भैया ने बड़े प्यार से बहन की सील तोड़ी 2

हेल्लो फ्रेंड्स मैं आपकी कनक आप सब का हमारी वासना पर फिर से स्वागत करती हूँ. आपने मेरी कहानी के पिछले भाग भैया ने बड़े प्यार से बहन की सील तोड़ी 1 में आपने पढ़ा था कि मैं अपनी पढाई के लिए भैया के साथ रहने उनके रूम पर आई. और भैया को अपनी कुंवारी चूत चोदने को दे द और भैया ने भी पूरे प्यार से मेरी चुदाई की. अब आगे – Painful Incest XXX

भैया ने मुझको उस दिन अपनी बाईक पर बहुत घुमाया ठंड की वजह से मैं भैया से चिपक कर बैठ गई मेरी चूचियां भैया की पीठ पर रगड़ खा रही थी हम दोनों को मज़ा आ रहा था और भैया ने मुझे ढेर सारी शॉपिंग करवाई फिर रात का डिनर खा कर हम लोग फ्लैट पर वापस आए भैया ने दरवाजा खोला.

भैया ने तुरंत दरवाजा बंद करके मुझे दीवार से सटा दिया मेरे हाथ पकड़ कर ऊपर कर दिए और किस करने लगे मैंने कहा भैया कपड़े तो चेंज कर लेने दो मैं आपकी हूं कहीं नहीं जा रही है वो सुनने को तैयार नहीं थे टी-शर्ट को ऊपर उठा दिया मेरी समीज भी ऊपर करदी और मेरे चूचियों को अपने मुंह में भरकर पीने लगे दूसरे को अंगूठे से मसलने लगे.

मैं भी गर्म होने लगी और भैया के बालों में उंगलियां करने लगी मेरे मुंह से आह सी सी करने लगी क्योंकि भैया ने मेरी चूची को जोर से काटा मेरा मुंह से आ आ आउच निकल रहा था भैया आराम से काटो पर भैया ने एक नहीं सुनी और काटते रहे काट काट कर मेरी चूची लाल कर दी।

अब मैंने भैया को पीछे धक्का दिया और किचन में जाकर पानी पीने लगी भैया मेरे पीछे दौड़ कर आए और मुझे पीछे से पकड़ लिया मेरी गर्दन को चूमने लगे मेरी कनपटी को मुंह में भर लिया उत्तेजना बर्दाश्त नहीं हो रही थी भैया को कहा भैया ऐसे मत करो.

यदि आप भी अपनी कहानी इस वेबसाइट पर पब्लिक करवाना चाहते हैं तो नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके अपने कहानी हम तक भेज सकते हैं, हम आपकी कहानी आपके जानकारी को गोपनीय रखते हुए अपनी वेबसाइट पर प्रकाशित करेंगे

कहानी भेजने के लिए यहां क्लिक करें ✅ कहानी भेजें

फिर भैया ने मुझे अपनी गोद में उठा लिया और बेडरूम में ले कर आ गये मेरे सारे कपड़े उतार कर मुझे बिस्तर पर लेटा दिया फिर उन्होंने अपने सारे कपड़े उतार दिए और बिस्तर में आ गए मुझे ठंड लग रही थी मैंने रजाई ऊपर खींच ली अब हम दोनों एक दूसरे को चूमने लगे मैं भी भैया की चुंबन कर जवाब बराबर से देने लगी.

मैंने भैया को नीचे पलट कर उनके ऊपर चढ़ गई माथे पर आंख पर, गाल पर कान पर किस किया और होठों को मुंह में भरकर चूसने लगी कर भैया के होटों को मैंने हल्के से काटा भैया सी सी कर पड़े फिर मैं भैया की छाती को चूमने लगी और निप्पल को पीने लगी भैया को मजा आने लगा.

वो बोले दूध निकल रहा है क्या, पीले मेरा सारा दूध पीले और हल्के से काटना मैंने भैया की निप्पल दांतों में दवा लिया और थोड़ा तेजी से काटा तो भैया खुशी से चीख कर बैठ गए मैंने पूछा क्यों भैया मजा आया ना मुझे भी ऐसे ही मजा आ रहा था भैया बोले तो एक दिन में बड़ी शरारती हो गई है मुझे धक्का देकर मेरे ऊपर चढ़ गए.

उनका लंड मेरी चूत के ऊपर टिका था और मैं उनके नीचे दबी हुई थी उन्होंने मेरे हाथ ऊपर कर दिए और मेरी आंखों में आंखें डालते हुए धीरे से कहा कनु मेरी जान तू सबसे अच्छी बहन है बता आज क्या प्लान है चुदाई करूं चूत मारूं।

मैं उनकी खुली बातें सुनकर शर्मा गई और मुस्कुराई भैया बोले तुम जितना खुल कर बोलेगी हमको उतना ही मजा मिलेगा भैया आप तो मुझे एकदम बेशर्म बना दोगे भैया बोले एक बार बेशरम बनाकर मजा ले फिर तू बेशर्मी की सारी हदें पार कर जाएगी जानू बता न चोदूं.

मैं बोली अगर मजा आता है तो मैं तैयार हूं जैसा मेरा प्यारा भैया कहेगा वही करूंगी तो भैया बोले जानू क्या इरादा है तो मैं बोली भैया मेरी चूत में अपना लंड पूरा डालकर आज मुझे कम से कम 4 बार चोदो, भैया बोले जानू 18 साल में ही इतनी आग है तेरे अंदर तो मुझे पहले बताया होता, नहीं भैया मुझे आज खूब चोदना है.

मैं मुस्कुराने लगी भैया मुझे माथे से किस करते हुए नीचे आए और मेरी नाभि में जीभ घुसेड़ कर चूसने लगे और अपने दोनों हाथों से उन्होंने मेरी चूचियां पकड़ ली थी और धीरे-धीरे मसल रहे थे बीच में जोर से दबा देते थे तो मेरी चीख निकल जाती थी कोई भैया मर जाऊंगी आराम से करो.

फिर भैया ने मेरी निप्पल को अंगूठे और उंगली से पकड़ कर मसलने लगे मैं उई उम् आ उई मां मर गई भैया बस करो बोलने लगी भैया नीचे झुक कर मेरी बिना बालों की चिकनी चूत के नकुए को अपने मुंह में भर कर पीने लगे जैसे उसमें से जूस निकाल रहा हो मैंने भैया से पूछा भैया जूस निकाल रहा है क्या.

भैया बोले अभी इसमें से नारियल पानी निकलेगा आज तुझे भी तेरा नारियल पानी टेस्ट कराता हूं मुझे बहुत तेज गुदगुदी हो रही थी और भैया मेरी चूत चाटते रहे पीते रहे मैंने भैया का सर को पड़कर अपनी चूत पर दबा लिया उनके बालों में उंगलियां फिराने लगी बीच-बीच में सी सी आह जानू कह रही थी.

भैया आई लव यू बोलते जा रहे थे भैया ने अपनी जीभ कड़ी करके चूत में घुसा दी और चूत को जीभ से चोदने लगे तभी मैंने ढेर सारा पानी छोड़ दिया जिसको भैया ने अपने मुंह में खींचकर भर लिया और ऊपर आए मुझे किस करने लगे और मुंह खोलकर थोड़ा सा पानी मेरे मुंह में डाला और पीने के लिए कहा.

हम दोनों ने उस चूत के पानी को पिया जो हल्का का सा खट्टा कसैला नारियल पानी की तरह था यह तो बहुत टेस्टी है एकदम नारियल पानी के जैसा भैया बोले जानू मैं तुझे रोज ये वाला नारियल पानी पिलाऊंगा आई लव यू भैया आई लव यू भैया जानू अब मेरी बारी मैं पलट कर भैया के ऊपर चढ़ गई.

अपनी चूत फिर से भैया के होट पर रख दी और भैया का लंड अपने मुंह में भर लिया और चूसने लगी बीच-बीच में भैया मेरे मुंह में धक्का देकर लंड मुंह में धकेल देते जो मेरे हलक के नीचे उतरने लगता था तो मैं खांसने लगती भैया ने अपना लंड अपने मुंह से खींच लिया.

और मुझे बेड पर धक्का दिया लिटा दिया मेरी दोनों टांगे खोलकर दूर-दूर करके बीच में आ गए और अपने लौड़ा मेरी चूत के नकुए पर रगड़ने लगे मुझे तेज़ गुदगुदी हो रही थी मैं बोली भैया प्लीज़ अब घुसा दो उन्होंने लंड को रगड़ते रगड़ते थोड़ा सा नीचे झुका दिया और धीरे-धीरे घुसाने लगे.

जब सुपाड़ा अन्दर घुस गया तो मेरे ऊपर लेट गए और मुझे अपनी बाहों में जकड़ लिया फिर मेरे कान में बोले कनू तैयार हो अपने भैया का प्यार पाने के लिए मैं बोली बहन चोद घुसेड दे अपना लंड मेरी चूत में और देख मेरे दर्द की परवाह न करना ठोक दे के लिए भैया ने मुझे किस किया.

और मेरे होठों को अपने मुंह में भरकर जोर का धक्का मारा उनका लंड मेरी चूत को चीरते हुए 4 इंच अंदर घुस गया वो मेरी बच्चेदानी को छू रहा था मैं एकदम से चीख पड़ी लेकिन मेरी आवाज भैया के मुंह में घुट कर रह गई आंख से पानी आ गया भैया ने मेरा होटों को छोड़कर आंखों का नमकीन पानी चाट कर किस किया और बोले कनू बहुत दर्द हो रहा है क्या मेरी बहन.

मैं बोली भैया कल की तरह नहीं है लेकिन थोड़ा सा है आप प्यार से धीरे करो ना, तो भैया बोले कनू इसमें जितना दर्द मिलेगा उतना ही मजा आएगा कल मैं बहुत प्यार से कर रहा था क्योंकि तेरा पहली बार था मेरा लंड बहुत बड़ा था लेकिन अब दो तेरी चूत की झिल्ली फट चुकी है सील टूट चुकी है अब रास्ता खुल चुका है अब तो बस मज़ा ही मज़ा आयेगा.

मैं भैया की मीठी मीठी बातों में आ गई और भैया के लंड को लेने के लिए मानसिक रूप तैयार हो गई, बात करते-करते भैया ने लंड को बाहर खींचा और फिर एक दूसरा झटका पूरी ताकत से मारा उनका लंड 6 इंच मेरे अंदर था वो मेरी बच्चेदानी में घुस गया था मैं एकदम से चीख पड़ी पीछे की ओर खींच गई मेरी आंखें पलटने लगे.

मैं चीख पड़ी भैया धीरे से करो ना, मैं मर जाऊंगी, भैया बोले जानू अभी भी तेरी चूत बड़ी टाइट है मुझे भी दर्द हो रहा है मैं सिसकते हुए बोली आप आज बहुत बेदर्दी तरीके से चोद रहे हैं मेरी जान लेनी है क्या, भैया बोले तेरा भाई मुझे कुछ नहीं होने देगा कुछ होने से पहले वह अपनी जान दे देगा.

मुझे भैया पर बहुत प्यार आ रहा था भैया उतना ही लंड अंदर बाहर करने लगे मैं दूसरी बार झड़ चुकी थी चूत के पानी ने चिकनाहट पैदा कर दी मैंने उनकी आंखों में झांकते हुए इशारा किया चोदो भैया ने अपना लंड फिर बाहर खींचा कसका धक्का मारा मेरी चीख शायद बाहर तक चली गई होगी.

मैं इतनी जोर से चीखी, बहनचोद आज तो तुम पागल हो गए कोई अपनी बहन को इतनी बेदर्दी से चोदता है क्या? भैया मुस्कुराने लगे और बोले कनू मेरी जान अभी तुझे मजा आने लगेगा तब तू कहेगी और करो और जोर से करो, भैया ने मुझे अपनी मीठी मीठी बातें में उलझाकर धीरे धीरे 8इच मेरी चूत में घुसा दिया.

मैं भैया के निप्पल को चुटकी से मसलने लगी भैया और उत्तेजित हो गए अब भैया का लंड मेरी छाती तक पहुंचा हुआ था मैंने हाथ लगा कर देखा तो भैया के लंड पर मेरी चूत का छेद में एकदम कसा हुआ था मेरी चूत ने उनके लंड को दबोचकर रखा था एक बाल जाने की भी जगह नहीं थी और करीब १इंच बाहर था.

मैंने भैया को कहा अब इतना सा किसके लिए छोड़ रखा है उसको भी घुसकर मेरे दिल से टच करा दो भैया, भैया ने कहा अभी ले मेरी जान, भैया ने पूरा लंड बाहर खींचा, थोड़ा सा वैसलीन लगाकर फिर मेरे चूत के छेद पर टिका दिया मुझे मेरी टांगे मेरे कंधे से लगाकर मुझे कसकर पकड़ लिया.

इसे भी पढ़ें   जीजा बहन की चुदाई का लाइव सिन देखा!

मैं कान में बोली भैया इस बार पूरा अंदर तक डाल दोगे क्या? एक ही बार तो में मर जाऊंगी मुझ पर रहम करना आई लव यू भैया, वो मुझे डरा देखकर मुस्कुराते हुए बोले डर मत कनु इस झटके में मैं पूरा अंदर करूंगा और तुझको बहुत मजा आएगा लेकिन उससे पहले अपनी कच्छी मुंह में भर ले.

मैंने डरते और मुस्कुराते हुए कहा इस बार तुम्हारी बहन चिल्लाएगी नहीं घुसेड़ दो एक झटके में पूरी ताकत झोंक कर जो जोर का धक्का चूत में मारा कि लंड चूत को चीरते हुए पूरा 9 इंच घुसकर मेरे दिल को छूने लगा मैं पीछे पलट कर ऐंठ गई लेकिन मुंह से आवाज नहीं निकाली आंखों से आंसू बहने लगे. ये कहानी आप हमारी वासना डॉट नेट पर पढ़ रहे है.

भैया मुझे दर्द से तड़पते देख रुक गये और मेरी चूचियों को धीरे-धीरे मुंह में भरकर चुभलाने लगे थोड़ी देर ऐसे रहने के बाद दर्द कम हो गया चूत में पानी रिसने लगा मैं भैया के कानों में मुस्कुराते हुए बोली जानू मजा आ रहा है आपको भैया ने पूछा जानू अब कैसी हो दर्द हो रहा है.

मैं बोली आप मेरे दिल में घुस गए हो मेरे सोना बाबू जानू मैं तुम्हारी हो गई अब दर्द कम है तो भैया फिर लंड को धीरे-धीरे अंदर बाहर करने लगे मैं दो बार पानी छोड़ चुकी थी मैंने भैया को कहा चोदो भैया चोदो, भैया ने मुझे अपनी बाहों में जकड़ा और राजधानी एक्सप्रेस की तरह चोदना शुरू किया.

मेरे मुंह से मजे की किलकारियां निकल रही थी हुं आ आह ऊई मां आ आ आऊच उम्म उई सी सी भैय्या मैं झड़ने वाली हूं कमरे में पट पट पट और मेरी किलकारियां गूंज रही थी भैया भी हू्ं ह ह हूं करते हुए चोदे जा रहे थे मैं ऊई मां आ आ आऊच उम्म उई सी सी करते हुए गांड़ उचकाने लगी.

तभी मैं झड़ने लगी अपनी टांगें छुड़ा कर भैया की कमर पर कस कर जकड़ चुकी थी भैया के लंड पर बारिश करने लगी मैंने भैया को इतनी जोर से जकड़ा हुआ था कि वो हिल भी नहीं पा रहे थे थोड़ी देर बाद मैंने पसीना पसीना हो गई मैंने टांगें ढीली कर दी.

लेकिन भैया का लंड उसी तरह कड़क था भैया ने पूरा लंड बाहर खींच लिया और कपड़े से पोछ कर फिर अंदर डाल मुझे ऐसा लगा जैसे मेरी चूत छिली जा रही है मैं बोली भैया बस करो अब नहीं मेरी चूत में मिर्ची सी लग रही है वो बोले जानू बस दो मिनट और देख मेरा नहीं हुआ मैं बोली भैया प्लीज़ थोड़ा रूक जाओ मुझे सांस लेने दो मेरा गला सूख रहा है प्लीज.

भैया ने पानी की बोतल खोल कर पानी अपने मुंह में भर लिया और फिर उसे मेरे मुंह में डाल दिया मुझे बहुत मजा आया फिर इसी तरह ३बार पानी पिलाया, मैंने भैया के होंठ पकड़ कर मुंह मे भर लिए और चूसने लगी, भैया मुस्कुरा कर मेरे ऊपर लेट गये मुझे किस करने लगे फिर मेरी चूचियों को धीरे-धीरे बच्चों की तरह पीने लगे.

मैं भी उनके सिर पर हाथ फेरने लगी और बोली मेरा बाबू अपनी बहन का सारा दूध पीले मेरा बच्चा मेरा राजा भैया अपनी बहन को कितना प्यार करते हैं मैं जानती नहीं थी आज मैं जान गई आई लव यू भैया मेरा बाबू मैं बोलते-बोलते भैया को किस भी कर रही थी।

मेरा निप्पल पीते पीते भैया का लंड फड़फड़ाने लगा मैं भी गर्म होने लगी तो मैंने अपने पैरों को फैला कर भैया को बीच में ले लिया अब मैं का कड़क लंड मेरी चूत पर फड़क रहा था भैया मेरे कान में बोले मेरी प्यारी बहन सोना तैयार हो भैया के लंड के लिए मैं मुस्कुराने लगी और अपने हाथ को नीचे ले जाकर सुपाड़े को अपनी चूत पर रखकर घिसने लगी फिर छेद पर टिका दिया.

भैया की आंखों में ख़ुशी झलक रही थी फिर मैंने उनको कहा भैया अब अपना लन्ड मेरी चूत में घुसा कर चोदो। भैया ने फिर धीरे-धीरे लंड आगे ठेलते हुए ३बार में पूरा घुसा दिया और मेरी टांगों को अपने कंधों पर रख कर जकड़ कर राजधानी एक्सप्रेस की रफ्तार से चोदने लगे।

मैं भी अपनी कमर उछालने लगी और मज़े लेने लगी भैया ने करीब ५० धक्के लगाने के बाद मेरी चूत में ढेर सारा गाढ़ा गाढ़ा वीर्य भर दिया और मेरे ऊपर लेट गये हम दोनों पसीने पसीने हो गये बहुत थक गए और भैया मेरे ऊपर ही सो गए मैं भी भैया को कोली भर कर सो गई।

सुबह सुबह 5 बजे उठ कर देखा तो भैया मेरे सीने पर हाथ रख और मैं भैया की कमर पगकड़ कगर लेटी थी मैंने भैया का हाथ हटाया और बाथरूम पेशाब करने गई भैया भी उठ कर बाथरूम में आ गए हम दोनों एक दूसरे को देखकर मुस्कुराने लगे हमने साथ साथ पेशाब किया.

हम ठंड से कांपने लगे भैया ने बाहर देखा तो बाहर बहुत अंधेरा था और भारी बर्फबारी हो रही थी। हम वापस दौड़ कर रजाई में घुस चुके थे। भैया बोले कि बेटू बहुत ठंड लग रही है मैंने अपनी बाहों को फैला कर भैया की तरफ मुस्कुराते हुए कहा आजा मेरा बच्चा सोना बाबू.

और भैया ने मेरी बाहों में आकर मुझे कसकर पकड़ लिया और बिस्तर में लेट गए हम रात भर नंगे ही सोये थे भैया ने मुझे कहा कनु मैं तुम्हें बहुत प्यार करता हूं तुमने मुझे वो सुख दिया है जिसके लिए मैं तरस रहा था सबसे बड़ी बात ये है कि तुमने मुझे अपनी 18साल की कुंवारी चूत को गिफ्ट में दी.

मैंने शरमाते हुए अपना चेहरा भैया के सीने में घुसा दिया और कहा भैया आपने मेरे बर्थ-डे को जीवन भर न भूलने वाला बना दिया इतना प्यार किया और इतने प्यार से मेरी कच्ची कली को मसल कर फूल बना दिया अपना 9 इंच लम्बा लंड मेरी कुंवारी चूत में इतने प्यार से डाल कर चोदा की मुझे दर्द के बाद बहुत मजा आया.

अभी तक मेरी चूत में मीठी मीठी टीस और सिहरन सी हो रही है ये अहसास न भूलने वाला है आई लव यू बाबू मेरे सोना, भैया मेरी सहेली को उसके बायफ्रेंड ने इतनी बेदर्दी तरीके से चोदा था कि उसे डाक्टर को दिखाना पडा था वो मुझसे 3 साल बड़ी और शरीर में भी तंदरुस्त है।

भैया बोले जानू आज और कल भी मेरी छुट्टी है क्या प्लान है मैं बोली भैया आप किचन का सामान ले आना मैं कहीं नहीं जाऊंगी अब मैं जब यहां तक हूं अपने बाबू को बढ़िया बढ़िया खाना बना कर खिलाऊंगी और खूब सारा प्यार करूंगी और भैया को किस करने लगी।

भैया बोले कनु मैं बहुत खुश नसीब हूं जिसे तेरी जैसी बहन मिली है तूने मेरे दिल की बात कही है हम दिन रात बिस्तर में घुस कर प्यार करते रहेंगे। हम दोनों बातें करते करते फिर गर्म होने लगे सुबह सुबह भैया के लंड में बहुत ही अधिक कड़ापन था भैया बोले मेरी शोना आ जा तुझे प्यार करूं.

मैं मुस्कुरा कर बोली प्लीज़ थोड़ा सा नीचे देखो कैसी सूज़ी है मेरी चूत भैया बोले इसकी तेल लगाकर अंदर तक मालिश करनी होगी मैं बोली मुझे पता है आप कैसे इसकी मालिश करोगे भैया ने पूछा कैसे तो मैं शर्मा कर मुस्कुराते हुए बोली गर्म तेल करके अपने लंड पर लगा कर मेरी चूत में घुसा कर अन्दर बाहर करके चोदने का प्लान है आपका बोलिए मैं सही कह रही हूं ना।

भैया बोले तू तो बड़ी समझदार हो गई है चल तैयार हो मैं तेल गरम करके लाता हूं फिर भैया किचन से तेल गरम करके ले आए और दो उंगलियों को गर्म तेल में डुबोकर उसे प्यार से मेरी कच्ची चूत में घुसा दिया मैं ऊई सी करने लगी गर्म तेल मेरी चूत में बहुत मजा दे रहा था.

भैया ने थोड़ी देर चूत में उंगली डाल कर मालिश की फिर गर्म तेल अपने लंड पर लगा कर मेरी टांगों के बीच आकर चूत के छेद पर रगड़ने लगे और फिर थोड़ा सा नीचे झुका कर धीरे धीरे अंदर घुसाने लगे लंड चूत की दीवार को फैलाता हुआ अन्दर घुसने लगा.

मैंने उत्सुकतावश नीचे हाथ डाल कर भैय्या का लंड पकड़ कर देखा तो अभी भैया का 5 इंच ही मेरी चूत में घुसा था भैया जानते थे कि आराम आराम से वो पूरा डाल कर चोदेंगे तो उनकी बहन को दर्द नहीं दे होगा वो भी मजे लेगी। मैं किलकारियां मारने लगी भैया बहुत प्यार से धीरे-धीरे मेरी ले रहे थे.

उनका लंड मेरी बच्चेदानी तक पहुंच कर गुदगुदी कर रहा था मैं सी सी उई मां आ आ करते हुए किलकारियां मारते हुए पानी छोड़ने लगी और भैया का लंड अपनी चूत में कस लिया भैया अब हिला भी नहीं पा रहे थे वो बोले जानू क्या हुआ मैं बोली भैया प्लीज़ थोड़ा रूक जाओ मुझे सांस लेने दो.

भैया मेरे सीने पर चूची को प्यार से मसलने लगे दूसरी चूची को मुंह में भर कर पीने लगे मैं फिर से गर्म हो गई कुछ देर बाद मैंने अपनी कमर उछालने लगी तो भैया समझ गये और फिर मुझे पकड़ कर मेरी चूत में लंड घुसाने लगे अब लंड मेरी बच्चेदानी में घुस रहा था मैं चीखने लगी आ आ भैया प्लीज़ थोड़ा धीरे करो आ बस बस्सी यहीं रुक जाओ.

भैया बोले जानू अभी तो 2 इंच और अंदर लेना है मेरी शोना को और मेरे होठों को चूसने लगे मैं बोली हां जानू आपकी शोना आपके पूरे लंड को अपने अंदर ले लेगी थोड़ी देर बाद मुझको राहत मिली तो मैंने कहा भैया अब जल्दी से घुसा दो भैया ने मेरी टांगों को मेरे कंधे पर रख कर जकड़ लिया.

इसे भी पढ़ें   जीजा की कुंवारी बहन की चूत चुदाई | Virgin Hot Girl Chut Chudai Ki Kahani

और फिर मेरे होठों को अपने मुंह में भर कर पीने लगे और पूरा लंड खींच कर पूरी ताकत से मेरी कच्ची चूत में जो अभी-अभी फूल बनी थी घुसेड़ दिया बहन का लंड मेरे दिल पर दस्तक दे रहा था मैं छटपटाने लगी मेरी चीख भैय्या के मुंह में घुट कर रह गई. ये कहानी आप हमारी वासना डॉट नेट पर पढ़ रहे है.

मैंने भैया को कसकरर पकड़ लिया उन्हें हिलने भी नहीं दिया मैं छटपटा रही थी जैसे कोई बकरी किसी सांड के नीचे दबी हो भैया कुछ देर वैसे ही पड़े रहे मेरी चूत पानी छोड़ने लगी थी मुझे थोड़ी सी राहत मिली मेरे रिलैक्स होते ही भैय्या ने मेरी चूत मारना शुरू कर दिया मुझे मजा आने लगा.

मैं किलकारियां मारते हुए झड़ने लगी हम दोनों पसीने पसीने हो गये पर तो भैया रुकने का नाम ही नहीं ले रहे थे लगभग 70-75 धक्के लगाने के बाद सारा वीर्य मेरी चूत में डाल दिया फिर मेरे ऊपर लेट गये घड़ी में 7बज चुके थे भैया मेरे ऊपर से हट ही नहीं रहें थे मैं बोली भैया आप बहुत थक गए हो उतरो मैं आपके लिए दूध गर्म करके लाती हूं.

मैं किचन में जाकर दूध गर्म करके दो गिलास में डाल कर ले आई एक गिलास भैया को दिया और खुद भी पिया, दूध पीकर भैया बोले जानू मुझे और दूध पीना है मैं बोली भैया अब थोड़ी देर बाद जब दूधिया दे जायेगा तब दूंगी। भैया ज़िद करने लगे फिर बोले शोना मुझे चार थन वाली गाय का नहीं दो थन वाली बछिया का दूधु पीना है.

तो मैं शर्मा गई और बोली भैया प्लीज़ आप मुझसे ऐसे न कहें मुझे बहुत शरम आ रही है आप दो रातों से पी रहे हो पर एक बूंद भी दूध नहीं निकला। भैया बच्चों की तरह रोने को एक्टिंग करने लगे नहीं मुझे पीना है पीना है पीना है। ये देख मैं हंस पड़ी और बोली अले ले ले मेले बाबू को दूधु पीना है.

इसे सुनकर भैया भी बोले हां छोना अबी ते अबु दुधु पीना है अब मुझे भी इस अंदाज में मजा आने लगा मैं बोली बाबू अभी ना ये दुधु छोता है जब बला होगा न और छोना मम्मी बन जायेगी ना तब दुधु आयेदा तो मैं मेले बाबू को दूधु पिला दूं दी।

भैया बोले नहीं छोना मेले तो अभी पीना है दुधु मैं समझ गई कि भैया बिना चूची पिए नहीं मानेंगे मैं शर्मा कर मुस्कुराने लगी और बोली मेले बाबू को इतनी जोर की भुक्कु आई है वो भी मजे लेने लगे हां छोना प्लीज़ दुधु पिलाओ ना मैं भी पालथी मार कर बैठ गई और भैया को अपनी गोद में खींच लिया.

फिर एक चूची उनके मुंह में डाल दी वो एकदम से बच्चों की तरह मेरी चूची पीने लगे मैं आनंद से सिसियाने लगी और भैया के बालों में हाथ फिराने लगी जैसे मां अपने बच्चों को दूध पिलाने के समय करती है. अब भैया भी शरारत करने लगे मेरे छोटे छोटे चने की दाल के दाने जैसे निप्पल को दांतों से काटने लगे.

मैं एकदम से छटपटा कर चीख पड़ी आऊच और भैया को प्यार से एक चपत लगाई वो तो और भी मजा लेने लगे आं आं आऊ आ कर कर रोने का नाटक करने लगे मैंने हंसते हुए दूसरी चूची उनके मुंह से लगा दि उन्होंने उसे मुंह में भर कर पीने लगे इस खेल में मजा बढ़ता जा रहा था।

थोड़ी देर बाद मैंने उनको हटाते हुए कहा कि बस बाबू अब बाबू का पेटू भल दया बछ तलों। भैया हंसते हुए बोले कनू इस खेल में बहुत मजा आया। मैंने सोचा भी नहीं था मैं बोली भैया मुझे भी। भैया ने कहा कनु मेरी डार्लिंग मेरी बहन हम दोनों दिन सिर्फ मज़े करेंगे और खेलेंगे मैं भी खुश हो गई।

अब 8 बज गए थे भैया बोले शोना चलो नहाते हैं भैया ने पड़ोस की दुकान पर अण्डे ब्रेड मक्खन जैम मैगी पास्ता सास हार्लिक्स का आर्डर कर दिया तभी दूधिया आ गया भैया आधा किलो दूध लेते थे उन्होंने दूधिया को कहा अब दो किलो देना वो हंसते हुए बोला साहब बीवी जी को ले आए का भैया कुछ नहीं बोले बस मुस्कुरा कर सर हां में हिला दिया।

मैं सब कुछ देख सुन रही थी मैं अंदर तक गनगना गई और सोचने लगी काश ये होता। 5 मिनट में सारा सामान आ गया ‌भैया का मोबाइल बजा तो मम्मी बात कर रही थी भैया बोले मम्मी कनक कुछ भी खाती पीती नहीं है क्या एकदम से बच्चों जैसी दिखती है तो मां बोली की बड़ी मन मौजी है केवल पसंद की चीज खाने को चाहती .है

 मैंने कहा आप चिंता मत करना मैं इसे सब खिला पिला ठीक कर दूंगा फिर मां ने मुझसे बातें की समझाया कि भैया और उसके खाने पीने का ख़्याल रखना वो दूध पसंद नहीं करता उसे रोज दूध पिलाने की तेरी जिम्मेदारी है ये सुनकर भैया हंस पड़े और मैं शर्मा गई मन में बोली मुझे पता है उसे कौन सा दूध पसंद है.

मां ने कहा उसे परेशान कतई न करना ठीक से रहना फिर फ़ोन कट गया। भैया बोले कनु सुन लिया मुझे दूध पिलाने की जिम्मेदारी तेरी है और मै तुम्हे खिला पिला कर तंदरुस्त कर दूंगा। मैंने कहा हां भैया लंड खिला कर उसका पानी पिलाओगे मैं शर्मा कर मुस्कुराते हुए बोली भैया हंस पड़े।

मैंने पूछा दो किलो दूध क्यों लिया वो बोले तेरे लिए मैं बोली आपको सारा पीना पड़ेगा वो बोले शोना पहले तूझे सारा दूध पिलाऊंगा फिर मैं पिऊंगा मैं बोली अच्छा जी जब मैं सारा दूध पीलूंगी तो आप कैसे पियोगे। भैया ने मेरी दोनों चूचियों को कस कर दबा दिया और बोले छोना का बाबू ये वाला दूधु पियेगा।

मैं बोली धत्त और बाथरूम में घुस गई भैया भी आगये हमने शावर खोल कर गर्म पानी में भीगने लगे फिर एक दूसरे को अच्छी तरह से साबुन लगाकर साफ किया भैया ने गर्म पानी के नल में रबर के पाईप को लगाकर मेरी चूत में अंदर तक डाल कर नल खोल दिया.

गुनगुना पानी मेरी चूत में भर गया ( डूश लिया)और सारा वीर्य पानी के साथ बाहर निकल आया मैं बोली भैया ये क्या तो भैया बोले जानू अभी तक तेरे पीरियड्स शुरू नहीं हुए तो प्रेगनेंट नहीं होगी फिर भी डूश लेने से सारा वीर्य साफ़ हो जाता है। इससे कोई नुक्सान नहीं है मैं बाबू बोलकर भैया को किस करने लगी।

हम नहा कर बाहर आ गए और फिर ओवर कोट पहन कर मैं किचन में गई आमलेट और ब्रेड का नाश्ता बनाने लगी दूध उबालने के लिए रखा। तभी भैया ने आकर मुझे पीछे से पकड़ लिया और गर्दन पर किस करने लगे मेरी कनपटी चूसने लगे फिर मेरी चूचियों को धीरे-धीरे मसलने लगे.

मैं आनंद में सिसकारी भरने लगी और बोली भैया छोड़िये मुझे नाश्ता कर लीजिए वो बोले जानू क्या बनाया है मैं बोली भैया आमलेट ब्रेड है वो बोले शोना मुझे तो चूतलेट खाना है मै हंसते बोली बाबू पहले आमलेट फिर जो तुम चाहते हो वही खिलाऊंगी।

मैंने प्लेट में निकाल कर दिया भैया वहीं खाने लगे पहले उन्होंने मुझे खिलाया फिर खुद खाया मैं गर्मागर्म बना कर देती गई और हम दोनों खाते गये। फिर दो गिलास दूध में हार्लिक्स मिला कर एक भैय्या को दिया और एक खुद पिया.

भैया ने अपना आधा गिलास मुझे जबरदस्ती पिला दिया चूची मसलते हुए बोले छोना बाबू ये वाला दुधु पियेगा.  मैं हंस पड़ी और बोली बाबू ये वाला कितना दूधू पियेगा। भैया बोले कनु बेटू अभी 10बजे हैं बाहर बर्फबारी हो रही है हम बिस्तर में लेट कर आराम करेंगे खाना होम डिलीवरी वाले से मंगा कर खायेंगे।

मैं बोली जैसे आप चाहें भैया आई लव यू बाबू।

हमने ओवर कोट उतार दिया और रजाई में घुस गए लेटकर एक दूसरे के नंगे बदन को सहलाते हुए बातें करने लगे भैया बोले कनू मां ने मुझे दूध पिलाने की जिम्मेदारी तुझे दी है और ये भी कहा है कि भैया को परेशान न करना हर बात मानना मैंने कहा हां भैया मैं आपको रोज 4बार दूध पिलाऊंगी.

भैया मेरी चूचियों को धीरे-धीरे मसलते हुए बोले मैं ये वाला दूधु जितनी बार पिलाएगी उतनी बार पीऊंगा मैं बोली धत्त भैया मैं ये नहीं दूंगी भैया ने मेरी चूचियों को कसकर मसलना शुरू कर दिया मैं आ आ आ आऊच उई मां बड़ा निर्दयी भाई है मां बचाओ.

भैय्या बोले मा ने ही कहा है मुझे दूध पिलाने के लिए और मैं बस ये वाला ही दूध पियूंगा। मैं बोली अच्छा बाबा पी लेना बस अब छोड़ो देखो मसल मसल कर कैसे लाल कर दी जाईए मैं आपसे बात नहीं करूंगी भैया कान पकड़ कर सारी बोलने लगे उन्हें इस तरह से देख कर मैं खिलखिला कर हंस पड़ी भैया भी हंस पड़े।

फिर बहुत सीरियस हो कर बोले कनू बेटू मैं सचमुच में तेरी गोद में लेट कर तेरा दूध पीना चाहता हूं वो रोने लगे मैं चुप हो कर सुनने लगी मैंने भैया को गले से लगा लिया और कहा भैया बच्चों के जन्म के बाद चूची में बच्चे के लिए दूध आता है अभी तो मैं गर्भवती भी नहीं हो सकती मेरी पीरियड्स भी नहीं आये.

मैं उन्हें चुप कराने लगी उसने वादा किया कि शादी के बाद जब बच्चे होंगे तो एक चूची का पूरा दूधु आपको पिलाऊंगी। कह कर मैंने एक चूची उनके मुंह में भर दी और वो प्यार से पीने लगे दूसरे को उंगलियों से खेलने लगे। भैया चूची पीते पीते सो गए और बच्चों की तरह नींद खुलने पर फिर पीने लगते मुझे बहुत गुदगुदी हो रही थी और मजा भी बहुत आ रहा था।

भैया को चूची पिलाते पिलाते मेरी चूत चूने लगी मैंने भैया को किस किया और उठा कर अपने सीने से लगा लिया और कान में कहा भैया चूत गीली हो गई है नारियल का पानी पियोगे भैया बोले मै नारियल पानी पीता हूं तू गन्ना चूस फिर हम 69हो गये मैं लंड और भैया चूत पी रहे थे।

इसे भी पढ़ें   मम्मी और मौसी 

हम दोनों दूसरे को काफी देर तक चूसते चाटते रहे भैया ने जी को नुकीली कर कर मेरी चूत में घुसा दिया और मुझे जब से छोड़ने लगे मैं भी भैया का लंड मुट्ठी में पकड़ कर अपने गले में उतार लिया और मुंह ऊपर नीचे कर कर भैया का लंड चूसने लगी तभी मैं संस्कारियां मारते हुए तेजी से गण-खुने और भैया के मुंह में झड़ गई.

भैया सारा पानी की गए मैं भैया का लंड चूस रही थी भैया ने मुझे हटा दिया मुझे बोला शोना अब तुम कुत्तिया बन जाओ मैं तुम्हें कुत्ते की तरह पीछे से छोडूंगा मैं कोहनी और घुटनों के वल बिस्तर पर उठ गई और कुतिया सी बन गई भैया घुटनों के बाल खड़े होकर मेरे पीछे आए और मेरी चूत को उंगलियों से चियार कर अपने लंड का सुपाड़ा फंसा दिया.

और मेरी कमर पकड़ कर एक धक्का मारा इस तरह 3 इंच लंड एक ही झटके में अंदर चला गया और मैं दर्द से चीख कर उठ गई उई मां भैया इस तरह ज्यादा जोर से लग रही है भैया ने मेरे कंधे पर हाथ रख कर नीचे झुका दिया और बोले बस एक मिनट में तुझे मजा आयेगा और एक धक्का और लगाया.

अब लंड सीधा बच्चेदानी से टकराया मैं दर्द से तड़पते हुए उठ गई बोली भैया प्लीज़ इस तरह से नहीं बहुत ही ज्यादा दर्द हो रहा है मैं लेट जाती हूं आप मेरे ऊपर आ जाओ भैया बोले जानू बस और अंदर नहीं डालूंगा इतने से ही चोदूंगा भैया ज़िद करने लगे मैं भैया को बोली मैं मर जाऊंगी भैया प्लीज़ ऐसे मत करो.

भैया ने फिर कहा मैं बहुत धीरे-धीरे करुंगा भैया की जिद में डरते डरते झुक गई और भैया ने फिर से मेरी चूत को चियार कर लंड को फंसा दिया और मेरे उपर कुत्ते की तरह चढ़ कर मेरी दोनों चूचियों को पकड़ लिया और फिर धक्का मार कर लंड 4इंच चूत में घुसा दिया.

मैं तिलमिला उठी तो वो रुक कर मेरी चूचियां मसलने लगे और आईं लव यू शोना तेरी चूत कितनी चिकनी और कसी हुई है बेटू मजा आ गया उनकी मीठी बातों और चूचियों को धीरे-धीरे मसलने से मेरा दर्द थोड़ा कम हो गया भैया ने लंड 1 इंच बाहर खींचा और फिर मेरी चूचियों को पकड़ कर ज़ोर से धक्का मार दिया.

लंड 5 इंच अंदर घुस चुका था वो बच्चेदानी में घुस गया मैं चीख कर बिस्तर पर गिर पड़ी भैया भी मेरे ऊपर गिर गए उनके दोनों हाथों में मेरी चूचियां दबी थी मैं उई मां सी सी करने लगी मैं अब जोर-जोर से सांसें ले रही थी भैया ने मेरी चूचियों को मसलते हुए इस पोजीशन में लंड को आगे पीछे करना शुरू किया.

इस तरह उनका लंड पूरा मेरी चूत में नहीं जा रहा था केवल 6 इंच से ही चुदाई कर पा रहे थे वह अभी भी मेरी बच्चेदानी में घुस रहा था और मैं ए हाउस चिल्ला रही थी थोड़ी देर में मैं झड़ गई भैया भी 5-6 धक्के ओ के बाद झड़ गए और मेरे ऊपर लेट कर सांस लेने लगे उनके हॉट मेरे कानों पर थे.

वह धीरे से बोले कानू इस पोजीशन में कैसी लगी अपने भैया की प्यार वाली चुदाई बोली भैया आप तो बड़े बेदर्द तरीके से छोड़ने लगते हो भूल जाते हो कि मैं आपकी सोना हूं लेकिन पहले दर्द हुआ फिर मैं आनंद के सागर में गोते लगाने लगी आई लव यू भैया।

हमारे शरीर पसीने से चुपचाप करने लगे भैया उठ और अपना लंड मेरी चूत से खींच लिया और टॉवल से मेरी चूत को पोछा फिर अपने लंड को पोछा और फिर दोनों का पसीना पोछकर टावल किनारे कर दिया और मुझे चूमने लगे मैं बोली भैया अब आपका मन भर की नहीं.

भैया बोले सोना तुम मां बनने वाली चीज नहीं हूं तो मेरी जान हो मुझे तुम पूरी की पूरी बहुत पसंद हो तुम्हारी दासी हुई चूत बहुत मजे देती है अच्छा यह बताओ अभी कितना दर्द हुआ था मैं बोली भैया आप भी कैसी बातें पूछ रहे हैं भैया बोले बताओ ना बाबू मैं मुस्कुराने लगी. ये कहानी आप हमारी वासना डॉट नेट पर पढ़ रहे है.

भैया बोले जितना परसों रात पहली चुदाई में हुआ था उसकी तुलना में अभी कितना हुआ अगर वह दर्द 10 पॉइंट था तो यह वाला कितना था मैं चुप रही भैया बोले बताओ ना तो मैंने कहा ऐसे कैसे बता सकती हूं दर्द का नापने का कोई स्केल होता है क्या. भैया बोले मन को परसों रात पहले चुदाई में तुम्हें 10 पॉइंट का दर्द हुआ तो आज कितना हुआ 2 का 3 पॉइंट.

मैं बोली भैया आज भी मुझे 6 बिंदु का दर्द हुआ था जिसमें थोड़ा-थोड़ा मजा भी आ रहा था भैया बोले मेरी जान दो-तीन दिन में तेरा दर्द सब खत्म हो जाएगा केवल एक या दो पॉइंट ही रहेगा और तू उसे दर्द को बहुत ही ज्यादा इंजॉय करेगी वह नहीं होने पर रहेगी और जोर से करो भैया और जोर से धक्का मारो.

समझी मेरी जान अब यह बता लंच में क्या आर्डर करूं क्योंकि मैं तुझे बिस्तर से नहीं उठने दूंगा तुझे सिर्फ प्यार करूंगा जब तक मेरी छुट्टी है तू खाना पीना नहीं बनाएगी सब हम बाहर से मंगाएंगे मैं तुझे अपने हाथों से खिलाऊंगा और खूब प्यार करूंगा.

मैं बोली आई लव यू भैया मुझे इतना प्यार मत करो कि मैं आपके बिना जी ना पाऊं मैं मर जाउंगी आपके बिना भैया बोले कानू मैं भी तुम्हारे बिना जिंदा नहीं रह सकता आई लव यू सोना मैं भैया के गले चिपक गई भइया ने भी मुझको जोर से कस लिया मेरी चुटिया भैया की चूचियों से दब रही थी.

हमें कसकर गले लगने में बहुत मजा आ रहा था तभी भैया ने कहा हम पहले खाना ऑर्डर कर देते हैं बोलो जानू तुम क्या खाओगे मैंने कहा भैया आपको जो पसंद है वह मंगा लीजिए जो आपको पसंद होगा मैं वही खाऊंगी भैया बोले नहीं सोना तू मेरी जान है खाना तेरी पसंद से ऑर्डर करेंगे और जो तू खाएगी वही मैं भी खाऊंगा जो तू खिलाएगी मैं वही खाऊंगा देख तूने मुझे अपनी चूत खिलाई मैं खा गया ना.

मैं बोली भैया आप बड़े शरारती होते जा रहे हैं। फिर अचानक भैया बोले जाना चलो तैयार हो जाओ लंच के लिए बाहर चलते हैं थोड़ी सी आउटिंग हो जाएगी मैंने कहा भैया 10 मिनट में तैयार होती हूं मैं भैया की दिलाई गई जिस लेकर हाथों में चेंज करने जाने लगी भैया बोले जानू भी कपड़े पहन लो ना क्या छिपा रही हो.

मैं भोगी भैया थोड़ी तो शर्म करो अपनी बहन को कपड़े बदलते देखोगे, भैया बड़ी बेशर्मी से हंसकर बोले शोना दो दिन से मेरे साथ बिस्तर में नंगी होकर चुदवा रही है कपड़े बदलने दूसरे कमरे में जारी हे मैं बोली भैया आप इतनी गंदी गंदी बातें करते हो वो हंसने लगे।

फिर हम दोनों तैयार होकर बाहर निकले मैं भैया की बाइक पर दोनों तरफ पैर करके बैठ गई भैया बोले जानू कस कर पकड़ कर बैठो मैंने भैया को कसकरर पकड़ लिया तो मेरी चूचियां भैया की पीठ पर गड़ने लगी बाहर बहुत ठंड थी चारों तरफ बर्फी बर्फ थी.

माल रोड पर एक अच्छे रेस्टोरेंट में लंच के लिए गए और एक गरमा गर्म शॉप का आर्डर किया वेटर गर्म सूप लेकर आया मैंने पहले भैया को अपने हाथ से सूप पिलाया फिर भैया बोले जानू तुम्हारे हाथ से यह बहुत टेस्टी हो गया है लेकिन जो टेस्ट तुम्हारे सूप का था वह नहीं है मैं तुम्हारा मैं घर में सिर्फ तुम्हारा ही सूप पियूंगा.

मैं समझी नहीं आश्चर्य से पूछा मेरा सूप तो भैया ने मेरी टांगों के बीच इशारा करके आंख मारती है उनका इशारा समझ कर शर्मा गई और उन्हें मुस्कुराता चपत लग जाती है बोलिए भैया हम घर से बाहर हैं आप यहां भी शुरू हो गए शुरू हो गए भैया बोले नहीं सोना तुम्हारी कसम तुम्हारा गरम सूप इसके आगे कुछ भी नहीं है मैं जीवन भर वही कम सूप पीना चाहता हूं.

मैं शर्मा करूंगी घर चलिए जितना कहेंगे उतना पिला दूंगी भैया हंस पड़े और चम्मच उठाकर मुझे भी सूप पिलाने लगे हम दोनों हनीमून कपल की तरह बिहेव कर रहे थे फिर लंच करने के बाद जब हमने बिल पे करने लगे तो मैनेजर हमारे पास एक बड़ा गिफ्ट हैंपर लेकर आया और बोला सर हमारे रेस्टोरेंट में बेस्ट हनीमून कपल का कॉन्टैक्ट चल रहा था जो फर्स्ट प्राइज आपने जीता है भैया ने मुझे अपने सीने से लगा लिया और बोलना हम बेस्ट कपल हैं और वह गिफ्ट ले लिया हमें लंच का बिल भी नहीं पे करना पड़ा.

गिफ्ट में काफी वजन था हम उसको लेकर घूम नहीं सकते थे तो आप इस घर आने का प्लान किया और घर की तरफ चल दिए घर पहुंच कर लंच के बाद ठंड में हमें नींद से आ रही थी हमने अपने गिफ्ट को एक किनारे रख दिया और कपड़े उतार कर रजाई में घुस कर लेट गए और बातें करने लगे ना बोलिए भैया वह लोग हमें बेस्ट हनीमून कपल क्यों समझ रहे थे भैया बोले जानू तुम मुझे इतने प्यार से सूप पिला रही थी और खाना खिला रही थी की उनको लगा कि हम हनीमून वाले कपल हैं मैं शर्मा कर मुस्कुराने लगी और भैया को किस करने लगी।

Related Posts

Report this post

मैं रिया आपके कमेंट का इंतजार कर रही हूँ, कमेंट में स्टोरी कैसी लगी जरूर बताये।

Leave a Comment