बहन को चोदकर आनंद लिया। Desi Virgin Chut Chudai Ki Kahani

मेरे चाचा की बेटी की कुंवारी चूत में लंड डालने की Desi Virgin Chut Chudai Ki Kahani। वह बहुत सुंदर थी, लेकिन अभी तक उसने लंड का मजा नहीं लिया था।

Hello friends! यह कहानी मेरी कजिन दिव्या, मेरे चाचा की बेटी और मेरी है।

मैं पहले अपने बारे में बताऊँगा।

आपने मेरी पिछली कहानी भाभी ने चुदवाने के लिए उकसाया। Hot Bhabhi Boobs Sex Stories

यदि आप भी अपनी कहानी इस वेबसाइट पर पब्लिक करवाना चाहते हैं तो नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके अपने कहानी हम तक भेज सकते हैं, हम आपकी कहानी आपके जानकारी को गोपनीय रखते हुए अपनी वेबसाइट पर प्रकाशित करेंगे

कहानी भेजने के लिए यहां क्लिक करें ✅ कहानी भेजें

पढ़ी थी।

मैं भोपाल में रहता हूँ। मेरी उम्र २२ वर्ष है। मेरा कद छह फिट है और मैं एक सुंदर और हट्टा कट्टा व्यक्ति हूँ।

मैं ग्रेजुएट हूँ।

मुझसे दो साल बड़ी मेरी कजन दिव्या वर्तमान में बैंगलोर में रहती है।

वह वहाँ काम करती है। उसका रंग गहरा है..। उसका कद लगभग साढ़े पांच फिट है। उसकी उम्र 32-28-34 है और वह पढ़ी लिखी और कुछ बोल्ड है।

यह Desi Virgin Chut Chudai Ki Kahani लगभग सात महीने पहले की है।

Xxx Bhai Bahan Hindi Sex Story

मैं अपने अंतिम सेमेस्टर की परीक्षा देने के बाद छुट्टी पर अपनी कजन दिव्या के यहां बैंगलोर गया।

मेरे भैया-भाभी वहां रहते हैं और मेरी प्यारी कजन दिव्या भी वहीं रहती है।

दिव्या ने मुझे वहां बुलाया था। हमारी उम्र लगभग समान है और हम दोनों ही सुंदर हैं।

क्योंकि भैया अपने कार्यालय में थे, दिव्या मुझे वहां ले गई।

हम दोनों काम करते हुए घर चले गए।

हमने रास्ते में स्वीट्स और नाश्ता भी ले लिया।

घर जाकर मैं थोड़ा आराम किया और हम दोनों ने अच्छी तरह आपस में बात की।

बाद में भैया-भाभी भी आ गए।

सभी ने मिलकर भोजन किया और सोने के लिए तैयार होने लगे।

मैं गेस्ट रूम में सोने चला गया. उन दिनों मेरी कजन दिव्या लीव पर थी क्योंकि वो नई जॉब ढूंढ रही थी.

बंगलौर में दिव्या के साथ मेरी छुट्टियां मजे से गुजरने लगीं.

अब तक मेरे मन में उसके लिए कोई ग़लत ख्याल नहीं थे पर उन्हीं दिनों कुछ ऐसा हुआ कि सब कुछ पलट गया और हमारे रिश्ते को एक नई दिशा मिल गई.

उन दिनों हम दोनों पूरे दिन घूमा करते और भैया-भाभी के साथ बाहर डिनर करते.

एक दिन हम दोनों शाम को पब गए।

उस दिन उसका रूप देखकर मैं दंग रह गया।

उसने काले रंग का वन पीस‌ पहना हुआ था जो उसके घुटनों के ऊपर तक ही आ रहा था.

वहां हमने पहली बार साथ में ड्रिंक्स ली और डांस किया।

उसका डांस देखकर सब लोग उसे वासना भरी नजरों से देखने लगे।

हालांकि उसे देख कर मेरा भी बुरा हाल हो रहा था, मगर मैं दिव्या को बहन मान कर कुछ नहीं सोच पा रहा था.

डांस के बाद हम दोनों ने वहां एक एक पैग और लिया और कुछ खा कर निकल आए.

वहां से निकलने के बाद हम दोनों सीधे घर पहुंचे.

उसने मुझसे कहा- आज मुझे बहुत मजा आया.

जबकि वास्तव में उसने वहां मौजूद सभी का लंड खड़ा करवा दिया था, उन सभी को मजा आया होगा.

अब मुझे भी पता चल चुका था कि वह कितनी गर्म माल है और कितनों का ‌लंड खड़ा करवा चुकी है.

इसे भी पढ़ें   भाई बहन की करतूतें (long story)

मेरे मन‌ में दिव्या के प्रति एक नया बीज बोया जा चुका था पर अभी भी मैंने उसके लिए सेक्स जैसा कुछ भी नहीं सोचा था.

उसी दिन रात में वो मेरे रूम में आई और हम दोनों आपस में काफी व्यक्तिगत बातें शेयर करने लगे.

मतलब हम दोनों काफी क्लोज हो गए और अपनी ‌सीमा भूल कर एक दूसरे में खो गए.

दिव्या मेरे सामने काफी उत्तेजित सी दिखाई देने लगी.

हम दोनों की सांसें गर्म होने लगी थीं.

मैंने उसका हाथ पकड़ा हुआ था.

तभी वो उठ कर जाने लगी.

मैंने भी अपना होश संभाला पर अब तक मैं काफी गर्म हो चुका था.

मैंने बाथरूम में जाकर दिव्या के नाम की मुठ मारी और खुद को शांत कर लिया.

अब मेरे मन में उसके प्रति अलग भावना जन्म ले चुकी थी.

मैं उसकी कल्पना करके मुठ मार चुका था.

शायद वैसी ही आग दिव्या को भी लग चुकी थी.

अब सिर्फ इंतजार था तो सही समय का.

अगले दिन सुबह हम सबने साथ में नाश्ता किया.

पर दिव्या आज मुझसे नज़रें चुरा रही थी. मुझे ‌भी शर्म सी महसूस होने लगी कि दिव्या मेरी ही बहन है और मैं उसके लिए क्या सोच रहा हूँ.

भैया भाभी के ऑफिस चले जाने के बाद मैंने उससे बात करने की कोशिश की पर उसने दरवाजा बन्द कर लिया और मेरी बातों का कोई जवाब भी नहीं दिया.

मैं सोच सोच कर पागल हो रहा था.

Hot Virgin Sister Sexy Kahani

तभी उसने दरवाजा खोला और बाहर आ गई.

मैंने उससे पूछा- क्या हुआ?

उसने कहा- मेरी तबीयत ठीक नहीं है, तो मैं आराम कर रही थी. मेरा मन नहीं लग रहा है.

मैंने रात के लिए दिव्या से सॉरी कहा.

उसने कहा- ऐसी कोई बात नहीं है. यह सब एक पुरुष और महिला के बीच में आम बात है.

वो वहीं बैठ गई और हम दोनों टीवी देखने लगे.

टीवी पर एक गर्मागर्म सीन‌ आया, तभी मेरी नजर दिव्या पर पड़ी.

उसने बस एक शार्ट और स्लीवलैस टी-शर्ट पहन रखा था.

वह समझ गई जब उसने मुझे ताड़ते देखा।

बस अब उसने मेरे ऊपर अपनी सुंदरता का प्रदर्शन करना शुरू किया।

वो किसी न किसी बहाने से मुझे अपने क्लीवेज के दर्शन कराने लगी और यहां मेरे बॉक्सर में लंड को सम्भालना मुश्किल हो गया.

जब वह मेरी ओर अपनी गांड ऊंची करके टेबल के नीचे कुछ ढूंढने लगी, तो हद हो गई।

उसकी कमसिन जवानी, उभरी हुई गांड और गांड की लकीर देख कर मैं गर्म हो गया.

मेरा लंड मानने को राजी नहीं था और उसने यह चीज नोटिस कर ली थी.

वो मेरे अन्दर आग लगा कर रसोई की ओर चली गई.

तभी मैंने पीछे से जाके उसे पकड़ लिया और अपना खड़ा लंड बाहर कपड़ों के ऊपर से ही उसकी गांड में लगा दिया.

अचानक हुए इस हमले से वो संभल नहीं पाई और उसकी सिसकारी निकल गई.

तभी उसने कहा- ये क्या कर रहे हो राहुल … ये ठीक नहीं है.

इसे भी पढ़ें   दीदी की फ्रेश चूत के लिए बम्बू बना मेरा लंड 2

मैंने उसे कसकर दबाते हुए उसकी चुत पर उंगली रख दी और महसूस किया कि दिव्या की पैंटी गीली हो गई थी.

मैं समझ गया था कि मामला यहां भी गर्म है.

तभी मैंने उसको पलटाया और किस करने लगा.

वो भी अब मेरा साथ दे रही थी.

करीब आधे घंटे तक हम दोनों किस करते रहे. फिर हम दोनों रूम में आ गए.

अब मैं उसके कमसिन बदन‌ को नौंचना चाहता था.

मैं उसके दोनों दूध अपने हाथों में लेकर दबाने लगा.

वो आहें लेते हुए सिसकारियां लेने लगी.

मैं टी-शर्ट के ऊपर से ही उसका एक बूब चूसने लगा और दूसरा वाला दबाने लगा.

उसके शार्ट के ऊपर से ही उसकी चुत में उंगली करने लगा.

वो छटपटाने लगी.

मुझे आपको ये सब बताते हुए काफी आनन्द आ रहा है कि मैंने दिव्या की मर्जी से उसके साथ ये सब करना शुरू कर दिया था.

मैंने उसके कपड़े उतार दिए और उसका मादक फिगर देखकर दंग रह गया.

वो मेरे सामने सिर्फ़ ब्रा और पैंटी में थी.

मैं उसके मदमस्त शरीर को वासना से निहारने लगा.

उसने मुझे अपनी तरफ खींचते हुए पूछा: तुमने पहले ऐसा फिगर नहीं देखा?

मैंने सोचा कि मैंने पहले भी ऐसा किया था..। किंतु अब तक मैंने दिव्या को इतना हॉट फिगर नहीं देखा था।

तुम लाजवाब हो, मैंने कहा।

Bhai Bahan Ki Antarvasna Sex Story

तब दिव्या ने मुझे किस करते हुए कहा कि ये सुंदरता अब तुम्हारी है!

मेरे कपड़े उतारकर मुझे बिस्तर पर गिरा दी।

मैं अब सिर्फ अपने एक कपड़े में रह गया।

मेरे पूरे शरीर को किस करने लगी।

मैंने तुरंत उसे अपने नीचे ले लिया।

मैं अब बर्दाश्त नहीं कर सकता था।

कुछ देर बाद, मैं उसकी पैंटी के ऊपर से ही चुत में उंगली करने लगा, फिर उसकी ब्रा और पैंटी भी उतार दी।

वह पूरी तरह से नंगी मेरे सामने मेरे नीचे पड़ी थी।

अब वह चुदने वाली थी, इसलिए उसे थोड़ा शर्म आने लगा।

उसकी गुलाबी चुत एक गुलाब की पंखुड़ी से कम नहीं थी।

मुझे अपनी बहन दिव्या की चुत में उंगली डालते ही उसकी चुत की कसावट महसूस हुई।

दूसरी ओर, दिव्या भी अपनी चुत में मेरी उंगली पाकर उछल पड़ी।

मुझे विश्वास नहीं हो रहा था कि इतनी कमसिन और पतली युवती मेरे सामने नग्न और चुदने को तैयार है।

मैंने अपने मन को नियंत्रित रखा और काम पर लग गया।

मैंने दिव्या की चुत में मुँह डालकर उसका रस पीने लगा।

मैं तुरंत दिव्या की चुत का सारा रस पी गया।

अब उसका समय था।

मैंने उसे अपने सात इंच लंबे लंड दिखाने के लिए अपना कच्छा उतार दिया।

वह इतना बड़ा लंड देखकर सहमत हो गई कि उसकी कसी हुई चुत में जाने वाला है।

उसने धीमी आवाज में कहा, “मैं नहीं ले सकती”। मैंने सोचा था कि मेरा लंड इतना मोटा था। दिव्या की चुत एक बार में फाड़ देगा।

मैंने उसे बताया कि अगर तुम पकड़ोगे तो कुछ नहीं होगा!

मैंने दिव्या को लंड छूने को कहा।

इसे भी पढ़ें   सेक्स की लत लगी तो दीदी बनी सहारा। Anal Girl Lick Xxx Kahani

मेरा शरीर उसके लंड से छूते ही एक झटका सा महसूस हुआ।

जब मैंने उससे कहा कि वह लंड सहलाए, तो वह सहलाने लगी।

मेरा लंड कुछ ही देर में पूरी तरह से तन गया।

अब मुझे उससे ब्लोजॉब करवाना था, लेकिन वो नहीं कर रही थी।

मैंने उसे प्रोत्साहित करते हुए उसके मुँह में अपना लंड डाल दिया।

जब वह लंड चूसने लगी, मैंने उसे बालों से पकड़कर धकेलने लगा।

मैं करीब पांच मिनट बाद उसके सामने झड़ गया।

हम दोनों कुछ देर तक चूमाचाटी करते रहे।

मेरा लौड़ा फिर से खड़ा हो गया।

इस बार मैं डरने वाला नहीं था।

फिर उसके ऊपर चढ़ गया और दिव्या की चूत पर अपने लंड का सुपारा टिका दिया।

अब मैं उसे कुछ समझा सकता था।

एक झटके में वह उछल पड़ी और रोने लगी, “मैं मर गयी”। निकालो इसे!

उसकी एक बात सुनते ही मेरा आधा लंड उसकी वर्जिन देसी चूत में घुस गया।

दिव्या ने एक तीव्र चीख निकाली, “आंह फाड़ दी”। इसे बाहर निकालो!

मैंने उसे संभाला और दिव्या को आहिस्ता-आहिस्ता चोदने लगा।

कुछ ही देर में वह शांत हो गई और मेरे साथ काम करने लगी।

अब मैं उसकी गहराइयों में प्रवेश करना चाहता था।

मैंने एक बार फिर उसकी बुर में अपना पूरा सात इंच का लवड़ा डाल दिया।

वह एक बार फिर चिल्लाई, “मम्मी मर गई।”

Hot Sister Hindi Porn Kahani

मैंने इस बार अपनी स्पीड कम नहीं की, बल्कि उसे और बढ़ा दिया।

एक मिनट बाद, वह भी अपनी गांड उछाल-उछाल कर चुदवा रही थी।

कमरे में मादक आवाजें उठने लगी।

‘आहह आह आह ऊईई…’ की आवाजें मुझे बहुत अच्छा लगा।

मैंने करीब बीस मिनट की चुदाई के बाद दिव्या को बताया कि मैं झड़ने वाला हूँ।

हां, मैं एक बार निकल चुकी हूँ और फिर से आने वाली हूँ, उसने कहा।

मैंने पूछा: किधर निकालू?

अंदर नहीं निकलना, उसने कहा।

मैंने एक तेज शॉट मारा और अपने लंड को चुत से निकालकर उसके मुँह पर झाड़ दिया।

हम दोनों एक दूसरे से लिपटकर लेट गए।

ये कहानी भी पढ़े –नींद की गोली देकर मॉम को चोदा। Step Mother Xxx Kahani

मेरी कजिन दिव्या अत्यंत प्रसन्न थी।

उस रात हम दोनों ने तीन बार चुदाई की।

अब हमें कभी भी मिलने का अवसर मिलता है..। तब हम विभिन्न पोजिशनों में चुदाई करते हैं।

मैं आपको मेरी बहन की Desi Virgin Chut Chudai Ki Kahani कैसी लगी कमेंट में जरूर बताना।

Related Posts

Report this post

मैं रिया आपके कमेंट का इंतजार कर रही हूँ, कमेंट में स्टोरी कैसी लगी जरूर बताये।

Leave a Comment