मम्मी और मौसी 

हेल्लो दोस्तों कैसे हे आप सब…दोस्तों ख़ासकर आपके लिए मेरी कहानी लेकर आया हूँ.. आशा करता हूँ की आप लोगो को मेरी कहानी पसंद आएगी।
अब कहानी सुरू करता हूँ बात उन दीनो की है जब मेरी मौसी सहारनपुर से आई थी जो मेरी मम्मी से छोटी थी यानी की उनकी उम्र 35 के करीब थी और 3 बच्चे थे उनके बच्चे भी साथ आये थे. उनकी शादी 18 साल पहले हुई थी और उनके पति सरकारी जॉब करते थे और सपना मौसी अपनी फिगर का बहुत ख्याल रखती थी. एक तो उनका रंग गोरा था और गाल भी हमेशा गुलाबी रहते थे. चूची बहुत ज़्यादा बड़ी नही थी पर हां उनकी गांड बहुत मस्त थी. जब वो चलती थी तब मेरा ध्यान अक्सर ही उनकी गांड पर अटक जाता था और वो साड़ी ही पहना करती थी. कसम से साड़ी मे वो बिल्कुल क़यामत लगती थी.

उनका साडी बाँधने का स्टाइल भी नया था वो नाभि के काफ़ी नीचे साडी बाँधती थी और हमेशा हाफ डीप कट ब्लाउस पहना करती थी. जिससे की जब भी वो झुकती थी तो उनके बोब्स का नज़ारा मैं बहुत आराम से ले लिया करता था और अपनी मम्मी और बुआ यहाँ तक की कई बार बहन की चुदाई करने के बाद मैं बहुत ही चुदकड़ हो चुका था (दोस्तों इनके बारे मे फिर कभी बताऊंगा ) मैने एक रात मम्मी को चोदते हुए जब मौसी की तारीफ की तब मम्मी ने कहा साहिल माँदरचोद मुझे पहले ही पता चल गया था की तू मेरी बहन को बिना चोदे नही छोड़ेगा क्यूंकी मैं तुझे उसके बोब्स मे झाकते हुए कई बार देख चुकी हूँ और तू जब भी उसके कुल्हे की तरफ देखता था

तब मैं समझ जाती थी की तू साला बहनचोद अब अपनी मौसी की गांड भी माँरेगा और वो छिनाल भी ब्लाउस भी ऐसा ही पहना करती है की सारी चूची बाहर लटकती रहती है.. रंडी उपर का हुक भी नही लगाती है.. कई बार तो तेरे पिता जी भी मुझ से उसको सही से कपड़े पहने को कह दिए है वो बोले थे की समझा लो मेरी साली को वरना बाद मे ना कहना की मैने चूची दबा दी और मैं हंस कर टाल जाती थी अब आज तू भी अपनी मौसी को चोदने को कह रहा है तू भी साला बहुत हरामी हो गया है…

मेरी मम्मी को चुदवाते वक़्त गालियों से बात करना बहुत अच्छा लगता है तब ही मैं जो इतनी देर से मम्मी की बकबक सुने जा रहा था उनकी बड़ी…बड़ी चूची को दबाते हुए बोला की तो साली हर्ज़ ही क्या है अगर अपनी बहन को मेरा लंड खिला देगी उसको तो मज़ा ही आ जाएगा जब तुझे मज़ा आता है तब वो तो तुझसे छोटी ही है और मौसा जी भी बाहर ही ज़्यादा रहते है उसकी चूत भी प्यासी ही रहती होगी.. कसम से जब मेरा लंड उसकी टाइट चूत मे जाएगा तब बहुत मज़ा आएगा मम्मी एक बार चुदवा दो ना… तब मम्मी ने कहा अच्छा अच्छा अब अभी तो मेरी चुदाई कर बाद मे बताती हूँ तुझको और उसके बाद मैने मम्मी की चूत को चाट कर उनकी चूत मे बहुत ही जोरदार ढंग से अपनी पूरा 9″ का लंड घुसा कर बहुत बेरहमी से डाला था. आज थोड़ी देर बाद ही मम्मी की चूत ने पानी छोड़ दिया और फिर मैने एक बार पलट कर उनकी गांड माँरी जिससे मेरी माँ बहुत ही थक गयी और फिर हम दोनों सो गये।

यदि आप भी अपनी कहानी इस वेबसाइट पर पब्लिक करवाना चाहते हैं तो नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके अपने कहानी हम तक भेज सकते हैं, हम आपकी कहानी आपके जानकारी को गोपनीय रखते हुए अपनी वेबसाइट पर प्रकाशित करेंगे

कहानी भेजने के लिए यहां क्लिक करें ✅ कहानी भेजें

दूसरे दिन जब मैं नहा रहा था तब मैने मम्मी की आवाज़ सुनी वो सपना मौसी से कह रही थी सपना तुम कुछ उदास सी लग रही हो क्या बात है मौसी ने कहा कुछ नही दीदी बस तोड़ा थक गयी हूँ… इसीलिए पर मम्मी ने कहा नही कुछ तो बात है मुझे बताओ मैं तुम्हारी हेल्प करूँगी.. तब तक मैं भी बाथरूम से बाहर निकल आया था और मौसी कुछ कहने ही जा रही थी पर मुझे देखकर फिर से चुप हो गयी. तब मैं अपने रूम मे चला गया और दरवाजा बंद करके कान इधर ही लगा दिए. फिर मौसी ने बोलना सुरू किया क्या बताऊ दीदी आजकल मेरी लाइफ मे बहुत प्रॉब्लम है उनको लेकर… तब माँ ने कहा खुल कर बताओ क्या बात है.. तब मौसी ने कहा दीदी आजकल रिंकू के पापा मुझ पर बिल्कुल भी ध्यान नही दे रहे जबकि शादी के बाद से अभी 4 साल पहले तक तो वो मेरे साथ लगभग रोज़ ही सोते थे…

इसे भी पढ़ें   बहन की सहेली ने लिया चुदाई का मजा

तब माँ ने कहा अच्छा और खाली सोने से ही 3 बच्चे पैदा हो गये? मम्मी की बात सुनकर मौसी को हंसी आ गयी और मुझे भी अपनी छिनाल माँ की बात पर बहुत हंसी आई. फिर माँ ने कहा मैं तेरी प्रोबलम… समझ गयी तू यही कहना चाहती है की अब आनंद तेरी ठीक तरह से चुदाई नही करता पर इसमे परेशान होने की कोई बात नही वो भी तो तुम सबके लिए ही कमा रहा है ना अब सारा वक़्त तेरी चूत के चक्कर मे खराब तो नही कर सकता ना.. मौसी ने कहा पर दीदी अब तो हफ्तों हो जाते है उन्हे संभोग करे.. तब मम्मी ने कहा संभोग……? ये किस चीज़ का नाम है अरे मेरी नादान बन्नो इसे चुदाई कहते है और अब 3….3बच्चे बाहर आने के बाद भी तू तो ऐसे शरमाती है जैसे कुवारी कली हो चल कोई बात नही आज में तेरी प्यास बुझवा दूँगी…

तब मौसी ने कहा पता है तुम क्या बताओगी दीदी यही ना की मैं अपनी चूत मे मोमबत्ती या कोई बैगन डालू.. तब मम्मी ने कहा की पहले तो तू अपनी ज़बान सही कर ऐसे ऐसे वर्ड बोलती है जो समझ मे ही नही आते है और मैं तेरी चूत मे मोमबत्ती नही डलवाउंगी बल्कि पूरा 9″ का मोटा ताज़ा लंड डलवाउंगी आज तुझे और मम्मी की बात सुन कर मैं बहुत खुश हो गया और मैं आज रात को मौसी की चूत मारने के बारे मे सोचने लगा और थोड़ी देर बाद ही मैने सुना की मम्मी कह रही थी की देख सपना मैं तुझे चुदवा तो दूँगी पर एक शर्त है मौसी बोली क्या दीदी? तुझे चूत और लंड की बाते खुल कर करनी होंगी किसी बाज़ारू रंडी की तरह…

तब मौसी ने कहा की ठीक है पर आप मुझे चुदवाओगी किससे तब मम्मी ने कहा वो रात को ही पता लग जाएगा और जैसे तैसे दिन कटने के बाद रात आई और सबके सोने के बाद मम्मी मेरे रूम मे आई और मेरे होंठ पर किस करते हुए बोली चल मेरे चोदु राजा आज अपनी मौसी की चूत का टेस्ट भी कर ले.. एसी माँ कभी नही देखी होगी की खुद भी चुदवाय और अपनी बहन को भी चुदवाय.. तब मैने कहा की मम्मी मौसी को बता दिया की उसकी चूत कौन मारेगा ? बेटा अभी नही बताया है अब तू जब चलेगा तब खुद ही देख लेगी।

तब मैने कहा की उसको बुरा तो नही लगेगा? तब मम्मी बोली अरे बुरा कैसे मानेगी साली की चूत मे चुदाई के कीड़े काट रहे है और जब कोई औरत एक बार चुदवाने को सोचती है तब फिर वो किसी से भी चुदवा लेती है.. और इस तरह मैं मम्मी के साथ ही उनके रूम मे चला आया. तब मौसी मम्मी के बेड पर बैठी थी और मुझे देख कर संभल कर बैठ गयी. तब मम्मी ने कहा सपना देख लो अपने चोदु को आज यही तुम्हारी चूत मारेगा.. उनकी बात सुनकर मौसी का चेहरा लाल हो गया और वो झेपते हुए बोली की हाय दीदी आप केसी बात कर रही है भला मैं अपने भांजे से कैसे संभोग कर सकती हूँ… तब मेरी मम्मी ने कहा तू फिर मेरी शर्त भूल रही है अरे जब मैं अपने सगे बेटे से चुदवा सकती हूँ और इसको अपने सामने ही अपनी बेटी की चूत भी मरवाने का मज़ा दिलवा चुकी हूँ तब तुझे क्या मुश्किल है…

इसे भी पढ़ें   ससुराल में पापा के साथ किया

मौसी बोली हाय दीदी आप कितनी निर्लज़ हो भला अपने लड़के से भी कोई माँ चुदवाती है… मम्मी बोली तू बोल तुझे चुदवाना है या मैं अपनी चूत की खुजली मीटाऊँ तेरे सामने चुदवा कर साली नाटक करती है अरे घर की बात घर मे ही रहेगी ससुराल जाकर पता नही मुहल्ले की किस लड़के से चुदवाने लगी तो एड्स का ख़तरा भी है मैं कह रही हूँ की राज से ही चुदवा ले घर की बात घर मे ही रहेगी और इसका लंड भी बहुत जानदार है…
तब मौसी ने कहा दीदी मुझे तो शर्म आती है तब मम्मी ने मौसी की साडी के उपर से ही उनकी चूत के पास चिकोटी काटते हुए कहा रानी एक बार लंड डलवा लेगी तो ससुराल जाना भूल जाएगी चल अब जल्दी से साडी खोल डाल और ये कह कर मम्मी मौसी की साडी खीचने लगी थोड़ी देर बाद ही मौसी सिर्फ़ ब्लाउस और पेटीकोट मे रह गयी और अब मुझसे बर्दास्त करना बहुत मुश्किल हो रहा था. मैने मम्मी की चूची दबाते हुए कहा मम्मी पहले एक बार आप चुदवा लो फिर मौसी को देख लेंगे..

मम्मी ने कहा साहिल अब तू पहले अपनी मौसी को ही चोदना मेरी नाक मे दम कर दिया की मौसी को चोदना है अब जब उसको राज़ी कर लिया तो कह रहा है पहले मेरी चोदेगा चल अपना लंड दिखा अपनी मौसी को… और झट से मेरी लूँगी खोल दी मम्मी ने मैं नीचे कुछ भी नही पहने था और मौसी को ब्लाउस और पेटीकोट मे देख कर वैसे ही लंड फंनफनाने लगा था. तब मम्मी ने लंड खीचते हुए मौसी की तरफ बडाते हुए कहा लो ज़रा हाथ मे लेकर देखो साहिल का कितना गर्म होता है और जैसे ही मौसी ने नाज़ुक से हाथ डरते हुए लंड पर लगाया एक झटका सा लगा और मौसी ने हाथ हटा लिया।

तब मम्मी ने कहा पकड़ साली और जल्दी से इसे चूस और मम्मी ने अपने सारे कपड़े उतार दिए और मैं तो पहले ही नंगा था. फिर मैने मौसी का ब्लाउस भी खोल दिया और मौसी मेरा लंड छोड़कर अपनी चूची छुपाने लगी और दोनों हाथ चूची पर रख कर बैठ गयी. तब मम्मी पीछे की तरफ आई और मौसी के कान पर एक चुंबन लेते हुए बोली मेरी जान अब तो शरमाना छोड़ दो अब तो तुमने इसका लंड भी देख लिया और यक़ीनन अब तुम्हारी चूत भी पागल हो गयी होगी.. और मम्मी ने मौसी के दोनों हाथ हटा दिए और मैं झट से मौसी की चूची को दबाने लगा.

वह बहुत मज़ेदार थी उनकी चूचियाँ जहाँ मम्मी की चूची लटक चुकी थी वही अभी मौसी की चूची मे टाइटनेस बाकी थी और उनके निप्पल्स मे गजब का शेप था जिसे मैं अपनी चुटकियों से रग़ड रहा था. मम्मी पीछे से मौसी की पीठ मे अपनी चूची रग़ड रही थी. अब मौसी ऊऊओफफ्फ़ आआआअहह की सिसकारी निकाल रही थी. तब मैने अपना हाथ सीधे उनकी पेटीकोट के अंदर डाल दिया वो चीख पड़ी और मेरा हाथ हटाने लगी. मगर मैं कहा मानने वाला था जल्दी से नाडा ढीला करा और पेटीकोट भी उनकी टाँगों से खीचकर निकाल दिया और अब मौसी बिल्कुल नंगी थी।
उन्होने अपने दोनों हाथ से अपनी चूत को छिपा लिया तब ही मम्मी ने पीछे से मौसी के दोनों हाथ पकड़ लिए और मुझसे बोली साहिल चल अब अपनी मौसी को चूत काटने का मज़ा दे और इतना सुन कर मैं मौसी की बिना बाल वाली फूली हुई गुलाबी चूत को देखने लगा. जिसकी फाँकें बहुत सुंदर लग रही थी. मैं अपना हाथ मौसी की चूत पर फेरने लगा और मेरा हाथ अपनी चूत पर पकडकर मौसी चीख पड़ी और उनके मूह से इसस्स्स्स्सस्स सिसकारी निकलने लगी. तब ही मैने उनकी फांकों को अपने हाथ से फैला कर उसकी चूत का करीब से नज़ारा देखने लगा.

इसे भी पढ़ें   आगे पीछे एक साथ लंड घुसवाने का मजा लिया!

अंदर का गुलाबी भाग बहुत ही खूबसूरत लग रहा था और उसमे से भीनी……..भीनी खुशबू निकल रही थी. मैने जैसे ही अपनी ज़बान निकाल कर उसकी चूत पर रखी मौसी उछल पड़ी और ईईईईईईययईी इसस्स्स्स्स्सस्स हाईयईईईई साहिल उूउउफ्फ क्या करते हो दीदी बहुत गुदगुदी हो रही है और तब ही मौसी ने अपने दोनों हाथ से मेरा सर पकड़ लिया और अपनी चूत पर मेरा मूह दबाने लगी. कुछ देर चाटने के बाद मैने उसकी चूत मे अपनी ज़बान घुसा दी ज़बान जैसे ही उसकी चूत मे घुसी वो उछल पड़ी हाआऐययईईईई राम दीदी ये साहिल कितना गंदा है उूउउफफफफ्फ़ बहुत गुदगुदी हो रही है.. मम्मी बोली की अभी तो ये सिर्फ़ तेरी चूत को चूस और चाट ही रहा है जब अपने खड़े लंड के झूले पर बैठा कर तुझे झूला झुलाएगा तब तू देखना कितना दम है इसके लंड मे और ये कह कर मम्मी ज़ोर….ज़ोर से मौसी के बोब्स मसलने लगी और उसकी निप्पल्स को भी दबा रही थी कभी…..कभी अपने होंठ से मौसी के निप्पल्स दबा भी देती थी।

अब तो मौसी को डबल मज़ा आ रहा था एक तरफ मैं अपनी जूबान उनकी चूत मे डाले था और मम्मी उसकी चूची को दबा रही थी. अब तो मौसी के बदन मे भी आग भड़क चुकी थी वो सारी लाज़ शर्म भुला चुकी थी और बेशर्म होते हुए कह रही थी आओ मेरे चुदु राजा चूसकर पि जाओ मेरे माल को आआआआहह आआईयईईई इसस्स्स्स्स्स्सस्स इस तरह का मज़ा तो तेरे मौसा ने भी कभी नही दिया है आआहह और अपने चूत को उचकाने लगी और मैं भी उनकी चूत की दाराओं को फैला कर उनकी दोनो टांगे अपने कंधे मे फसा कर बहुत ही जोरदार तरीके से उसकी चुसाई कर रहा था. आआअहह मेरी छिनाल मम्मी आज तो तेरी बहन की चूत चाटने मे बहुत मज़ा आ रहा है.. मम्मी कहने लगी मादरचोद अब उसकी जल्दी से इसकी चूत का पानी निकाल इतनी देर से घुसा पड़ा है अभी तक एक पानी नही निकाल पाया..

तब मैने कहा मम्मी अभी इसकी चूत अभी इतनी चुदी ही नही है और आज पहली बार ही तो बेचारी की चूत चुसाई हो रही है भला इतनी जल्दी पानी कैसे छोड़ेगी… अब तेरी बात अलग है तेरी तो भोसड़ा बन चुकी है… तब मम्मी ताप मे आ गयी और मेरे सर पर एक छपत मारते हुए बोली अब तू मारना मेरी चूत गांड पर लात मारूगी… इतनी ज़ोर से की अपनी मौसी की चूत मे ही घुस जाएगा और तब ही मौसी बोली साहिल छोड़ बात को चोदोगे या नही में झड़ने वाली हूँ.. जल्दी….जल्दी ज़बान चलाओ… मेरी चूत मे ज़ोर ज़ोर से धक्का मारो और अपनी चूत को… उचकाने लगी और उनके मूह से जल्दी करो राजा आअहह और तभी मौसी झड़ गयी और उनका ढेर सारा रस मैं बहुत ही चाव से पि गया और झड़ने के बाद मौसी एक तरफ बेड पर गिर गयी और उसके बाद मैने अपनी मम्मी की गांड मारी और मौसी को तो उस रात चार बार चोदा पर उसका ज़िक्र अगली बार करूँगा.. ठीक हे दोस्तों तो अब इजाज़त दीजिए…

में पार्थना करता हूँ की आपको बोनस के रूप मे भगवान आपको जिसको चूत चाहिए उसको चूत और जिसको लंड चाहिए उसको लंड मिले…

Related Posts

Report this post

मैं रिया आपके कमेंट का इंतजार कर रही हूँ, कमेंट में स्टोरी कैसी लगी जरूर बताये।

Leave a Comment