तलाक़ के बाद चाची को चोदा। Xxx Desi Chachi Ki Chudai Kahani

Xxx Desi Chachi Ki Chudai Kahani मेरे चाचा की तलाकशुदा बीवी। वह मेरे चाचा से तलक ले चुकी थी, लेकिन मेरे साथ जुड़ गई। उसने मुझे पटा लिया और सेक्स किया।

दोस्तो, मैं आज से पहले बहुत सी चूत चोद चुका हूँ, लेकिन मेरी सेक्सी चाची की चूत चोदने का मज़ा अलग था।

आपने मेरी पिछली सेक्स कहानी मामा के बेटे से गांड मरवाने इक्षा हुई। Cousin Gay Sex Xxx Kahani

पढ़ी थीं।

Xxx Desi Chachi Ki Chudai Kahani में आगे बढ़ने से पहले मैं आपको अपने बारे में बताता हूँ।

मेरा नाम रवि है। मैं नारनौल, हरियाणा में रहता हूँ।

मेरी उम्र अभी 23 वर्ष है।

अन्तर्वासना को मैं अक्सर पढ़ता हूँ।

Hot Chachi Porn Story In Hindi

मेरा लंड काफी सुंदर है। ये 2.5 इंच मोटा और 7 इंच लम्बा है।

मैंने कई लड़कियों को चोदा है।

अब मैं आपको अपनी सुंदर चाची की चुदाई बताता हूँ।

चाची का नाम रेनू है, अभी 25 साल की है।

वह देखने में पतली सी लगती हैं, लेकिन उनका शरीर बड़ा है।

चाची की आकृति 32-28-34 है। हाल ही में उनकी शादी को छह महीने ही हुए थे।

जब से मैंने उन्हें देखा था, मैं उन्हें चोदना चाहता था, लेकिन हमारे परिवार के सदस्य होने के कारण मैं कुछ नहीं कह पाता था।

सब कुछ ठीक था।

न जाने क्या हुआ, चाचा और चाची में अचानक झगड़ा हुआ, जिससे चाची ने चाचा से तलाक ले लिया।

यह एक ऐसी घटना हुई कि हम सब हतप्रभ थे कि क्या हुआ?

तलाक करने के बाद चाची घर चली गईं।

घर में कुछ दिन तक अजीब सा माहौल रहा, लेकिन फिर सब सामान्य होने लगा।

मैं कुछ महीनों बाद एक दिन फेसबुक चला रहा था।

चाची ने उसी समय फेसबुक पर एक मैसेज भेजा।

मैंने उनसे औपचारिक बातचीत की और फेसबुक को छोड़कर कुछ विचार करने लगा।

मेरा एकमात्र विचार था कि ये मुझसे क्यों बात कर रही हैं।

फिर फेसबुक पर हमारी बातें होने लगीं।

उसने एक दिन पूछा:रवि, क्या तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड है?

मैंने कहा, “नहीं चाची, मेरी कोई प्रेमिका नहीं है।”

तुम अभी भी मुझे चाची ही क्यों बोल रहे हो, उसने हंसकर कहा।

मैंने कहा कि मुझे नहीं पता कि आपको क्या कहना चाहिए।

चाची ने कहा कि रेनू कह सकते हो।

मैंने पूछा कि मैं तुम्हें नाम से कैसे बुला सकता हूँ।

हमारे बीच बातचीत इसी तरह चलती रही। रेनू चाची हमेशा मुझसे प्रेमिका की बात करती थीं। मैं अपने आप को समझा नहीं पाया कि वह मुझसे इतना कुछ क्यों करती है।

एक दिन मैं अन्तर्वासना की एक सेक्सी कहानी पढ़ रहा था, जिसमें चाची और भतीजे की चुदाई का वर्णन था।

उसी दिन मुझे चाची को चोदने की इच्छा हुई।

मैंने चाची को फेसबुक पर हैलो लिखा।

वह उस समय ऑनलाइन नहीं थीं, लेकिन उन्होंने मेरे मैसेज का नोटिफिकेशन उनके मोबाइल पर पहुँचते ही मुझे हाय लिखकर जवाब भेजा।

मैं आपसे बात कर सकता हूँ, मैंने कहा। मेरा मतलब है कि आप अभी खाली हैं।

हां, मैं तुम्हारे लिए हमेशा फ्री हूँ, उन्होंने हंसकर कहा।

मैंने पूछा: क्या है मुझमें जो आप हर समय मेरे लिए स्वतंत्र हैं?

‘तुम्हारी गर्लफ्रेंड नहीं है, तो मुझे लगता है कि तुमसे बात करनी चाहिए,’ चाची ने हंसते हुए कहा।

मैंने कहा कि मुझे अब तक चाचा से तलाक की वजह नहीं मालूम।

मेरी बात पर उनका कोई जवाब नहीं था, शायद वह चुप थीं।

मैंने लिखा कि क्या आप मेरी बात को गलत समझते हैं। मुझे माफ कर दीजिये, क्योंकि ऐसा है।

चाची ने लिखा कि आप माफी क्यों मांग रहे हैं? मैं असल में सोच रही थी कि मैं तलाक क्यों ले रही हूँ।

मैंने कहा कि यदि आप मुझे गलत समझते हैं तो बिल्कुल नहीं बताना।

Desi Chachi Ki Chudai Kahani

उसने कहा कि तुम ही हो, जिससे मैं इतनी बात करती हूँ। मैं आपको सब कुछ बता दूंगी। मैं सच कहूँगी।

मैंने कहा कि मैं भी तुम्हारी बात सुनने का इंतजार करूँगा।

चाची ने लिखा, “रवि, मैं तुम्हें सब कुछ बताऊंगी पहले ये बताओ तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड क्यों नहीं है?”

मैंने हंसकर लिखा, “तुम फिर मेरी प्रेमिका की बात पर आ गई हो।”

उसने कहा कि आपकी गर्लफ्रेंड के न होने से ही आपके प्रश्न का संबंध है।

यह जानकर मुझे आश्चर्य हुआ कि चाची के तलाक का मामला मेरी प्रेमिका की उपस्थिति से कैसे जुड़ा है।

मैंने पूछा, “चाची, यह मेरी गर्लफ्रेंड होने या न होने से कैसे जुड़ा है?”

“बस जुड़ा है,” वह कहती। अब तुम मुझे बताओ कि तुम्हारी प्रेमिका नहीं है क्यों?

मैंने पूछा: क्या मैं स्पष्ट रूप से बता सकता हूँ?

हां, चाची ने कहा, तुम मुझे अपना दोस्त मानकर सब कुछ खुलकर कह सकते हो।

मैंने कहा, “वास्तव में मैं एक लड़की के खूंटे से नहीं रह सकता।” मैं बार-बार लड़कियों के साथ सेक्स करना पसंद करता हूँ।

मेरी बात सुनते ही चाची ने कहा, “तुम क्या कह रहे हो?”

मैंने कहा कि मैं तुम्हें बता नहीं रहा था क्योंकि तुम्हें बुरा लगेगा।

इसमें बुरा लगने वाली क्या बात है, वो हंस कर बोलीं। तुम्हारी बात सुनकर मुझे बुरा नहीं लगा…। बहुत अच्छा लगा।

यह जानकर मुझे खुशी हुई कि चाची मेरी इस बात से दुखी नहीं हुई।

मैंने चाची से पूछा: अब बताओ चाचा से तलाक क्यों लिया?

तुम्हारे चाचा नामर्द हैं, चाची ने कहा।

उन्हें सुनकर मैं एक बार फिर चौंका और सोचा कि चाचा नामर्द हैं. मुझे नहीं बता रही थीं कि मैं उन्हें अपनी गर्लफ्रेंड नहीं बता रहा था। क्या इसका अर्थ है कि चाची मुझे भी नामर्द समझ रही थीं?

अब जब वह जानती है कि मैं बार-बार लड़कियों को चोदता हूँ, तो क्या इसका अर्थ है कि वह मेरे साथ मज़ा लेना चाहती है?

मैंने ये विचार आते ही चाची से स्पष्ट रूप से बात करना उचित समझा।

मैंने मेसेज लिखकर पूछा कि क्या आप मुझसे मिलना चाहेंगे।

तुम मर्द होने के अलावा होशियार लड़के भी हो, यह उनका तुरंत उत्तर था।

चाची ने सिर्फ ये लिखकर एक आंख मारने वाली इमोजी भी भेजी।

मैंने समझा कि चाची की चूत लंड चाहती है।

अब हम दोनों अपनी बातों में अलग-अलग स्वाद मिलाने लगे।

मैं चाची के साथ खुश होने लगा और उसे अपनी नंगी फोटो भेजने लगा।

मुझे भी चाची ने अपनी सुंदर तस्वीरें भेजने लगी।

ऐसे ही एक दिन उन्होंने मुझे प्रेम प्रस्ताव भेजा।

मैं पहले से ही उम्मीद कर रहा था कि अगर कुछ अतिरिक्त हरी झंडी मिलती है तो खेल को आगे बढ़ाया जाएगा।

तुरंत ही मैंने हां कहा, और हम दोनों चाची-भतीजे प्रेमी बन गए।

हमारे बीच अच्छी और बुरी बातें होने लगीं।

Indian Chachi Ki Chudai Kahani

कुछ महीने बाद, बात सेक्सी चैट में बदल गई।

उसने एक दिन कहा, “विशाल, मैं अपने पति से खुश नहीं हूँ।” वह मेरी यौन आवश्यकताओं को पूरा नहीं कर पाया। अब मैं सेक्स चाहती हूँ।

मैंने कहा: “आज मिलो..।” फिर हम दोनों खूब सेक्स करेंगे।

हां, मैं मिल लूंगी, लेकिन तुम सब मेरे मूड पर छोड़ दो।

मैंने OK कहा।

हम भी मिले तो सिर्फ किस वगैरह हुआ।

इससे अधिक कुछ नहीं हुआ।

मैंने पाया कि चाची हर तरह से संतुष्ट होने के बाद ही मेरे सामने नंगी होना चाहती है।

हम दोनों ने कुछ महीने बीतने के बाद एक कमरे में मिलने की योजना बनाई।

इसलिए मैंने एक होटल में एक कमरा बुक करवाया।

उस दिन मुझे सेक्स करने का विचार आया।

मैं चाची को भी ठीक से खुश करना चाहता था।

मैं बस स्टैंड से उन्हें बाइक पर लेकर होटल के कमरे में आ गया।

वहां पर जाते ही हम एक दूसरे को गले लगाया।

हम कुछ मिनट गले लगाए रहे, फिर बैठकर बोलने लगे।

वह भी मेरा साथ देने लगीं, जब मैं उनके होंठों को चूमना शुरू कर दिया।

मैं चाची के होंठों को चूमने और उनके मम्मों को दबाने लगा।

उन्हें गर्म करने के लिए मैं उनकी गर्दन पर भी किस करता था।

जब मैंने धीरे-धीरे उनकी सलवार खोली, उन्होंने कुछ नहीं कहा।

इससे मुझे लगता था कि वे भी सेक्स करना चाहती हैं।

मैंने इसका लाभ उठाकर उनकी चूत पर हाथ फेरना शुरू कर दिया।

उन्होंने अपनी चूत को पूरी तरह साफ किया, जिससे लगता था कि वे आज चुदवाने के लिए आई हैं।

धीरे-धीरे मैं हाथ चलाने लगा।

वह चिल्लाने लगीं, “आह… इस्स… उह…” जब मैंने उनकी चूत में उंगली डाली।

कमरा मादक आवाजों से गर्म होने लगा।

मैंने उनके सारे कपड़े धीरे-धीरे निकाल दिए।

सिर्फ ब्रा और पैंटी में ही रह गईं।

रेनू चाची की ब्रा पैंटी में अप्सरा दिखाई दी।

मैं उन्हें देखने लगा।

वह पूछने लगीं कि बस देखना है या कुछ करना भी है?

मैंने कहा कि खुद ही जो करना है करो।

मेरे सारे कपड़े उन्होंने एक झटके से निकाल दिए।

मैं पूरी तरह से नंगा हो गया।

मेरे लंड को हिलाने लगीं।

तो मैंने उन्हें मुँह में लंड लेने को कहा।

चाची विरोध करने लगीं।

Hot Chachi Hindi Sex Stories

थोड़ी देर नानुकर करने के बाद चाची ने लंड को अपने मुँह में लिया।

मैं आंखें बंद करके खुद को खुश होने लगा।

अब वह पूरी तरह से नंगी हो गई थी, क्योंकि मैंने उसके बाकी कपड़े भी उतार डाले।

हम दोनों 69 की जगह पर पहुंचे।

उनकी गुलाबी चूत पूरी तरह से साफ थी।

मैं अपनी जीभ से उनकी चूत को चोद रहा था।

उन्हें कामुक सिसकारियां आ रही थीं।

उनकी सांसें गर्म थीं।

उसने कहा, “बस अब मुझे चोद दो..।” मेरे पास अब सब्र नहीं है; डाल दो लंड अंदर..। जल्दी से लंड डालो।

वो तड़फने लगीं जब मैंने उनकी Xxx चूत पर लंड रगड़ना शुरू किया।

जल्दी डालो, वह गांड उठाते हुए कहती थीं।

मैंने उनकी चूत पर अपना लंड डालकर हल्का सा दवाब दिया, जिससे आधा लंड निकल गया।

आह रुक जाओ, वह चिल्लाने लगी। बाहर निकाल दें..। मैं बहुत दुखी हूँ।

उनके मुँह से निकला, “उई मां..।” मर गई यह बहुत बड़ा लंड है..। निकालो इसे..। उह..।

मैंने थोड़ा रुककर उनके बूब्स दबाने और उनके होंठों को चूमना शुरू किया।

इससे उन्हें कुछ राहत मिली।

थोड़ी देर बाद, मैंने पूरा लंड उसकी चूत में डाल दिया।

दर्द से परेशान होकर वो रोने लगीं। मुझसे भागने की कोशिश करने लगीं।

लेकिन मैंने उन्हें कसके जकड़ रखा था, इसलिए वे नहीं छूट पाईं।

उन्हें जोर से चिल्लाना पड़ा।

मैंने उनके होंठों को अपने होंठों से ढक लिया।

अब उनकी आवाज शांत हो गई।

मैं धीरे-धीरे अपने लंड को चूत में डालने लगा।

उसकी चूत पूरी तरह से कसी हुई थी, जिससे लगता था कि वह पहले भी चोदी गई थी।

थोड़ा आराम करने के बाद मैं झटके लगाने लगा।

अब वो मेरा साथ दे रही थीं, अपनी गांड उठा उठा कर।

उनकी मादक आवाज, “ऊंह… आह… और तेज… और तेज…” पूरे कमरे में फैल गई।

यह हमारी चुदाई की आवाज थी।

मैं उन्हें जितना जोर से चोदता, उतना तेज से वो चिल्लाती।

इस तरह बीस मिनट तक चली हमारी चुदाई, जिसमें मेरे लिंग ने चाची की चूत को भर दिया।

वह इस चुदाई में दो बार झड़ गईं।

Antarvasna Chachi Ki Chudai Kahani

जब मेरा निकलने लगा तो, मैंने पूछा: कहां निकालूँ?

उसने कहा कि अंदर आने दो, मैं सब देख लूंगी।

3-4 झटकों के बाद मैं उनकी चूत में ही अपना वीर्य छोड़ दिया।

मैं थक गया और उनके ऊपर लेट गया।

फिर मैंने अपना लंड निकालकर उनके मुँह में डाला।

उन्हें चूसकर लंड साफ कर दिया।

सेक्स करने के बाद चाची ने बताया कि उसके मन में बहुत दिनों से चूत चुदवाने की इच्छा थी, जो आज पूरी हो गई।

मैंने चाची की हवस को इस तरह शांत किया।

बाद में मैंने चाची की चूत एक बार और चोदी और एक बार गांड भी मारने की कोशिश की, लेकिन दोनों नहीं हुई।

पर अगली बार, मैंने पूरी तैयारी के साथ चाची की गांड चुदाई भी की।

उस दिन चाची को दो बार चोदने के बाद मैं उनसे अलग हो गया. जब वह उठने को हुई, तो मैं उनसे चला भी नहीं गया।

मैंने उन्हें गोदी में उठाया और उन्हें बाथरूम में ले गया, जहां मैं उन्हें नहलाया।

फिर उनके दर्द को कुछ राहत देने के लिए एक दर्द की गोली लाकर दी गई।

उनका कहना था कि आज शादी के बाद पहली बार असली चुदाई का आनंद मिला है।

ये कहानी भी पढ़े – शादी में मिली बीवी की फटी चुत। Hot Xxx Wife Ki Fati Chut

हम बाद में एक बार फिर मिले।

प्रियजनों, ये मेरी वास्तविक Xxx Desi Chachi Ki Chudai Kahani थी।

कमेंट में कृपया अपनी प्रतिक्रिया दें।

ताकि मैं अगली कहानी के लिए उत्साहित रहूँ, मुझे मेल करना न भूलें।

जल्द ही चाची की गांड चुदाई की कहानी भी प्रस्तुत करूँगा।

Related Posts

Leave a Comment