मैडम को चुदवाने के लिए राज़ी किया | Hot School Madam Hindi Sex Stories

Hot School Madam Hindi Sex Stories में मैंने स्कूल टीचरों को इन मॉल में सेक्स करते देखा! मैंने मेरे साथ पढ़ाने वाली एक शिक्षिका को सेक्स के लिए नियुक्त किया। उसकी चुदाई की पूरी कहानी पढ़ें।

दोस्तो, आज से चार साल पहले हुआ था।

उस समय मैं और रिया ऊपी के एक स्कूल में शिक्षक थे।

रिया २० साल की थी।

यदि आप भी अपनी कहानी इस वेबसाइट पर पब्लिक करवाना चाहते हैं तो नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके अपने कहानी हम तक भेज सकते हैं, हम आपकी कहानी आपके जानकारी को गोपनीय रखते हुए अपनी वेबसाइट पर प्रकाशित करेंगे

कहानी भेजने के लिए यहां क्लिक करें ✅ कहानी भेजें

वह पतली दुबली लड़की थी, लेकिन रिया बहुत गर्म थी।

पहली बार देखा तो वह एक रसमलाई सी लौंडिया थी।

उसके छोटे-छोटे समोसे दूध की तरह नरम थे।

वह हर समय चश्मा लगाती रहती थी।

Hot Xxx Madam Sex Kahani

वह अपनी पतली कमर मटका कर चलती थी, ऐसा लगता था जैसे मैं इसकी गांड मार दूँ।

उस समय रिया का फिगर 30-28-32 था।

जैसा कि मैंने पहले बताया, हम दोनों एक ही संस्थान में शिक्षक थे।

हम लोगों से पहले कुछ भी नहीं बोलते थे, लेकिन फिर धीरे-धीरे दोनों की बातें होने लगीं।

हम दोनों में बातचीत होने लगी एक दिन जब रिया ने मुझे फेसबुक पर एक संदेश भेजा।

रिया पहले बोलने से डरती थी।

पर अब लगातार चार से पांच घंटे तक बातचीत होने लगी।

एक दिन मैंने उससे पूछा कि क्या आप मुझसे बात करना पसंद करते हैं?

हां, वह बोली।

मैंने पूछा कि क्या आप मेरा मैसेज इंतजार करेंगे?

हां, मैं हमेशा वेट करती रहती हूँ कि कब मैसेज करोगे, उन्होंने कहा।

मैंने कहा, “फिर मुझे लगता है कि आपको प्यार हो गया है!”

हां लग तो मुझे भी रहा है, उसने कहा।

मैंने कहा, “तो प्रपोज करो!”

उसने कहा कि वह समय देखकर ऐसा करेगी।

फिर एक दिन उसने मुझे प्रपोज किया, जिसे मैंने स्वीकार कर लिया।

हमारी बातें प्रेमियों से शुरू हुईं।

हम कुछ ही दिनों में यौन चर्चा करने लगे।

मैं उसे अपने लंड की तस्वीर भेजना चाहता था, लेकिन वह अपनी नंगी तस्वीर भेजना चाहती थी।

वह अब वीडियो कॉल पर भी अपनी चूत में उंगली करने लगी थी जब मैंने उसे ऐसा करने को कहा था।

उसने एक दिन मुझे अकेले में मिलने को कहा।

अब सवाल था कि मिलेंगे कहां?

मैं उसी दिन शाम बिग बाजार गया था।

मैं कुछ खोजने के लिए उसके सबसे ऊपर की मंजिल में चला गया।

उधर देखा तो वहां भवन निर्माण का सामान बिखरा पड़ा था।

मैंने सोचा कि यहीं रिया से मिलना चाहिए था।

रात को घर आकर मैंने रिया को बताया तो वह कहा-ठीक है।

फिर दूसरे दिन मैं उसे बिग मार्केट ले गया।

मैंने पहले खुद उसी फ्लोर पर ऊपर जाकर पूरी तरह से देखा।

फिर उसे बिग बाजार के सुनसान फ्लोर में ले गया, जहां निर्माण सामग्री थी।

उस समय वहाँ कोई व्यक्ति नहीं था।

मैंने उसे वहीं एक आड़ में खड़ा करके चुंबन लगाना शुरू किया।

वह भी चिपककर चुंबन लेने लगी।

फिर मैं उसके दूध निकालने लगा, उसके बूब्स दबाने लगा।

इसे भी पढ़ें   बाप खिलाड़ी बेटी महाखिलाड़िन- 7

वह खुद अपने दूध हिलाने लगी।

मैंने अपने होंठ एक दूध के निप्पल पर रखकर उसे चूसना शुरू कर दिया।

मैं सामने से उसके एक निप्पल को होंठों से खींचकर चूस रहा था, जबकि वह खुशी से अपने दोनों हाथों से कुर्ते को उठाए हुए थी।

अपनी हथेली में दूसरे मम्मे भरकर किसी रिक्शा के हॉर्न को दबा रहा था।

तब उसने स्वयं अपना कुर्ता उतार दिया।

वह अपनी नशीली आंखों से मुझे देखती हुई दूध चुसवाती हुई आह आह करती रही।

Desi Xxx Free Sex Kahani

मुझे डर लग रहा था कि कहीं पकड़ा गया तो कहानी लिख दी जाएगी।

लेकिन तब भी उसके साथ चुदाई करने लगा।

कुछ देर बाद, मैंने उसकी सलवार खोली।

उसने कमर भी ढीला कर दिया।

फिर मैंने उसकी पैंटी उतार दी और उसकी सलवार उतार दी।

जब तक मेरे कपड़े नहीं उतरे, मेरी गांड फट रही थी।

वह बिना डरकर अपने आप को नंगी कर दी, शायद मुझ पर भरोसा करती थी।

मैंने देखा कि उसकी चूत में बहुत अधिक बाल थे, जिससे वह साफ नहीं लगती थी।

पहले मुझे गुस्सा आया कि साली झांटें भी साफ नहीं करके आईं।

उस समय मेरे पास बहुत कम समय था, इसलिए मैंने उसे जल्दी से लिटाया और उसके ऊपर चढ़ गया।

मैं उसकी टांगें फैला कर चूत में अपना लंड डालने लगा।

जल्दबाजी में लंड चूत में नहीं गया।

मैं फिर से डालने लगा तो फिसल गया।

मैंने रिया से कहा कि वह लंड पकड़कर छेद में डाल दे।

हां, उसने छेद में लंड डालकर कहा।

ठीक उसी समय मुझे धक्का लगा।

चूत में एक छोटा सा लंड घुस गया।

दर्द की वजह से वह रोने लगी और छटपटाने लगी।

मेरा लौड़ा उसी समय उसकी चूत से बाहर निकल गया।

वह फिर से पेलने नहीं देती थी।

मैं झड़ गया जब मैंने हाथ से लंड हिलाया।

उधर रुकना खतरे से खाली नहीं था, हालांकि मेरा दिमाग खराब था।

मैंने पैंट और चड्डी तुरंत पहन ली।

उसने अपने कपड़े भी पहन लिए।

वह कुछ नहीं कहती थी।

मैं भी चुप रह गया।

फिर दोनों वहां से वापस लौट आए, जब स्कूल शिक्षकों ने इन मॉल में अपूर्ण सेक्स किया।

मैं उस समय बाहर भेजा गया था।

पर बाद में ठंडे मन से सोचा कि लौंडिया सीलपैक थी, तो साली चिल्लाई।

लौड़ा गप से खा जाता अगर चुदी चुदाई होती।

यह विचार दिल को प्रसन्न करता था।

फिर से बातचीत होने लगी।

मैंने उसे अपनी चूत को साफ करने को कहा।

वह शर्मा गई और कहा कि वीडियो कॉल पर देखने के बावजूद आपने कुछ नहीं कहा था। मैंने सोचा कि बालों वाली आपको पसंद है।

उसके जवाब ने मुझे लाजवाब किया।

मैंने कहा, “अरे, मुझे उस समय कहने की याद नहीं है।” अब अपनी चूत साफ करो।

इसे भी पढ़ें   ननद के आशिक से चुद गई बन्नो !

हां, मैं याद रखूंगी, उन्होंने कहा।

कुछ दिनों बाद मैंने उससे एक बार फिर मिलने का अनुरोध किया।

इसलिए उसने कहा: “इस बार मैं बाहर नहीं मिलूँगा..।” तुम मेरे घर आ जाना क्योंकि मम्मी कहीं जाएंगी।

मैंने उसकी बात स्वीकार की।

उसकी माँ पांच दिन बाद कहीं गई।

मुझे रिया ने फोन करके घर बुला लिया।

मैं उसके घर गया।

Antarvasna Madam Sex Stories

वहाँ उसका भाई था।

मैं उसे देखकर बेहोश हो गया।

मैंने रिया से पूछा कि यह कैसे सामने आएगा?

उसने कहा कि अगर आप रुको तो… सब अभी होगा।

फिर मुझे रिया ने उठाया।

उस जगह अंधेरा था।

मैंने रिया को किस किया और उसे नंगी करने लगा।

रुको, वह कहा। मैं अपने भाई को कहीं जाने के लिए कहता हूँ।

वह गई और अपने भाई को कुछ पैसे देकर वापस आई।

वह अब कमरे में आई और रोशनी को चालू कर दी।

मैं उसे पकड़ा और अपने कपड़े उतारने लगा।

नंगी होने की आवश्यकता ही नहीं थी; उसने सिर्फ एक गाउन पहना था और उसके नीचे कुछ भी नहीं पहना था।

रिया पूरी तरह से नंगी थी जब मैं गाउन उतार दिया।

मैंने उसके बूब्स को दबाकर उसके चूसे काटे।

अब मैंने कुतिया को लंड चूसने के लिए कहा, लेकिन वह मना कर दिया।

मैंने उसे लिटाकर उसकी चूत में अपना लंड डाला।

रिया एक बार फिर रोने लगी।

लेकिन आज डर कम था, इसलिए मैं लगा रहा।

किंतु उसकी चूत बहुत छोटी थी; मेरा लंड उसकी चूत में कहीं फंस गया था।

अब मैंने लंड हटाया और रिया को उस पर बैठने को कहा।

वह बैठी थी, लेकिन लंड पर कूद नहीं पाई।

मैंने उसे अपने नीचे फिर से लिटा दिया और लौड़े को काम पर लगा दिया।

इस बार लंड चूत में भी घुस गया, और रिया ने लौड़े को भी सह लिया।

मैं उसे मारने लगा।

उस दिन मैंने रिया को दो घंटे पहले राउंड में चोदा।

फिर मैं सिर्फ रिया की चूत में पानी डाल दिया।

रिया भी इतनी जल्दी गिर पड़ी।

रिया बहुत थक गई थी।

मैं उसे चोदकर वापस घर आ गया।

रिया ने कुछ दिनों बाद बताया कि उसका पीरियड नहीं आया था।

मेरी गर्दन फट गई।

हम दोनों काफी परेशान थे।

फिर मैंने एक डॉक्टर से पूछकर उसे दवा दी, जिससे वह इस परेशानी से बाहर निकल गया।

मैं अब हर अवसर पर रिया के घर जाकर उससे सेक्स करने लगा था।

रिया ने भी पूरी खुशी से अपनी टांगें खोलकर मेरे लौड़े के आगे चूत में डाल दी।

हम दोनों ही सुरक्षित यौन संबंध बनाने लगे।

Free Sex Kahani With Madam

कुछ दिनों बाद वह मेरे कमरे में भी आकर चुद गई।

ये सब एक साल तक चलते रहे।

उसके घर में एक बार कोई नहीं था।

उस समय मैं कहीं और था।

मैं सब कुछ छोड़कर रिया के घर पहुंचा जब उसका फोन आया।

इसे भी पढ़ें   पेलो मुझे मेरे राजा भैया

रिया को पूरी तरह से नंगा करने के बाद, उसने उसके बूब्स चूसे।

रिया सिहर उठी जब मैंने उसकी चूत चाटी। मैं तब भी उसकी चूत चाटता रहा।

फिर 69 में उसे लेकर उसके मुँह में लंड डाला।

उसने पूरे लंड को चूसते हुए आराम से चूसा।

मैंने उस दिन रिया को बताया कि मुझे तुम्हारी गांड मारनी है।

दर्द होगा, वह कहा।

मैंने कहा कि मैं आराम करूँगा।

रिया ने राजी हो लिया।

उसकी गांड और लंड में तेल लगाकर उसे घोड़ी बनाया।

मैंने उसकी गांड में अपना लंड डालने शुरू किया।

गाण्ड इतनी टाइट थी कि लंड नहीं जा रहा था।

मैंने रिया से कहा कि वह लंड को गांड में डालकर पकड़ ले।

रिया ने लंड को अपनी गांड में पकड़ लिया।

मैंने रिया को ज़ोर से धक्का दिया।

मैं अभी भी हटा नहीं गया।

मैं उसकी गांड में लंड डालकर उसके ऊपर गिर गया।

फिर लंड ने रिया की गांड में दूसरा धक्का मारा।

रिया रो रही थी।

मैं उसी के ऊपर कुछ देर लेटा रहा।

Kamukta Madam Ki Chudai Kahani

दस मिनट तक गांड मारता रहा, जब उसे थोड़ा आराम मिला।

मैंने रिया की गांड से खून बहते देखा।

फिर मैंने रिया को सीधा लेटाकर उसकी चूत में लंड डाला।

रिया ने दर्द को सह लिया।

उस दिन २५ मिनट बाद मैं पानी निकालने को हुआ, तो मैंने लंड निकालकर रिया को दिया।

रिया ने गिलास का पानी पिया।

थोड़ी देर लेटने के बाद मैंने कहा, “आज नहीं, यार”। आज मुझे बहुत दर्द है।

तब मैं चला गया।

निकलने में कुछ देर लग गई।

तभी उसकी माँ आई।

मैंने रिया से पूछा, “अब गए काम से?

रिया ने अपनी माँ को बताया कि वह वॉक्स कर रही थी और अभी कपड़े नहीं पहनी थी।

तो माँ कहीं चली गई।

तभी मैंने कपड़े पहने और रिया ने भी कपड़े पहन लिए.

उसने बाहर जाकर देखा कि रास्ता साफ है.

फिर मैं निकल कर अपने घर आ गया.

दोस्तो, इस तरह से मेरी और रिया की सेक्स कहानी चलती रही.

आपको इस Hot School Madam Hindi Sex Stories पर क्या कहना है. प्लीज मेल करें.

sexstories@gmail.com

Related Posts

Report this post

मैं रिया आपके कमेंट का इंतजार कर रही हूँ, कमेंट में स्टोरी कैसी लगी जरूर बताये।

Leave a Comment