विधवा बेटी की चुदाई

ये स्टोरी है राम लाल और उसकी बेटी अनिता के बिच हुए एक सच्चे वाकया के बारे में. है |

राम लाल एक आम सा आदमी था पर उसके गाँव में उसकी थोड़ी धाक थी. क्योकि वो एक किराने की दूकान चलाता था. तो गाँव छोटा होने के कारण वो लोगो को उधार भी देता था |

दिखने में वो एक साधारण सा ही आदमी था उसकी पत्नी का देहांत काफी पहले हो गया था घर में वो अपने बेटे और बहु के साथ रहता था |

उसकी एक बेटी भी थी जिसका नाम अनिता था दिखने एक में वो एक दम हुर की पारी थी और एक अच्छे परिवार में उसकी शादी भी हो गयी थी |

यदि आप भी अपनी कहानी इस वेबसाइट पर पब्लिक करवाना चाहते हैं तो नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके अपने कहानी हम तक भेज सकते हैं, हम आपकी कहानी आपके जानकारी को गोपनीय रखते हुए अपनी वेबसाइट पर प्रकाशित करेंगे

कहानी भेजने के लिए यहां क्लिक करें ✅ कहानी भेजें

सब कुछ सही चल रहा था पर एक दिन अचानक सुबह सुबह एक ऐसी खबर आती है की राम लाल का पूरा घर मातम में दुब जाता है |

खबर ये थी की उसकी एकलौती बेटी का पति यानि उसका दामाद अब नहीं रहा. वो सुबह सुबह एक कार दुर्घटना में मारा गया था |

जब राम लाल बेटी के ससुराल गया तो बेटी को देख कर राम लाल का सीना पसीस सा गया | वो तो जैसे मरने को हो हो गया और हो भी क्यों न वो उसकी प्यारी बेटी जो थी |

अभी कुछ ही दिन पहले तो उसकी बेटी और दामाद उनके घर कुछ दिन बिता कर गए थे |पर अब ये अचानक से क्या हो गया. राम लाल को कुछ समझ नहीं आ रहा था |

कुछ दिन बीत गए और एक दिन राम लाल के कानो ये खबर पड़ी की उसकी बेटी के ससुराल वाले उसे रखना नहीं चाहते | इस बात से राम लाल बहुत परेशान हो गया और उसने अपनी बेटी के ससुर से मिन्नतें की के वो अपने छोटे बेटे की शादी अनिता से करा दे |

पर बेटी के ससुर ने साफ़ साफ़ इंकार कर दिया | एक दम हुए इस बदलाव ने राम लाल को कुछ लोगो के असली चेहरे दिखा दिए थे |

राम लाल के अंदर गम और गुस्सा दोनों ही पनप उठे थे | उसने थान ली थी की उसकी बेटी को वो उसका हक़ जरूर दिलवाएगा. क्योकि उसकी बेटी के ससुराल वाले काफी बड़े घर के थे |

इसके बाद ही राम लाल अपनी बेटी को घर ले आया | हलाकि उसने कहा ये था की वो कुछ दिनों के लिए उसे लेजा रहा है | घर पर कुछ दिन बीतने के बाद उसने अपना दिमाग दौड़ना शुरू कर दिया था |

वो जनता था की इस तरह अगर उसने देर की तो सब कुछ हाथ से निकल जायेगा | इसलिए उसने अपनी बेटी से बात करना ठीक समझा | उसने अकेले में सीधे सीधे अपनी बेटी से बात करी की कही वो पेट से तो नहीं है ?

इसे भी पढ़ें   ससुर जी का जवान लंड-3

पर बेटी के जवाब से राम लाल के पेरो से जमीन खिसक गयी | उसने बताया की उसका पति नपुंसक था और उन दोनों ने फैसला किया था की वो एक बचा गोद लेंगे पर अब तो ऐसा मुमकिन ही नहीं था |

ये बात पूरी करते ही बेटी की आँखों से आंसुओं की नदी बह गयी पर राम लाल ने अपनी बेटी से एक ही बात कही वो ये की अगर वो उसकी हर बात माने तो उसके ससुराल वाले उसे कभी घर से नहीं निकल सकते |

पिता की बात सुन कर बेटी थोड़ी संभल गयी और उसने राम लाल को कहा की वो उनकी बेटी है वो उनकी बात नहीं मानेगी तो किसकी मानेगी फिर उसी शाम अचानक से ही अनिता को अपने साथ चलने को कहा |

घर पर उन्होंने कहा की वो दूर एक मंदिर में जाकर आ रहे है कुछ दिन लग जायेगे और राम लाल अपनी बेटी अनिता को एक जंगल के बिच बने एक घर में ले गया वो जगह एक सुनसान सी जगह थी |

पायल के दिमाग में बहुत से सवाल थे वो कहने ही वाली थी कि राम लाल खुद बोल पड़ा देखो बेटी अगर तुम्हे उस घर में रहना है या उसे घर से अपना हक़ लेना है. तो तुम्हे एक बचा पैदा करना होगा फिर चाहे वो किसी का भी बचा हो | पिता के मुँह से ये बात सुन कर पायल हैरान रह गयी |

इससे पहले की वो कुछ कहती तभी कमरे में दो आदमी अन्दर आ गए वो हट्टे कट्टे आदमी थे कद काठी से लम्बे और शरीर से ताकतवर थे | राम लाल ने उनको आँखों ही आँखों में इशारा किया उसका इशारा पाते ही दोनों मे से एक आदमी ने अनिता को अपनी गोदी में उठा लिया जैसे वो कोई गुड़िया हो |

इससे पहले की वो कुछ बोलती वो आदमी उसे लेकर एक कमरे में घुस गया और दरवाजा बंद कर दिए | अनिता घबरा गयी थी पर कही न कहनी वो अपने पिता की बात समझ चुकी थी तो उसने अपने पिता की बात को पूरा करने की ठानी फिर उसके बाद जो कुछ करना था उस आदमी को करना था |

उसने पायल को नंगी करने के लिए उसके सारे कपडे फाड़ दिए अनिता थोड़ी डर गयी और थोड़ा शोर भी मचाया पर बहार बैठे राम लाल पर इसका कोई असर नहीं पड़ा उसने यही सोचा की एक विधवा की चुदाई हो रही है जिससे मेरी बेटी की मदद होगी |

इसे भी पढ़ें   स्कूल फ्रेंड के साथ पहली बार सेक्स किया

फिर उसके बाद उसकी फूल सी बेटी पर पहला सांड चढ़ गया उसने उसके कमसिन बूब्स को अच्छी तरह से रगड रगड के मसल दिए और अनिता के मुह से आह्ह्ह्ह…….ओह्ह्ह्हह …….आह्ह्हह्ह्ह्ह……..कर रही थी |
फिर उसने उसकी चूत को चूस चूस कर लाल कर दिया | और अनिता तड़पने लगी कहने लगी जोर से चाटो तेजी से चाटो में झरने वाली हु फिर वो उस सांड के मुह में झड गयी |

फिर पहले वाले सांड ने अपनी पेंट उतार कर अपना 10 इंच लम्बा 5 इंच मोटा काला लंड निकाल लिया जिसे देख अनिता बहुत डर गयी उसने अपना लंड अनिता के मुह के पास ले जा के कहा ले चूस मेरी रानी पर अनिता को डर लग रहा था वो मना करने लग गयी फिर उस सांड ने उसके बाल पकड़ कर जबरदस्ती उसके महू में टूस दिया और आगे पीछे करने लग गया अनिता को दर्द हो रहा था उसके मुह से गू …गू… गू….. की आवाज निकलने लगी | फिर उसने थोड़ी देर बाद अनिता को छोड़ दिया फिर जा के कही अनिता को राहत की सास आई जेसे ही उसने राहत की लेते ही उस सांड ने अपना 10 इंच लम्बा मोटा काला लंड उसकी कमसिन चूत पर रख कर जो दक्का दिया अनिता मुह से चिलाने की आवाज आई ओह्ह्ह्हह……….. माँ……. में…… मरर्र्र्रर………..गयी………. और रोने लगी उसका रोना किसी को भी सुनाई नहीं दे रहा था |

फिर उस सांड ने पूरी ताकत लगा कर उसकी चूत में गुसाने लग गया जेसे जेसे अन्दर जा रहा था वेसे वेसे अनिता की रोने की आवाज तेज हो रही थी और बेहोश हो गयी उस सांड ने पूरा जोर दे कर अपना 10 इंच लम्बा लंड उसकी चूत में गुसा दिया और 10 मिनट तक बेहोश हालत में चोदता रहा | उसके बाद उसने लंड बाहर निकाल कर अनिता के मुह पर पानी फेका जिससे वो होश में आई |

वापस वो सांड उसके उपर चढ़ गया और धक्के पर धक्के लगाने लग गया अब अनिता को मजा आने लग गया उसके मुह से सिसकारी निकल रही थी अह्ह्ह्हह्ह्ह्हह्ह………….ओह्ह्हह्ह्ह्हह्ह………………अह्ह्हह्ह्ह् ………..और जोर से चोदो उसके मुह से निकल रहा था फिर उसने अनिता को घोड़ी बनने को कहा अनिता घोड़ी बन गई | फिर पीछे से उसकी चूत में लंड डाल कर धक्के पर धक्के मारने लग गया | अनिता को मजे में आह्ह्ह्हह्ह्ह्ह………………………..ओह्ह्ह्हह्ह्ह्हह्ह…………………………अह्ह्ह्हह्ह्ह्हह्ह…………………. करती रही सांड उसकी चूत को 1 घंटे तक अपने लंड से रोंदता रहा और अपना वीर्य अनिता की चूत में झडते ही अनिता के ऊपर गिर गया अनिता भी बेहाल हो के पड़ गयी |

इसे भी पढ़ें   नौकरी के बहाने चाचा ने चोदा

पहले आदमी के बाहर आते दूसरा आदमी अन्दर गुस गया जाते ही अनिता को सीधा कर अपना 9 इंच लम्बा 4 इंच मोटा लंड अनिता चुदी चुदाई चूत में डाल दिया | और जोर जोर चोदना शुरू कर दिया अनिता अपने आप को शभाल पाती उसकी चुदाई शुरू हो गयी जेसे तेसे उसकी जान में जान आई और उसके मुह से अह्ह्ह….. अह्ह्हह्ह्ह्ह…….ओह्ह्ह्हह्ह……ओह्ह्ह्हह्ह्ह्ह…………अह्ह्ह्हह्ह्ह्ह……………….ओह्ह्हह्ह्ह्ह……. की आवाज निकलने लगी | दुसरे आदमी ने उसे घोड़ी बना के पीछे से ठोकने लगा और कहने लगा ले रंडी ले रंडी कह कर पूरा लंड चूत में डाल देता | और 1 घंटे की ताबड़ तोड़ चुदाई के बाद अपना वीर्य उसकी चूत में डाल देता | अनिता फिर से बेहोश हो जाती है |

राम लाल को सब सुनाई दे रहा था पर वो अपनी विधवा बेटी की भलाई के लिए कर रहा था | उसके बाद वो वहा पर सप्ताह भर तक रुके और इस दौरान अनिता की एक बाद एक चुदाई होती रही उन दोनों ने अनिता को आगे पीछे से चोद चोद कर अपनी रंडी बना लिया था | वो इतनी चुद चुकी थी की वो एक दम लंगड़ी हो गयी |

इस लिए उसे हॉस्पिटल में 2 दिन तक रहना पड़ा इस जोरदार चुदाई का नतीजा ये निकला की अनिता कुछ ही दिनों में प्रेग्नेंट हो गयी | ये बात उसके ससुराल वालो को भी पता चल गयी और राम लाल ने ये बच्चा उनके दामाद का बताया अनिता के ससुराल वालो को शक था पर उनका शक दूर हो गया जब अनिता ने 9 माह के अंदर अंदर दो बच्चो को जन्म दिया |

इसके बाद अनिता ने ससुराल ने रहना सही नहीं समझा और उसने अपना हक़ लिया जो उसके और उसके बच्चो के लिए जरूर था और बहुत था | अनिता को शायद शुरू में पिता का वो फैसला कही न कही गलत लगा था पर बच्चे होने के बाद उसे भी जैसे जीने का बहाना मिल गया था | ऐसे एक विधवा की चुदाई की चुदाई समझ कर एक पिता ने अपनी बेटी की मद्दद करी |

Related Posts

Report this post

मैं रिया आपके कमेंट का इंतजार कर रही हूँ, कमेंट में स्टोरी कैसी लगी जरूर बताये।

Leave a Comment