मौसेरी बहन की सील तोड़ी। Bhai Bahan Ki Xxx Sexy Kahani

Bhai Bahan Ki Xxx Sexy Kahani में मेरी मौसेरी बहन की कुंवारी चुत की सील टूट जाती है। मेरी मौसी की दोनों बेटियाँ हमारे घर आई हुई थी, तब ये सब हुआ.

दोस्तो, ये भाई बहन की चुदाई की मेरी यौन कहानी पर आधारित है।

आपने मेरी पिछली कहानी बहन को दिया बच्चे का सुख। Pregnent Sister Sex Story

पढ़ी थी।

यदि आप भी अपनी कहानी इस वेबसाइट पर पब्लिक करवाना चाहते हैं तो नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके अपने कहानी हम तक भेज सकते हैं, हम आपकी कहानी आपके जानकारी को गोपनीय रखते हुए अपनी वेबसाइट पर प्रकाशित करेंगे

कहानी भेजने के लिए यहां क्लिक करें ✅ कहानी भेजें

जिन पाठकों को Bhai Bahan Ki Xxx Sexy Kahani पसंद नहीं आई, उनके लिए माफी चाहता हूँ।

मेरा नाम राजेश उर्फ़ राज है और मैं जबलपुर का रहने वाला एक मिडल क्लास परिवार का लड़का हूँ।

मेरी हाइट 5 फुट 7 इंच और लंड 6.1 इंच है। मैं जबलपुर में अपनी पढ़ाई पूरी करने आया हूँ।

यह पांच महीने पहले हुआ था।

Hot Antarvasna Hindi Sex Stories

मैं उज्जैन के पास अपने गांव गया था। मेरी मौसी की बेटी वहां आई हुई थी।

मेरी मौसी दो बेटियों की मां है। 23 वर्ष की पारूल सबसे बड़ी है। जबकि मेरी उम्र २० वर्ष है।

छोटी बहन मेरे बराबर की उम्र है…। यानी वह २० साल की है। उसका नाम रचना से आता है।

वैसे भी हमारी आपस में उतनी वृद्धि नहीं हुई थी..। यही कारण था कि मैं उन दोनों से कम बोलता था।

उस दिन मैं अपने घर पहुंचते ही मेरी बड़ी बहन को देखने लगा। मतलब, मेरी मौसी की बेटी वहां थी।

उस समय वह एक हाफ निक्कर पर बैठी हुई थी, इसलिए मैं हैरान हो गया. उसकी गोरी जांघें देखकर मेरे लंड में पानी आने लगा।

वह बहुत मस्त हो गई थी।

तीन साल बाद मैंने उसे देखा।

फिर उसने मुझे देखते ही किलकारी मारकर उठकर मुझे गले से लगा लिया।

मुझे देखकर वह बहुत खुश हुई।

उसने मुझे अपने सीने से लगाते ही मुझे पहले बहुत अजीब लगा।

लेकिन मैं भी उस मोमेंट को एन्जॉय करने लगा क्योंकि उसके तने हुए दूध मेरे सीने में बह रहे थे।

फिर मैं अंदर गया और मां से मुलाकात की।

मैं जाकर फ्रेश होकर थोड़ा आराम करूँगा, फिर मैं खाना बना दूँगी।

थकान से मैं भी सीधा बाथरूम में घुस गया और अपनी बहन की चूचियों को रगड़ते हुए मस्त अहसास को याद करते हुए लंड हिलाने लगा।

मैंने मुठ मारकर शांत होकर पानी पीया।

नहा कर खाना खाने के बाद, मेरी छोटी मौसेरी बहन रचना मेरे सामने बेड पर सोई हुई थी।

उसने बहुत गहरी नींद सोई थी।

उसे देखते ही मुझे पहले कोई गलत विचार नहीं आया था। लेकिन रचना के बूब्स इतने बड़े हो गए थे कि मैं हैरान हो गया जब उसने करवट बदली।

बाद में उसने खुद मुझे बताया कि उसका फिगर 34-28-36 था।

बिना कुछ सोचे, मैं सीधे उसके बगल में लेट गया और वासना से उसके मम्मों को देखने लगा।

उसके मम्मों को देखकर मेरा झड़ा हुआ लंड फिर से मेरे निक्कर के अंदर से सलामी देने लगा।

इसे भी पढ़ें   Bhabhi Chut Fuck – ट्रेन की टॉयलेट में सेक्सी भाभी की प्यास बुझाई

मैं कुछ देर ऐसा ही करता रहा। फिर मैं हिम्मत करके उसके पेट पर हाथ रखने लगा।

मेरा साहस थोड़ा बढ़ा जब उसने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी।

अब मैंने उसके पेट को सहलाना शुरू किया।

मैं अचानक किसी की आहट सुनकर सोने लगा।

फिर नाटक करते करते मुझे नींद आ गई।

शाम छह बजे मैं उठा, गहरी नींद में सो जाने के दो घंटे बाद। अब तक, मेरी बहन उठकर मुझे देखकर खुश थी।

मैं उससे कुछ देर तक बातचीत की।

फिर हम सब एक साथ खाना खाया।

Hot Sister First Time Sex Stories

जब रात हो गई, हम सब सोने की तैयारी करने लगे। हमारे घर में दो कमरे और एक हॉल था।

मां और पापा एक कमरे में सोते थे, मैं दूसरे में।

लेकिन घर में बहुत सारे लोग होने के कारण एड्जस्ट करना था, इसलिए मैं हॉल में सोने वाला था और मेरी दोनों बहनों को मेरे कमरे में सोने के लिए कहा गया।

11 बजे रात हो चुकी थी जब उसके माता-पिता सोने जा चुके थे। हम तीनों भाई बहन एक दूसरे से बात कर रहे थे।

पारूल को कुछ देर बाद नींद आने लगी, तो वह उठकर कमरे में सोने चली गई।

रचना और मैं अभी भी हॉल में टीवी देखते हुए बातें कर रहे थे, लेकिन मैं नहीं जानता कि कब रचना सो गई।

मेरे मन में खुरापाती बातें आने लगीं जब मैंने उसे अधलेटा सा सोती देखा।

जब मैंने उसे फोन किया, तो वह कोई प्रतिक्रिया नहीं दी।

मैंने उसके पैर को लोवर के ऊपर से ही सहलाना शुरू किया जब मुझे लगा कि वह गहरी नींद में है।

मैंने उसकी चूत पर धीरे-धीरे हाथ फेरना शुरू किया, लेकिन कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली।

मेरा लंड एकदम नरम था।

अब मेरी हवस और साहस दोनों चरम सीमा पर आ गए थे।

जब मैं धीरे-धीरे अपना हाथ उसकी चुत में डाला, तो वह पूरी तरह से चिकनी थी।

उस समय मुझे बहुत प्यार हुआ और मैं उसे इसी पोजीशन में चोदने की सोचने लगा।

फिर मैंने सोचा कि इसे पहले गर्म करना उचित होगा।

मैं उसकी चुत से अपना हाथ निकालकर उसके मम्मों पर ले गया और धीरे-धीरे उसका दूध मसलने लगा।

वह अभी भी सो रही थी और कोई प्रतिक्रिया नहीं दे रही थी।

दस मिनट तक चुचियों को सहलाने के लिए उसके टॉप के ऊपर से ही मसलने के बाद मैंने अपना हाथ उसके टॉप में डाल दिया।

उसने ब्रा नहीं पहनी थी। मैं उसके बड़े चुचों को खुशी से दबा रहा था।

अब वह जाग गई थी और मुझे भी मज़ा आ रहा था।

मैंने सोचा कि लौंडिया गर्म होने लगी है जब उसकी चूचियां सख्त होना शुरू कर दीं।

मैंने उसके लोवर को गर्म होते हुए थोड़ा नीचे खींच दिया।

उसकी पैंटी कुछ भीग सी गई मेरे सामने दिखाई दी।

मैंने पैंटी और लोअर एक साथ उतार दिए।

इसे भी पढ़ें   दीदी की मलाईदार चुत में ऑन्टी का लन्ड

हॉल में अंधेरा होने के कारण मैं उसकी चुत को ठीक से देख नहीं पाया..। लेकिन अंधेरे में उसकी चुत पर उभरा हुआ पानी अभी भी चमक रहा था।

जब मैंने चुत को छुआ, उसे करेंट लग गया। मैंने उसकी टांगों को फैलाया और इतनी नरम चुत को छू लिया।

उसकी चुत की भीनी-भीनी महक मुझे मदांध करने लगी, इसलिए मैंने बैठकर चाटना शुरू कर दिया।

उसने अपने हाथों से मेरे सर को अपनी चुत पर दबा लिया, जैसे ही मेरी जीभ ने उसकी चुत को छू लिया।

खेल का खुलासा अब हुआ था।

Hot Sister Porn Kahani

मैं भी खुशी-खुशी अपनी बहन की चुत चाटने लगा, और वह भी खुशी-खुशी अपनी गांड उठा कर मुझसे चुत चटवाने का मजा ले रही थी।

मेरी बहन कुछ मिनट बाद शरीर को अकड़ने लगी और आह आह करती हुई गिर पड़ी।

अब मैं था..। मैंने 6.1 इंच का लंड अपने निक्कर से निकालकर उसकी चुत की फांकों में डालकर रगड़ने लगा।

उसने मेरे लंड की ओर भी अपनी टांगें फैला दी। मैं उसके ऊपर चढ़ सा गया और उसकी एक निप्पल मुँह में लेकर पीने लगा।

चूची चुसवाने में उसे बहुत मज़ा आ रहा था, इसलिए वह अपनी छाती उठा कर मुझे पूरा दूध चुसवाने की कोशिश कर रही थी।

साथ-साथ अपनी गांड उठाकर मेरे लंड को अपनी चुत में डालने की कोशिश करती थी।

मैंने उसे अधिक तड़पाने के बजाय उसके होंठों पर अपने होंठ रखकर धीरे-धीरे अपना लंड उसके चुत में डालने लगा।

बहन की चुत की फांकें एकदम मजबूत थीं।

मैं अभी नहीं जानता था कि उसकी चुत खुली है या नहीं।

हालाँकि, जो भी हो, वह एक अच्छी बात थी।

जब उसकी चुत पर लंड फिसल गया जब मैंने धक्का मारा।

वह चिहुंक गई जब उसने लंड की सरसराहट अपनी चुत पर महसूस की, लेकिन मैं उठकर फिर से चुत पर लंड टिका दिया।उसने फिर से धक्के का इंतजार किया।

इस बार मैंने अपने लंड पर एक बड़ा थूक लगाकर उसकी चुत की फांकों में फंसा दिया, तो वह लंड को अपने हाथ से पकड़कर छेद में सैट कर दिया।

लंड का सुपारा अंदर चला गया जब मैंने धीरे से धक्का दिया।

वह सिहर उठी जब लंड उसके अंदर घुसा।

वह चीख नहीं सकी क्योंकि मैंने उसके होंठों को अपने होंठों से बंद किया था।

किंतु उसका दर्द और भी बढ़ गया, इसलिए वह मुझे धक्का देकर मुझे बाहर निकालने की कोशिश करने लगी।

उसकी चुत ऐसी थी मानो खाली हो गई हो..। लंड डालते ही मुझे लगता था कि मैं ही इसकी चुत को फाड़ने वाला हूँ।

मुझे लगता था कि मैं चुत की सील तोड़ दूंगा, भले ही चुत टाइट थी।

वह अपनी स्वतंत्रता को लेकर बहुत तड़फ रही थी और चिल्लाने की कोशिश कर रही थी।

लेकिन मैंने उसे शिकारी की तरह पकड़ लिया।

वह बहुत छटपटा रही थी, लेकिन मैं नहीं रुका और दूसरे धक्के से उसकी चुत की फांकों को चीरते हुए अपना लंड पूरा अंदर ठांस दिया।

इसे भी पढ़ें   मेरी सच्चे प्यार की कहानी 1 | Chudai Ki Hot Sexy Kahani

वह चिल्ला नहीं सकी क्योंकि मेरे होंठ उसके होंठों पर जम गए थे।

मैंने लंड को अंदर डालकर रुक गया।

Bhai Bahan Chudai Ki Desi Kahani

मुझे मुर्गी की पीड़ा महसूस हुई।

मैंने समझा कि इसकी सील टूट गई है जब मैंने अपने लंड पर कुछ गर्म, गर्म सा महसूस किया।

मैं कुछ समय रुक गया। उसको थोड़ा आराम मिलने पर, मैंने लंड को धीरे-धीरे हिलाना शुरू किया।

अब उसकी कमर भी जुम्बिश देना शुरू कर दी थी, जिससे उसे दर्द भी नहीं होता था।

अब वह भी मेरा साथ देने लगी।

जब मैंने उसके होंठों से ढक्कन निकालकर उसे चूमा, वह मेरे सीने पर घूंसा मारने लगी।

मैं धीमी आवाज में हंसकर पूछा: क्या हुआ?

तो उसने सिर्फ मुस्कराकर कुछ नहीं कहा।

अब जब उसे भी चुदाई का मज़ा आने लगा, मैंने अपना लंड एक बार में पूरा बाहर निकाला और पूरा अन्दर घुसा दिया।

इस बार उसने अपनी हल्की सी चीख को दबा लिया था।

मैंने अपनी बहन को चोदा।

तो उसका मुँह “आउहह..।” राज चोदो..। हाय, हार्ड राज! “प्लीज़ फक मी.” की आवाज आने लगी।

अब मैं अपने लंड के धक्के तेज करने लगा था।

लेकिन मुझे थोड़ा डर भी था कि शायद कोई आ जाए।

तब उसने कहा, “राज, जल्दी करो..।” कोई आ न जाए।

मैं भी ताबड़तोड़ चुत फाड़ने लगा।

मैं करीब पंद्रह मिनट बाद उसकी चुत में झड़ गया।

वह उठने लगी तो उसके टांगों और चूत में इतना दर्द था कि वह चल भी नहीं पा रही थी।

ये कहानी भी पढ़े – बड़ी बहन को ब्लू फिल्म देखते पकड़ा। Xxx Big Sister Hot Sex Story

मैंने उससे कहा कि अगर कोई पूछे कि क्या हुआ और तुम ऐसे क्यों चल रहे हो, तो बताओ कि मोच आ गई है।

हां, उसने हंसकर कहा।

बाद में मैंने मौसी की बेटी को कई बार चोदा, साथ ही उसकी बड़ी बहन को भी चोदा, जो मैं अगली कहानी में बताऊंगा।

मुझे Bhai Bahan Ki Xxx Sexy Kahani पसंद आई होगी, तो कृपया मुझे मेल करें।

nonvegsexykahani@gmail.com पर संपर्क करें

Related Posts

Report this post

मैं रिया आपके कमेंट का इंतजार कर रही हूँ, कमेंट में स्टोरी कैसी लगी जरूर बताये।

Leave a Comment