सौतेली माँ की प्यास बुझाई। Hot Step Mom Ki Chuai Kahani

Hot Step Mom Ki Chuai Kahani में मेरी मोसी है। जब मेरी माँ मर गई, तो पापा और मौसी ने शादी कर ली, और मौसी हमारे घर आई। माता-पिता से संतुष्ट नहीं थी।

मेरा नाम अनिल है। मैं 19 साल का हूँ और 12वीं क्लास में पढ़ता हूँ। मेरे पापा, मम्मी और मेरी एक बहन मेरे घर में रहते हैं।

इस घटना से पहले मैंने कभी किसी लड़की की चूत नहीं मारी है। हर लड़के का सपना होता है कि चूत चोदने का मौका मिल जाए।

आपने मेरी पिछली कहानी मौसी माँ की ज़बरदस्त चुदाई। Hot Step Mom Xxx Kahani

यदि आप भी अपनी कहानी इस वेबसाइट पर पब्लिक करवाना चाहते हैं तो नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके अपने कहानी हम तक भेज सकते हैं, हम आपकी कहानी आपके जानकारी को गोपनीय रखते हुए अपनी वेबसाइट पर प्रकाशित करेंगे

कहानी भेजने के लिए यहां क्लिक करें ✅ कहानी भेजें

यह देशव्यापी लॉकडाउन के दौरान हुआ है।

हर काम धंधा, सिवाय कुछ, बंद पड़ा था।

उसी समय मेरी जिन्दगी में ऐसी खुशी आई, जो हर युवा चाहता है।

यह मेरी पहली Hot Step Mom Ki Chuai Kahani है।

Step Mother Ki Xxx Chudai Kahani

लॉकडाउन के इस मुश्किल समय में चार लोगों का खर्च चलाना बहुत कठिन था।

हम सभी एक किराए के घर में रहते थे, जिसका किराया भी महंगा था।

इसलिए पापा ने सब्जी की रेहड़ी लगाना शुरू कर दिया और बहन मामा के यहां चली गई।

उस दिन गर्मी बहुत अधिक थी। रात हो गई थी। मैं सो नहीं रहा था।

मैं अपनी मां को देखते ही कमरे से बाहर निकल गया।

गर्मियों के कारण मां बहुत थक गई थीं और उनकी साड़ी घुटने तक जा पहुंची थी।

उनके चूचियों से पसीने की धार ऐसे निकल रही थी मानो समंदर उनके चूचियों में था।

उस दिन मैंने पूरी तरह से मां को देखा।

मेरी मां करीब 38 साल की है। उसकी आंखों में देखकर लगता है कि वह एक प्यासी औरत हैं, हालांकि वह देखने में सिर्फ ३० साल की लगती है।

मेरी मां के बारे में जानकर आप हैरान हो गए होंगे कि इतनी छोटी उम्र कैसे है। वास्तव में वो मेरी मौसी हैं।

मेरी मां चार साल पहले मर गई थी और मेरे नाना जी ने अपनी कमाई के कारण मेरे पापा से शादी कर दी।

अब हम दोनों भाई बहन की मां मेरी मौसी थीं।

वह हम दोनों भाई बहन की सौतेली मां थीं, लेकिन हम दोनों ने उन्हें अपनी मौसी के रूप में बहुत चाहा था, और अब मां के रूप में उनके साथ बहुत खुश थे।

वह मां बनने के बाद भी हम दोनों को बहुत प्यार देना शुरू कर दिया था।

तो उस रात मैं मां को देख रहा था और उनकी मदमस्त जवानी कमर पर मेरे विचार बदल गए।

मैं उनके शरीर से बहते पसीने को देखकर ये भूल गया कि वो मेरी मां हैं।

कुछ देर तक मैंने इस दृश्य को देखा, फिर न जाने क्यों मेरा मन अशांत हो गया।

मेरी मां मुझे एक माल दिखाई देने लगी।

मैं कुछ देर सोचकर मां के पास जाकर सो गया।

अब मैं कच्छे से बाहर निकलकर उनकी कमर पर चलने के लिए उत्सुक था।

तभी मेरी मां ने अपनी साड़ी को थोड़ा और ऊपर कर दिया।

यह मुझे उनकी गोल जांघें दिखाने लगा। उनकी कदली सी जांघें देखकर मेरा मन उनकी चूतों को देखने लगा।

मैंने साहस करके मां की साड़ी को ऊपर सरकाकर उनके पेटीकोट में हाथ डाल दिया।

मेरा हाथ मौसी माँ की चूत पर उगी झांटों से टकरा गया, इसलिए मैंने देखा कि उन्होंने पैंटी नहीं पहनी थी।

इसे भी पढ़ें   शादीशुदा बहन बनी भाई के लंड की दीवानी | Marriaged Sister Chudai Ki Kahani

थोड़ी देर रुकने के बाद मैं अपनी उंगली को मां की चूत पर उगे छोटे छोटे बालों में घुमाने लगा।

मैंने तुरंत हाथ बाहर निकाल लिया जब मेरी मां ने करवट ली।

मैं सोने का खेल खेलने लगा।

मैं फिर से मां के पेटीकोट में हाथ डालकर उनकी चूत में उंगली डालकर उनके पास सो गया।

मुझे लगता था कि मेरी मां बहुत दिनों से किसी से चुदी नहीं थीं जब मैंने उनकी चूत को टटोल लिया।

मुझे उनकी चूत में उंगली डालने में बहुत मज़ा आया।

मैं मौसी की चूत में अपना लंड डालना चाहता था।

डर से मेरे पापा पास में सो रहे थे।

मैंने फिर से मां की चूत में दो उंगलियां डाल दीं। मेरी मां को इससे कुछ दर्द हुआ और उनकी आंखें खुल गईं।

मैं भयभीत होकर आंखें बन्द करके वैसे ही सोने लगा।

मैं अब सो गया।

मैं दूसरे दिन रात होने का इंतजार कर रहा था।

उस दिन मैंने देखा कि मां बहुत खुश दिखाई दे रही थी।

मां ने नीली साड़ी पहनी हुई थी।

मैंने सोचा कि आज शायद वो रात आ गई होगी।

मैं खाना खाने के बाद जल्दी सो गया और सोने का नाटक करने लगा।

मेरी मां भी खाना खाने के बाद मेरे बगल में सो गईं।

मैंने एक या दो घंटे के बाद देखा कि मां और पापा पूरी तरह से नींद में थे।

बिना कुछ सोचे, मैंने मां की चूत में उंगली डाल दी।

दूसरे हाथ में मोबाइल लेकर मां की चूत में उंगली डालने लगा।

मां ने करवट नहीं बदली और कुछ भी नहीं कहा। मेरी उंगलियों को चुपचाप अपनी चूत में डालकर वह मज़ा लेती रही।

उस दिन मैंने मां की चूत का रस भी चख लिया और दो बार मुठ मारी।

ये आदत अब हर दिन होने लगी है।

Hot Step Mother Sexy Stories

उन्हें कपड़े धोते हुए या नहाते हुए देखकर मैं मुठ मारता।

मेरी प्यासी मां भी मुझे अपनी गर्म जवानी के जलवे दिखाती हैं।

मेरा लिंग मेरी मां की चूत में जाना चाहता था।

17 तारीख को पिता अस्पताल गए। वास्तव में, मेरी बुआ को कोरोना संदिग्ध मरीजों में भर्ती किया गया था।

उस रात मेरे पापा को मेरी बुआ के पास रहना पड़ा क्योंकि वह अस्पताल में एडमिट थीं।

आज मैं खुश नहीं था।

मैं खाना खाकर हर दिन की तरह बिस्तर पर जाकर सोने का नाटक करने लगा।

मैं भी खाना खाकर और पूरा काम करके आ गया था।

मैं उनके बाजू में सो गया।

2 बजे करीब मेरी आंख खुली।

मां की साड़ी पूरी तरह हट चुकी थी जब मैंने देखा।

मैंने उनके सेक्सी शरीर को तुरंत कैमरे में कैद किया। अब मैं अपने लंड को मां के हाथ में रखकर रगड़ने लगा।

मिनटों में मेरा लंड चौड़ा हो गया और मां को चोदने को तैयार हो गया।

मैंने बैठकर मां के ऊपर चढ़ गया।

मैंने मां की कमर पर अपना लंड रखा और उनके गुलाब जैसे होंठों पर अपने होंठ लगाए।

मैं नियंत्रण खो रहा था। मैंने अपने लंड को मां के पेटीकोट के ऊपर ही हिलाकर पूरा माल गिरा दिया. फिर मैं अपने लंड को उनके हाथ में रखकर सोचने लगा कि मां की चूत कैसे लूँ।

यह सब सोचते-सोचते लंड कुछ मिनट में पहले की तरह सख्त हो गया।

इसे भी पढ़ें   राजा बेटा - Raja Beta

मुझे अब मां को चोदना था।

मां का पेटीकोट धीरे-धीरे नीचे सरकाकर निकालने लगा।

मेरी मौसी मां की गोरी चूत तुरंत मेरे सामने आई।

मैंने बिना विचार किए चूत पर जीभ डाली।

मैं उनकी चूत और झांटों को मुँह में ऐसे लेने लगा मानो मुझे अब कुछ भी नहीं डरता था।

मैं पूरी तरह से गर्म हो गया था और मां की चूत में लंड डालने को बेकरार था।

मैंने मां के पैर थोड़ा खोला, तो उनकी चूत का मुँह खुल गया, और मैंने उनकी चूत पर लंड डाला।

हल्का सा धक्का लगते ही मां की आंख खुल गई, और मैं लंड निकालकर सोने का नाटक करने लगा।

अब मौसी मां जानती थी कि उसका बेटा छोटा हो गया है।

सुबह पापा आए और अपनी रेड़ी लेकर चले गए।

मेरी माँ मेरे पास आकर कहा, “उठ जा, नाश्ता कर ले, और सुन, मैं रात को जो हुआ, किसी को नहीं बताऊंगा।”

ये सुनकर मेरा जीवन बदल गया।

मैं उठ गया और अपने दिनचर्या को समाप्त करके अपने फोन को चलाने लगा।

दोपहर दो बजे, मां नहाने जा रही थीं।

मैं आज भी रोज़ की तरह उनकी चूत देखना चाहता था।

तब मां ने आवाज दी, “इधर आ और ये कपड़े छत पर डाल आ।”

मैं छत पर कपड़े डालकर आया तो मैंने देखा कि मां पूरी साड़ी पेटीकोट उतार कर नीचे रख कर बैठी थीं।

वह मुझे देखकर कहा, “तुम्हारे कपड़े भी गीले हो गए हैं।” मैं चाहता हूँ कि मैं भी ये धोता हूँ।

जब मुझे मौका मिला, मैंने अपने पैंट और टी-शर्ट निकाल कर मां को दे दी।

मैं अपनी माँ को बिना कपड़े के देखकर इतना मोटा और लम्बा हो गया कि क्या कहूँ।

तब मां ने कहा, “मेरी पीठ पर साबुन लगाओ।”

मैंने साबुन लिया और उनकी गोरी छाती पर साबुन लगाने लगा।

मैं एक मिनट भी नहीं रह सका और अपना लंड भी कच्छे से बाहर निकाल दिया।

अब मेरे पास तीन हाथ थे; दो हाथ मां की चूचियों तक पहुंच रहे थे, और एक हाथ उनकी चूत के रास्ते की तलाश में था।

थोड़ी देर साबुन लगाने के बाद मां ने मुझसे पूछा: बेटे, तुम्हारी मां की चूत में क्या है जो तुम अपने पिता को मार डालने के लिए तैयार हो?

मैं इसे सुनकर चुप रह गया।

नंगी ही मां वहां से उठकर दरवाजे की कुंडी लगाकर मेरे पास आईं।

मैं सिर्फ उन्हें नगी देख रहा था और मेरा लंड पूरी तरह से तन्नाया हुआ था।

मेरी माँ ने साबुन लेकर मेरे लंड पर लगाकर उसे मसलने लगी।

यह देखते ही मैंने मां की चूचियों पर हाथ रखकर एक को मसलाते हुए अपनी ओर खींच लिया।

वह मेरे सीने पर अपनी चूचियां गड़ाकर मुझसे चिपक गई, कोई भी उज्र नहीं किया।

मैंने मां के होंठों को चूमने लगा।

Indian Step Mom Hindi Sex Stories

मौसी मां भी सहयोग करने लगी। वो मेरे लंड को अभी भी दबा रहे थे।

दो मिनट तक क्या करने के बाद मां ने पूछा, क्या बस होंठ चूसेंगे या कुछ और? क्या यह हाथ भर का डंडा सिर्फ मुठ मारने के लिए रखा है?

मां ने इतना कहते ही मैं नीचे बैठकर उनकी चूत पर मुँह लगा दिया, और फिर वह मेरा पूरा साथ देने लगी।

इसे भी पढ़ें   रिश्ते की मामी को चोदा। Porn Xxx Mami Fuck Kahani

मेरी सौतेली मां, आह चोद दे बेटा… अहहा अहह!

फिर कुछ देर बाद मां ने मुझे उठा दिया और बिना कुछ कहे मुँह में मेरा लंड ले लिया।

मैं रोने लगा।

मेरी मां मेरे लंड को ऐसे चूसने लगीं, जैसे सालों से प्यासी हो गई हों।

अब मां ने बाथरूम में सीधी लेटकर अपनी चूत की खिड़की खोल दी।

लंड ने माँ की गोरी चूत पर काले बाल देखकर अपना रास्ता खोज लिया।

“आह उन्ह…” के बाद लंड चूत से मिल गया और चूत अपनी गांड का सहारा लेकर लंड से लोहा लेने लगी।

मेरी मौसी मेरे मोटे लम्बे लंड से पूरी चूत को चोद रही थीं—अहह अहह बेटे—और जोर से चोद रही थीं। Haha, मेरी चूत फाड़ दो..। तुम्हारी मां कभी नहीं चुदी थी..। तुम्हारे पिता का लिंग कभी इतना आनंद नहीं देता था बेटे। अगर मैं जानता था कि मेरा बेटा इतना अच्छा चुदाई करता है तो मैं उस रात ही चुद जाता..। जिस रात तुमने मेरी चूत में हाथ डाला था..। अब मेरे प्यारे बेटे को घोड़ी बनाओ…। बेटा, लोहे की तरह मेरी चूत में तेरा लंड घर बना रहा है। अब से तुम मुझे हर दिन चोदना. मैं सिर्फ अपने बेटे का लंड चुदूँगा। तुम दुनिया के सामने मेरा बेटा हो, लेकिन आज से मैं तुम्हारी रखैल रंडी बनना चाहता हूँ।

मैं अपनी चूत को भोसड़ा बनाते हुए कहा, “आह हां मां..।” तुम आज से मेरी रंडी छिनाल रखैल मां हो…। और मैं तुम्हारी चोद हूँ, मां..। वाह!

मां: बेटा, जल्दी करो। तेरे पिता ने मुझे एक साल पहले चोदा था। तब मैंने सोचा कि अब मेरी चूत का सहारा कौन होगा, लेकिन ऊपर वाले ने मेरी बात सुन ली..। मेरी प्यास आज मेरा बेटा ही शांत कर रहा है..। वाह, चोद मादरचोद।

हां, साली रांड मां, मैंने कहा..। हाँ, रंडी..। अहह साली छिनाल मुँह खोल भैन की लौड़ी..। हाय छिनाल, मुझे तेरे मुँह में लंड का पानी डालना है।

‘आह बेटा गिरा दे..। मैं अपने बेटे का लंड काटकर खाऊँगा।

“अहह ले मां, अहह अहह अहह।”

मैं अपनी मां को लगभग आधा घंटे तक चोदा और हम दोनों खुश हो गए।

मैं तब से हर रात अपनी मां को चोदता हूँ।

ये कहानी भी पढ़े – विधवा मौसी बनी मेरे बच्चे की माँ। Hot Mousi Hindi Sex Kahani

मेरे पिता भी जानते हैं, लेकिन वे कुछ नहीं कहते।

बल्कि वे कभी-कभी मेरे साथ मां की चुदाई करते हैं।

उनका कहना है कि घर में ही लंड मिल गया है क्योंकि मां को लंड की जरूरत थी। यदि मेरी माँ किसी से बाहर चुदने जाती तो वह बदनाम होती।

मैं अगली सेक्स कहानी में अपनी मौसी मां और पापा की असली चुदाई की कहानी बताऊंगा।

यह Hot Step Mom Ki Chuai Kahani आपको कैसी लगी?

Related Posts

Report this post

मैं रिया आपके कमेंट का इंतजार कर रही हूँ, कमेंट में स्टोरी कैसी लगी जरूर बताये।