सेक्सी आंटी ने मेरे लंड को मज़ा दिया। Hot Sexy Aunty Suck My Penis Story

Hot Sexy Aunty Suck My Penis Story पढ़े। बगल की दुकान वाली आंटी ने देखा कि मेरा प्राइवेट पार्ट लंबा है। एक दिन, उसने मुझे अपनी दुकान में बुलाया और उसे छुआ।

नमस्कार दोस्तों, मैं एक ऐसी वेबसाइट पर नया लेखक हूं जहां वयस्कों के विषयों पर कहानियां साझा की जाती हैं। मेरा नाम विक्रम है और मैं दिल्ली से आता हूँ। मैं वास्तव में लंबा हूँ, लगभग 6 फीट, और मेरी उम्र 21 साल है।

मेरे शरीर का एक अंग है जिसे लिंग कहते हैं, वह सात इंच लंबा और तीन इंच मोटा है। पहले मैं सेक्स नामक एक विशेष प्रकार की क्रिया के बारे में कुछ नहीं जानता था।

आपने मेरी पिछली कहानी पति से नाख़ुश होकर बेटे से चुदवाया। Xxx Step Mom Son Kahani

यदि आप भी अपनी कहानी इस वेबसाइट पर पब्लिक करवाना चाहते हैं तो नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके अपने कहानी हम तक भेज सकते हैं, हम आपकी कहानी आपके जानकारी को गोपनीय रखते हुए अपनी वेबसाइट पर प्रकाशित करेंगे

कहानी भेजने के लिए यहां क्लिक करें ✅ कहानी भेजें

पढ़ी थी।

यह Hot Sexy Aunty Suck My Penis Story घटना बहुत समय पहले, तीन साल पहले की है। जब मैंने स्कूल में अपनी परीक्षाएँ समाप्त कीं, तो मैं ब्रेक के दौरान अपने दोस्तों के साथ क्रिकेट खेलने जाता था।

Hot Aunty Sexy Kahani

मैदान के नजदीक बहुत सारे घर बने हुए थे। मैदान के सामने कोई पेड़ या इमारत नहीं थी, और उसके बाद कुछ झाड़ियाँ थीं।

सड़क के उस पार, मेरे मित्र के परिवार के किसी परिचित की एक दुकान थी। हमारे बहुत से दोस्त अपने पास मौजूद बड़े बर्तन से पानी पीने के लिए वहां जाते थे।

उस स्टोर को एक महिला चलाती थी. मैं उन्हें आंटी जी कहूँगा. वहाँ एक आदमी भी था जो बड़ा ट्रक चलाता था, इसलिए वह अक्सर घर पर नहीं होता था।

आंटी जल्द ही 40 साल की होने वाली हैं. जब वह छोटी थी, तो वह सचमुच बहुत सुंदर थी। मेरे मन में किसी के लिए भावनाएँ आने लगीं। आंटी भी मुझे बहुत अच्छी नजरों से देखती थीं.

जब मैं बच्चा था तो मुझे चुटकुले सुनाना और सभी को हंसाना बहुत पसंद था।

एक बार, मैंने मूर्खतापूर्ण व्यवहार करते हुए अपनी आंटी से पूछा कि वह हमेशा मुझे इतने प्यार से क्यों देखती हैं। उसने मुस्कुराते हुए मुझसे कहा कि वह मुझसे प्यार करती है, इसीलिए वह मुझे इस तरह देखती है। मैंने उस पर विश्वास नहीं किया और मजाक में कहा कि अगर मैं सच में प्यारा होता, तो कोई भी लड़की मुझे इस तरह नहीं देखती।

वह हँसे बिना नहीं रह सकी और बोली- लड़कियाँ कभी-कभी मुस्कुराने में अधिक समय लेती हैं क्योंकि वे थोड़ी शर्मीली हो सकती हैं। उन्होंने जो कहा उसका सार तो मुझे समझ आ गया, लेकिन मैं अभी भी इसे पूरी तरह से समझ नहीं पाया हूं।

एक दिन, कुछ बहुत अच्छा हुआ और मैं अपनी चाची से बात करने लगा। उसने मुझे अपने पास बिठाया और हम काफी देर तक बातें करते रहे.

हम ज्यादातर फिल्मों के बारे में बात करते थे। वह मुझे फिल्मों में अपनी पसंदीदा महिला किरदारों के बारे में बताती थीं और मुझसे पूछती थीं कि मुझे कौन सबसे ज्यादा पसंद है।

इसके परिणामस्वरूप, मुझे अपनी चाची से बात करने और उनके साथ अधिक साझा करने में अधिक सहज महसूस होने लगा। हमने वयस्क चीज़ों के बारे में मज़ेदार चुटकुले भी सुनाना शुरू कर दिया।

एक दिन मेरी मौसी ने मुझसे पूछा कि नई अभिनेत्रियों में से मुझे कौन सी अभिनेत्री पसंद है. मैंने चंचलतापूर्वक उसकी ओर देखा और पूछा कि क्या मुझे उसे बताना चाहिए। वह हँसी और मुझसे कहा कि मैं उसे ईमानदारी से बताऊँ।

मैंने किसी को बताया कि मुझे सनी लियोनी पसंद हैं. फिर, उन्होंने मुझसे पूछा कि क्या चीज़ उन्हें एक विशेष अभिनेता बनाती है।

इसे भी पढ़ें   Aunty ke batein sunke man me laddu futa | Padosi Aunty Ki sex Story

मैंने उससे कहा कि बहुत से लोग वास्तव में फिल्मों में उसके अभिनय को पसंद करते हैं। यहां तक ​​कि मेरे फोन में उनकी फिल्में भी सेव हैं। वह समझ गई कि मेरा मतलब क्या है और वह हंसने लगी।

मैंने कहा- आंटी, आप हंस क्यों रही हो?
वो बोली- क्या तुम्हारे फोन में उनकी फिल्में हैं?

मैंने पूछा कि वे कुछ क्यों देखना चाहते हैं। जब हम इसके बारे में बात कर रहे थे, मेरा एक दोस्त आया और बोला, “चलो क्रिकेट खेलते हैं।” मैंने उनसे कहा कि वे आगे बढ़ें और मैं जल्द ही उनके साथ जुड़ूंगा।

वो चला गया और मैंने मौसी से कहा कि मैं वो मूवी अपने फोन में सेव करके उन्हें दे दूंगी. तुम्हें पता है… मैं बाद में फोन लूंगा।

उसने अपना सिर हिलाकर सहमति व्यक्त की और मैंने सनी नामक एक फिल्म चलायी जो केवल वयस्कों के लिए मूल्यांकित थी। मैंने उसे फोन दिया और चला गया। वह कुछ खोजने लगी.

एडल्ट फिल्म देखने के बाद महिला का प्राइवेट एरिया गीला होने लगा होगा।

एक मूवी देखने के बाद आंटी और मूवी देखती रहीं. जब मैं पानी लेने के लिए उसके पास गया तो देखा कि उसका चेहरा बहुत लाल हो गया था.

Antarvasna Aunty Ki Chudai Kahani

जब उसने मुझे अपनी तरफ देखते हुए देखा तो उसने मुझे फोन वापस दे दिया। मैं उसे देखकर मुस्कुराया और देखा कि उसकी आँखों में भी एक तीव्र इच्छा थी।

दो दिन के इंतजार के बाद अगला दिन आ गया.

उस दिन जब मैं मैदान में गेंद पकड़ रहा था तो सामने वाले खिलाड़ी ने काफी दूर तक गेंद मारी। गेंद उनसे दूर जाकर ढेर सारी झाड़ियों वाली जगह पर जा गिरी.

जब मैं गेंद लेने झाड़ियों के पास गया तो देखा कि झाड़ी के पीछे कोई शौच कर रहा था. मैं ठीक-ठीक नहीं बता सका कि वह कौन था, लेकिन वहाँ निश्चित रूप से एक व्यक्ति था।

मैंने पत्थर को एक बार फिर उछाला, लेकिन वह फिर भी नहीं हिला। जब मैंने पत्थर उछाला तो वह हवा में ऊपर नहीं गया।

मैंने सोचा क्यों न इस पर पेशाब करके इसे दूर कर दिया जाए.

मैं उन पौधों के करीब गया और अपना प्राइवेट पार्ट बाहर निकाल लिया.

वह उठ गया क्योंकि उसने मेरी बात सुनी। मैं कुछ नया करने की कोशिश कर रहा था और वास्तव में इसका आनंद ले रहा था।

जब मैं झाड़ी के पास गया और अपने गुप्तांग को उस दिशा में लक्षित किया, तो मैंने देखा कि एक महिला अपना मुंह दबाकर बाथरूम में जा रही थी।

जब मैंने उसे अपना प्राइवेट पार्ट दिखाया तो वह झट से उठ गई और अपना चेहरा छुपा लिया.

मैं उसे घूरना बंद नहीं कर सका.

मेरे शरीर का एक हिस्सा सात इंच लंबा था और वह दिख रहा था। वहाँ एक महिला थी जो इसे देख रही थी। तभी मुझे बाथरूम जाने की जरूरत पड़ी और महिला अपने कपड़े ठीक करने में व्यस्त थी और साथ ही मेरे शरीर के अंग को भी देख रही थी।

मुझे पता ही नहीं चला कि मेरा पेशाब चल रहा है। फिर जब मैं पेशाब करने गया तो गलती से मेरा पेशाब एक महिला की साड़ी पर जा गिरा।

महिला मुझे घूरने लगी और विपरीत दिशा में चलने लगी।

उसी समय, मेरा निजी अंग ज़ोर से हिल गया और मेरा पेशाब गलती से महिला के चेहरे पर जा गिरा। जब ऐसा हुआ तो मुझे अचानक समझ आया कि क्या हुआ था।

ठीक उसी समय, मेरे मित्र ने मुझे फ़ोन किया।

इसे भी पढ़ें   फेसबुक पर मिले आदमी से मरवाई गांड | Indian Hindi Gay Sex Stories

मैंने देखा कि आंटी के कपड़े मेरे पेशाब से गीले हो गये थे। मुझे बुरा लगा और मैं उससे माफी मांगने लगा.

वह खाँसी और फिर मेरे निजी क्षेत्र की ओर इशारा किया, और महिला दूर जाने लगी।

वह आंटी मेरी ओर देख रही थी और चुपचाप खिलखिला रही थी। मैं अपना प्राइवेट पार्ट अंदर डालते हुए उस औरत को देख रहा था. उसके हाथ में एक गेंद थी.

उसने मेरी ओर गेंद फेंकी और मैंने उसे पकड़ लिया।’ फिर मैंने उसे वापस फेंक दिया. लेकिन मुझसे गलती हो गई और मुझे गुस्सा आ गया.

वह आंटी मुझे बहुत आकर्षक लग रही थी. मैं उसका चेहरा ठीक से नहीं देख सका, लेकिन उसकी छाती और निचला भाग बहुत फिट लग रहा था।

वह दिन ख़त्म हो गया है और अब हमें इसके बारे में सोचने की ज़रूरत नहीं है।

जब भी मैं दुकान पर जाता था, मेरी चाची दयालु मुस्कान के साथ मेरी ओर देखती थीं या मुझसे कुछ कार्यों में मदद करने के लिए कहती थीं।

एक दिन, जब मैं खेल रहा था, मैं गिर गया और मेरे पैर में बहुत चोट लगी। इस वजह से मैं अब और नहीं खेल सका।’ फिर मेरे दोस्त मुझे मेरी मौसी की दुकान पर रहने के लिए ले गए।

मैं तो बस बैठा हुआ खेल देख रहा था.

उसने मुझे दुकान पर बैठाया और प्रसन्न चेहरे के साथ मेरे लिए चाय लेकर आई।

हम बातें कर रहे थे और चाय पी रहे थे. आंटी ने कहा कि तुम बहुत चंचल और अच्छे दिखते हो.

जब आंटी ने मुझे देखा तो वो खड़ी हो गई और मेरी तरफ चलने लगी. लेकिन जब मैं खड़ा होने की कोशिश कर रहा था तो आंटी ने मुझे बैठे रहने को कहा.

मैंने आंटी से कहा कि वो एक जगह बैठ जाएं और मैं दूसरी जगह बैठ जाऊंगा. लेकिन उसने कहा कि हमें साथ बैठना चाहिए और अच्छा समय बिताना चाहिए.

मैंने कहा- क्या मतलब जी?
वे बिना कुछ कहे सीधे मेरे भगवान में बैठ गए और मुझे सलाह दी।

मैंने कहा- आंटी जी, ये क्या कर रही हो आप?
वे बोलीं- उस दिन का बदलाव ले रही हूं.

Desi Aunty Hindi Sex Story

‘मतलब?’
आंटी जी ने मेरे पेट पर हाथ रख कर मेरे लौड़े को पकड़ लिया और कहा- मतलब ये कि विक्रम, पीछे तूने मेरे कपड़े पर मूठ दिया था।

अब मुझे समझ आया कि वह आंटी थी और कोई भी महिला नहीं थी.
मैं- अरे आंटी जी .
आख़िर आंटी जी बोलीं- हां.

उसी पल आंटी जी उठ कर अपने पैरों के बल नीचे बैठ गए और मेरे लंड को बाहर निकाल कर उसे सहिलाने की दुकान में डाल दिया।

मुझे एक औरत के हाथ से लंड सहलवाने में बहुत मजा आ रहा था.

आंटी जी ने लंड को मुँह में लेते हुए कहा- पुरान जी का लंड बहुत बड़ा है.
वे ये कह कर लंदन क्रीडालैण्ड।

मुझे बड़ा मज़ा आ रहा था.
मैंने आंटी के दूध की शुरूआत नीचे दी है।

आंटी जी मेरे लंदन को मुँह में लेकर बहुत अच्छे तरीके से क्रेटाईट स्टॉकिंग्स और साथ ही वे लौंडे को हिलाना भी रही थी।

तब मुझे लगा कि मुझे मूठ आ रहा है।
मैंने अस्पताल जी से कहा.

तो हंसती हुई बोलीं- क्या आप यह सब पहली बार कर रहे हो?
मैंने कहा- हां आंटी जी.

आंटी जी बोली- स्नान नहीं आ रही है। फ़्यू लंदन का रस बाज़ार वाला है।

तब आंटी जी ने मेरे लंड को 15 मिनट तक टोका और मैंने उनके मुंह में झांका।

इसे भी पढ़ें   पड़ोसन आंटी की जमकर चुदाई की | Hot Aunty Nude Story

मैंने अपने लंड में जल्दी-जल्दी इंटरनेट लगाया और अभी कुछ और किया कि बाद में मेरा एक दोस्त बन गया।
उसने मेरे साथ कारोबार को कहा.

हम दोनों जाने लगे.

आंटी बोलें- अपने दोस्त को सपोर्ट कर ले जाना।

मैंने उनकी तरफ देखा तो आंटी ने तीन बार आँख मार दी।

मैं और मेरा दोस्त घर आ गये.

अगले दिन रविवार था.
मैं घर पर बैठकर टीवी देख रहा था।

आंटी का फ़ोन आया।
उन्होंने कहा- आज तू जरा जल्दी आ जाऊं. मजे करेंगे.
मैंने कहा- हां ठीक है. आता हूँ.

उन्होंने कट कर दिया और एक घंटे बाद मैं आंत के पास चला गया।

उस दिन आंटी ने फुल चुदाई का प्रोग्राम सेट किया था।

Kamuk Aunty Nonveg Sex Story

मैं उनके घर गया था तो अतल ने एक झीनी सी मैक्सी स्कर्ट निकाली थी जिसमें उनके दूध और गांड मस्त दिख रहे थे और साफ नजर आ रही थी कि आंटी ने ब्रा पैंटी नहीं निकाली है।

मेरे सहयोगी ने ही मेरा दरवाजा बंद कर दिया और मुझे सोफ़े पर बैठा कर कह कर पानी ले चला गया।
कुछ देर बाद आंटी जी मेरे सामने किम पर बैठ गये और मेरे लौड़े से चार्ज लग गयी।

मेरा लंड आज की तारीख में उपलब्ध था।

आंटी ने बड़े प्यार से पूछा-सफाई कब हो गई?
मैंने कहा- कल रात को सफाई की थी.

वे हंस कर लंदन को फ्लोरिडा और बोलियां- मैंने भी कल रात को ही सफाई की थी।
मैंने कहा- दिखाओ, आंटी कैसी लग रही है?

वे हंसी बोली और- देखने की बड़ी जल्दी है…जरा झलक तो गर्म कर लो!
मैंने कहा- हां कर लो.

आंटी ने मेरे लंड को दस मिनट तक चोदा और झाड़ कर मलाई चाट ली।

अब उनकी चुत चुदाई का समय आ गया था.

ये कहानी भी पढ़े – पड़ोसन आंटी की फुट फेटिश सेक्स कहानी | Hot Desi Aunty Foot Fetish Sex Kahani

मैंने उन्हें ही उठाया था कि अंकल का फ़ोन आया था।
उन्होंने कहा- मैं आधा घंटे घर आ रहा हूं और मुझे शाम को बाहर से वापस आना है।

मोटे अंकल जी ट्रक मसाले थे और आज उन्हें देर शाम तक वापस आना था।
उनके फ़ोन पर जाने से हम दोनों का चुदाई का कार्यक्रम ख़त्म हो गया और मैं घर आ गयी।

उसके बाद लंड चूसाई का स्कूल कई बार चला, पर दोस्त की चुदाई न हो गई।
ऐसा तीन चार महीने तक चलता रहा.

फिर सरदार जी के पति को पता नहीं चला कि वे कहां चले गए और वे आंटी जी को अपने साथ ले गए।

मैं आज भी आंटी जी को याद करते हुए मुठ मारता हूं।

यह एक ऐसे Hot Sexy Aunty Suck My Penis Story की कहानी है जिसे किसी के साथ विशेष अनुभव हुआ। सुनने के लिए धन्यवाद।

Related Posts

Report this post

मैं रिया आपके कमेंट का इंतजार कर रही हूँ, कमेंट में स्टोरी कैसी लगी जरूर बताये।

Leave a Comment