मम्मी-पापा की चुदाई का आंखों देखा वर्णन

नमस्कार दोस्तों यह मेरी पहली लेकिन सच्ची घटना है जो आप लोगों के साथ शेयर कर रहा हूँ। मेरा नाम रवि है और मैं उत्तराखंड का रहने वाला हूँ। मेरे पापा सऊदी में लेबर का काम करते है और माँ सिलाई का काम करती है।

अब सीधे मैं कहानी पर आता हूँ जो आज से 2 साल पहले की है। सर्दियों का मौसम था और पापा भी 15-20 दिनों के लिए आये हुए थे। हमने रात का खाना खाया और मैं अपने कमरे में जाके पोर्न देखने लग गया। पोर्न देखते देखते कब मुझे अचानक नींद आ गई, पता नहीं चला। रात के तकरीबन 12 बजे के आसपास मेरी आँख खुली तो पास वाले कमरे की लाइट चालू थी।

मैंने गेट (दोनों कमरों के बीच में है) के छेद से देखा तो हैरान हो गया। मेरी लाइफ में पहली बार लाइव पोर्न देख रहा था। मम्मी पापा दोनों नंगे थे और एक दूसरे को किस कर रहे थे। फिर पापा मम्मी के बूब्स को दबाने लगे और फिर चूत को चाटने लगे।

मैंने पहली बार किसी की चूत देखी जिसपर थोड़े थोड़े बाल थे। फिर मम्मी पापा ने एक दूसरे का हाथ पकड़ा और पापा मम्मी के ऊपर चढ़ गए और अपने लंड को चूत में डाल दिया और जोर जोर से झटके देने लगे।

यदि आप भी अपनी कहानी इस वेबसाइट पर पब्लिक करवाना चाहते हैं तो नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके अपने कहानी हम तक भेज सकते हैं, हम आपकी कहानी आपके जानकारी को गोपनीय रखते हुए अपनी वेबसाइट पर प्रकाशित करेंगे

कहानी भेजने के लिए यहां क्लिक करें ✅ कहानी भेजें

मैं भी पूरी तरीके से पागल हो रहा था। इसके बाद मम्मी को घोड़ी बनाया और उनकी गांड चोदने लगे लेकिन गांड में जल्दी से नहीं गया लेकिन 5-6 झटकों के बाद गांड में चला गया जिससे मम्मी की चीखें निकल गई और वह धीरे धीरे कह रही थी बस करो रवि के पापा, बस करो लेकिन पापा नहीं माने और लगातार चोदते रहे। लगभग 30 मिनट के बाद दोनों झड़ गए और कपड़े पहन लिए।

इसे भी पढ़ें   मेरा और मेरी बहन का गैंगबैंग

मेरा तो वीडियो बनाने का मन था लेकिन मुश्किल से 1 या 2 फ़ोटो ही ले पाया जो भी साफ नहीं थी। इसके बाद मैं सो नहीं पाया और बाथरूम करने गया। बाथरूम में मेरी नजर मम्मी की पैंटी पर पड़ी, मैंने पैंटी को सुंघा, सूंघते ही मदहोश हो गया। फिर पैंटी को अपने लंड पर लपेटकर मुठ मारी और जाके सो गया।

सुबह जब आंख खुली तब मम्मी किचन में चाय बना रही थी लेकिन मेरे दिमाग में तो वही रात वाली बात ही चल रही थी। इस घटना के 2 दिन बाद पापा वापिस सऊदी चले गये।

लेकिन मुझे पता था कि कोई भी औरत ज्यादा दिन बिना चुदे नहीं रह सकती और ऐसा ही हुआ। कुछ दिनों बाद मैंने हमारे मकान मालिक और मम्मी को रंगे हाथ पकड़ा जिसकी कहानी फिर कभी सुनाऊंगा।

खैर बता दूं, भगवान कसम यह घटना झूठी नही बिल्कुल सच्ची है। हो सकता है आपको मजा नहीं आये क्योंकि मैंने कुछ भी जोड़कर नही लिखा है। मकान मालिक वाली कहानी बहुत जल्द आएगी।

कमेंट करके बताये कैसी लगी आपको यह सच्ची दास्तां

Related Posts

इसे भी पढ़ें   रूचि मेरे दोस्त की सेक्सी पत्नी – भाग 3 (Final)
Report this post

मैं रिया आपके कमेंट का इंतजार कर रही हूँ, कमेंट में स्टोरी कैसी लगी जरूर बताये।

Leave a Comment