ममेरी बहन के साथ खुलकर चुदाई की।Antarvasna Married Sister Ki Sexy Kahani

Antarvasna Married Sister Ki Sexy Kahani में मैंने अपनी मामा की खूबसूरत बेटी की चूत को चोदा। हम फोन पर बात करते थे। एक बार शादी में मिले तो हम खुद को नहीं रोक पाए।

हम हर दिन रिश्तों में सेक्स देखते, करते, सुनते हैं और यहाँ अन्तर्वासना पर पढ़ते हैं।

पाश्चात्य समाज की चकाचौन्ध में रिश्तों की मर्यादा बहुत पहले ही पीछे छूट चुकी है, और घर में ही चूत और लण्ड मिलने लगे हैं।

मेरी पिछली कहानी

यदि आप भी अपनी कहानी इस वेबसाइट पर पब्लिक करवाना चाहते हैं तो नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके अपने कहानी हम तक भेज सकते हैं, हम आपकी कहानी आपके जानकारी को गोपनीय रखते हुए अपनी वेबसाइट पर प्रकाशित करेंगे

कहानी भेजने के लिए यहां क्लिक करें ✅ कहानी भेजें

बिना कटे लंड से चुदने की चाहत। Xxx Goa Group Sex Kahani

मैं भी पहले इस मर्यादा में रहता था और ऐसी बातें सुनकर परेशान हो जाता था।

लेकिन अन्तर्वासना पर पढ़ते पढ़ते मुझे भी लगने लगा और मैं भी रिश्तों में चूत ढूंढने लगा।

मजेदार बात यह है कि पिछले कुछ समय में मैं सिर्फ पांच प्यासी चूतों को बजा चुका हूँ, जिनमें से तीन मेरी भाभी थीं और तीनों ही एक से बढ़कर एक थीं, जिनके पैर मैं हमेशा छूता था, वे मेरे लण्ड की मांग कर रही थे।

इनके अलावा उनकी माँ की बहन और एक छोटी बहन भी इनमें से हैं।

इसके अलावा कुछ दूर के रिश्ते भी हैं।

आज मेरी उम्र ३३ वर्ष है और मैं चंडीगढ़ में रहता हूँ।

सेक्स मेरी आवश्यकता से अधिक एक आदत बन गया है।

लेकिन सामने वाले और मेरी दोनों की सहमति से ही मैं इस समय को पसंद करता हूँ।

सेक्स कोई भागदौड़ में करने वाली बात नहीं, बल्कि अपने पार्टनर और खुद को रिलैक्स करने का साधन है।

इसलिए मैं Antarvasna Married Sister Ki Sexy Kahani पसंद करता हूँ।

मैं भी एक फैंटेसी रखता हूँ कि मैं अधिक उम्र की किसी रईस औरत के साथ एक छुट्टी पर सेक्स करने के लिए बहुत उत्सुक हूँ।

Xxx Antarvasna Sister Ki Chudai Kahani

लेकिन मैं नहीं जानता कि ये फैनटेसी कब समाप्त होगी।

ठीक है, मैं मैरीड सिस्टर की यौन कहानी पर आता हूँ।

यह मेरे और मेरी मामा की बेटी रिया के यौन संबंधों की कहानी है!

तब मैं ३० वर्ष का था, मेरी शादी को ३ वर्ष और उसकी शादी को २ वर्ष हुए थे।

फ़ोन पर हमारी बातें धीरे-धीरे होती थी, लेकिन कभी-कभी दो बार मीनिंग भी होती थी।

जैसे मैंने पूछा कि क्या कर रही है, उसने कहा कि मैं लेटी हुई हूँ।

तो मैं कहता कि किसके साथ।

या वह कहती कि मैं नहाने जा रही हूँ।

तो मैं कहता कि अकेले..।

वह शर्मा जाती है।

इस तरह की छोटी-छोटी बातें होने लगी और धीरे-धीरे बढ़ती गईं।

फिर हम एक दूसरे को गंदे फ़ोटो भेजना शुरू कर दिया।

धीरे-धीरे बात सेक्स के मजे तक पहुँच गई, खासकर कब और कैसे कोन सेक्स करता है।

ये सब होने पर भी अभी तक सीमित था।

लेकिन मेरी एक बहन की शादी के समय हमें जल्दी ही मौका मिला।

वह शादी से कुछ दिन पहले आई थी, और हम दोनों ने एक दूसरे को गले मिलाकर अभिवादन किया।

लेकिन इस बार गले मिलने का आनंद कुछ अलग था।

उसने अपनी दोनों चूचियों को मेरी छाती पर गाड़कर हल्की झप्पी की।

मैं थोड़ा शर्मा गया, लेकिन आज उसे देखने का मेरा तरीका भी अलग था।

ठीक है, शादीवादी के सभी लक्ष्य पूरे हो गए।

इतने दिनों से हम भी सामान्य रूप से मिल रहे थे और बात कर रहे थे।

हम दोनों को विदाई के बाद और करीब आने का मौका मिला।

उस दिन घर में रिश्तेदार काफी थे, इसलिए सोने की जगह कम थी. मैं बड़े कमरे में बेड के किनारे गद्दा लेकर लेट गया।

बाद में पता चला कि रिया भी उसी बेड पर आ गई, मेरी तरफ।

लाइट चली हो गई थी।

उसने तुरंत मुझे अपनी टांग से ऊपर से हिलाया।

मैं जाग रहा था।

सो गया क्या? उसने पूछा।

नहीं, मैंने कहा।

रिया ने भी कहा कि उसे नींद नहीं आती।

धीरे-धीरे हम बात करने लगे।

मैंने उसकी तरफ मुँह कर लिया और उसकी कमर सहलाने लगा।

इसे भी पढ़ें   कुंवारी बुर का भोसड़ा बनाकर छोड़ा

अब बातें कम होने लगी और हमारी हरकतें बढ़ने लगी।

वह मेरा हाथ नहीं हटाई, हालांकि थोड़ा कसमसाने लगी।

यह मेरे लिए एक ग्रीन संकेत था।

मैं नीचे से उसके चूचियों की ओर हाथ बढ़ाने लगा।

उसने मेरा साथ भी दिया और मेरी तरफ मुंह करके लेट गयी, ताकि बेड के दूसरे किनारे पर सो रहे व्यक्ति को कुछ भी नहीं हो।

उसने ब्रा पहनी हुई थी, लेकिन मैंने उसका साइज नाप लिया।

मुझे आश्चर्य हुआ कि उसके चूचे मेरे अंदाज से ज्यादा बड़े थे; पूरी तरह से एक हाथ में नहीं आ रहे थे।

मैंने उसकी निप्पल को हल्के से दबाया, जिससे वह एकदम से चिहुंक उठी और पूरी तरह गर्म हो गई।

मैं थोड़ा ऊपर उठकर उसकी चूत को मुँह में लेकर चूसने लगा, हाथ को नीचे लोअर के ऊपर से दबाने लगा।

उसकी सांसें बढ़ी।

वह मेरे हाथ से अपनी चूत रगड़ने लगी।

मैंने अवसर देखते ही उसके पैंटी और लोअर में हाथ डाल दिया।

रिया को गर्म हाथ का स्पर्श मिलते ही उसके सांस ऊपर-नीचे होने लगी।

मैं पहले एक उंगली चूत में डालने लगा, फिर दो।

मुझे और आसानी हुई जब  रिया ने दोनों टांगें खोल दीं।

रिया के चूचों पर मेरे होंठ और उंगलियां जबरदस्त रगड़ रहे थे।

रिया की चूत से पानी निकल रहा था।

जब उसने मेरे हाथों को दोनों टांगों से दबाकर शरीर को कस लिया, तो उसका सारा पानी मेरे हाथ पर गिरने लगा।

उस दिन का काम यही था।

लेकिन दो दिन बाद हमें मौका मिला।

हम दोनों ने इन दो दिनों में बहुत मज़ा किया।

अब वह शांत होकर सो जाती है..। लेकिन महाराजा, मेरा लण्ड अधूरा रहता!

2 दिन बाद, मेहमान लगभग चले गए, तो हम दोनों को उसी कमरे में एक ही बेड पर सोने का अवसर मिला।

वह या तो पहले ही सो गई, या फिर सोने का नाटक करती थी।

मैंने धीरे-धीरे उसके हाथ को दबाना शुरू किया, फिर सहलाना शुरू किया।

लेकिन उसने गहरी नींद में सोने की कोशिश की।

Married Sister Ki Hot Chudai Ki Kahani

मैं अपने हाथों को उसकी टाँग पर रखकर सहलाने लगा।

उसने मेरी तरफ मुँह करके सोने का नाटक करती रही।

मैंने रिया की चूचियों पर हाथ रखा तो पता चला कि उसने ब्रा नहीं पहनी थी।

उसकी सख्त और बड़ी चूचियाँ थीं।

मैं उन्हें टॉप से ही सहलाने लगा।

उसने एक बार मेरा हाथ पकड़ लिया और कहा कि शरारत मत कर सो जाओ।

साथ ही वह सीधा हो गया।

अब मैं थोड़ा पास आकर उसकी चूत को नीचे पैर के अंगूठे से सहलाने लगा, ऊपर हाथ डालकर उसकी चूचियों को सहलाने लगा।

यह उसे गर्म करने में काफी था।

अब उसने भी सहयोग करना शुरू किया।

मित्रों, यह सच है कि जो चूत हमें जीवन में सिर्फ एक या दो बार मिली है, वह सबसे अधिक याद आती है।

अभी तक मैं सिर्फ दो बार उसकी चूत चोद पाया हूँ!

रिया दो साल की शादीशुदा है, लेकिन उसकी चूत और चूची टाइट थीं।

उसने बताया कि उसका पति उसे हर दिन चोदता है, लेकिन लण्ड मुझसे छोटा है और कोई फोरप्ले नहीं करता, सिर्फ सीधे चूत पर चढ़ाई करके पानी निकालकर सो जाता है।

रिया पूरी तरह से गर्म हो गई थी जब वह अपनी चूत और चूचियों को सहलाती थी।

मैंने अपनी करवट बदली, मुँह को उसकी चूत की तरफ लाकर उसका लोअर और पैंटी नीचे सरका दी।

रिया को समझने में कुछ समय नहीं लगा क्योंकि ये सब अचानक हुआ।

मेरी गर्म जीभ रिया की चूत पर लगते ही वह तड़प उठी और उसके मुंह की ओर मेरा लण्ड लोअर के ऊपर से दबाना शुरू कर दी।

मेरे लौड़े का साइज सामान्य से अधिक है और मैं इस समय रिया की चुदाई करने के लिए इतना खुश था कि पूरे उत्साह से झटके मार रहा था।

रिया मेरा लण्ड दबाते हुए कसमसा रही थी, जबकि मैं उसकी चूत में जीभ फेर रहा था।

इसे भी पढ़ें   सीमा का भाई

लड़की चुदवाये बिना नहीं रह सकती अगर उसके चूत के दाने पर उंगली या जीभ लग जाए। मैं अभी भी खेल खेलता हूँ, यह सब जानते हैं।

रिया मेरे सिर के दोनों तरफ अपनी टांगों को लपेटकर चूत को चटवाने लगी।

ऊपर से मेरे हाथ उसकी चूचियों को मसल रहे थे, जबकि मेरी जीभ नीचे से बढ़ती जा रही थी।

और उसके हाथ मेरे लिंग पर थिरक रहे थे।

मैंने अवसर देखकर ऊपर चढ़ना शुरू किया, उसकी गहरी नाभि और पेट से चूचियों तक पहुँचकर उसकी निप्पल को मुँह में ले लिया।

टॉप खुला खुला सा ही था, इसलिए मैं अपने आप से ऊपर चला गया और चूची चूसते हुए उसे भी निकाल दिया।

रिया ने मेरे बालों को खींचा और कहा, “भाई, चूत में तो आग लगा दी, अब जल्दी से लण्ड भी डाल दो।”

मैंने कहा, “चिन्ता मत करो..।” तू आज मेरी कुतिया बन जाएगी। आज तुम्हारी चूत मेरे लौड़े से खा जाएगी। तुम्हारे पति ने क्या चोदा है, आज से, जब भी तुम अपने पति से चुदोगे, मुझे याद करो।

सेक्स करने के लिए बेचैन मरिड सिस्टर ने कहा, “अब और न तड़पा, जल्दी से डाल दे।”

मैंने उसके होंठों पर अपने होंठ रखकर उसके होंठों पर किस करने लगा।

उसने मेरी जीभ उसके मुँह पर रखी और मेरी जीभ उसके होंठ पर चूसना शुरू कर दिया।

इन सबके साथ, हमारे सारे कपड़े एक एक कर के केले के छिलके की तरह गिर गए।

उसकी चूत बार मेरे लण्ड को भरने की कोशिश कर रही थी।

प्रिय, लण्ड को चूत में डालने से पहले चूत के ऊपर रगड़ो. अगर यह लड़की को परेशान नहीं करता तो मुझे बताओ।

उंगली से धीरे-धीरे चूत के दाने को रगड़ते हुए, कितनी ही हरामी चूत हो या चुदेल हो, वह आपके लण्ड के आगे झुक जाएगी।

और अधिक समय बर्बाद न करते हुए, मैं धीरे-धीरे बेड से उतरा और उसे कुतिया की तरह बैठाने लगा।

अब उसकी चूत बाहर निकल गई।

चूत रस टपक रहा था, जैसे झड़ गया हो।

मैंने धीरे-धीरे अपना लौड़ा उसकी चूत में डालना शुरू किया।

दोनों कामुक मुद्रा में वासना के पुजारी अपनी इहलीला को अंजाम दे रहे थे, हल्की हल्की आह के साथ।

आज मेरी माता-पिता की बहन मुझसे चुदने जा रही थी।

वह भी ऐसा ही मानती थी।

उसकी चूत की दीवारों को मेरा लण्ड भेदता जा रहा था।

मित्रों, अपने पति से इतना चुदने के बाद भी अगर आपकी चूत टाइट है तो आपको कुछ सोचना चाहिए। उसने चुदाई में कितना मज़ा लिया होगा!

ठीक है, चोदना लिंग का काम है, और चुदना चूत का!

रिया धीरे-धीरे फुसफुसाती हुई अपने पैरों को दबाती हुई कहा, “जल्दी करो, साले, डाल दो।” कब से चुप है? तुम्हारे लण्ड ने बचपन से सपने देखे हैं..। तुम आज मेरा सपना पूरा करो।

रिया को मछली नहीं मिल रही थी।

मैंने 8-10 बार धीरे-धीरे लण्ड को अंदर बाहर किया और अब तक लण्ड पूरी तरह से चूत में समा गया था, सिर्फ एक झटके से जड़ तक बैठ गया था।

झटका लगते ही वह हल्के से चिहुंक उठी और ऊपर की ऊपर सांस लेने लगी।

उसने जोर से अपनी चूत भींच ली।

मैंने सोचा कि कोई शोर नहीं होगा।

मैं रुक गया और अपने हाथों से 36 साइज के उसके नीचे लटके हुए चूचे सहलाने लगा।

वह धीरे-धीरे सामान्य हो गई और कहा, “भाई बता तो देता, झटका मारने से पहले!” मैं मर गया। तुम्हारा लण्ड अपने बहनोई से बड़ा है। उसकी लुल्ली छोटी है, लेकिन बहुत देर काम करती है।

मेरी कुतिया अब सामान्य हो गई।

मैंने धीरे-धीरे लण्ड को आगे पीछे करना शुरू कर दिया और स्पीड को बढ़ाना शुरू कर दिया।

नीचे से उसके चूचे जोर से हिल रहे थे।

अब मेरी बहन पूरी तरह से चुद रही थी—आहह हहह..। आहहह..। ओहह..। धीरे-धीरे!

उसकी आँखें बह रही थीं।

लण्ड पिस्टन की तरह पूरी स्पीड से चल रहा था।

उसकी आंखें बंद होने लगी और लगभग २५-३० जोरदार झटकों के बाद उसकी चूत से खून निकलने लगा।

इसे भी पढ़ें   मामी की बहन ने मुझे और मामी को सेक्स करते हुए देखा | Girl fuck story

मेरा लंड बाहर निकल गया जब वह गिर पड़ी।

लेकिन मैं अभी अधूरा था, इसलिए मैंने रिया को सीधा कर उसकी टांगें चौड़ी करके बेड से नीचे खींचा।

अब टांगें मेरे कंधे पर थीं और बेड उसकी कमर तक था।

उसने दो मिनट रुकने को कहा!

तब मैंने उसका टॉप उठाकर उसकी चूत का पानी साफ किया।

मैं उसकी चूत के दाने को अंगूठे से सहलाने लगा ताकि वह जल्दी तैयार हो जाए।

यहाँ मेरे लण्ड का सुपारा पूरी तरह से लाल हो गया।

मैंने उसकी टांगों को कंधे पर रखा और एक झटके में पूरा लण्ड चूत में डाल दिया।

मैं वहशी हो गया था, हालांकि वह इसके लिए तैयार नहीं थी।

उसकी बच्चेदानी सीधे लण्ड से टकरा रही थी।

मैं बड़बड़ाया जा रहा था और कह रहा था, “मेरी धन्नो, आज मेरे घोड़े से चुद!” साली रंडी छिनाल..। तुम्हारी चूत बहुत तंग है!

Hot Antarvasna Bhai Bahan Ki Chudai Kahani

मैंने फिर पूछा: ये चूत किसके लिए है?

रिया, मेरे प्यारे भाई!

मैं: क्या तुम मेरी है?

रिया, मैं तुम्हारी प्रेमिका हूँ, प्यार से चोद!

मैं: मैं मुँह में पानी निकालू या चूत में?

रिया, मुझे एक बूंद चाटनी चाहिए, मैं तेरा लण्ड रस पीना चाहता हूँ।

मुझे घपाघप धक्के लग रहे थे।

भगवान ने भी क्या बनाया है..। एक चूत नामक इंजन जिसे लण्ड नामक पिस्टन ही चलाता है

हम दोनों आज शादी कर रहे थे जैसे यह हमारी आखिरी शादी हो।

बाद में, रिया ने बताया कि वह यहाँ हमारे घर रहते हुए स्कूल में पढ़ाई करते हुए मेरे लण्ड की दीवानी थी।

उसने बचपन में मुझे नहाते हुए देखा है और मेरी फ्रेंची के उभार को देखकर अपनी चूत को रगड़ा है।

ये सब सुनकर मुझे बहुत अच्छा लगा।

वह उस समय बहुत छोटी होती थी, लेकिन आज उसके बच्चे बड़े हैं।

मिशनरी पोजीशन में उसकी चूत और मेरा लिंग आपस में ठप्प ठप्प की आवाज कर रहे थे।

मेरा उत्साह उसके चुच्चे हिलाकर बढ़ा रहा था।

रिया ने आंखें बंद करके चुदते हुए होंठ दबाते हुए मज़ा लिया।

मैंने उसे लण्ड से चोदते हुए देखा, बहुत ही सलीके से।

उसका हल्का सांवला रंग और चमक उसे बिपासा बसु की तरह सुंदर बनाती थी।

ऊपर से टाइट तीखे खड़े हुए चुच्चे और मम्मे

मेरा लिंग अकड़ने लगा।

मैंने उसके बालों से उसका लंड बाहर निकालकर सीधा करके उसके मुंह में डाल दिया।

मैरी मैरिड सिस्टर को अपनी जीभ से खींचकर चूसने लगी।

मैं उसके मुंह को चोदने लगा और उसके गले के अंदर तक लण्ड उतार दिया।

रिया की आंखों में आंसू बह रहे थे, लेकिन उसे मुझे रोकने या लण्ड को छोड़ने का कोई मन नहीं था।

12-15 तीव्र झटकों के बाद, लण्ड का सुपारा फूला और उसके मुंह में झरना सा बह गया।

लण्ड से निकला लावा और उसके मुंह की लार मिलकर उसकी चूची पर गिरने लगे।

हम दोनों एक दूसरे के ऊपर गिर गए और रिया कुल्फी की तरह सुपड़ सुपड़ कर सारा पी गई।

रिया और मैं जोर से सांस लेते रहे।

उसने कहा कि यह अब तक का सबसे मजेदार सेक्स अनुभव था।

आपको मेरी Antarvasna Married Sister Ki Sexy Kahani कैसी लगी?

यह लेखन हर किसी से अलग है, इसलिए शायद आपको पसंद नहीं आएगा।

लेकिन आपकी राय मुझे लिखने के लिए प्रेरित करेगी।

Related Posts

Report this post

मैं रिया आपके कमेंट का इंतजार कर रही हूँ, कमेंट में स्टोरी कैसी लगी जरूर बताये।

Leave a Comment