पड़ोसन लौंडिया ने प्यार में फंसाकर चुदाई करवाई | Sex Love Story

Girl Chudai Sexx कहानी में पढ़ें कि मैं पड़ोस की एक लड़की से प्यार करता था। वह मेरे पास पढ़ाई करने के बहाने आने लगी। उसने मुझे अपने प्रेम में डाल दिया।

मेरा नाम अनुज है। मैं मुंबई में रहता हूँ। मेरी उम्र २२ वर्ष है। मैं पांच फुट छह इंच का हूँ। रंग गोरा है और देखने में काफी सुंदर लगता है। मैं अभी पढ़ाई कर रहा हूँ।

मेरी पहली कहानी: उसकी बहन को प्रेमिका से चोदा

आज मैं आपको एक लड़की चुदाई सेक्स कहानी बताने जा रहा हूँ। Sex Love Story

यदि आप भी अपनी कहानी इस वेबसाइट पर पब्लिक करवाना चाहते हैं तो नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके अपने कहानी हम तक भेज सकते हैं, हम आपकी कहानी आपके जानकारी को गोपनीय रखते हुए अपनी वेबसाइट पर प्रकाशित करेंगे

कहानी भेजने के लिए यहां क्लिक करें ✅ कहानी भेजें

Sex Love Story

Sex Love Story
Sex Love Story

यह दो वर्ष पहले हुआ था। एक लड़की मेरे बाजू वाले घर में रहती थी। बारहवीं क्लास में थी, उसका नाम आशी था।

मैंने बारहवीं में उस स्कूल में टॉप किया था जहां वह पढ़ती थी। वह मुझे लाइक करती थी क्योंकि वह जानती थी।

आशी एक गोरी अंग्रेजी लगती थी। उसके मम्मों का आकार सामान्य था। फिगर पूरी तरह से कसी हुई थी। उसकी आकृति मक्खन माल की तरह थी। उसके बाल भी बहुत लंबे थे, चूतड़ों के नीचे तक।

एक दिन, उसके पिता ने मुझसे कहा, “बेटा, हमारी बेटी को कभी-कभी ध्यान देना चाहिए।” उसके डाउट को साफ करो।
मैंने कहा, “जी, अंकल जी, मैं करूँगा।” उससे कह दीजिए कि वह सोमवार को मेरे घर आ जाए।

हां कहते ही अंकल ने आशी को बुलाया और मुझे बताया कि संडे को अनुज के घर जाना चाहिए। अनुज आपकी मदद करेगा।
उसने मेरी ओर देखा और हल्के से मुस्कुराते हुए हां में सर हिलाकर अंदर चली गई।

अब, आशी संडे को मेरे घर आई। Sex Love Story

वह चुस्त जींस और टॉप पहनकर आई थी, जिसमें उसकी जांघें सुंदर दिख रही थीं, और टॉप के अंदर के सामान बाहर से ही दिख रहे थे। उसने टॉप के नीचे ब्रा नहीं पहनी थी, यह स्पष्ट था। मैं नहीं जानता कि उसने ऐसा क्यों किया था।

जब वह मेरे घर आई, मैंने उससे चाय पियोगी पूछा।
उसने हाँ कहा।
मैंने चाय बनाई और ले आई। हम चाय पीते रहे और बातें करते रहे।

मैंने उसको हॉल में स्थानांतरित कर दिया। इसके बाद मैंने दो घंटे तक उसको एक शिक्षक की तरह बेहतरीन शिक्षा दी और उसके डाउट भी हल किए।
उस दिन वह बहुत खुश थी।

मैंने उससे कहा कि वह संडे को आ जाएगी, लेकिन अगर जरूरत पड़े तो आ जाना।
वह मुस्कुराते हुए चली गई।

दो दिन बाद वह मेरे घर वापस आई। अब वह बीजगणित में माहिर था। मैंने उसकी शिकायतों को हल किया।

मैंने सोचा कि वह बुक्स पर कम और मुझ पर अधिक ध्यान देता था। वह मुझे बार-बार देखती थी और हर चीज पर हंसती थी।
उसकी एक और हरकत, जिसे मैंने नोट किया, वह बार-बार मेरी तरफ देखकर अपनी जुल्फों को संभालती थी।
मैं उसके इरादे को समझने लगा।

मैं भी उस पर हमला करने लगा। वह मुझे कुछ ही दिनों में बहुत लाइक करने लगी।

उसने एक दिन मेरे फोन उठाकर मेरा नंबर डायल किया। उसने मुझे देखा और मुस्कुराने लगी। मैं भी हंसा। पगली के नाम से अपने मोबाइल में उसका नंबर डाल दिया। Sex Love Story

जब वह मुझे अपना नाम पगली रखते देखा, तो बोली, “आपने पूरी तरह से सही नाम लिखा है, मैं पगली ही हूँ।”
मैंने पूछा कि मेरे नाम को किस नाम से याद रखेंगे?
तो मैं पगले के नाम से फीड कर सकता हूँ?

उसने मुझे पागल आशिक कहा, और मैं हंस पड़ा। मैंने देखा।

अब वह छत पर हर दिन आने लगी। जब मैं रहता था, वह छत पर आकर मुझसे संदेश भेजती थी। मैं उससे भी बात करने लगा।

एक दिन उसने मुझसे कहा, “मैं बायो में बहुत वीक हूँ, आप मुझे उसमें कुछ डाउट हैं, वो क्लियर करा दो।”
मैंने हां कहा।

इसी तरह हम एक दूसरे के करीब आए। मैं भी उससे लड़ना शुरू कर दिया था। जब वह मेरी जांघ पर हाथ पकड़कर मुझसे सवाल पूछती थी, तो मेरी नजरें उससे मिल गईं। उस समय वह मेरी जांघ को सहलाते हुए मेरे लंड को भी छूती थी।

इसे भी पढ़ें   टीचर ने मुझे और मेरी माँ को चोदा

फिर एक दिन उसने मुझे एक प्रस्ताव भेजा। मैं उसको चोदने के पूरे उत्सुक था, इसलिए मैंने उसका प्रस्ताव स्वीकार कर लिया।

अब हमारी संपत्ति और बढ़ी। रात भर हम दोनों बात करते रहे। Sex Love Story

वह मुझे बहुत प्यार करने लगी। वह कभी-कभी घर पर खाना पैक करके मुझे देती थी। भी मुझे अपनी पॉकेट मनी देती थी। मेरी हर बात पर विश्वास करती थी। वह मुझे कभी मना नहीं करती थी क्योंकि मैं बहुत जल्दी गुस्सा हो जाता था।

फिर एक दिन मैंने उससे कहा, “आशी, आपकी किताब में प्रजनन का विषय बहुत दिलचस्प है।” आपको पूरा फोकस करना होगा।

मैं इसे बिल्कुल नहीं समझता, उसने कहा। प्रजनन में क्या होता है और कैसे होता है प्लीज मुझे सब कुछ बताओ।

मैंने पाया कि अब वह भी मुझसे चुदने को तैयार है। बातों-बातों में उसने मुझसे कहा था कि कभी-कभी प्रजजन का विषय पढ़कर बताओ।

Sexy Ladki ki Chudai

Sex Love Story
Sex Love Story

उस समय मैंने रिस्क नहीं लिया। लेकिन उसी समय उसने अपनी दोस्त से बात की।

उसने उसे बताया कि उसकी प्रेमिका हर सप्ताह होटल में रहती है। क्यों चली जाएगी..। आप बता सकते हैं?

मैं जानता था कि वह क्या चाहती है। मैंने कहा कि वह मनोरंजन करने जाती है।
वह मुस्कराया। Sex Love Story

मैंने कहा, बच्चा। आप भी चलना चाहते हैं?
नहीं, उसने कहा कि अगर कोई देखेगा या पापा को पता चलेगा तो मुझे परेशानी होगी।

मैंने उससे कहा कि मेरे घर पर होटल का आनंद लेना चाहिए।
मन तो है, लेकिन अभी नहीं, उसने मुस्कुराते हुए कहा।
मैंने कहा: “ठीक है..।” जब मन हो तो बताओ।

हम दोनों जानते थे कि चुदाई हो रही है। मैं उसे चोदने के लिए पूरी तरह उत्साहित था।

एक दिन मेरे माता-पिता दो दिनों के लिए अपने नाना-नानी के घर गए। उनके साथ मैं नहीं गया था।

सुबह मैंने आशी से फोन पर कहा कि वह प्रजनन विषय को समझना है, इसलिए आज घर पर आ जाना चाहिए। मैं प्रेक्टिकल करके स्पष्ट करूँगा।
उसने पूछा, “अंकल आंटी नहीं हैं क्या?”
मिस पगली, मैंने हंसकर कहा। Sex Love Story

“दो महीने बाद पत्र हैं,” उसने हंसते हुए कहा। सीखना होगा ही। लेकिन आज मुझे स्कूल जाना है, और कल मैं वापस आ जाऊँगा, मेरे प्यारे बाबू।
मैंने कहा कि यदि मैं चाहता हूँ, तो घर से स्कूल जाकर मेरे घर आ जाओ।

उसने पूछा कि अंकल और आंटी कहां गए हैं। वे कहीं नहीं आ जाएंगे?
मैंने बताया कि वे घर नहीं हैं। दो दिनों तक नहीं आएगा।
ये सुनकर वह प्रसन्न हो गई।

अब तक, हम दोनों एक दूसरे को कई बार मिल चुके हैं। उसके दूध भी मैंने कई बार दबाया था। बस उसे चोदने का सही समय, जगह और अवसर नहीं मिला।

आज वह सब पा चुका था। Sex Love Story

सुबह 9 बजे स्कूल ड्रेस में मेरे घर पहुंची।

मैंने कहा: सुनो..। प्रजनन विषय को स्पष्ट करके उसे बताना होगा। तभी पूर्ण रूप से समझ में आता है। उसके लिए शरीर की आवश्यकता रहती है।
उसने यह भी पूछा: बॉडी कहां से आएगी? आप अपने तरीके से समझा देंगे।
मैंने कहा कि मैं आपको बताऊंगा।
हां, ठीक है, उसने कहा।

दोनों ने पहले खाना खाया।

फिर मैंने उससे कहा कि वह बैठ जाए। कुछ समय बात करें।
बैठ गई।

मैंने उससे कुछ शरीर के हिस्से बताए।

मैंने कहा कि मैं अब जो भी करूँगा, उसे बाद में फिर से बता दूंगा।
उसने कुछ नहीं कहा। Sex Love Story
मैंने उससे कहा कि जनता के लिए एक भाग है। मेरे पास है।
वह सब जानती थी। उसने कहा कि वह रखे रहो, मैं उसके बारे में नहीं जानता।

मैंने सोचा कि अब इसे पकड़ने और गर्म करने का समय है।

मैंने उसे सीधे किस करने लगा। उसने मना भी नहीं किया। थोड़ा किस करने के बाद मैंने उसके मम्मों पर जोर से दबाना शुरू किया।

इसे भी पढ़ें   मेरी देसी चूत को मिला सामूहिक चुदाई का सुख

अनुज, धीरे करो, दर्द हो रहा है, वह कहती थी।
मैंने कहा, “आज चुप रहो बेबी।” मैं रुक गया तो कुछ भी समझ नहीं आएगा। मुझे तुमसे बहुत प्यार है।
उसने कहा कि दर्द नहीं है!
मैंने कहा कि बस चुप रहो और मनोरंजन करो।

वह अब शांत हो गई। मैंने उसको बेड पर लिटाकर उसकी ड्रेस उतारने लगी। उसने ब्रा और पैंटी पहनी हुई थी। वह काले रंग का था। उसके मक्खन से गोरे शरीर पर काली पैंटी और ब्रा बहुत सुंदर लग रही थी।

मैंने अपने कपड़े उतारे और अंडरवियर पहना।

मैंने उसे किस किया और उसका हाथ अपनी चड्डी में डाल दिया। मैंने लंड को छूते ही उसने कहा, “जानू, यही सामान है।” जो आपने कॉल पर मुझे दिखाया था।

उसने मेरा खड़ा लंड पहले भी नहीं देखा था। मैंने उससे पूछा, “क्या तुम इसका स्वाद लोगी?” आप इसे अपने मुँह में ले जाएँ और इसे चूसो। फिर से देखो यह कैसे बदलता है।

उसने पूछा, क्या ऐसा करना चाहिए? Sex Love Story
मैंने कहा: हां..। इससे सही प्रजनन होता है।

मैं पूरी तरह से नंगा हो गया और अपने लंड को उसके मुँह के पास ले जाकर उसके ऊपर रख दिया।

वह लंड चूसने से इनकार कर दी।

मैंने क्रोधित होकर कहा, “ठीक है, रहने दो।” अपने घर चलो।
बात-बात पर आप गुस्सा क्यों होते हैं, वह पूछने लगी..। यही करना है। मैं अब मना नहीं करूँगा।
मैंने कहा, बेबी यार, मेरी बात मानो और बस मेरी बात मानो। आपको मजा आएगा।
वह राजी हुई।

मैंने लंड उसके मुँह में डालकर चुसवाना शुरू किया।

आशी से मैं कुछ मिनट तक चुसवाया..। फिर सिर्फ उसके मुँह में पानी डाल दिया। मेरे लंड का पानी उसने पी लिया।

अब मैंने उसकी चुत पर अपनी जीभ डालकर चाटना शुरू किया और सहलाना शुरू किया। उसने गर्म सिसकारियां लीं। इसके बाद वह मुझे दूर करने लगी। मैं नहीं जानता था कि सील खुली है या नहीं।

जब मैंने पूछा, तो उसने कहा कि यह सब पहली बार था।
मैंने पाया कि सामान अभी भी सीलबंद है..। इसकी सील खोलना कठिन होगा।

मैंने उसकी चुत को कुछ मिनट चूसकर उससे कहा कि अब प्रजनन क्रिया को समझने का वक्त आ गया है।
उसने हंस दिया। Sex Love Story

padosi ne chudai karwayi

Sex Love Story
Sex Love Story

मैंने कहा कि मैं अपने लंड को चूत में डालूंगा। फिर करीब बीस मिनट बाहर रहने के बाद, मेरा स्पर्म तुम्हारी चूत में जाएगा और तुम्हारे रस से मिलकर एक नया बच्चा बनाएगा। प्रजनन यही है।

वासना से गर्म होकर उसने कहा कि जल्दी करके दिखाओ।
मैंने कहा, “हां, मैं तुरंत करके दिखाता हूँ।”

उसने कहा कि मैं पूरी क्रिया को रहने देना जानता हूँ। अब मुझे कोई और बच्चा नहीं चाहिए। ये सब विवाह के तीन साल बाद होंगे।
मैं जानता हूँ, मैंने कहा। लेकिन, जैसे मैं करूँगा, उससे बच्चा नहीं होगा। उसकी प्रक्रिया भी कुछ अलग है।
उसने पूछा: वह कैसे होता है?
मैंने कहा, “अभी देखो”।

वह सिसकारियां भरने लगी जब मैंने लंड को उसकी सुंदर चूत पर रगड़ना शुरू किया। मैंने उसके होंठों को किस करते हुए चुदाई शुरू की। मैं उसे कसकर पकड़कर चुत में लंड डालने लगा। लंड सिर्फ मेरी चूत में घुस गया जब मैंने धक्का दिया।

जब उसे इससे दर्द होने लगा, वह चिल्लाने लगी, “अनुज, मुझे बहुत दर्द हो रहा है, कृपया अभी नहीं करो।”

मैंने कहा कि तुम चुपचाप लेटी रहो; दर्द होगा, लेकिन फिर मज़ा आएगा।

थोड़ी देर रुके रहने से उसका दर्द कम हुआ, तो मैंने उसके मुँह पर हाथ रख दिया ताकि वह न रोए।

फिर मैंने पूरी शक्ति से जोर लगाकर लंड को चुत में ठेल दिया। इस बार लंड चुत के अन्दर गया।
वह रोने लगी, आह, दर्द हो रहा है..। अनुज, मैं मर जाऊंगा।

Ashe रोने लगी। उसको चुप करके मैंने उसके मम्मों को सहलाना शुरू किया।
कुछ देर तक वह चुप रही। Sex Love Story

उसने मुझे हाथ में काट लिया जब मैं फिर से धक्के मारा। मुझे भी खून आने लगा।
उसे मेरा खून देखकर बहुत दुख हुआ। उसने कहा: “पहले मैं बैंडेज लगा देती हूँ..।” बाद में करेंगे।
मैंने कहा कि पता नहीं है।

इसे भी पढ़ें   खेल-खेल में तीनो बहनों को चोद दिया। Antarvasna Three Sister Sex Story

तुम मुझे क्यों नहीं मानते? उसने पूछा। आपका खून निकल गया है। मुझे पहले बैंडेज लगाने दो।
मैंने कहा कि थोड़ी देर रुककर लगा देना चाहिए। मुझे पहले ये सब करने दो।
उसने कहा: “ओके, जल्दी करो..।” मैं अब शोर नहीं करूँगा..। मैं हर दर्द सहन करूँगा। आपको लगता है कि यह मेरी गलती है।
मैंने कहा, “कोई नहीं”। मैं जो परेशान कर रहा हूँ, उस पर तुम भी परेशान हो सकते हो।

मैंने अब शांत होकर लंड पेलना शुरू किया। वह बहुत साइकिलिंग करती थी, शायद इसलिए उसकी सील खुली थी। इसलिए भी चुत से खून नहीं निकला।

5 मिनट बाद मैंने गति बढ़ा दी।

अब वह सिर्फ “आह ईईई अनुजज्ज…” बार-बार कहता है। आराम करो, मम्मी, दर्द हो रहा है। “बस अब रहने दो, आह,” उसने कहा।
उसकी ये गर्म आवाजें मुझे और उत्साहित करती थीं। मैं बहुत देर से चुदाई कर रहा था, लेकिन पानी नहीं आ रहा था।

जब आशी मर गई, मैं बस आह ईईई ऊऊय्य यययुऊऊ बेबी ऊऊऊ ओह अअअ आह ईईई ओह ऊऊउ कह रहा था।

मैं धक्का देने में लगा था। मैंने उसे किस करना शुरू कर दिया। उसके दूध लाल हो गए। वह सिर्फ घुटी हुई आवाजें निकाल रही थी..। क्योंकि मेरे होंठ उसके होंठों को छू रहे थे।

हम दोनों मिलकर लगभग दो घंटे तक चोदने के बाद झड़ गए। पहली बार बहुत समय हो चुका था। 1.30 बजे हो गया था। तब भी चार बजे तक समय था। मुझसे लिपटकर लेट गई।

करीब चालिस मिनट बाद, मैंने उसको किस करते हुए मम्मों को मसलना शुरू कर दिया।

“जानू, नीचे दर्द हो रहा है,” उसने कहा। Sex Love Story
मैंने उसको दर्द की गोली दी।

कुछ देर बाद मैंने उसके पैरों को कंधे पर रखकर उसे किस किया। उसकी खुली चुत में अपना लंड डालना शुरू कर दिया। इस पोजीशन में बहुत देर चली। इसमें वह दो बार झड़ गई और बहुत रोई।
लेकिन मैं गुस्सा हो गया और उसने मुझे हाथ में काट दिया, इसलिए उसने मुझे रोका नहीं।

फिर मैंने डॉगी की तरह उसकी गांड मारी। उसकी गांड बहुत दर्द कर रही थी, इसलिए मैं सिर्फ पांच मिनट के लिए उसकी गांड मारी। वह बार-बार ऊपर उचकती थी।

चार बजे तक मैंने एक और राउंड लगाया। इस बार उसने मजे लिए। उसने मुझे बहुत सहयोग दिया।

4 बजे बाद वह घर चली गई। चलने में उसे दर्द हो रहा था। जब वह घर पहुंची, तो वह सो गई।

इस तरह, Girl Chudai Sexx का मेरा लक्ष्य पूरा हो गया। हम दोनों इस विवाह के बाद बहुत करीब आ गए।

अब मैं रात में उसके घर छत पर जाता हूँ और वह भी मेरे घर आ जाती है. हफ्ते में तीन दिन तक आशी और मेरी चुदाई होती है।

मेरी Girl Chudai Sexx कहानी आपको कैसी लगी? कृपया मुझे मेल करके बताएं।

Read More….

Freesexstory in hindi, मालकिन को पिलाया प्यार का रस

Bhojpuri Devar Sex – भाभी ने अपने टाइट तरबूज का स्वाद चखाया

Related Posts

Report this post

मैं रिया आपके कमेंट का इंतजार कर रही हूँ, कमेंट में स्टोरी कैसी लगी जरूर बताये।

Leave a Comment