बस के कैबिन में लड़की को चोदा। Desi Girl Hindi Xxx Kahani

बस यौन आनंद नई लड़की के साथ मैं स्लीपर बस के केबिन में बैठा! ऐसे ही फोन कॉल से मैं उस लड़की से मिले। हम पहले बातें करने लगे और फिर शारीरिक संबंध बनाने लगे।

आप सभी को मेरी Desi Girl Hindi Xxx Kahani में स्वागत है, मित्र।

हर आदमी और महिला के जीवन में एक या अधिक कहानी जरूर होती है, जिसे वह दबाकर रखता है।

आज हर लड़की और लड़के के जीवन में, चाहे वह किसी को बताए या नहीं, एक सेक्स या प्यार की कहानी जरूर है।

यदि आप भी अपनी कहानी इस वेबसाइट पर पब्लिक करवाना चाहते हैं तो नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके अपने कहानी हम तक भेज सकते हैं, हम आपकी कहानी आपके जानकारी को गोपनीय रखते हुए अपनी वेबसाइट पर प्रकाशित करेंगे

कहानी भेजने के लिए यहां क्लिक करें ✅ कहानी भेजें

ऐसे ही मेरे जीवन की एक यौन कहानी है जिसमें मैं सिर्फ सेक्स करता था। जो मैंने पिछले कई दिनों से अपने अंदर छिपा रखा था।

उसकी कहानी कभी किसी को बताने की हिम्मत नहीं थी, लेकिन आज मैंने सोचा कि मुझे भी अपनी कहानी Desi Girl Hindi Xxx Kahani हर किसी को बतानी चाहिए।

Hot Sexy Girl Chudai Kahani

यही कारण है कि मैं आपके बीच में आया हूँ।

हो सकता है आपको यह सही लगता है या नहीं..। पर बताइएगा।

बात लॉकडाउन के बाद हुई।

मैं एक नंबर से फोन मिला।

सामने से एक लड़की बोली।

उसने मुझसे मेरा नाम पूछा और बताया कि उसे नौकरी चाहिए।

अब ऐसी अजीब लड़की से बात करना अजीब सा लगा।

लेकिन वह दौर बहुत खराब था..। मैंने सोचा कि यह भी किसी समस्या में है, इसलिए फोन कर रहा हूँ।

मैंने उससे बात की और उसे राहत दी। मेरा रवैया उसे अच्छा लगा।

हम WhatsApp पर रोज बोलने लगे।

हम दोनों ने आम बातों से आगे बढ़कर खुलकर बातचीत की। यौन संबंधी कुछ बातें भी होने लगीं।

वह खुद भी कुछ चंचल लड़की थी और जवान होने के कारण मजेदार बातें करने लगी।

समय गुजरने पर लॉक डाउन खुला। हम दोनों के बीच चर्चा चलती रही।

अब मैं दोनों को परिचय देता हूँ।

मैं अनिल ठाकुर, 26 वर्ष का हूँ और लखनऊ से हूँ। मैं साढ़े पांच फुट लंबा और 55 किलो वजन का हूँ। मेरा लंड छह इंच लम्बा है और दो इंच मोटा है।

सेक्स मुझे बहुत पसंद है।

जब मैं किसी सेक्सी लड़की या औरत को देखता हूँ तो मेरा दिल उसे चोदने को मचल जाता है, इसी कारण मैं कोई सेक्सी कहानी पढ़ता हूँ या चुदाई की वीडियो देखता हूँ।

मैं यहां जिस लड़की की बात कर रहा हूँ, वह है वह सीमा है। उसकी हाइट सवा पांच फिट है और रंग हल्का सांवला है।

वह 24 साल की है और उसका वजन 30-28-32 है। वह बहुत सुंदर दिखती है।

उसका लंड खड़ा नहीं रह सकता अगर कोई लड़का उसे देखता है।

इसे भी पढ़ें   मैंने आंटी की बेटी से पहले चुदाई कर दी | Hot Aunty Xxx Hindi Sex Stories

वह कानपुर में रहती है।

जब सीमा के साथ बातचीत शुरू हुई, हमारी चर्चा का मुख्य मुद्दा सेक्स था।

दूसरी बात यह है कि हमने अभी तक एक दूसरे को नहीं देखा है।

वह वीडियो कॉल करने से डरती थी। शायद उसे अपनी तस्वीर या वीडियो वायरल होने का भय था।

फिर मैंने एक दिन बाला जी जाने का कार्यक्रम बनाया और उससे कहा कि चलना हो तो चलो।

वह तैयार थी।

उधर निकलने से पहले मैंने उससे पूछा कि क्या तुम मेरे साथ सेक्स करोगी?

बाद में वह चुप रहकर कहा: “हम देखेंगे।”

हम दोनों ने जाने की योजना बनाई, लेकिन अभी तक किसी को नहीं देखा।

हमने एक बार एक दूसरे को देखने का विचार किया।

Girl Chudai Story Hindi Me

मैं उससे मिलने के लिए अकेले कानपुर गया था।

उसकी एक सहेली के कमरे में हमारी पहली मुलाकात हुई।

मैं पहली बार मिलने पर वापस आ गया और हमारे बीच क्या हुआ।

तब मैंने सोचा कि शायद मिलना बेकार हो गया, लेकिन उसने हमारे साथ जाने के लिए हां कर दी थी, इसलिए मैं आशावादी था।

हम दोनों दिन जाने के लिए तैयार हो गए।

जब मैं कानपुर पहुंचा, मैं उससे मिलकर AC बस से निकल गया।

बस करीब कानपुर पार कर चुकी थी और उसमें सिर्फ दस या बारह लोग थे।

मैंने धीरे-धीरे उसे इधर-उधर पकड़ना और छूना शुरू किया जब मुझे उसके साथ कुछ करने का मन हुआ।

उसने मेरे किसी भी काम पर कोई विरोध नहीं किया, इससे मेरा साहस बढ़ गया।

मैं उसके सीने पर या कमर में हाथ डालता।

हम दोनों आगरा पहुंचे।

वहां खाना खाने के बाद हम बाला जी के लिए बस लेने पहुंचे।

यह भी एसी बस थी, जिसमें अलग-अलग केबिन थे।

हम दोनों ने उसमें बैठ गया।

अब हम बिल्कुल स्वतंत्र थे। न कोई देखता है, न कोई टोकता है

मैंने उसे बताया कि वह अब क्या कर सकता है!

उसने हाँ कहा।

जब मैंने उसके होंठों पर किस करना शुरू किया, तो वह भी मेरा साथ देने लगी।

वह अपने होंठों को मेरे होंठों में दबाते हुए तुरंत ढीली हो गई।

मैं संतरे की फांकों की तरह उसके होंठ चूस रहा था।

उसके होंठों से बड़ा मीठा रस आ रहा था।

उसने तुरंत अपनी जीभ मेरे मुँह में डाल दी।

उसकी जीभ की गर्मी और नर्मी ने मेरे लौड़े को जला दिया।

वह अपनी आंखें बंद करके मदहोश होकर मेरे साथ बैठ गई।

मैं कुछ देर बाद उसे चूसना बंद कर दिया। उसने फिर से अपनी आंखें खोली। हमारे होंठ आपस में जुड़े हुए थे, लेकिन चुसाई नहीं हुई।

इसे भी पढ़ें   अस्पताल में मिली भाभी की होटल में चुदाई

इस बार उसने पहल की।

उसने मेरे होंठ चूसने की कोशिश की।

मैंने अपनी जीभ उसके मुँह में ठेल दी।

उसने मेरी जीभ खाना शुरू कर दी।

हम दोनों का ये खेल इसी तरह चलता रहा।

काफी हवस जाग गई।

मैंने उसके एक दूध को दबाना शुरू किया, होंठों से किस करते हुए उसके सीने पर हाथ रखकर।

उसका दूध बहुत हल्का और छोटा था। दोनों दूधों को दबाने में बहुत मज़ा आया।

फिर मैंने उसकी पैंट में हाथ डाला। उधर भारी गर्मी थी।

Tmkoc Girl Free Sex Kahani

वह भी पूरी तरह से खुली हुई थी और मैं पूरी तरह से उत्साहित था।

मैंने उसकी टी-शर्ट और पैंट भी उतार दी।

वह भी मुझे बार-बार किस करती थी।

मैं भी उसकी चूत का आनंद लेना चाहता था।

मैं उसकी चूत पर किस करके चाटने लगा।

वह सिहर गई और अपनी चूत निकालने की कोशिश करने लगी।

लेकिन अब वह मुझे चूत का स्वाद नहीं दे सकती थी।

कुछ ही देर बाद उसे मानो चूत चटवाने का आनन्द आया।

वह अपनी टांगें खुलकर मेरे मुँह में अपनी चूत डालने लगी।

मैं भी उसकी चूत के दाने को अपने होंठों से दबाकर खींचने लगा था, और उसकी आह निकलती थी जब मैं खींचता था।

उसने भी कुछ देर बाद मेरा लंड चूसना शुरू कर दिया।

अब मैं 69 की मुद्रा में आ गया और करीब दस मिनट तक हम दोनों एक दूसरे का लंड और चूत का रस पीते रहे।

फिर मैं सीधा हुआ और अपने होंठ उसके होंठों पर रख दिए।

उन्हें एक दूसरे के मुँह में जीभ डालकर मज़ा आया।

एक हाथ से उसके दूध दबा रहा था और दूसरे हाथ से उसकी बुर में उंगली डालकर उंगली से चोद रहा था।

वह भी जीभ से मेरा पूरा साथ दे रही थी और एक हाथ से मेरा लंड मसल रही थी।

फिर वह मेरे ऊपर आकर मुझे किस करने लगी, कभी माथे पर, कभी होंठों पर, कभी सीने पर।

वह मेरे पूरे शरीर पर किस करती थी।

जब मैंने उसे डॉगी शैली में आने को कहा, तो वह तुरंत ऐसा करने लगी।

मैं पीछे गया और उसकी चूत में अपनी जीभ डालकर चोदने लगा।

वह सिसकारी ले रही थी, आह करते हुए जोर से करते हुए..। खोलना बहुत मनोरंजक है..। बर्दाश्त अब नहीं होगा।

इसके बाद वह अपने पैरों से मुझे दबाने लगी।

मैंने उसकी गांड को धीरे-धीरे सहलाना शुरू किया और अपनी उंगली को उसकी गांड में डालने लगा।

मैं धीरे-धीरे उंगली पूरी तरह अंदर डालकर अपनी गांड चुदाने लगा।

इसे भी पढ़ें   किस्मत का खेल देहाती चुदाई कहानी (Long Story)

वह कुछ ही देर में पूरी तरह से गर्म हो गई और बर्दाश्त नहीं कर पाई।

अब उसको भी अपनी चूत में लंड चाहिए था, तो मैंने पीछे से चोदना शुरू किया।

उसने कहा कि यह पहली बार था..। तुम मेरे ऊपर आकर मेरी ले लो।

मैंने उसकी बात मान ली और सीधे होकर उसकी चूत पर अपने लंड को रगड़ना शुरू कर दिया।

उसने मुझे अपनी बांहों में कसकर भींच लिया और उसके मुँह से कामुक सिसकारियां निकलने लगीं।

अब चौका मारने का अवसर था, तो मैंने जोर से चूत में धक्का मारा।

वह चिल्लाने को हुई जब मेरे लंड का सुपारा उसके अंदर घुस गया।

मैं उसके दूध सहलाने लगा और उसके मुँह पर अपना मुँह रख दिया।

उसे बहुत दर्द हुआ।

Desi Girl Chudai Xxx Kahani

नीचे हाथ लगाकर देखा तो खून था।

मैं उसे सहलाने लगा और कुछ नहीं कहा।

मैंने फिर से धक्का मारा जब वह कुछ देर आराम से हुआ।

उसकी आंखें बह गईं जब मेरा पूरा लंड उसके अंदर घुस गया।

मैं उसके दूध को दबाने लगा और लंड को धीरे-धीरे अंदर बाहर करने लगा।

उसका दर्द करीब दो मिनट बाद कम हो गया और उसे भी अच्छा लगने लगा।

वह भी साथ देने लगी, और हमने लगभग 30 मिनट तक चुदाई की।

बाद में हम एक दूसरे से लिपटकर लेट गए और एक साथ पानी छोड़ा।

मैंने अपना सब कुछ तुम्हें दे दिया, सीमा ने कहा।

जब मैंने उससे इसका मतलब पूछा तो वह चुप रह गई।

तो मुझे लगता था कि ये मुझे अपना पति मान चुकी है।

इससे मैं बहुत सोच में पड़ गया कि क्या कहूँ।

मैं सिर्फ सेक्स का आनंद लेने की सोच रहा था, लेकिन अब यह कुछ अलग है।

हम दोनों लेटे-लेटे सो गए।

हम बाला जी पहुंचने वाले थे जब कुछ देर बाद नींद खुली।

हम दोनों ने कपड़े बदलकर बस से उतर कर एक होटल में चले गए।

मेल पर मुझे बताएं कि Desi Girl Hindi Xxx Kahani आपको कैसी लगी।

Related Posts

Report this post

मैं रिया आपके कमेंट का इंतजार कर रही हूँ, कमेंट में स्टोरी कैसी लगी जरूर बताये।

Leave a Comment