अपनी भांजी को चोदकर उसकी सील तोड़ी। Hot Bhanji Free Hindi Sex Stories

Hot Bhanji Free Hindi Sex Stories पढ़ते हुए मैं अपनी चचेरी बहन की छोटी बेटी पर ध्यान देता था। वह भी मेरे साथ बहुत खुली थी। हम दोनों के बीच क्या हुआ जब वह मेरे घर रहने आई?

नमस्कार, मैं सुशील कुमार हूँ और मेरी उम्र 28 वर्ष है।

आपने मेरी पिछली कहानी पड़ोस की भाभी के साथ मजा लिया। Hot Desi Bhabhi Ki Nonveg Story

पढ़ी थी।

यदि आप भी अपनी कहानी इस वेबसाइट पर पब्लिक करवाना चाहते हैं तो नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके अपने कहानी हम तक भेज सकते हैं, हम आपकी कहानी आपके जानकारी को गोपनीय रखते हुए अपनी वेबसाइट पर प्रकाशित करेंगे

कहानी भेजने के लिए यहां क्लिक करें ✅ कहानी भेजें

मेरे गांव में रहने वाले मेरे ताऊ की बेटी, जो मुझसे कई साल बड़ी है, मेरी भांजी बहुत खूबसूरत और सुंदर है।

जब मैंने उसे पहली बार देखा, मैं सिर्फ देखता रह गया।

तब वह युवा हो रही थी और मैं 24 वर्ष का था।

मैं तभी से उसे चाहने लगा था।

Free Hindi Sex Stories With Bhanji

यह उसकी पहली लड़की से चुदाई की हॉट भानजी कहानी है।

फिर क्या हुआ..। मैंने कभी-कभी अपनी दीदी की घर जाया करता था।

फिर चार वर्ष बाद उसे चोदने की अनुमति मिली।

मैं दीदी के घर किसी की शादी में गया तो दीपिका को देखता ही रह गया।

उसके रसीले, बड़े-बड़े चूचे!

मैं पूरी शादी में सिर्फ उसको देखता रहा।

वह घर जाते समय मुझसे काफी घुलमिल गई।

जब मैं वापस घर आया, मैंने दीदी से कहा कि दीपिका को मेरे साथ भेज दो..। वह भी आराम से अपनी नानी का हाथ बटा लेगी।

उसको तुरंत मेरे साथ मेरे घर दीदी ने भेजा।

दीपिका मुझसे बाइक पर ऐसे चिपक कर बैठी जैसे वह अपने प्रेमी के साथ बैठी हो।

जब उसके नरम चूचे मेरी पीठ को छूते, मेरे पूरे शरीर में एक करेंट की भावना आती।

मैं जानबूझकर बाईक को झटके देकर चल रहा था।

मैं घर पर उसको चोदने का निश्चय करने लगा।

इस दौरान मैंने उसकी हर इच्छा पूरी करने की कोशिश की।

फिर मुझे कुछ दिनों के लिए अपने माता-पिता को बताना पड़ा।

तो माँ ने दीपिका को बताया कि वह अपनी माँ का ख्याल रखेगी और डर लगे तो उसके साथ सो जाएगी।

मैं इतना सुनते ही खुशी से उछलने लगा।

उसी रात रोमांटिक हॉरर फिल्म टीवी पर आई।

दीपिका और मैं फिल्म को बहुत देर तक देखते रहे।

दीपिका को रोमांटिक सीन में अपनी पैंटी सहलाते देखा।

और भयानक सीन में मुझसे चिपककर मुझे मामा कहती थी।

उसके चिपकने से मेरा नियंत्रण खो गया।

फिर मैंने उससे कहा कि टीवी को बंद करो, अगर नहीं तो भूत बाहर निकल जाएगा।

तो वह भयभीत होकर चारपाई पर जाकर लेट गई और भयभीत होकर कांपने लगी।

मैं भी डर से उसके साथ लेट गया।

मुझे सिर्फ उसको चोदना था।

Antarvasna Bhanji Ki Chudai Kahani

वह काम्पती जा रही थी, भले ही मैंने उसको कसकर पकड़ लिया होता।

फिर मैंने सोचा कि शायद दीपिका सो चुकी है, तो मैंने उसकी कुर्ती में हाथ डालकर उसके स्तनों को सहलाने लगा।

मैंने देखा कि उसके निप्पल पूरी तरह से टाइट हो गए हैं।

दीपिका शायद जाग गई थी, लेकिन उसने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी।

उसके निप्पलों को मैं सहलाता रहा।

मैं भी मेरी जवान भानजी की गांड में पूरी तरह फिट हो गया था।

अब मेरी भानजी के हाथ मेरे अंडरवियर में घुस रहे थे और उसके चूचे बहुत टाइट हो गए थे, इसलिए वह गर्म होने लगी।

इसे भी पढ़ें   ऑफिस वाली लड़की को पटाकर करी चुदाई | Office Girl Hindi Sex Story

मैंने उसकी सलवार का नाड़ा भी खींचकर खोल दिया।

फिर धीरे-धीरे सलवार को नीचे झुकाया।

मैंने अपना हाथ कुर्ती से बाहर खींचकर सीधा हाथ दीपिका की पैंटी में डाल दिया क्योंकि चूचे कस रहे थे।

दीपिका की चूत पूरी तरह से मक्खन की तरह पिघली हुई थी।

शायद आज ही उसने अपनी झांटें साफ़ की थीं।

जब मैंने उसकी चूत में एक उंगली डाली, तो वह सिसक पड़ी।

मैंने सोचा कि दीपिका सिर्फ सोने का नाटक कर रही है।

मैंने उसकी चूत से उंगली निकालकर अपनी जीभ में लगाई, मानो मैं जन्नत में था।

मैं भानजी के चूत का रस चाटने के लिए उत्सुक था और मेरा छह इंच का लन्ड उसकी चूत में डालने को आतुर था।

मैंने दीपिका का हाथ सीधा अपने लन्ड पर रखा और उसे मसवालने लगा।

दीपिका, जो अच्छे से जाग चुकी थी, मुझे कसकर पकड़कर ऊपर-नीचे करने लगी।

मेरी भानजी का मेरा साथ देते हुए देखना बहुत अच्छा लगा।

जब मैंने उसकी आंखों में देखकर इशारे से पूछा, तो वह एकदम शरमा गई और सर हिलाकर हां कहा।

Xxx Family Hindi Sexy Stories

मैंने इसके बाद उसकी किस करना शुरू किया।

मैं करूँगी, वह कहती थी।

मैंने उत्तर दिया: ठीक है।

वह मेरे ऊपर चढ़कर बैठ गई, मेरी शर्ट उतार दी और कहा, “यह बनियान भी उतार दो।”

मैं गिर गया।

वह अब मेरे शरीर को चूमती जा रही थी, कभी-कभी मेरे होंठों को चूसती, कभी-कभी मेरे निप्पल मुंह में लेती।

मैं इसको क्या हुआ देखकर भौचक्का हो गया।

फिर उसने कहा, “मामा, मुझे अपने ये दिखाओ।”

मैंने यह भी पूछा कि क्या?

यह! वह मेरी पैंट की ओर इशारा करते हुए कहती थी।

मैंने कहा कि इसका नाम बताओ पहले।

उसने शरमाकर धीरे से कहा, “लन्ड!”

मेरा लंड और टाइट हो गया जब मैंने उसके मुंह से लन्ड सुना।

मैंने कहा कि स्वयं देखो!

तो उसने मेरे अंडरवियर को धीरे-धीरे खिसकाने लगी और मेरी पैंट को बाहर फेंक दी।

मैं भी बाहर आने की कोशिश कर रहा था।

दीपिका ने तुरंत बाहर आकर मामा से पूछा, “अब क्या करें?”

मैंने कहा, “अब आप लेटो, मैं करूँगा!”

वह सीधा लेट गयी।

अब मेरा समय था।

मैंने उसकी कुर्ती को बाहर निकाल दिया और उसे अलग कर दिया।

अब मैं पहली बार उसकी गोल गोरी चूची देख रहा था।

मैं उनपर टूट पड़ा, जैसे मैं वर्षों से प्यासा हूँ।

मैं उसके रसीले होंठों और चूचों को मुंह से चूस रहा था।

अब पैंटी की बारी थी, क्योंकि मैं पहले ही उसकी सलवार हटा चुका था।

दीपिका, क्या मैं तुम्हारी चूत देख सकता हूँ?

देखो न, उन्होंने कहा। मैंने कब इनकार किया?

उसकी बातों से उत्साहित होकर मैं उसकी पैंटी को धीरे-धीरे खिसकाकर देखता रहा।

उसकी चूत इतनी चिकनी थी कि रोएं तक नहीं निकले।

गोरी की चूत में गुलाबी फांकें थीं, जिसमें एक लाल फूल था।

पहली बार मैंने किसी की चूत इतनी करीब से देखा था।

मामा, अब क्या करेंगे?

मैंने कहा, “अब मैं अपनी जीभ से तुम्हारी चूत को चाटूंगा और तुम मेरे लिंग को चाटोगे।”

इसे भी पढ़ें   भाई के सामने दीदी की चुत चुदाई

ठीक है, उसने कहा।

अब हम दोनों 69 के पोजीशन में थे।

दीपिका एकदम अकड़ गई और अपनी चूत हिलाने लगी और मेरी जीभ भी उसकी चुत चाटना शुरू कर दी।

वह भी मेरा लंड चूसने लगी। वह लगभग 6 इंच लम्बा और लगभग 2.5 इंच मोटा था जब मैंने उसके मुंह में अपना लंड दिया।

उसके मुंह में मेरा लंड भी सही से नहीं आ रहा था।

लेकिन वह उसको लगातार चूस रही थी।

लंबी चुसाई के बाद मेरे लन्ड ने मेरी भांजी के मुंह में पूरा पानी छोड़ दिया।

मुंह में पानी आते ही वह चिल्लाई, “यह क्या है?”

मैंने पूछा, “अरे ये वीर्य है?” इसे पीओ!

उसने पूरा पानी चाटकर साफ कर दिया और कहा, “मामा, यह टेस्टी था, और पिलाओ।”

मैंने कहा, “रुको, सबर करो।” यह सिर्फ शुरुआत है।

फिर उसने मेरे मुंह पर अपनी चूत का सारा पानी डाल दिया।

उसने फिर पूछा: अब क्या करेंगे?

Nonveg Family Sex Xxx Stories

मैंने कहा, “अब तुम्हारी चूत की मेरे लोड़े से चुदाई होगी।” दर्द सहना होगा।

उसने कहा: ठीक है, करो!

फिर मैं उठकर समय को देखा।

रात का बारह बज चुका था।

मैं रसोई में गया और एक शीशी में नारियल तेल ले आया।

मामा, क्या करोगे?

मैंने कहा कि मैं तुम्हारी प्यारी चूत को पिलाना चाहता हूँ। नहीं तो आप रोने लगेंगे।

नहीं, मामा, मैं नहीं रोऊंगी।

मैंने उत्तर दिया: ठीक है। फिर तुम चूत चुदाई करने को तैयार हो?

हां मामा जी, भांजी ने कहा।

उसकी चूत के छेद में अपनी उंगली से तेल चलाने लगा।

वह उंगली के अंदर जाते ही मचलने लगी।

मैंने उसकी चूत में दूसरी उंगली भी डाली।

वह अब मचलने लगी।

उसने कहा, “मामा जी, उंगली नहीं, लन्ड डालो”, जब मैंने तीसरी उंगली डाली।

मैंने कहा, “ठीक है, तुम मेरे लिंग को गीला करो।”

वह कही: ठीक है।

मेरी छोटी भानजी ने मुझे पूरी तरह गीला कर दिया।

फिर मैंने उसकी टांगों को उठाकर फैलाने को कहा।

उसने अपनी टांगें फैला दीं।

मैंने सोचा कि वह मेरे लिंग को अपनी ओर घसीट रही है जब मैंने अपना लिंग उसकी चूत के मुंह पर रखा।

उसकी चूत बड़ी थी।

मैंने कई बार कोशिश की, लेकिन भानजी की सीलबंद चूत में मेरा लंड नहीं घुस पाया।

मामा, क्या हुआ? उसने पूछा।

मैंने कहा कि रोना नहीं, दर्द होगा।

तुम डालो, उसने कहा।

तो मैंने तेल से उसकी चूत और लन्ड पर मालिश की, लन्ड को चूत के मुंह पर लगाकर उसकी टांगों को कसकर पकड़ा और फैलाकर एक जोर का झटका मारा।

2 इंच लन्ड का सुपारा उसकी चूत में घुस गया।

मामा जी, मैं मर जाऊंगी, मेरी भांजी ने रोते हुए कहा।

मैंने कहा, “मरोगी नहीं..।” शांत रहो, अभी मज़ा आएगा।

मैं एक हाथ से उसकी चूत सहलाने लगा और दूसरे हाथ से उसकी चूची का निप्पल मसलने लगा।

मैं अपनी कमर धीरे-धीरे चलाने लगा जब उसको कुछ राहत मिली।

मैंने फिर उसकी चूत में थोड़ा सा तेल लगाया।

मैंने पूछा कि क्या यह अब सही है?

हां में, उसने सर हिलाया।

अब मैं कमर की स्पीड बढ़ा।

दीपिका को भी मजा आने लगा जब मेरा चार इंच का लन्ड चूत में घुस गया।

इसे भी पढ़ें   Mummy Ke Sath 2 Chut Aur Chodi

अब मुझे भी अच्छा लग रहा था।

Hot Xxx Desi Kahani

मैंने अपनी गति बढ़ा दी।

अब भानजी की चूत मेरा पूरा माल खा चुकी थी।

रात का एक बज गया।

सन्नाटे में केवल फचाफच और आहह की आवाजें आती थीं।

दीपिका ने कहा, मामा, तुमने ऐसा क्या किया? कोई अपनी भांजी को ऐसे चोदता है क्या? अपनी बहन को चोदना चाहते थे!

मैं बिल्कुल शांत हो गया।

अरे, आप रुक क्यों गए? वह पूछा। जब तुमने चोद दिया है, तो कस के चोदो मेरे मामा! मैं सिर्फ मजाक कर रही हूँ। चोदो और बहुत जोर से!

उसकी बातें सुनकर मेरा लन्ड पूरी तरह से ढीला हुआ।

मैंने कहा कि आप सिर्फ डरा रहे थे। अब मेरा लिंग चूस लो।

उसने तुरंत मेरे लिंग को पकड़ा और जोर से चुसाई।

मैं फिर से चूत में घुसने को तैयार हो गया।

मैंने एक झटके में दीपिका की चूत में 6 इंच का लन्ड डाला।

दीपिका ने इस बार जोर से चिल्लाकर मामा से पूछा, बदला ले रहे हो क्या? चोदने के लिए कहा गया था। आप मेरी कुंवारी चूत को तोड़ देंगे!

मैंने कहा, “सॉरी भानजी जी, आप अब चुदाई का आनंद ले सकते हैं!”

फिर आधे घंटे तक कैसे खचाखच चलती रही?

उसने मामा से कहा, “अब मैं बोलूंगी तो आप ही मुझे चोदने घर आना।”

मैंने कहा, “हां क्यों नहीं”, क्योंकि मैं चार साल पहले ही आपको चोद देना चाहता था। लेकिन तुम्हें चोदने का मौका ही नहीं मिला!

वह पूछी, मामा, अभी तक कितनी लड़कियों को चोदा है?

मैंने कहा कि आपकी माँ को चोदने की सबसे बड़ी इच्छा पूरी की।

उसने कहा, “वाह मामा जी, मम्मी के स्थान पर मैं अपनी चूत फाड़ दी।” मम्मी को चोदने से बचना अच्छा था।

मैंने प्रश्न क्यों पूछा?

Bhanji Free Porn Stories

“मम्मी को चोदने में आपको उतना मजा नहीं आता जितना मुझे चोदने में आया होगा,” उसने कहा। क्या मैंने सही कहा?

हां, मैंने कहा।

सेक्स के बारे में बात करते हुए हॉट भानजी ने कहा, “लेकिन मामा, अब आप जब भी चोदोगे मुझे ही चोदोगे।” और मुझे तुम्हें हर बार चोदना होगा। ठीक है?

मैंने कहा, “ठीक है!”

ये कहानी भी पढ़े –मैंने और साली ने नहाते हुए सेक्स किया। Hot Jija Sali Hindi Sex Story

और हमें चुदाई करते हुए दो साल हो चुके हैं!

दोस्तो, आप मेरी हॉट भानजी सेक्स कहानी को कैसे समझते हैं?

मुझे मेल में जरूर बताये।

freehindisexstories@gmail.com

Related Posts

Report this post

मैं रिया आपके कमेंट का इंतजार कर रही हूँ, कमेंट में स्टोरी कैसी लगी जरूर बताये।

Leave a Comment