पंजाबी दीदी की चुत सूज़ा दी। Punjabi Didi Xxx Sex Stories

Punjabi Didi Xxx Sex Stories चलती कार में मैंने हॉट बहन की गांड मारी! कार मेरी बहन की सहेली चला रही थी। उससे कुछ देर पहले, मैंने एक ढाबे के पास झाड़ियों के पीछे छिपकर दीदी की चूत का आनंद लिया था।

नमस्कार, मैं गगन हूँ और पटियाला का रहने वाला हूँ। यह मेरी Punjabi Didi Xxx Sex Stories है।
सेक्स कहानी पढ़ते पढ़ते आप अपना लंड और चूत सहलाने लगेंगे, मैं वादा करता हूँ।

आपने मेरी पिछली कहानी पड़ोस की सेक्सी लड़की से चुदाई का मज़्ज़ा लिया। Hot Xxx Desi Girl Ki Chudai

पढ़ी थी।

यदि आप भी अपनी कहानी इस वेबसाइट पर पब्लिक करवाना चाहते हैं तो नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके अपने कहानी हम तक भेज सकते हैं, हम आपकी कहानी आपके जानकारी को गोपनीय रखते हुए अपनी वेबसाइट पर प्रकाशित करेंगे

कहानी भेजने के लिए यहां क्लिक करें ✅ कहानी भेजें

मेरी दीदी का नाम रीना है और वह पंजाब के जालंधर में विवाहित हुई है।
वह 27 साल की है और मेरा जीजा विदेश में है।

Hot Sister Sexy Kahani

मैं 18 साल की उम्र से ही दीदी को चोदने का सपना देख रहा हूँ।
लेकिन मैं जानता था कि वह सपना अब पूरा होने वाला था। मैंने हॉट बहन की चूत और गांड मारी।

एक दिन, मम्मी और पापा ने हरिद्वार और ऋषिकेश जाना तय किया।
हम दो गाड़ी में जाने वाले थे।

मम्मी, पापा और भाई एक गाड़ी में थे, जबकि मैं, रीना दीदी और उसकी एक सहेली दूसरी गाड़ी में थे।

दीदी की सहेली कुसुम थी।
पहले मुझे दीदी को जालंधर ले जाना था, जो तीन घंटे लेगा।

जब मैं जाने लगा, मेरी माँ ने कहा कि मैं कुसुम को भी अपने साथ ले जाऊँगा। वह गाड़ी भी चला लेती है। उसका तुम्हारे साथ जाना उचित होगा अगर गाड़ी चलानी होगी।
मैंने दीदी की सहेली को अपने साथ लेकर चल दिया।

उस समय मैं गाड़ी चला रहा था और मेरे साथ मेरी दीदी की सहेली बैठी हुई थी।
हम लोग लगभग तीन घंटे में जालंधर पहुंच गए।

मैंने कार से उतर कर जानबूझकर दीदी की जांघ पर हाथ लगाया।
मेरा लौड़ा खड़ा हो गया, इतनी कदली जांघ को हाथ लगाकर।

उस समय मैं दीदी को यहीं पटक कर चोदना चाहता था।
मैंने किसी तरह नियंत्रण खोया।

मैं और दीदी की सहेली फिर दीदी के घर गए।

दीदी चाय बनाने लगी तो मैं और दीदी की सहेली सोफे पर बैठ गए।
जब मैं गाड़ी चला आया था, तो मैं पैर पसार कर बैठ गया।

मेरे पैर के पास दीदी की सहेली बैठ गई।
उस समय मेरी टांग दीदी की सहेली की गांड से मिलती-जुलती थी।

लात लगने के बाद मैं उठकर उसकी गांड को सहलाने के लिए अपना हाथ फेर कर उससे सॉरी कहने लगा।

मैंने अपना हाथ उसकी गांड से नहीं हटाया और कुछ भी नहीं कहा।

मैं सीधा बैठ गया और उसकी गांड पर हाथ रखा।

अब दीदी की सहेली भी जान गई कि मैं जानबूझकर उसकी गांड पर हाथ लगाया हूँ।
तो वह भी मुझे गर्म करने लगी।

मैंने दीदी की सहेली की गांड में उंगली चला दी जब उसने जानबूझकर अपना एक चूतड़ मेरी हथेली के ऊपर रख दिया।
उसकी गांड मेरी हथेली पर रगड़ने लगी, जो मुझे बहुत मजा आ रहा था।

बाद में दीदी चाय लेकर आई और हम सब चाय पीने लगे।
जब मैं चाय पी रहा था, दीदी ने मुझसे पूछा: तुम्हें कोई परेशानी तो नहीं हुई?
मैंने कहा, “नहीं दीदी, मुझे सिर्फ हल्की थकान हुई और कोई परेशानी नहीं हुई।”

फिर हम सब जाने के लिए तैयार हो गए।

इसे भी पढ़ें   माँ बेटी को बुरी तरह से चोदा | Hot Maa Beti Ki Hindi Sex Story

दीदी ने गाड़ी नहीं चला पाने के कारण अपनी सहेली से कहा, “कुसुम, अब तुम सारा रास्ते चलाओगी और मैं और गगन पीछे बैठेंगे।” गगन बहुत थक गया होगा।

अब गाड़ी मेरी दीदी की सहेली चला रही थी।
रीना दीदी और मैं पीछे बैठे हुए थे।

हम लोग आपस में बात करते हुए जा रहे थे और कुसुम गाड़ी अच्छी तरह चल रही थी।

मैंने धीरे-धीरे दीदी की जांघ पर हाथ रखकर इंतजार करने लगा कि क्या कहती है।
लेकिन उन्होंने कुछ नहीं कहा।

कुछ देर बाद मैं दीदी की गांड के नीचे अपनी दो उंगलियों से दबाने की कोशिश करने लगा।
पर असफल रहा।

फिर हम एक ढाबे पर खाना खाने के लिए रुके।
सवा घंटे बाद, हम सब वापस गाड़ी में जाने लगे और मैंने पहले सीट पर बैठकर उनकी बैठने की जगह पर एक हाथ रख दिया।

मेरा हाथ रीना दीदी की बड़ी गांड के नीचे दब गया जब वे अकेले बैठ गईं।
मेरा लंड सातवें आसमान पर था जब मैंने सोचा कि दीदी की मखमली गांड मेरी हथेली के ऊपर है।

Xxx Bahan Ki Chudai

वे अपनी गांड से मेरे हाथ को रगड़ने लगीं।
उससे पता चला कि दीदी भी चुदासी हैं।

रास्ते में मेरे हाथ में चोट लगी।
मैं बहुत खुश था।
जैसे दीदी मेरा हाथ अपनी गांड में डाल देना चाहती हो।

हवस ने मुझे बर्बाद कर दिया।

फिर मैं जल्दी से बाथरूम में चला गया जब हम सब पटियाला पहुंच गए।
मैं सुसू करने गया था, सबने समझा।

मैंने अंदर जाकर अपना लंड बाहर निकाला और बेहोश हो गया।
फिर मैं कपड़े बदलकर निकला।

तब हम आधा घंटे रुककर उत्तराखंड चले गए।

मम्मी और पापा की गाड़ी आगे थी, हम पीछे।

कुसुम गाड़ी चला रही थी।

मैं पीछे की सीट पर दीदी के पास था।
कुछ ही देर बाद मैं दीदी के पास गया और उनके कंधे पर सर रखकर सो गया।

क्या बताऊं दोस्तो, दीदी की मादक महक ने मुझे बहुत उत्तेजित कर दिया।
मैं जानबूझकर दीदी के ऊपर चढ़ गया, लगभग उनके ऊपर चढ़ गया।
जब उनका दूध मेरे हाथ में आया, मैंने उसे दबाया।

दीदी ने पूछा, “गगन, ये क्या कर रहा है?” सीधा बैठना चाहिए।
मैं डर गया और बैठ गया।

कुछ देर बाद मैं फिर से शुरू हुआ।
दीदी ने अपनी सहेली से कहा, “कुसुम, गाड़ी रोक दो।”

उस समय रात के ३ बजे हो गए थे।
वाहन में ही दीदी ने मुझे चार-पांच थप्पड़ मारे।

हवसी, मैं तेरी बहन हूँ, बोली वह।
मैं रोने लगा और कहा, “सॉरी दीदी, ऐसा मेरी नींद में हुआ..।” आगे यह नहीं होगा।

दीदी कुछ देर गुस्सा करने के बाद शांत हो गईं।

तब दीदी ने कुसुम से गाड़ी चलाने को कहा।

कुसुम का मन भी कुछ अलग था।
उसने गाड़ी आगे एक ढाबे पर रोक दी।

फिर हम सब उतर कर चाय पीने बैठ गए।

मैंने फिर से अपनी दीदी से माफी मांगी और उनसे दूर होकर बैठ गया।
लेकिन मन में दीदी की मदमस्त जवानी की महक थी।

थोड़ी देर बाद, मैं दीदी के सामने बैठकर मोबाइल पर पोर्न वीडियो देखने लगा।
मेरे साथ कुसुम बैठी थी।

दीदी गुस्सा होने लगी, भले ही आवाज धीमी थी।
दीदी ने कहा, “साले, सुधरा नहीं तू..।” मेरे साथ चलो। मैं तुम्हें बता दूंगा कि हवस क्या है, आदमी।

इसे भी पढ़ें   राखी बंधवाकर ट्रेन के बाथरूम में बहन को चोदा

जब मैं उनकी आंखों में देखा, तो वे उठ खड़ी हुईं और मुझे झाड़ियों में ले गईं।

उधर से कोई ढाबा नहीं दिखाई देता था।

वहां जाकर दीदी ने अपना बड़ा वाला दूध मेरे मुंह में डाला।
मैं सिर्फ देखता रह गया कि क्या हुआ।

तब उसने अपनी चूची को मेरे मुँह में डालते हुए कहा, “चूस भोसड़ी का दूध, साले कुत्ते, इनमें से भैन के लंड निकाल।”

उन्हें देखकर मैं उनका दूध पीने लगा।

दोस्तो, इतना नरम थन चूसने में बहुत मज़ा आया।
धीरे-धीरे दीदी ने मुझसे अपने दोनों दूध चुसवाए और चुदासी होने लगी।

मैंने पूछा, दीदी, क्या मुझे तुम्हारी चूत मारनी है?
लड़का, तुम्हें अपनी बहन की चूत चाहिए, दीदी ने फिर थप्पड़ मारा। ले कमीने चूत चाट मादरचोद करता है।

मैं जमीन पर गिर गया और उन्होंने अपनी लोअर पैंटी समेत मेरे मुंह पर अपनी चूत रख दी।
मैं दीदी की चूत में उंगली डालने लगा और उसे चाटने लगा।

शायद दीदी गर्म हो गई और वासना से भर गई।
अब मैं उनकी चूत को नियंत्रित कर सकता था।

जब वे अपनी कमर चलाते हुए मेरे मुँह से अपनी चूत चूसने में मस्त होने लगीं, तो वे बोलीं, “गगन, तू भोसड़ी की आह रगड़, मादरचोद, अपनी बहन की चूत चूसकर झाड़ दे।”
अब मैंने कहा, “साली रंडी” अब तुम्हें चूत चटवाने में बहुत मज़ा आ रहा है..। उसने फिर थप्पड़ मारा। अब बहन ने साली तड़प को देखा।

Punjabi Didi Ki Chudai Kahani

मैंने कहा और उनकी चूत छोड़ दी।
वे चुदाई करने लगीं।

चुदाई की खबर सुनते ही मैंने लौड़ा निकाला और उनको मार डाला।
वे अपनी टांगें खोलकर चूत उठाने लगे।

मैंने भी देर नहीं की और दीदी की चूत में एक झटके में पूरा लंड डाल दिया।
दीदी ने तुरंत लंड डाल दिया और चिल्लाने लगी, “आह मां के लौड़े”। धीरे-धीरे नहीं पेल सकता था साले!

मैंने दीदी को लगातार बीस मिनट तक चूत मारकर लौड़ा गांड में डाल दिया।

थोड़ी देर गांड मरवाने के बाद मैंने दीदी की गांड में लंड डालने का विचार किया, लेकिन उन्होंने गांड से लौड़ा निकालकर उसे चूसने लगा।

दो मिनट के बाद मैं झड़ गया और वीर्य से अपनी दीदी के मुँह पर फेशियल किया।
दीदी के मुँह पर अपना माल फेंक दिया।

हम तीनों लोग कुछ देर बाद गाड़ी में आ गए।
मेरा होश उड़ गया जब मैंने देखा कि दीदी की सहेली उनसे बोल रही थी: “मैंने तुम लोगों को चूत चुदाई करते हुए देखा है।”

दीदी ने पूछा, “कुसुम साली रंडी, तुम्हें क्या चाहिए?
मुझे भी चूत की सफाई करवानी है, वह हंसते हुए कहा।
दीदी ने कहा, “यह तो तुम्हें इस हरामी से कहना पड़ेगा।”

कुसुम ने कहा कि अगर तुम चाहते हो कि मैं अंकल आंटी से यह बात नहीं कहूँ तो तुम्हें मुझे और रीना को चोदना होगा।
मैंने कहा, “तो मैंने मना कब किया?” गाड़ी को एक तरफ लगा दें और हो जाएगा नहीं। दोनों रंडियों को अभी चोदे देता हूँ।

यह सुनते ही उसने कार को सड़क से उतार कर एक कच्चे रास्ते पर ले जाकर रोक दी, मेरी पैंट खोलकर लंड निकालकर चूसने लगी।
ताकि मैं जल्दी न झड़ जाऊं, उसने मेरे लंड की मुठ मार दी।

लंड लगातार चुसाई से फिर से खड़ा हो गया।

इसे भी पढ़ें   बड़ी बहन को ब्लू फिल्म देखते पकड़ा। Xxx Big Sister Hot Sex Story

फिर उसने कहा, “अब चोद!”
मैंने कहा, दोनों आ जाओ..। आज मैं तुम्हें और रीना दीदी को एक साथ चोदूंगा, साथ ही तुम दोनों को कुतिया बनाकर मस्त तरीके से चोदूंगा।

वे दोनों गाड़ी के बोनट से टिक कर खड़ी हो गईं।
जब मैंने पीछे से कुसुम की चूत में लंड डाला, तो वह कुतिया की तरह चिल्लाने लगी, “आह धीरे पेल गगन..।” साले पिछले कई दिनों से सेक्स नहीं किया है।”

कुछ देर बाद कुसुम खुशी-खुशी चुदने लगी।
मैंने दीदी की चूत में लौड़ा डाल दिया।

इस तरह, बीस मिनट में दो चूतों को एक लंड से चोदने का मजा लिया गया।

फिर हम गाड़ी में चले गए और गाना बजाया।
मैं दीदी की गांड को कपड़ों के ऊपर से सहला रहा था और गाड़ी अभी भी कुसुम से चल रही थी।

मैंने समझा कि बात फिर से गर्म हो गई है जब दीदी ने कुछ देर बाद लंड पकड़ लिया।
मैंने चलती गाड़ी में दीदी से कहा कि मुझे तुम्हारी गांड मारनी है।

दीदी को भी गांड मरवाना अच्छा लगता था।
चल आओ, वे कहती हैं।

Nonveg Story With Punjabi Sister

जब मैंने कपड़े उतारे और दीदी की गांड में लंड डाला, तो मुझे पता चला कि लंड लगातार उनकी गांड में जाता है।

जब मैंने पूछा तो उन्होंने मुझसे कहा, “तू गांड मार साले..।” मेरी गांड में किसके लौड़े जाते हैं, इस बारे में बहुत वैज्ञानिक मत बनो।

मैंने पूछा, किसका लौड़ा खाती है? पंजाब में रहने से तुम्हारी गांड बड़ी हो गई है। मैं नहीं जानता कि पंजाबी मुंडों का लौड़ा लेती है।

“साले कुत्ते, हर शाम सारा जालंधर मेरे ऊपर चढ़ता है,” बहन ने मुझे पीछे से थप्पड़ मारा। बस गांड मार!

फिर मैंने हॉट बहन की गांड मारी और उनके अंदर झड़ गया।

हम अलग-अलग बात करने लगे।

दीदी ने कहा कि अब तक कितनी बार चोद चुका है। लंड बहुत देर तक पेले रहता है।
कोई गिनती ही नहीं है, मैं हंसते हुए कहा। मेरे लौड़े से न जाने कितनी निकल गईं। आपको घर में चोदने का बड़ा मन था। दीदी, मैं भी अभी मम्मी को चोदना चाहता हूँ।
दीदी ने कहा कि अब मम्मी को छोड़ दें।

ये कहानी भी पढ़े – नींद की गोली देकर मॉम को चोदा। Step Mother Xxx Kahani

कुसुम को फिर से चुदने का मन हुआ।
उसने चुदाई की मांग की।

तो दीदी ने कहा कि गाड़ी को फिर से नहीं रोकना चाहिए..। हरिद्वार में होटल में रुकेंगे, वहीं कर लेना।
इस पर कुसुम ने कहा: ठीक है।
मैंने भी कहा: ठीक है।

यही कारण है कि मैंने अपनी Punjabi Didi Xxx Sex Stories
आपको यह सेक्स कहानी कैसी लगी?

Related Posts

Report this post

मैं रिया आपके कमेंट का इंतजार कर रही हूँ, कमेंट में स्टोरी कैसी लगी जरूर बताये।

Leave a Comment