” मैंने कहा- तुम्हारा तो बहुत बड़ा है और तुम्हारे पापा का तो छोटा है. मेरे प्राइवेट पार्ट की आदत तेरे पापा की माशूका को है. इसे आपकी आदत बनने में कुछ समय लगेगा।

उसने अपनी माँ से कहा कि उसे खेद है और उसने इसे धीरे-धीरे करने का वादा किया। मैंने उससे कहा कि ऐसा करने से पहले थोड़ा इंतजार करें।

आज मेरा दिन बहुत ख़राब रहा, मेरे दोस्त। मुझे ऐसा लगा जैसे मेरे अंदर कुछ चोट लग गई है और इससे मुझे बहुत दुख हुआ।

थोड़ी देर के बाद, मुझे शांति महसूस होने लगी और कोई चिंता नहीं थी। फिर मैंने उससे कहा कि पहले धीरे-धीरे चलना शुरू करो और फिर तेजी से आगे बढ़ो।

उसने बिल्कुल वैसा ही किया. वह धीरे-धीरे जोर-जोर से धक्के लगाने लगा।

पहले तो मुझे थोड़ा दर्द हुआ, लेकिन फिर यह बहुत मजे में बदल गया!

Antarvasna Mom Ki Hot Chudai Kahani

मैं अपने शरीर को ऊपर उठा कर एक गेम खेल रहा था. Xxx स्टेप मॉम सन सेक्स नामक एक विशेष वीडियो से मुझे वास्तव में खुशी महसूस हुई। मैं एक विशेष स्थान के अंदर बहुत अच्छा समय बिता रहा था।

उन्होंने 20 मिनट तक मेरे साथ कुछ ऐसा किया जो मुझे बहुत अच्छा लगा। जब ऐसा हो रहा था, मेरे शरीर में दो बार बहुत अच्छा अहसास हुआ।

ये कहानी भी पढ़े – नींद की गोली देकर मॉम को चोदा। Step Mother Xxx Kahani

उसने पूछा- कुछ होगा? मैंने उससे कहा कि अपना वीर्य अन्दर ही छोड़ दे.

मैंने उनसे कहा कि अगर वे इसे अंदर फेंक देंगे तो कुछ भी बुरा नहीं होगा।

थोड़ी देर बाद, मुझे अपने निजी क्षेत्र में गर्माहट महसूस हुई जिससे मुझे बहुत अच्छा महसूस हुआ।

एक विशेष वयस्क समय बिताने के बाद, हम एक-दूसरे से लिपटे और बिना कपड़ों के सो गए।

बाद में फिर बहस हुई और उस रात हम दोनों ने दो बार और प्यार किया.

क्या आपको Xxx सौतेली माँ और बेटे के बारे में Xxx Step Mom Son Kahani पढ़ने में मज़ा आया? कृपया मुझे टिप्पणियों में बताएं।

Related Posts

Report this post

मैं रिया आपके कमेंट का इंतजार कर रही हूँ, कमेंट में स्टोरी कैसी लगी जरूर बताये।

Leave a Comment