कुंवारी डॉक्टर को चोदा।

मैंने होटल के कमरे में एक युवा कुंवारी डॉक्टर को Xxx Doctor Ki Chudai Kahani में चोदा। मेरी एक पुरानी दोस्त, जिसने पहले मेरे लंड का आनंद लिया था, ने उसे मेरा फोन नंबर दिया।

दोस्तो, मेरा नाम राहुल है और मैं 44 वर्ष का हूँ। देखने में अच्छा हूँ। दिल्ली में रहता हूँ।

मैं इस सेक्सी वेबसाइट का प्रशंसक हूँ। मैंने लगभग हर कहानी बार-बार पढ़ी है।

लेकिन मैंने लिखना सिर्फ इसलिए शुरू किया है कि मैं आपको खुश कर सकूँ।

यदि आप भी अपनी कहानी इस वेबसाइट पर पब्लिक करवाना चाहते हैं तो नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके अपने कहानी हम तक भेज सकते हैं, हम आपकी कहानी आपके जानकारी को गोपनीय रखते हुए अपनी वेबसाइट पर प्रकाशित करेंगे

कहानी भेजने के लिए यहां क्लिक करें ✅ कहानी भेजें

मेरे किस्से पूरी तरह से सत्य हैं। मैं झूठी कहानी लिखने की जरूरत नहीं है क्योंकि मेरे पास चुदाई के कई सच्चे किस्से हैं।

मेरा लंड बड़ा है।

मेरी पिछली कहानी

भाई ने अपनी सगी बहन को चोदा।

भगवान की कृपा से बहुत सी चूतें मिलती हैं।

किस्मत अच्छी होने पर कुंवारा माल भी मिलता है।

Xxx Doctor Ki Chudai Kahani कुछ दिन पहले सामने आई है।

मैं किसी लड़की से फोन मिला: क्या आप राहुल से बात कर रहे हैं?

मैंने हां कहा।

उसने पूछा कि क्या आप मोहाली से किसी पूनम (नाम बदला गया) को जानते हैं? उसकी सहेली मैं हूँ।

मैं बहुत सोच में पड़ गया क्योंकि मैं लड़की की गोपनीयता और सम्मान को बचाने के लिए कभी भी उसका नाम नहीं पूछता।

जब मैंने उससे चार से चार बातें पूछी तो मुझे याद आया कि वह मुझसे लगभग एक साल पहले चुदी हुई पम्मी (अब बदला हुआ नाम) की बात कर रही थी।

दोस्तो, 23 साल की पटाका, टाइट माल और युवा लड़की पम्मी की सील तोड़ने की कहानी एक अलग दिन बताई जाएगी।

तब वह लड़की से पूछा: आज आप मिल सकते हैं क्या?

मैंने सही कहा।

वह कहा, “आप मयूर विहार होटल में रूम नंबर 408 में आ जाओ।” बाकी काम वहीं करेंगे।

थोड़ी देर में एक बहुत ही जवान और खूबसूरत लड़की ने कमरे का दरवाजा खोला।

लड़की का नाम मैं कभी नहीं पूछता।

मैंने पूछा कि क्या आपने ही मुझे फोन किया था।

हां, कृपया इन पक्षों को कम करो।

रूम पूरी तरह से सुगंधित था।

चुदाई बहुत मनोरम हो रही थी।

मैं कभी लड़की का नाम नहीं पूछता। सिर्फ मुझे नाम बताओ।

उसने कहा कि तुम मुझे कविता कह सकते हो।

मैंने कविता की आत्मा को देखा।

गोरा रंग और कम से कम 36 सेंटीमीटर लंबे स्तन होंगे।

उसकी उम्र लगभग 25 साल थी।

उसकी गांड भारी और लंबी थी।

कुल मिलाकर, यह एटम बम था।

हल्की-फुल्की घटनाएँ होने लगीं।

उसने खुद ही बताया कि वह एक डॉक्टर है और रात को आठ बजे एक बैठक में पहुंची है।

मैंने मजाक करते हुए कहा कि आज पहली बार उलटी गंगा बहेगी। मैं पहली बार एक मोटा इंजेक्शन डालने जा रहा हूँ।

कविता ने हंसकर शरमाया।

फिर वह पूछा: क्या आप बहुत आत्मविश्वासपूर्ण हैं?

मैं भी हंसा।

ऐसा करने से वातावरण बहुत हल्का हो गया।

कविता में शालीन लड़की थी।

उसने कहा, “आज मैंने सोचा कि कुछ मज़ा करूँगा।”

मैंने कहा, “कोई बात नहीं, मैं बस मज़ा लेने आया हूँ।”

तब उसने कहा कि मैं भी नहा लेती हूँ और आप भी।

मैं पहले नहाने गया और फिर उसके बिस्तर में घुस गया।

कविता ने शानदार लाल गाउन पहना था।

कविता लगभग 24 साल की थी। उसकी शरीर बहुत पतली थी। उसका शरीर पत्थर की तरह टाइट था, साथ ही उसके बूब्स भी।

प्रिय, मैंने चोदी हुई अधिकांश लड़कियां लगभग ४० से ४२ वर्ष की होती हैं।

उनमें क्षमा की कोई जगह नहीं है। बच्चे पैदा करने के बाद शरीर पूरी तरह से खत्म हो जाता है। पति चोद चोद कर चूत को खोखला बनाते हैं।

इसे भी पढ़ें   बहन की सहेली ने लिया चुदाई का मजा

लेकिन यहाँ मेरे साथ एक 24 साल की बहुत सुंदर लड़की लेटी हुई थी।

दोस्तो, एक युवा लड़की के साथ सेक्स करने का आनंद बिल्कुल अलग होता है।

जिन लोगों ने जवान लड़की को चोदा, वे ही इसे समझ सकते हैं।

मैंने उसका गाउन उतारा।

अब वह सिर्फ ब्रा और अंडरवियर में थी।

उस पर लाल कलर का बिकिनी सेट शानदार लग रहा था।

उसकी त्वचा दूध की तरह सफेद थी।

अब मैंने उसके नंगे माँ को गौर से देखा।

बिल्कुल क्रिकेट की बड़ी बॉल की तरह मम्मे और पिंक चेरी की तरह छोटा सा निप्पल उस पर।

मैंने उसके बूब्स को चूसने लगा।

बहुत कठोर थे।

मैं उसके मुंह और गर्दन पर किस करने लगा। मैं उसके शरीर में उठती हुई गर्मी को देख सकता था।

उसका शरीर लगातार गर्म हो रहा था।

धीरे-धीरे उसके हाथों ने भी काम करना शुरू कर दिया और मेरे लिंग को टटोलना शुरू कर दिया।

उसकी इन गतिविधियों से मेरा लिंग भी विकराल हो गया।

मेरा लंबा सांप पुकारे मारता हुआ थोड़ी देर में बाहर आ गया जब उसने मेरा अंडरवियर उतारा।

“मैं यह सब आज पहली बार करने जा रहा हूँ,” उसने बेड में फुसफुसाते हुए कहा। मैं कुंवारी नहीं हूँ। डॉक्टरी में समय ही नहीं है। और सबसे महत्वपूर्ण बात, डॉक्टरों की लोकप्रियता के कारण यह सब लीक होने का खतरा है।

जब मैंने उसकी बात सुनी तो मुझे विश्वास नहीं आया क्योंकि आज कौन लड़की कुंवारी है?

लेकिन मैंने सोचा कि कोई बात नहीं होगी, क्योंकि एक रांड भी कहता है कि वह बहुत कम चुदती है। और यह एक चिकित्सक की बात है।

स्थिति थोड़ी देर में स्पष्ट हो जाएगी।

उसका अंडरगारमेंट गिर गया था।

उसकी बिल्कुल चिकनी चूत पर मेरा हाथ था। वह मुलायम और मक्खन की तरह चिकनी थी।

चूत पर बाल नहीं थे।

मैं धीरे-धीरे नीचे आया और अपना मुंह उसकी चूत की लकीर पर लगाया।

उसकी लकीर काफी पतली थी।

स्वर्ग का दरवाजा इतना छोटा और लाल रंग का था कि मेरी एक उंगली बड़ी मुश्किल से उसमें जा सकती थी, जब मैं उसे बहुत सावधानी से देखता था।

मुझे लगता था कि लड़की सही बोल रही थी।

कुंवारी लड़की को आज लंड मिल गया, मेरी किस्मत कितनी अच्छी है!

मैं अपनी किस्मत का सम्मान करता था।

उसकी चूत मेरी जीभ से भर गई।

चूत की विशिष्ट गंध और स्वाद होती है।

उसकी गंध दिल को छू गई।

अब मेरी नज़र उसकी मोटी गांड और चूत पर थी।

मैंने सोचा कि किसी तरह इसे बहला-फुसलाकर गांड मार देना मजेदार होगा।

खैर, समय की कमी नहीं थी।

अब बस दोपहर दो बजे था, और हमारे पास कम से कम पांच घंटे का समय था।

उसकी चूत को चाटने के दौरान मेरा मुंह काम रस से भर गया, जिससे मेरा मुंह भी नमकीन हो गया।

मैंने बाथरूम में जाकर अपना मुंह धोया।

मैंने पूछा, “क्या आप रेडी हैं?”

उसने अपनी आंखें नीची करके “हां” कहा।

बिना कंडोम नहीं करना, उसने कहा। मैं बहुत परेशान हो जाएगा।

कंडोम मेरे साथ था।

मैंने कहा, “मेरे पास कंडोम है… तुम मेरे लंड पर कंडोम लगाओ।”

मुझे यह सब नहीं आता, उसने कहा। अपने आप चढ़ो।

मैंने कंडोम लगाकर लंड को उसकी चूत के मुहाने पर धीरे से रखा और हल्का सा अंदर घुसा दिया।

इसे भी पढ़ें   गली के रंडीबाज लड़के से चुद गई।

लन्ड नहीं जा सका। स्वर्ग के दरवाजे में बहुत कम जगह थी।

फिर धीरे-धीरे निकाल दिया।

मैं फिर घुसा और फिर निकाल दिया।

मैंने यह प्रक्रिया कम से कम पांच बार की है।

ऐसा करने से औरत का सेक्स भड़क जाता है और लन्ड के लिए उत्सुक हो जाती है।

कविता भी ऐसी थी।

उसकी बेताबी देखने लायक थी, लेकिन वह डर भी रही होगी क्योंकि वह अब तक कभी नहीं चुदी थी।

उसकी चूत का छेद बहुत छोटा था। आखिरकार, वह सिर्फ 24 वर्ष की कुंवारी लड़की थी।

उसने कहा कि मैं कुंवारी हूँ, तो मुझे विश्वास नहीं आया क्योंकि ऐसा हर लड़की कहती है।

लेकिन उसकी चूत की स्थिति से स्पष्ट था कि वह सच बोल रही थी।

मैं पूरी तरह से प्योर और अनचुदा माल के साथ लेटा था, इसलिए मैं अपनी किस्मत पर बहुत नाराज था।

स्थिति स्पष्ट रूप से दिखाती थी कि इसने अभी तक कोई लंड नहीं खाया था।

नई गोरी चूत पर पतली सी लकीर थी।

मैंने धीरे-धीरे प्रेशर बनाना शुरू किया और लन्ड घुसाना शुरू किया।

मेरा मोटा लन्ड बहुत ही मुश्किल से छेद में जा रहा था।

कविता नीचे से बचने का प्रयास करती थी, लेकिन असफल रही।

क्योंकि मेरी कोहनियों ने उसके कंधों को पकड़ लिया था।

तब उसने कहा, “मुझे बहुत दर्द हो रहा है, प्लीज इसे बाहर निकाल लो।”

मैंने कहा कि देखो, कुछ समय बाद मज़ा आएगा।

तब मैंने उसको अलग-अलग बातों में डालकर उसका ध्यान बटाने का प्रयास किया।

लेकिन दर्द अधिक था।

मेरे मन में अचानक एक विचार आया।

मैं बियर अपने साथ लेकर गया था।

मैंने उससे पूछा कि क्या वह शराब पीती है?

हां, मैं कभी-कभी करती हूं, उसने कहा।

मैंने कहा, ठीक है। अब ड्रिंक करें। बाद में विवाह होगा।

वह बस बचने का एक अवसर खोज रही थी।

तुरंत समझ गया।

तो हम बियर पीने लगे।

हम दोनों बिल्कुल नंगे थे।

हमने एक कैन बियर खाली कर दिया।

बाद में मैंने कुत्ते की तरह उसे चाटना शुरू किया और एक नए कैन में बीयर डाल दी।

मैंने भी उसके होंठों पर कुछ ऐसा ही किया. मैंने थोड़ी बीयर उसके होंठों पर डाली और फिर नीचे मुंह लगाकर बियर चाटना शुरू किया।

मैं सिर्फ चार या पांच चम्मच बियर गिराया था।

लेकिन परिवेश बनाने के लिए पर्याप्त था।

यह शैली हम दोनों को बहुत अच्छी लगी।

हम बीयर छोड़कर बैड में वापस आ गए।

जब बीयर ने अपना प्रभाव दिखाना शुरू किया, तो कविता खुलकर चुदने के लिए तैयार हो गई।

मैं भी इस बार किसी रहम करने को तैयार नहीं था।

तना हुआ मेरा लंड उसकी चूत में धीरे-धीरे घुस गया।

डॉक्टर की चूत से पानी निकल रहा था, इसलिए लन्ड को कुछ भी नहीं हुआ।

बीयर का असर नहीं होता तो शायद चुदाई मुश्किल होती।

मेरे शॉट्स अब लंबे हो गए।

लन्ड पूरी तरह से चूत में छिलकर जा पर रहा था।

चुदाई करते हुए काफी समय बीत गया था।

तब उसने कहा: “मेरा दो बार हो चुका है, आप चाहें तो डिस्चार्ज कर सकते हैं।”

मैंने कहा कि मुझे बताओ। मैं अपने आप पर पूरा नियंत्रण रखता हूँ, इसलिए मैं डिस्चार्ज कर दूंगा।

5 से 7 मिनट के बाद उसने कहा, “आप डिस्चार्ज कर दो!”

मैंने जोर से धक्के लगाने लगे।

मेरा वीर्य एक भयानक विस्फोट से निकल गया।

उसकी चूत में कंडोम लगा हुआ था, इसलिए वीर्य नहीं जा पाया।

वह कुंवारी लड़की थी और गर्भ ठहरना बहुत कठिन होता था, इसलिए जाना भी नहीं चाहिए था।

इसे भी पढ़ें   बुआ की पुत्रवधू से सेक्स किया।

हम दोनों पसीने से लथपथ हो गए और हमारी सांस उखड़ी पड़ी।

उसने कहा कि आप बहुत मेहनत की है और पसीने हो गए हैं। पानी पीकर भोजन करने के बाद अभी दो घंटे शेष हैं!

फिर हम बारी-बारी से नहाने के बाद वापस बिस्तर पर आ गए।

हम दोनों पूरी तरह से नंगे पड़े हुए थे।

लेकिन आपके पड़ोस में इतनी खूबसूरत और आकर्षक महिला सो रही हो तो आपको नींद कैसे आएगी?

मेरा लिंग धीरे-धीरे फिर से खड़ा होना शुरू हो गया।

कविता इतनी मदिरा पीकर थोड़ी बेहोश हो गई।

वह फिर से उठकर पूछा:

मैंने कहा कि आप अपनी गुफा में फिर से जाने के लिए खड़े हैं।

वह शरमाकर मेरी छाती पर मुक्के मारने लगी, लेकिन कुछ नहीं बोली।

मैंने एक बार फिर कन्डोम लगाकर खड़े लंड को उसकी चूत में डाल दिया।

वह इस बार पहले से कहीं अधिक खुलकर चुदी।

हमारा XXX डॉक्टर की चुदाई भी बहुत लंबी चली और फिर हम दोनों डिस्चार्ज हो गए।

कविता ने कहा, मुझे कभी इतना मज़ा नहीं आया था। आपने मुझे एक सभ्य लड़की मानकर चोदा है। तुमने मुझे धंधे वाली, सड़क छाप लड़की नहीं समझा। क्षमा करें। लेकिन कौन लड़का मिल जाए, सीक्रेसी बहुत जरूरी है! यदि कल को कोई ऐसा मिल जाए और उसे ढिंढोरा पीट दे तो लेने के देने पड़ सकते हैं। यही कारण है कि मैं अपना नंबर बदल दूंगा ताकि आप भी मुझे फोन नहीं कर सकें।

यह सुनकर मुझे थोड़ा दुःख हुआ क्योंकि मुझे फिर से कविता से मिलना था।

मैं: मुझे कोई परेशानी नहीं है। लेकिन मेरा नंबर अपने फोन में सुरक्षित रखना और मुझे जीवन भर याद रखना।

उसने कोई उत्तर नहीं दिया और कहा—शायद!

फिर उसने कहा, “लेकिन आप एक अच्छे आदमी हो, इसलिए मेरी दोस्त ने आपका नंबर दिया।”

उसने मेरे सामने ही अपना सिम तोड़ दिया।

प्रिय, मेरे दिल को किसी ने टुकड़े कर दिया।

24 साल की जवान, कुंवारी, सेक्सी लड़की आपसे चुदी हो गई है और आप से कोई संपर्क नहीं करेगी।

इसलिए मेरा मन अचानक दुखी हो गया।

लेकिन मुझे लड़कियों की कमी नहीं है, इसलिए मैंने इस पर बहुत ध्यान नहीं दिया।

लेकिन यह वास्तव में उन लड़कियों में से थी जिन्हें मैं बार-बार चोदना चाहता हूँ।

Kavita इतनी पटाका लड़की थी कि एक बार चूत चुदाई के लाख रुपये भी मांग ले तो भी सौदा सस्ता है।

लेकिन मैंने सोचा था कि शायद फिर से फोन करेगी, लेकिन आज वह नहीं आई।

मैंने उसे माथे पर एक हल्का किस दिया और उसे बहुत धन्यवाद कहा और चला गया।

लेकिन जाते समय मैंने उसको अपना परमानेंट नंबर दे दिया, जिससे वह कभी भी मुझे फोन कर सकती है।

आज से लगभग छह महीने पहले हुआ था।

फोन अभी नहीं आया है।

अगर बाई चांस यह कहानी पढ़ रही है तो कृपया मुझे फोन करें; मैं उससे बहुत याद कर रहा हूँ।

यह कहानी पूरी तरह से सच्ची है, सिर्फ पात्रों के नाम बदल दिए गए हैं।

मैं आगे भी बहुत सी कहानियां आपको बताता रहूंगा।

मैं आपको मेरी Xxx Doctor Ki Chudai Kahani कैसी लगी बताने के लिए मेल करेंगे।

आपको धन्यवाद।

Related Posts

Report this post

मैं रिया आपके कमेंट का इंतजार कर रही हूँ, कमेंट में स्टोरी कैसी लगी जरूर बताये।

Leave a Comment