भाभी ने चुदवाने के लिए उकसाया। Hot Bhabhi Boobs Sex Stories

Hot Bhabhi Boobs Sex Stories पढ़े। मेरे पड़ोस में रहने वाली भाभी ने मेरे सामने अपने बूब्स मसलकर मुझे उकसाया। मैं भी इसे देखा। मैं एक दिन भाभी के घर गया।

यह कहानी मेरी और मेरे घर के पास रहने वाली एक भाभी की है।

भाभी दिखने में बहुत सुंदर थीं।

आपने मेरी पिछली कहानी साली को ठंडा किया। Virgin Teen Sali Xxx Sex

यदि आप भी अपनी कहानी इस वेबसाइट पर पब्लिक करवाना चाहते हैं तो नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके अपने कहानी हम तक भेज सकते हैं, हम आपकी कहानी आपके जानकारी को गोपनीय रखते हुए अपनी वेबसाइट पर प्रकाशित करेंगे

कहानी भेजने के लिए यहां क्लिक करें ✅ कहानी भेजें

पढ़ी थीं।

Indian Bhabhi Sexy Kahani

उसकी सुराही की तरह पतली कमर, बड़े बड़े चूचे और नीचे दो बड़े बड़े पहाड़ की तरह चूतड़, जिन्हें हिलते देखकर किसी का भी लंड खड़ा हो जाएगा।

भाभी सेक्स नहीं कर पाती थीं क्योंकि उनका पति अक्सर घर से बाहर रहता था।

भाभी ने अपनी प्यास बुझाने के लिए मेरे ऊपर नजर रखना शुरू कर दिया था।

हर रात, भाभी मेरे कमरे की खिड़की के सामने से अपने 36 इंच के चूचे दिखाने के लिए आती थीं।

उनकी मेहनत ने जल्द ही चूत और लंड को मिलाया।

पहले तो मैं उन पर ध्यान नहीं देता था, लेकिन एक दिन जब वह अपनी स्कूटी लेकर आ रही थीं, उनका संतुलन बिगड़ गया और टायर का ट्यूब अचानक फट गया।

इससे वे गिर पड़ी। पैर में उन्हें काफी चोट आई थी।

हालाँकि खून नहीं बह रहा  था।
लेकिन वे बहुत लंगड़ा रही थीं।

मैंने उनका हाथ पकड़कर उठाया।

लेकिन भाभी से ठीक से चला नहीं जा रहा था।

वह मुझे घर छोड़ने को कहने लगी।

जब मैं उनको घर ले गया और उनके कमरे में बेड पर लिटाकर वापस आने ही लगा था, वह अचानक उठकर मेरे ऊपर गिर गईं।

जब वे गिर पड़े, उनके 36 इंच के चूचे मेरे सीने से गड़े हुए थे।

भाभी मेरी इस स्थिति से पूरा मजा ले रही थीं।

मैं यह क्या हुआ देखकरअकबका हो गया।

वह थोड़ा हटकर फिर से बेड पर लेटने की कोशिश करने लगी।

अब तक मैं भी संभल गया था, इसलिए मैं उनको बेड पर बैठाकर घर चला गया।

जब वे मेरे ऊपर अपने दूध दबाती हुई लदी हुई थीं, मेरे मन में अभी भी वही दृश्य घूम रहा था।

मैं उनके मम्मों का मलाई सा अहसास सोचकर खड़ा हो गया।

उस दिन पहली बार मैंने भाभी को गलत समझा था।

उस दिन से, भाभी मुझसे बहुत अधिक बात करने लगी थीं।

वह हर रात आंगन में आकर बैठ जातीं और अपने बूब्स मसलने लगतीं।

क्योंकि वह स्थान मेरी खिड़की से साफ दिखाई देता था।

मैं भी अब हर रात वह दृश्य देखता हूँ।

शायद भाभी को भी पता था कि मैं उनके मादक बदन को देख रहा हूँ।

एक दिन, एक अज्ञात नंबर से मेरे नंबर पर मैसेज आया: क्या हर रात मुझे देखते रहोगे या मेरी चूत भी मारोगे!

मुझे लगता था कि यह रंजना भाभी हैं।

मैंने भी हां में जवाब देते हुए कहा कि अगर आप फोन करें तो भाभी..। तुम्हारी चूत फाड़ने में कोई कसर नहीं छोड़ूँगा।

इसे भी पढ़ें   ननद के आशिक से चुद गई बन्नो !

अब भाभी खुश हैं कि लंड सैट हो गया है, बस चूत में घुसवाने की देर है।

उसी रात मेरी भाभी ने मुझे अपने घर खाने पर बुलाया।

मेरे घर वाले उस दिन दस दिन के लिए मेरी मामा के घर गए, और मैं भी भाभी के घर खाने गया।

मैं भी जानता था कि भाभी आज चूत में लंड डालकर ही मानेंगी।

Hot Xxx Bhabhi Ki Chudai Kahani

तो मैं भी राजा का बेटा बनने के लिए लंड ले गया और झांटों को निकाल दिया।

उधर, भाभी भी पूरी तरह से सुसज्जित होकर टांगें चौड़ी करने को तैयार थीं।

जब मैं उनके घर गया, भाभी ने मुझे बांहें फैला कर स्वागत किया।

तो मैं भी उनकी खुशबूदार युवावस्था में घुस गया।

तुरंत ही भाभी ने मेरे होंठों पर अपने होंठ लगाए और हम दोनों चूमाचाटी में गिर पड़े।

मैंने भाभी को चूमते ही उनके दूध को एक हाथ से सहलाना शुरू कर दिया और वे मदमस्त होने लगीं।

भाभी ने हमें कुछ देर बाद सोफे की ओर चलने का संकेत दिया।

मैं सोफ़े पर बैठा।

मेरी बांछें खिल गईं जब भाभी ने सामने टेबल पर एक सफेद कपड़े के नीचे रखे कुछ सामान को उजागर किया।

सामने ब्लेंडर्स प्राइड की एक सील पैक बोतल थी।

और  दो गिलास, नमकीन, सब कुछ था।

मैंने कहा, “भाभी, बोतल सीलपैक है।” क्या आपको लगता है?

“अभी बोतल ही सील पैक है,” भाभी ने हंसते हुए कहा। मैं बहुत खुली हूँ।

मैंने कहा, “भाभी, कोई बात नहीं”। आप पीछे से तो सीलपैक होंगी।

मैं छोटी लाइन वाली नहीं हूँ,भाभी ने हंसते हुए कहा। मैं आगे से ही लेना पसंद करती हूँ।

मैंने कहा: “हम देखेंगे।” आपका मन बदल सकता है।

मैंने यह कहते हुए बोतल की सील खोली और दो गिलासों में व्हिस्की डाली।

तब भाभी पानी डालने लगी।

मैंने पूछा: “बर्फ नहीं है?” ऑन द रॉक्स!

उठकर भाभी फ्रिज से आइस ले आईं।

हम दोनों ने जाम टकराया और महफ़िल में बैठ गए।

पहला पैग तुरंत समाप्त हो गया।

तब मैंने अपनी जेब से सिगरेट निकाली और सुलगाने लगा।

साथ ही, भाभी ने डिब्बी उठा ली और सिगरेट निकालकर अपने होंठों पर लगा दी।

भाभी जी की अय्याश को मैं देखता रह गया। इन्हें सब कुछ चाहिए।

कुछ ही देर में दूसरा पैग भी शुरू हुआ।

मैंने हाथ आगे बढ़ाकर भाभी को आंचल लगाया।

मेरी प्यास बढ़ी जब भाभी के बड़े-बड़े मम्मों में दरार हुई।

बिंदास बैठकर वे अपने ब्लाउज के दो बटन खोल दीं और अपने पैर टेबल पर रख दिए।

तुम बहुत सुंदर लग रही हो भाभी, मैंने कहा जब मैंने उन्हें देखा।

भाभी ने यह सुनकर अपनी साड़ी को जांघों तक खींच लिया।

आह..। भाभी का बदन पूरी तरह शोला था।

यही कारण था कि भाभी ने मुझे शराब पीने के लिए परेशान कर दिया।

इसे भी पढ़ें   ठंडी में दिया भाभी ने गर्मी का अहसास - Bhabhi ki chudai

मैं अपने गिलास लेकर भाभी के बाजू में आ गया और उनके होंठों से चुम्मी करने लगा।

Desi Bhabhi Hindi Sex Stories

भाभी की लार बहाने लगी और अपनी जीभ मेरे मुँह में ठेल दी।

वे एक सिप व्हिस्की लेकर दारू को अपने मुँह में उड़ेल देतीं, मैं पी लेता।

अगली बार मैं भाभी को दारू पिलाता।

इस तरह, तीन पैग खत्म हो गए और हम दोनों ही पी गए।

तब हम दोनों ने मिलकर खाना खाया।

भाभी ने खाने में उत्तेजना बढ़ाने वाली गोली डाली।

अब भाभी टीवी वाले कमरे में मुझे ले गईं और मेरे लौड़े को मसलने लगीं।

मैं भी भाभी की जांघ पर हाथ फिराना शुरू कर दिया।

मेरे गले पर भाभी जोर से किस करने लगी ।

हम जोर से एक दूसरे की जीभ चूस रहे थे।

भाभी पूरी तरह से गर्म थीं।

मैंने उनके ब्लाउज के ऊपर से ही उनके मम्मे काटने लगा।

भाभी पूरी उत्तेजना में सेक्स करते हुए चिल्लाकर अपने चूचे दबा रही थीं।

मैं एक हाथ से भाभी की साड़ी को हटा रहा था और दूसरे हाथ से उनके पेटीकोट का नाड़ा ढीला कर रहा था।

फिर मैंने उनकी पैंटी के ऊपर से ही उनकी चूत को जोर से मसल दिया।

भाभी ने जोर से चिल्लाकर कहा, “आह..।” आराम से करो मादरचोद..। अब से यह आपका है।

करीब दो घंटे के प्रदर्शन के बाद हम दोनों 69 की जगह पर आ गए।

भाभी ने रंडी की तरह लंड चूस लिया।

मैं भी भाभी की चूत को बार-बार चाटता था।

पांच मिनट तक चलने वाली कठोर चुसाई के बाद भाभी झड़ गईं।

मैंने उनकी चूत से निकलने वाले रस को पूरा चूस लिया और उनकी चूत को चाटकर उसे गर्म कर दिया।

अब मैंने भाभी को सीधा करके तीन उंगलियां एक साथ उनकी फुद्दी में डाल दीं।

आह भोसड़ी वाले, भाभी जोर से चिल्लाई। आप आराम नहीं कर सकते क्या..। फ्री चूत मिलने का  मतलब फाड़ दोगे क्या?

मैंने भी उनकी बात नहीं सुनी और चूत पर तीन चमाट जोर से जड़ दिए।

बोलने से पहले मैंने उनके मुँह को दबाते हुए कहा, “चुप रहो मादरचोद रंडी की जनी, भैन की लवड़ी छिनाल!”  
जब उन्होंने मेरे मुँह से गालियां सुनी, वे हंसने लगीं और कही, “अब मजा आ जाएगा।”

मैंने उनका दूध दबाते हुए पूछा, “मेरी कुतिया तुम्हें गाली सुनकर चुदने में मजा आता है क्या?”

वह हंसते हुए मेरे लंड को पकड़कर कही, “अब चुदुर चुदुर बंद करो और लौड़े को चूत में जगह दिखाओ।”

अब भाभी अपनी चूत में लंड डालने के लिए उत्सुक थीं।

मैंने पूछा, “यह मुझे चूत में जगह देने का क्या अर्थ है?”

भाभी ने कहा, “अबे अनाड़ी चोदे..।” इसका अर्थ है कि अब और न तड़पा। तुम जल्दी से मेरी निगोड़ी चूत में अपना लंड डाल दो।

इसे भी पढ़ें   Makaan मालकिन की छोटी बहू जमकर चुदी-1 | desi sex kahani

मैंने कहा कि रांड मेरा लंड खा ले।

यह कहते हुए मैंने एक झटके में उनकी चूत में अपना लंड डाल दिया।

उई भैन के लौड़े, भाभी ने जोर से चिल्लाया। हाय, मेरी चुत फट गई..। मादरचोद, इतनी जल्दी थी! हाय भोसड़ी के..। निकाल लंड।

पर मैंने अपना लंड बाहर नहीं निकाला और भाभी की चूत को चोदने लगा।

भाभी रो पड़ी।

मैं अभी भी लंड बाहर नहीं निकाला।

बल्कि मैं उन्हें अधिक जोर से चोदता रहा।

धीरे-धीरे भाभी भी मज़ा लेने लगी और उछल उछल कर चुदवाने लगी।

भाभी, जोर से। मेरी चूत फाड़ दो, भोसड़ा बना दो आज..। आह,साला  इस लंड को खाने के लिए कब से सोच रही थी? चलो..। मैं अब से तुम्हारी रंडी हूँ, आह चोद बहनचोद, बहुत जोर से।

वह चिल्लाकर अपनी गांड उठा कर चुदवा रही थी।

हम दोनों 15 मिनट की चुदाई के बाद झड़ गए।

Antarvasna Hot Bhabhi Xxnx Porn Stories

फिर दस मिनट बाद हम दोनों फिर से शराब पीने लगे।

सीलपैक छेद करना मेरी जान है, भाभी ने दो पैग गटक लिए।

मैंने कहा कि हाँ लेना चाहिए।

मेरा लंड एकदम कड़क होकर तैयार हो गया जब मैंने गांड में घुसने की बात सुनी।

मैंने भाभी को लंड देकर जोर से लौड़ा चुसवाने लगा।

थोड़ी देर बाद, मैंने भाभी को गांड पर थूक लगाकर आधा लंड उसके गांड में डालकर जोर से चोदने लगा।

भाभी ने गांड में लंडलेने के बाद मुझे  दर्द से छोड़ने की भीख मांगने लगीं।

ये कहानी भी पढ़े – चूत की किस्मत में पराए आदमी से चुदना | Hot Porn Bhabhi Sex Kahani

पर मैं भाभी के चूतड़ों पर भी चोदता रहा, कभी-कभी चूतड़ों पर चमाट भी लगाता।

दस मिनट तक भाभी के बाल खींचकर गांड चुदाई करता रहा, पूरा माल भाभी की गांड में निकालता रहा।

उसके बाद मैं अपनी भाभी के साथ दस दिन तक रहा और हमने बहुत मज़ा किया।

हम आज भी चुदाई करते हैं।

यह Hot Bhabhi Boobs Sex Stories आप सबको कैसी लगी?

मुझे मेल करके अवश्य बताएं।

Related Posts

Report this post

मैं रिया आपके कमेंट का इंतजार कर रही हूँ, कमेंट में स्टोरी कैसी लगी जरूर बताये।

Leave a Comment