बहन की चुत और मेरी गांड चुद गई। Xxx Sister Threesom Chudai Kahani

मैं Xxx Sister Threesom Chudai Kahani में अपनी बहन के साथ होता था जब वह ऑफिस में चूत से ग्राहकों को खुश करके अच्छी तरह से काम कर रही थी। MD ने एक दिन दीदी को फोन किया।

दोस्तो, आप सब कैसे हैं?

आपने मेरी पिछली कहानी चाचा और उनके दोस्तों ने मुझे मिलकर चोदा। Xxx Chacha Bhatiji Sex Kahani

पढ़ी थी।

मेरा नाम बबलू है और आज मैं आपको अपनी चुदक्कड़ बहन दीपाली की कहानी बताऊंगा।

दीपाली दीदी का तलाक हो गया है और पुणे में एक निजी कंपनी में काम करती है।

दोस्तो, मेरी दीपाली दीदी बहुत सुंदर है। उसकी खूबसूरत बूब्स और गांड ऐसी हैं कि जब वह उसे मटकाती है तो उसके खूबसूरत लंड बेलगाम हो जाते हैं।

अब मैं आपको अपनी Xxx Sister Threesom Chudai Kahani बताता हूँ।

मेरी दीदी का मालिक रजनीश है। उन्होंने दीदी को कई ग्राहकों से चुदवाया था और उसके बड़े-बड़े डील की चूत उनके पास आई थी।

Indian Threesom Sex Story

मिस्टर जतिन शाह, कंपनी के एमडी, धीरे-धीरे इसे जानने लगा।

अब MD ने दीदी को फोन किया।

जतिन, मैं जानता हूँ कि आप हमारी कंपनी के लिए बहुत मेहनत करती हैं।

हां सर, मैं पूरी लगन से काम करती हूँ।

जतिन, मैंने सुना है कि आप अपनी पूरी शक्ति लगाकर काम करती हैं!

प्रिय सर, आपने सही सुना है।

दीपाली ने कहा कि आपका मुझ पर पूरा हक है, सर।

तब दीदी जतिन के पास जाकर बैठ गई।

जब दोनों ने एक दूसरे का संकेत समझा, जतिन ने दीपाली के बूब्स को सहलाना और दबाना शुरू कर दिया।

सीधे जतिन के लंड पर हाथ रखकर दीदी भी सहलाने लगी।

उन्हें एक दूसरे के अंगों को सहलाना कुछ देर तक उत्तेजित करता रहा।

दोनों वासना से घिरे हुए थे।

दीपाली की चूत और जतिन का लंड दोनों मचलने लगे।

फिर जतिन ने संभलते हुए कहा: “ठीक है, दीपाली, अब जाओ, रात को मेरे फार्म हाउस पर आ जाना।”

दीपाली: ठीक है, सर, फिर भी..।

जतिन, फिर भी क्या?

दीपाली, इससे मुझे क्या लाभ मिलेगा?

जतिन ने कहा कि दीपा, तुम उसकी चिंता मत करो; आपको प्रमोशन मिलेगा।

दीपाली ने इससे खुश होकर जतिन को किस किया।

“ठीक है सर, मैं रात को आ तो जाऊं, लेकिन मेरे घर वाले मुझे बाहर नहीं भेजेंगे,” उसने कहा।

जतिन, आप अब तक रात भर अपने ग्राहकों के साथ रहे हैं?

दीपाली, बबलू नहीं मेरा छोटा भाई है; अगर वह मेरे साथ है तो घर वालों को बाहर जाने की अनुमति मिलेगी।

जतिन, भाई के साथ रहते हुए आप ये सब कैसे करती हैं?

दीपाली, वह मेरे बारे में सब कुछ जानता है!

जतिन: मुझे तुम्हारे भाई के साथ होने से कोई परेशानी नहीं है, तो उसे भी ले आओ।

दीपाली—ठीक है, मैं रात को आ जाऊंगी!

दोपहर में ही दीदी ने मुझे फोन पर सभी योजनाएं बताईं।

तब हमने जतिन के खेत पर रात में जाने की पूरी तैयारी की।

हम समय पर उसके खेत पर पहुंचे।

उसका खेत बहुत बड़ा था!

वहा पर एक स्वीमिंग पूल भी था।

पहुँचने पर नौकर ने चाय दी।

फिर कर्मचारी के जाने के दस मिनट बाद जतिन वहां आ गया।

उसने रात का गाउन पहना था और उसके हाथ में एक गिलास शायद शराब था।

जब दीदी ने जतिन से मेरा परिचय करवाया, तो हम बात करने लगे।

उसके बाद, हम भी शराब पीने लगे।

जतिन 43 साल का हट्टा कट्टा व्यक्ति था।

वह जिम भी करता था, जिससे वह काफी मजबूत और स्वस्थ था।

Xxx Brother Sister Sex Story

कुछ देर बाद जतिन ने कहा, दीपाली, अपनी साड़ी उतार लो। साड़ी आपको अच्छा नहीं लगता।

दीदी ने बिना विचार किए साड़ी, पेटीकोट और ब्लाउज उतारे।

अब उसने सिर्फ ब्रा और पैंटी पहनी हुई थी।

यह देखकर जतिन की आंखें जल उठीं।

उन्होंने दीदी को किस करना शुरू किया।

वह लगातार पांच मिनट तक उसके गर्दन और होंठों को चूमता रहा।

फिर उसने ब्रा निकालकर दीदी के बूब्स चूसने लगा।

वह मेरे सामने ही दीदी के चूचों को भींच रहा था।

दीदी को सिसकारियां आने लगीं।

दीदी के बूब्स चूसकर जतिन ने लाल कर दिया।

उसने फिर दीदी की चूत की ओर हाथ रखा।

दीदी की टांगें खुल गईं जब उसने पैंटी के ऊपर से चूत पर हाथ फेरा।

दीदी अपनी टांगें चौड़ी करके अपनी चूत पर हाथ फिरवाने लगी।

यह देखकर मुझे भी झटका लगा।

तब जतिन ने दीदी की पैंटी उतार दी।

उसने दीदी को पूरी तरह से नंगा कर दिया, साथ ही अपना गाउन भी उतार दिया।

अब वह पूरी तरह से नंगा था, और उसका 7 इंच का लंड पूरी तरह से तना हुआ था।

उसका बहुत मोटा लंड था।

दीपाली ने तुरंत लंड को हाथ में लेकर उसके साथ खेलने लगी।

दीपाली के हाथ में लंड डालते ही जतिन ने सिसकार कर कहा, “जानेमन..।” चूस लो इसे..। उफ्फ..। तुम्हारे हाथ बहुत सॉफ्ट हैं!

दीपाली ने तुरंत अपना मुख खोला और लंड को अंदर लेकर चूसने लगी।

जतिन ने पूरा लौड़ा दीदी के मुंह में डालकर उसके मुंह को चोदने लगा।

दीपाली पूरा लंड अपने मुंह में लेने का प्रयास करती थी।

लेकिन जतिन का लंड बहुत बड़ा था, जिससे दीपाली की सांस रुक गई।

अब जतिन ने दीदी के बाल पकड़कर उसके मुंह में धक्का लगाने शुरू किया।

दीपाली गूं-गूं-ऊंह्-ऊंह की आवाजों के साथ लंड को अपने मुंह में लेती रही।

कुछ ही देर में, जतिन ने मेरी Xxx सिस के मुंह में अपना पानी डाल दिया, जिसे वह पी गई।

अब जतिन का नशा ढीला हो गया था।

हमने फिर से पैग बनाए।

जतिन ने कहा, बबलू, तेरी बहन बहुत सुंदर लंड चूसती है। कभी कोई लड़की ऐसा मज़ा नहीं देती थी!

मैं-हां, जतिन जी, आपने सही कहा है, इसलिए आपके ग्राहक इतने खुश हैं!

जतिन, आप सही कह रहे हैं।

10 से 15 मिनट इस तरह बातें करते हुए बीत गए।

तब जतिन का लंड खड़ा होना शुरू हो गया।

जतिन ने दीपाली को फिर से इशारा किया।

दीपाली ने पास आकर जतिन का लंड फिर से चूसने लगी।

अब वह चूसकर अपना लंड बहुत ज्यादा टाइट कर रहा था।

भी, उसने मुझे उसके पास आने को कहा।

Antarvasna Threesom Xxx Chudai Ki Kahani

मैंने कहा कि तुम लोग इंजॉय करो, मैं सिर्फ देखकर खुश हो जाऊंगा।

जतिन: तुमने बात नहीं समझी, यहाँ आकर मेरा लिंग चूस। मैं भी जानना चाहता हूँ कि भाई भी बहन की तरह प्रतिभाशाली है या नहीं!

मुझे यह सुनकर बहुत अजीब लगा।

तब दीदी ने कहा कि आ जाओ बबलू, आज तुम भी मजे ले लो।

फिर मैं ट्राई के बारे में सोचा।

मैं पूरी तरह से नंगा हो गया।

पास गया तो जतिन का लंड फड़क रहा था और पूरा दीदी के लार में सना हुआ था।

मैंने हाथ में लंड लिया और पौंछकर मुंह में भर लिया।

जतिन रोने लगा, आह्ह। आह..। ओह..। सही..। उफ्फ..। हाय..। मुस्कुराओ साले..। पूरी तरह से चूस आह!

जतिन कुछ देर तक मुझे चुसवाता रहा।

फिर कहा, “चल अब हट जा, मुझे तुम्हारी बहन की चूत भी मारनी है!”

उसने इतना कहा और फिर खुद नीचे लेट गया।

उसने दीपाली को उसके ऊपर बैठने का आदेश दिया।

दीदी उसके लंड पर बैठने लगी।

जतिन ने कहा, बबलू, तुम अपना मुंह इसकी चूत और मेरे लंड के बीच में ले आओ।

मैंने भी यही किया; मैं जतिन के लंड के पास मुंह कर लिया।

दीदी आगे पीछे होते हुए चुदने लगी।

मैं भी बहुत खुश था।

ऐसा पहले कभी नहीं हुआ था।

बीच-बीच में जतिन अपनी चूत से लंड निकालकर मुझे धक्के मारते हुए चोदने लगा।

वह कभी मेरी दीदी की चूत, कभी मेरा मुंह चोदता था।

वह दस से पंद्रह मिनट तक हम दोनों के मजे लेता रहा।

फिर बोला: बबलू, घोड़ी बन जाओ..। अब तुम्हारी गांड भी मारनी है!

मित्रों, मैं जतिन से गांड चुदाई का अनुभव लेने को तैयार था, हालांकि मैंने कभी ऐसा नहीं किया था।

उसने दीपाली को तेल लेने के लिए भेजा।

वह तेल ले आई।

अब उसने दीपा को बताया कि उसने मेरी गांड पर तेल डाला था।

अब मेरी बहन मेरी गांड को छेदने लगी।

तेल लगाने के बाद वह दूर हट गई, और जतिन ने मेरी गांड के छेद पर अपना लंड रखा।

दीपाली ने जतिन से कहा कि सामने आकर चूत को इसके मुंह के सामने करो।

वह मेरे सामने अपनी चूत खोलकर बैठ गई।

Hot Xxx Sister Porn Story

मेरी चीख निकल गई जब जतिन ने पीछे से मेरी गांड में अपना लंड डाला।

लेकिन इतने में दीदी ने मेरे मुंह पर अपनी चूत डाल दी।

मेरी आवाज थम गई।

दीदी की चूत में मेरे होंठ टकराने लगे, जब जतिन पीछे से लंड के धक्के लगाने लगा।

कुछ समय तक मुझे असहनीय दर्द हुआ।

उसका लंड गांड में घुस रहा था।

फिर दर्द कम हुआ और मैं खुश होने लगा।

मैं अब उनका साथ देने लगा।

10 मिनट तक जतिन ने मेरी गांड में बहुत जोर से धक्के मारते रहे।

फिर उसने दीदी की चूत में अपना लंड डाला।

उसने मुझसे कहा कि चल, बबलू, अब अपना लंड मेरी गांड में डाल दो।

अब दीपाली नीचे थी, जतिन उसके ऊपर था और मैं उसकी गांड में लंड डाल रहा था।

उसने दीदी की चूत में अपना लंड डालकर चोदने लगा।

तुम भी मेरी गांड में घुस जाओ, उन्होंने कहा।

जब जतिन रुक गया तो मैंने उसकी गांड में लंड डाला।

अब दोनों का एक साथ धक्का लगने लगा।

मैं जतिन दीदी की गांड चोद रहा था और जतिन दीदी की चूत।

हमारी थ्रीसम चुदाई कुछ समय चली।

फिर उसने अपना पद बदल दिया।

अब मैं दीदी के ऊपर था और जतिन मेरे ऊपर था।

चुदाई फिर से शुरू हुई।

दस मिनट तक चोदने के बाद, जतिन तेजी से मेरी गांड में माल छोड़ने लगा।

मैं भी बहुत उत्तेजित हो गया और दीदी की चूत में झड़ गया।

हमने इसी तरह मजे लेते हुए रात भर चुदाई की।

इस चुदाई से जतिन बहुत खुश था।

उसने दीदी को भी प्रोमोशन दिया।

ये कहानी भी पढ़े – मोम की कामुकता सेक्स स्टोरी | Mom Ki Kamukta Sex Story In Hindi

हम भाई-बहन ने इस तरह चुदाई को तरक्की की सीढ़ी बनाया।

दोस्तों, कृपया मुझे बताओ कि आपको मेरी और Xxx Sister Threesom Chudai Kahani कैसी लगी!

इस चुदाई की कहानी के बारे में अपनी प्रतिक्रिया देना न भूलें।

आप भी कहानी के नीचे कमेंट बॉक्स में अपने विचार व्यक्त कर सकते हैं।

मैं इंतजार करूँगा।

Related Posts

Leave a Comment