पापा को जन्नत की सैर करवाई

मुझे जन्म देते ही मम्मी चल बसी थी। फिर पापा ने दूसरी शादी नहीं की थी। उन्होंने मुझे अकेले ही बड़ा किया और पढ़ाया लिखाया। मैं अपनी मम्मी जैसी दिखती हूँ तो वो मुझे हमेशा कहते थे मुझे तुममे तुम्हारी माँ की झलक दिखाई देती है। फिर ऐसे ही टाइम बीतता गया और फिर मेरी शादी हो गई। शादी के बाद मुझे काफी सेक्सी मिजाज वाले पति मिले। जिस कारण मैं भी काफी सेक्सी हो गई और मेरी सारी शर्म भी कुछ हद तक चली गई। मैं पति के दोस्तों के सामने बिकीनी में रह लेती थी और पति के कहने पर किसी पब्लिक प्लेस पर भी मैं उनके साथ सेक्स करने के लिए तैयार थी।
मैं और पति इंटरनेट पर काफी पॉर्न विडिओ देखते और सेक्स कहानियाँ पढ़ते और फिर अलग अलग तरीकों से सेक्स के मजे लेते थे। फिर एक दिन मैंने बाप और बेटी की चुदाई कहानी पढ़ी। पहले तो मुझे विश्वास नहीं हुआ लेकिन फिर मुझे थोड़ा थोड़ा यकीन होने लगा। फिर मैं सोचने लगी के मेरे पापा मम्मी के जाने के बाद काफी सालों से अकेले ही रहे है। क्यों न उनकी जिंदगी को रंगीन बनाया जाए। फिर पति कुछ काम के लिए विदेश जाने वाले थे तो मुझे ये मौका मिल गया। फिर उनके जाने के बाद मैं पापा के पास जाकर रहने लगी।
फिर मैंने पापा से कहा के आप मुझे कहते थे मुझमे आपको मम्मी की झलक दिखाई देती है तो आज से मैं आपकी बीवी बनकर रहूँगी। ये सुनकर पापा हंसने लगे और बोले के ठीक है। फिर मैं उनसे चिपक कर ही रहने लगी। मैं एक दम उनकी बीवी की तरह ही बनकर रहने लगी और उनके साथ ही सोने लगी। फिर मैं मजाक मे उनके गालों पर किस कर देती है और उन्हे ऐ जी ओ जी ही कहकर बुलाने लगी। ताकि उन्हे लगे के मैं उनकी बीवी ही हूँ। फिर कुछ दिनों तक ऐसा ही चलता रहा।
फिर मैंने सोचा के अब और कुछ नया किया जाए। फिर मैंने धीरे धीरे सेक्सी कपड़े पहनने शुरू कर दिए। फिर दिन में और रात में मैं सिर्फ एक नाइटी में ही रहने लगी और वो नाइटी ऐसी थी की उसमें से मेरे बोबे दिखते थे और पीछे से भी मेरी पीठ आधी नंगी होती थी और नीचे से नाइटी मेरे घुटनों से ऊपर तक की आती थी। मैं नाइटी के नीचे कुछ नहीं पहनती थी। जिस कारण मेरे बूब नीचे झुकने पर नाइटी से बाहर आते रहते थे। फिर पापा का ध्यान मेरे बूब पर ही रहने लगा। फिर पापा भी मुझसे चिपक कर रहने लगे।
फिर मैंने पापा से मुझे डिनर पर ले जाने को कहा तो पापा मुझे डिनर पर ले गए। फिर रात को भी पापा मुझसे चिपक कर सोने लगे। फिर एक रात मेरा मुँह पापा की तरह ही था तो पापा ने अपना मुँह मेरे दोनों बोबो की बीच डाल लिया और फिर मैंने भी उनके सिर को पकड़कर अपनी छाती में घुसाने लगी। फिर पापा ने अपना मुँह मेरी छाती से निकाला और मेरे होंठों पर अपने होंठ रख दिए और फिर लिप किस कर दिया। फिर पापा ने एक हाथ से मेरे बोबे सहलाने लगे और फिर कुछ देर तक ऐसे करने के बाद वो मुझसे दूर होकर सो गए और फिर मुझे भी नींद आ गई।
फिर जब सुबह हम उठे तो पापा मुझसे नजरे नहीं मिला पा रहे थे। ये देखकर मैं मुसकुराते हुए उनके गले लग गई और फिर उन्होंने भी मुझे अपनी बाहों मे भर लिया। फिर वो मेरी गर्दन पर किस करने लगे और मैं भी उनका साथ देने लगी। हम काफी देर तक एक दूसरे के गले लगे रहे। फिर उस दिन के बाद पापा का जब मन करता मुझे बाहों मे भर लेते और मेरी गालों पर किस भी कर देते। फिर मैं रोज ही पापा का मनपसंद खाना बनाती और उन्हे ज्यादा से खुश रखती। फिर जब मैं किचन में होती तो पापा मुझे पीछे से आकर पकड़ लेते और फिर मुझे अपनी बाहों मे ले लेते। अब हमारे बीच पति पत्नी जैसा रिश्ता लगने लगा था और पापा ने भी मुझे अपनी बीवी मानना शुरू कर दिया था।
एक दिन हम शॉपिंग पर गए तो मैंने एक सारी पहनी और मेकअप वगेरह किया और फिर हम एक दूसरे की बाँहों में बाहें डालकर चलने लगे। फिर हमने पहले पापा के लिए कपड़े लिए। जिसमें उनके लिए टी-शर्ट, हाफ पैंट और भी काफी कुछ लिया। फिर पापा के लिए अंडरवियर लेने गए तो पापा ने पहले के जैसे ही एक पुराने स्टाइल का अंडरवियर ले लिया। फिर मैंने कहा के ये क्या लिया। फिर मैंने दुकानदार से नए स्टाइल वाला अंडरवियर देने के लिए कहा तो उसने वो अंडरवियर दे दिए। वो अंडरवियर ऐसे होते है जो की सिर्फ मर्द के लंड को ही कवर करते है। जिसे थॉंग बोलते है। फिर वैसे कई डिजाइन के अंडरवियर लिए। फिर पापा की सब शॉपिंग हो गई तो फिर मैं मेरी शॉपिंग करने लगी।
फिर मैं पापा को लेडिज की इनर वियर की शॉप में ले गई। जहां चारों तरह ब्रा पैंटी, नाइटी टंगी हुई थी। ये सब देखकर पापा देखते ही रह गए। फिर मैंने पापा को अपना साइज बताया ताकि कोई पूछे तो पापा बता दे। क्योंकि अब मैं और पापा बाप बेटी नही बल्कि पति पत्नी थे। फिर मैंने सेल्समैन से लिंजरी दिखाने के लिए बोला तो उसने कई प्रकार की सेक्सी लिंजरी हमारे सामने रख दी। फिर मैं उनमें से सेलेक्ट करने लगी। फिर सेल्समैन ने मुझसे कहा के अगर आपको और ज्यादा लिंजरी देखनी हैं तो आप उधर जाकर देख सकती हैं। फिर मैं उठकर उसकी बताई हुई जगह पर चली गई। जाते जाते मैंने पापा से कहा के आप मेरे लिए ब्रा पैंटी सेलेक्ट करो मैं आती हूँ तब तक। फिर सेल्समैन ने पापा से मेरा साइज पूछा तो पापा ने मेरा साइज बता दिया। पापा के मुंह से मेरा साइज सुनकर मैं मुस्कुराने लगी। फिर कुछ देर बाद मैं कई लिंजरी चुनकर लाई और लाकर पापा के सामने रख दी। पापा मेरी लिंजरी देखने लगे। फिर मैंने पापा से पूछा के आपने मेरे किये कौनसी ब्रा पैंटी सेलेक्ट की हैं तो फिर पापा बोले के तुम देख लो तुम्हे कौनसी पसंद हैं। फिर मैंने कई तरह की ब्रा पैंटी सेलेक्ट कर ली। इसके बाद मैंने कई नाइटी ली और परफ्यूम लिया, मेकअप का सामान लिया। हमने काफी सामान ले लिया था तो फिर एक सेल्समैन वो सब सामान हमारी कार तक छोड़ने आया और मैं और पापा एक दूसरे की बाहों में बाहें डालकर कार तक जाने लगे।
फिर उस दिन पापा ने पहली बार मेरी कमर में हाथ डाला और फिर हम ऐसे ही खड़े रहे। फिर उसने सारा सामान कार में रख दिया तो फिर हम घर जाने लगे। फिर मैं पापा से बातें करने लगी तो फिर हम सामान्य बातें करने लगे। फिर घर पहुंचकर मैंने सब सामान अलमारी में रख दिया। फिर मैंने पापा के लिए चाय बनाई और फिर मैं और पापा एक साथ बैठकर एक दुसरे की कमर में हाथ डालकर बैठ गए और फिर चाय पीने लगे। चाय पीने के बाद मैं पापा की गोद में बैठ गई और पापा से मस्ती करने लगी और पापा भी मेरा साथ देने लगे। फिर मैं खड़ी होने लगी तो पापा की गाल पर किस किया और फिर पापा के होंठों पर भी एक किस कर दिया और फिर मैं खाना बनाने चली गई।
फिर मुझे याद आया कि कुछ दिन पापा और मम्मी की शादी की सालगिरह आने वाली थी। तो मैंने उस दिन पापा से सेक्स करने का प्लान बनाया। फिर खाना बनाने के बाद मैंने पापा को अपने हाथों से खाना खिलाया और फिर हम सोने चले गए। सोते टाइम मैं पापा की तरफ पीठ करके सो गई तो पापा मुझसे चिपक कर सो गए। फिर उस रात मुझे एहसास हुआ के पापा का लंड खड़ा था और पापा मेरी गाँड में अपना लंड रगड़ रहे थे। फिर पापा ने एक हाथ मेरे बूब पर रख दिया और सहलाने लगे। अब पापा भी रोमांटिक होने लगे थे और दिन में मुझसे चिपके ही रहने लगे थे। फिर पापा से मैंने मुझे मम्मी के नाम से ही बुलाने को कहा तो फिर पापा मुझे मम्मी का नाम लेकर बुलाने लगे और मैं भी पापा को जवाब देती। इस तरह हम दोनों में हमारे पति पत्नी का रिश्ता काफी गहरा होता जा रहा था। फिर मैंने पापा को बोला के कुछ दिन हमारी यानी मम्मी और आपकी शादी की सालगिरह पर एक स्पेशल गिफ्ट देने वाली हूँ तो आप तैयार रहना। फिर पापा पूछने लगे के क्या देने वाली हो। फिर मैंने कहा के वो तो उस दिन ही पता चलेगा।
फिर मैं पापा के सामने शार्ट नाइटी पहनने लगी। ताकि पापा को मेरे गिफ्ट का हिंट दे सकू। पापा भी अब काफी खुल गए थे और मुझे पकड़कर मेरी गालों पर किस कर देते थे। फिर एक बार उनसे रहा नहीं गया तो उन्होंने मुझसे एक लांग किस किया। फिर उनका मन करता वो तब ही मुझसे लिप किस करने लग जाते और साथ मे मेरे बोबे सहलाने लग जाते। इस तरह शादी की सालगिरह वाले दिन तक पापा एक दम तैयार हो गए थे।
फिर अगले दिन शादी की सालगिरह थी तो पापा उससे पिछली रात पापा मुझसे किस करने लगे और मेरे बोबे सहलाने लगे। फिर पापा ने अपना हाथ मेरी चुत पर रख दिया और चुत सहलाने लगे। हम दोनों ही काफी गर्म हो गए थे। फिर किसी तरह मैंने खुद पर कंट्रोल किया और पापा से कहा के आप।प्लीज आज कुछ मत करना। मैं आपकी ही हूँ। आप कल चाहे जो कर लेना पर आज कुछ मत करना। मैं अपने आपको कल आपको सौंप दूँगी। फिर आप चाहे जो कर लेना। मेरा सब कुछ आपका ही हैं। फिर पापा ने भी खुद पर कंट्रोल किया। तब पापा मेरे ऊपर थे। तब मैंने ऐसी नाइटी पहन रखी थी जिसमे से मेरे आधे से ज्यादा बूब बाहर निकले हुए थे। ये देखकर पापा काफी गर्म हो गए थे। फिर वो मेरे ऊपर से उठे और फिर अपनी पेंट की जिप खोलकर अपना लंड बाहर निकाला और जोर जोर से हिलाने लगे। तब अंधेरा था लेकिन तब भी मुझे पापा का लंड थोड़ा थोड़ा दिख रहा था। फिर पापा झड़ने लगे तो पापा ने सारा पानी मुझ पर डाल दिया और फिर लंड अंदर डालकर सो गए। फिर मैं भी पापा से चिपक कर सो गई। फिर सुबह मैं जल्दी उठी और पापा को चाय बनाकर दी और फिर पापा से जल्दी से तैयार होने के लिए कहा। क्योंकि हम मंदिर जाने वाले थे। फिर पहले पापा नहाकर आ गए और फिर मैं नहाने गई। फिर मैं जानबूझकर नहाने के बाद सिर्फ ब्रा पैंटी में पापा के सामने चली गई और फिर साड़ी पहनने लगी। तब पापा ने मुझे अपनी बाहों में लिया और मुझसे किस करने लगे।
फिर किस करने के बाद मैंने साड़ी पहनी और फिर मैंने मम्मी का मंगलसूत्र ले लिया और फिर हम मंदिर चले गए। मंदिर जाकर हमने पूजा की और फिर हम पंडित के पास गए और मैंने पंडित को बताया के आज हमारी शादी की सालगिरह हैं तो फिर पंडित ने हम दोनों को आशीर्वाद दिया और फिर मैंने पापा को मम्मी का मंगलसूत्र दिया तो पापा ने मुझे अपने हाथों से वो मंगलसूत्र पहना दिया। फिर पापा ने पूजा की थाली से सिंदूर लेकर मेरी मांग में भर दिया। अब हम पति पत्नी बन गए थे। फिर हम घर वापिस आने लगे तो पापा कार रोक कर एक मेडिकल पर गए और कंडोम और वियाग्रा लेकर आये। फिर मैंने पापा से पूछा के क्या लेकर आये हो तो फिर वो बोले के कुछ नहीं। फिर हम घर आ गए और घर आते ही पापा ने मुझे अपनी बाहों में ले लिया और लिप किस करने लगे। फिर मैं बोली के मैं ड्रेस चेंज करके आती हूँ। फिर मैंने पापा के सामने ही अलमारी से एक ब्रा पैंटी निकाली और फिर चेंज करने चली गई। फिर मैं चेंज करके आई तो पापा मुझे देखते ही रह गए। फिर पापा ने मुझे अपनी बाहों में भर लिया और मेरे बोबे दबाने लगे। फिर पापा मेरे बोबे बाहर निकालकर चुसने लगे।
फिर इसके बाद मैंने पापा की पेंट खोली और उनके खड़े लंड को और खड़ा करने लगी। जब पापा का लंड पूरा खड़ा हो गया तो पापा मेरे ऊपर आ गए और मेरी चुत में लंड डालकर करने लगे और साथ में मेरे पूरे बदन को सहलाने लगे। फिर मैं घोड़ी बन गई तो पापा ने मुझे पीछे से भी चोदा। फिर पापा झड़ गए तो पापा का फिर से जल्दी ही खड़ा हो गया और पापा मुझे फिर से चोदने लगे। इस प्रकार पापा ने मुझे 5 से 6 बार चोदा। फिर पापा बोले के तुम बहुत सेक्सी हो। हमें भूख लग गई थी तो फिर मैं नंगी ही किचन में जाकर खाना बनाने लगी तो पापा ने फिर से अपना लंड मेरी गाँड में डालकर खड़े हो गए और मेरे पीछे अजब ही खड़े रहे। फिर हमने खाना खाया तब भी पापा ने मुझे अपने लंड पर बैठाए रखा। फिर खाना खाने के बाद पापा ने मुझे वहीं सोफे पर चोदना शुरू कर दिया और अलग अलग पोज में चोदते रहे। मैंने भी पापा का पूरा साथ दिया और पापा को जन्नत की सैर करवाई।
फिर आगे के कुछ दिनों तक हमारी चुदाई ऐसे ही चलती रही। पति को कई महीने और लगने वाले थे आने में तो तब तक पापा ने मुझे पता नहीं कितनी बार चोदा। चुदाई से मेरे बोबे और गाँड काफी बड़े बड़े हो गए थे। मैंने भी बहुत मजे लिए। फिर जब पति आये तो वो मुझे देखते ही रह गए। फिर उन्होंने भी मुझे कई बार चोदा। फिर एक बार उनका फोन अनलॉक रह गया और मैंने उनके फोन में उनकी फ़ोटो देखी जिसमे वो उनकी आफिस की किसी लड़की के साथ थे। फिर जब मैंने उनसे इस बारे में पूछा तो वो काफी घबरा गए और बोले के वो उनकी दोस्त की पत्नी हैं जो कि उन्हें बहुत पसंद करती हैं तो फिर वो दोनों अकेले थे तो उन्होंने कर लिया। फिर वो बोले के लेकिन मैं उससे प्यार नहीं करता। फिर मैं बोली के मुझे भी तुम्हारा दोस्त बहुत पसंद हैं। मैं उससे कर लूँ तो तुम्हे कोई दिक्कत तो नहीं होगी। फिर ये सुनकर पति काफी खुश हुए और बोले के तुमने तो मेरी दिल की बात कह दी। फिर मैं बोली के क्या मतलब। फिर पति बोले के मेरा दोस्त कह रहा था के भाभी बहुत मस्त हैं तो चुदवादे किसी दिन। तभी उसने अपनी वाइफ को मुझसे करने दिया। फिर मैं बोली के तो बुला लो उन्हें किसी दिन।
फिर पति बोले के कल ही बुला लेता हूँ। फिर सच मे कल ही उनके दोस्त और वाइफ आ गए। फिर हम सब ने मिलकर चुदाई की और बहुत मजे किये। फिर दो दिन बाद वो चले गए तो फिर मैंने पति को पापा वाली बात बताई तो उन्हें बिल्कुल भी यकीन नहीं हुआ। फिर मैंने उन्हें पापा के साथ अपनी नंगी फ़ोटो और वीडियो दिखाई तो उन्हें यकीन आया। फिर मैंने उन्हें सब बात बताई तो उन्होंने कुछ नहीं कहा के तुमने बिल्कुल ठीक किया। उन्होंने अपनी सारी जिंदगी अकेले ही काटी हैं। फिर मैंने कहा के यही सोचकर मैंने उनसे किया। फिर हमने पापा को अपने पास बुलाया और उन्हें सब बताया के मैंने सब बात पति को बता दी हैं और उन्हें इससे कोई ऐतराज नहीं हैं। लेकिन फिर भी पापा काफी शर्मा रहे थे। फिर पति के सामने मैंने उनसे चुदकर उनकी सारी शर्म दूर कर दी। फिर मैं पापा और पति से एक साथ चुदवाने लगी। फिर हमने पति के दोस्त और उसकी वाइफ को भी ये बात बताई तो उन्हें भी बिल्कुल यकीन नहीं हुआ तो फिर हमने उन्हें बुलाया। फिर मैंने और पति ने पापा को भी उनके दोस्त और उसकी वाइफ के बारे में बताया तो पापा को भी कोई ऐतराज नहीं था के मेरे पति के दोस्त के साथ चुदवाने से।
फिर जब अगले दिन पति के दोस्त और उसकी वाइफ आ गए। फिर उनके सामने जब मैंने पापा से चुदवाया तो वो देखते ही रह गए। हम दोनों की बाप बेटी की चुदाई देखकर वो सब गरम हो गए। फिर ये देखकर पति के दोस्त की वाइफ का पापा से चुदवाने का मन हुआ तो फिर वो पापा से चुदवाने लगी और मुझे पति और उनका दोस्त चोदने लगा। फिर हमारी चुदाई काफी देर तक चलती रही। हम सब काफी खुश थे। फिर पति के दोस्त ने मुझे पापा साथ भी मिलकर चोदा। एक बेटी को उसके बाप के साथ मिलकर चोदने में एक अलग ही मजा आया था। फिर उन तीनों मर्दों ने मुझे और पति की दोस्त की वाइफ को एक साथ चोदा। इसी तरह हम कई दिनों तक करते रहे और खूब मजे लूटे। इस तरह मैंने पापा से मेरी और पति के दोस्त की वाइफ की चुदाई करवाई। जिससे उन्हे भी बहुत मजा आया।

Related Posts

इसे भी पढ़ें   ठरकी पापा की ख़ूबसूरत बेटी - 2
Report this post

मैं रिया आपके कमेंट का इंतजार कर रही हूँ, कमेंट में स्टोरी कैसी लगी जरूर बताये।

Leave a Comment