सोसाइटी की मदमस्त भाभी की चुदाई | Xxx Bhabhi Hindi Sex Story

Xxx Bhabhi Hindi Sex Story में पढ़ें, मैं हमारी सोसाइटी की एक प्यारी भाभी से प्यार करने लगा। उनकी भाव से मुझे लगता था वह कि सेट हो सकती है।

दोस्तो, मेरा नाम रंजीत है।

यह छह महीने पहले की Xxx Bhabhi Hindi Sex Story है।

राशि, मेरी भाभी का बदला हुआ नाम है।
भाभी बहुत सुंदर दिखते हैं। उनका वजन 32-30-34 है।
उनके पास भी एक पांच साल का बच्चा है।

यदि आप भी अपनी कहानी इस वेबसाइट पर पब्लिक करवाना चाहते हैं तो नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके अपने कहानी हम तक भेज सकते हैं, हम आपकी कहानी आपके जानकारी को गोपनीय रखते हुए अपनी वेबसाइट पर प्रकाशित करेंगे

कहानी भेजने के लिए यहां क्लिक करें ✅ कहानी भेजें

वे पहले अपने पति के साथ अहमदाबाद में रहती थीं, लेकिन कुछ महीने पहले हमारे समाज में आ गईं।
उनके पति को अपने काम के कारण ज्यादातर समय घर से बाहर रहना पड़ा।

Devar Bhabhi Ki Hindi Sex Stories

जब मैंने उन भाभी को देखा, तो मुझे लगा कि वे सुंदर हैं।
मुझे उनको चोदने का बहुत मन था।

इसलिए मैं उनके बारे में और अधिक जानने के लिए समय निकालने लगा और भाभी को फोन करने लगा।

वह एक दिन शाम को छत पर बैठी हुई थीं।
मैं भी फोन पर बात करने का नाटक करते हुए अपनी छत पर आ गया जब मैंने उनको देखा।

सोसाइटी की मदमस्त भाभी की चुदाई | Xxx Bhabhi Hindi Sex Story

मैं वहीं से उनका निरीक्षण करने लगा।
उन्हें देखते हुए मैं फोन पर बात करने का नाटक करता रहा।
अब वे भी मुझे थोड़ी देर में देख रहे थे।

उस दिन मैंने वहां से भाभी को थोड़ी देर लाइन मारी और फिर नीचे चला गया।

मैं भी अपनी छत से उनको दूसरे दिन शाम को देख रहा था।
भी वे मुझे देख रहे थे।

मैंने तुरंत उनको स्माइल दी।
उन्हें भी स्माइल थी।

बाद में वे नीचे चली गईं।
मैं सिर्फ यह सोचता रह गया कि मसला हल हो सकता है, बस कोई जुगाड़ फिट करनी पड़ेगी।

अगले दिन शाम को मैं उनके घर के बाहर खड़ा था और उनका निरीक्षण करता था।

वे मुझे देख रही थीं जब मैंने उनको मोबाइल का इशारा किया।

मैंने उनको मेरा नंबर लिखकर एक कागज दिया।
वे कागज की ओर देखा।

मैंने उस कागज को उनके घर के बाहर फेंक दिया और आगे बढ़ गया।

कुछ देर बाद, वह इधर-उधर देखती हुई आईं और कागज उठा कर अपने साथ ले गईं।
इस प्रकार मैंने उनका नंबर दिया।

Devar Bhabhi Antarvasna Sex Story

उस वक्त शाम करीब 7 बजे हो गई थी।
मैं भाभी से फोन करने की प्रतीक्षा करने लगा।
उस दिन फोन नहीं आया।

दूसरे दिन सुबह १० बजे हो गए।
उस समय मुझे एक नए नंबर से फोन आया।

जब मैंने फोन उठाया, सामने से एक चिल्लाहट आई।
मैंने इसलिए पूछा: जी कौन?
उन्हें अपना नाम बताया गया।

मैं उनसे पूछने लगा कि आपने नंबर क्यों दिया?
तो मैंने कहा, “भाभी जी, आपको पहली बार देखकर मैं आप पर फिदा हो गया हूँ!”

हम दोनों बहुत देर तक रसभरी बातें करते रहे।
उसने इतनी देर में मेरे साथ बातचीत करके बहुत प्रभावित हो गया।

इसे भी पढ़ें   चाचा की बेटी की चुत फाड़ी | Cousin Sister Sex Stories

मेरी उनसे बहुत देर तक बातचीत हुई।
हम दोनों की मानसिकता काफी खुली थी, इसलिए हम जल्द ही सेक्स की बात करने लगे।

एक दिन दोपहर हो गई, मेरे घर में कोई नहीं था; सब बाहर गए हुए थे।
भी, भाभी घर पर अकेली थीं।

सोसाइटी की मदमस्त भाभी की चुदाई | Xxx Bhabhi Hindi Sex Story

मुझे आपसे मिलना है, आप मेरे घर आओ, मैंने उनसे फोन किया। घर में कोई व्यक्ति नहीं है।
ठीक है, लेकिन कोई देख लेगा तो मुसीबत होगी, उन्होंने कहा।

मैंने उनसे कहा कि वे कुछ लेकर नहीं आते..। जब कोई कुछ पूछता है, तो बता देना कि माल देने गया है।
उन्हें यकीन आया।

उस समय लगभग ३ बजे थे। सड़क सुनसान थी और कोई दिखाई नहीं देता था।
भाभी चुपचाप मेरे घर पहुंचीं।

मैंने दरवाजा बंद करके उनका किस करना शुरू कर दिया।

साथ ही वे मेरे होंठों को काटते रहे।

दस मिनट तक बड़ी बेताबी से किस करने के बाद उन्होंने कहा कि घर में मेरा बच्चा सो रहा है। मैं दरवाजा बंद करके आया हूँ। मैं जल्दी जाना चाहिए।
मैंने कहा कि वे एक मिनट रुको।

मैंने अपनी भाभी को एक चॉकलेट दी और फिर से किस किया।
वे हंसते हुए चली गईं।

अब हम दोनों चुदाई का चान्स देख रहे थे।

दूसरे दिन शाम को उसने कहा कि मेरे घर आओ।
मैं सबसे बचकर भाभी के घर गया।

मुझे बैठने को कहा गया।
बैठ गया।

Bhabhi Mastram Hindi Sex Story

तुम चाय या कॉफी खाओगे, भाभी ने पूछा।
मैंने कहा, “कुछ नहीं, बस पानी पिला दो।”

मेरे लिए वे पानी लाए।
मैंने उनसे पूछा कि तुम्हारा बच्चा कहां है?
उनका कहना था कि वह ट्यूशन गया था।

हम दोनों ने दो मिनट तक ऐसे ही बात की, फिर मैंने उनका हाथ पकड़कर किस करने लगा।
वे मुझे भी चूम रहे थे।

मैं भाभी के दूध पर एक हाथ रखकर उसे दबाने लगा।
वे आह कर रहे थे।

और मेरे लंड पर उनका हाथ आने की कोशिश कर रहा था।
मेरे लौड़े को सहलाने में शायद कुछ हिचक रही थीं।

मैं उन्हें किस करते हुए उनकी चूत पर हाथ फेरने लगा।
भाभी ने कहा कि चलो बेडरूम में जाओ।

मैंने भाभी के सारे कपड़े उतार दिए जब मैं उनके बेडरूम में गया। साथ ही, वे मेरी शर्ट को उतारकर मेरी छाती पर किस करने लगे।

सोसाइटी की मदमस्त भाभी की चुदाई | Xxx Bhabhi Hindi Sex Story

मैं बार-बार उनके नंगे बूब्स दबा रहा था और उनका दूध चूस रहा था।

उसने पूछा, “खड़े रहकर ही सब करोगे क्या?”
मैंने उनके पूरे शरीर पर किस करने लगा जब मैंने उनको बेड पर लिटाया।

थोड़ी देर बाद भाभी मेरे ऊपर आकर मुझे किस करने लगीं।
वो मेरी छाती पर आ गईं और मेरी पैंट के पास सरकती हुईं।

भाभी ने मेरी आंखों से आंखें मिलाते हुए मेरी पैंट के हुक खोलने लगी।
हूक खोलने के बाद भाभी ने पैंट के दोनों हिस्से पकड़े और मेरी आंखों में ऐसे खोल दिए मानो बकरे की टांगें चीर रहे हों।

इसे भी पढ़ें   बगल वाली भाभी की जोरदार चुदाई करी 1 | Nangi Bhabhi Bangali Sex Kahani

उसकी इस कार्रवाई से पैंट की जिप खुल गई और मैंने अपनी फ्रेंची में फूले हुए लौड़े को एक झटके से फ्रेंची से बाहर निकाल दिया।

लंड एक नाग की तरह आसमान की ओर मुँह करके खड़ा हो गया।

भाभी ने मेरे लौड़े को सांप की गर्दन पकड़ने की तरह पकड़ा और उसे हिलाने लगीं।
उन्हें हाथ लगने से लंड की सख्ती बढ़ने लगी।

Sexy Bhabhi Xxx Stories

मेरे लंड को मुँह में लेकर भाभी ने सर झुकाकर चूसने लगा।
आह! मैं करंट सा महसूस किया।

वास्तव में, उनके मुँह की गर्मी ने मेरे लौड़े को परम सुख देना शुरू कर दिया था।
मैं बहुत खुश था।

वे अपनी नशीली आंखों से मेरी ओर देखते हुए अपने दांतों से लंड को खाते हुए मेरे लौड़े के गुलाबी टोपे को धीरे-धीरे जीभ से चाट रही थीं।

मैं अपने जीवन के उस क्षण को भूल पाना बहुत मुश्किल है; ये मेरे लिए अब तक का सबसे प्यारा समय था।
सेक्स कहानी लिखते समय भी मेरे लौड़े में हलचल होने लगी।

थोड़ी देर बाद भाभी मेरे लंड के ऊपर बैठ गईं और उसे अपनी चूत में लेने लगीं।

वह अपनी आंखें बंद करके लंड को धीरे-धीरे अंदर ले रही थीं, हालांकि उनको हल्का दर्द हो रहा था।

उस समय बार-बार उनके मुँह से निकल रहे थे, आह आह रुको न..। धीरे-धीरे, आप बहुत मोटे हैं..। आह.’

मेरा पूरा लंड उनकी चूत में लग गया।
पूरा लंड लेने के बाद भाभी लौड़े पर बैठकर अपनी चूचियां मसलने लगी।

मैं भी उन्हें अपनी ओर नीचे खींचने लगा, उनकी चूची पकड़कर।

भाभी ने मेरे होंठों से होंठ मिलाकर चूत में लंड डालने लगा।
फिर भाभी मेरे लंड को पीने लगीं जब उनकी चूत ने कुछ रस निकाला।

उसकी सुंदर चूचियां हिल रही थीं और वह अपनी चूचियों को मेरे मुँह में डालने की कोशिश कर रही थी।
मैं भी भाभी की मादक आह सुनकर नीचे से लौड़ा ठांसता और अपने मुँह में निप्पल खींचता।

ऐसे ही कुछ देर अपने लौड़े पर उछालने के बाद मैं उनके ऊपर आ गया।
मैंने उनके दोनों कंधों पर उनके पैरों को रखकर उनकी चूत में लंड डाला।

फिर मैंने उनके साथ इतनी तेजी से चुदाई की कि वे रोते हुए कहा, “आह आह मर गई मेरी फट आई आह..।” धीरे-धीरे चोदो..। चीखने लगीं।

मैं उनसे दस मिनट तक चुदाई करता रहा।
उनके पास कुछ दर्द था।

थोड़ी देर बाद, मेरी तेज चुदाई से मस्त भाभी Xxx मजा लेने लगी।
मैं स्पीड में उनको चोदता रहा।

भाभी ने लगभग पांच मिनट बाद अपनी चूत से पानी छोड़ दिया।
अब उनकी चूत से छूते पानी से पछ फछ की आवाज़ निकल रही थी।

मैं अभी भी उनको चोद रहा था।
फिर मैंने भाभी को डॉगी की तरह दिखने को कहा।
वे तुरंत कुतिया बन गए।

इसे भी पढ़ें   दिप्प्रेस्सेद भाभी को मैं थोड़े देर के लिए खुस कर दिया | Indian Hot Bhabhi Ki Chudai

मैंने पीछे से उनकी चूत में अपना लंड डालकर उनके बूब्स मसलते हुए चुदाई करने लगा।

Desi Bhabhi Hindi Xxx Story

मैंने भाभी को तेज गति से चुदाने लगा।

करीब पंद्रह मिनट बाद मैं गिरने वाला था।
इसलिए मैंने उनसे पूछा कि रस कहा डालूँ?
“मेरी चूत में ही निकाल दो,” भाभी ने कहा।

मैं सिर्फ उनकी चूत में गिर गया।
मैं उनके साथ एक मिनट तक चुदाई करता रहा और फिर उनके साथ लेट गया।

हम बोल रहे थे।

सोसाइटी की मदमस्त भाभी की चुदाई | Xxx Bhabhi Hindi Sex Story

“अर्जुन, आज तक मुझे ऐसा मज़ा नहीं मिला,” भाभी ने कहा।

जैसे ही मैं भाभी के मम्मों को चूसने लगा, मेरे लंड ने फिर से करंट पकड़ लिया।
मैंने भाभी को कहा कि मुझे तुम्हारी चुदाई और करनी है।

मैंने ये कहा और उनके जवाब का इंतजार करने के बजाय उनके ऊपर चढ़ गया।

थोड़ी देर बाद मैंने उनके पैर उठाए और उनसे गहरी चुदाई करने लगा।
इस बार दस मिनट की चुदाई के बाद उनकी चूत से पानी निकल गया।

मैंने उनसे कहा कि वे बेड पर खड़े रहें।
भाभी ने भी ऐसा किया।

मैं उनके पीछे से चुदाई करने लगा।
मैं उनकी गर्दन में किस कर रहा था और उनके दूध भी चूस रहा था।

ऐसे ही चुदाई करते हुए मैं झड़ गया और उनको पकड़कर बेड पर गिरकर सो गया।

थोड़ी देर बाद भाभी उठकर कहा कि मुझे बच्चे को ट्यूशन पर ले जाना है।
वे स्नान करने चली गईं।

मैं भी नहाने चला गया।
जब मैं नहाने आया, वो मेरे लिए शर्बत लेकर खड़ी थीं।

मैं शर्बत पीकर अपने घर चला गया।

फिर भाभी ने मुझे फोन किया।
“आज तो तुमने मुझे जन्नत की सैर करा दी,” वे कहने लगीं। आज तुमसे खुश हूँ।
अब जब भी मौका मिलता है, हम दोनों जमकर चुदाई करते हैं।

प्रिय, मेरी असली Xxx Bhabhi Hindi Sex Story आपको कैसी लगी? मुझे मेल करके बताएं।

Related Posts

Report this post

मैं रिया आपके कमेंट का इंतजार कर रही हूँ, कमेंट में स्टोरी कैसी लगी जरूर बताये।

Leave a Comment