ऑफिस वाली लड़की को पटाकर करी चुदाई | Office Girl Hindi Sex Story

मैं Office Girl Hindi Sex Story से प्यार करने लगा। लेकिन उसने मित्र कहकर मना कर दिया। मैंने उसकी चूत को चोदना चाहा। मैंने उसकी चूत की सील कैसे तोड़ी?

अन्तर्वासना पर सभी लड़कियों और भाभियों को मेरा प्यार और उनकी चूतों को मेरा दुलार। मैं आयुष अग्रवाल हूँ और नैनीताल, उत्तराखंड में रहता हूँ। मेरी उम्र 25 वर्ष है और मैं अभी भी कुंवारा हूँ। 7 इंच का मेरा लंड है।

मैं सीधे मुद्दे पर आता हूं ताकि आपका समय बर्बाद न हो। मतलब मेरी Office Girl Hindi Sex Story पर।

आज से चार साल पहले हुआ था। उस वक्त मैं सिर्फ नैनीताल में एक कार्यालय में काम करता था।

यदि आप भी अपनी कहानी इस वेबसाइट पर पब्लिक करवाना चाहते हैं तो नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके अपने कहानी हम तक भेज सकते हैं, हम आपकी कहानी आपके जानकारी को गोपनीय रखते हुए अपनी वेबसाइट पर प्रकाशित करेंगे

कहानी भेजने के लिए यहां क्लिक करें ✅ कहानी भेजें

Office Girl Xxx Kahani

माही (बदला हुआ नाम) नाम की एक पहाड़ी लड़की भी मेरे ऑफिस में काम करती थी। दोस्तो, पहाड़ी लड़की दिखने में खूबसूरत होती है, चाहे वह कैसी भी हो। उनके रंग और शरीर बेहतरीन हैं। माही भी ऐसी थी।

माही का फिगर था 34-28-32। एक बार देखने वाला पागल हो जाएगा। मैं भी उससे प्यार हो गया था, सिर्फ देखा-देखी में।

ऑफिस वाली लड़की को पटाकर करी चुदाई | Office Girl Hindi Sex Story

मैंने ये बातें उससे कहने का विचार किया। मैंने हिम्मत करके अपने दिल की बात उसे बताई। वह क्रोधित नहीं थी, लेकिन वह हमारे रिश्ते को दोस्ती से अधिक महत्व देती थी।
मैंने उसे बार-बार बताया कि मैं उसे एक प्रेमी-प्रेमिका से प्यार करता हूँ, लेकिन वह हमेशा कहती थी कि हम सिर्फ अच्छे दोस्त हैं।

मैंने सोचा कि वह भी मुझे चाहती थी, लेकिन वह खुलकर अपना प्यार नहीं बताना चाहती थी, इसलिए दोस्ती का बहाना बनाती थी। वह थोड़ा शर्मीली थी। शायद उसे डर था कि कहीं बात उसके घरवालों तक पहुंच जाएगी।

दिन ऐसे ही बीत रहे थे। फिर एक दिन कुछ हुआ जो मुझे कभी नहीं भूलता।

31 दिसंबर था। मेरे ऑफिस में उस दिन छुट्टी होनी थी। वह एक सहेली के साथ कमरे में रहती थी।

माही की सहेली एक दिन पहले घर चली गई थी। अब माही अकेले कमरे में रहने वाली थी। मैं उसकी चिंता कर रहा था। मैं वास्तव में उसको चोदना चाहता था। इसलिए मैं बार-बार उसके साथ रहना चाहता था।

मैंने माही को भी बताया कि तुम्हारी सहेली घर चली गई है और तुम अपने कमरे में अकेले रहोगे।
उसने कहा कि वह रह जाएगी।
मैंने उसकी चिंता जताई और कहा कि मैं एक रात के लिए उसके कमरे में आ जाता हूं अगर वह चाहे।
माही ने अस्वीकार कर दिया।

मेरा मुंह उतर गया जब मैंने यह सुना। मेरा उदास चेहरा देखकर वह भी सोच में पड़ गई। वास्तव में, मैं उसकी किसी भी बात को बुरा नहीं मानता था। बस उसके सामने गुस्सा दिखाने की कोशिश कर रहा था।

उसने मेरा उतरा हुआ चेहरा देखा तो मान गयी। मुझे बाद में अपने कमरे में आने की अनुमति दी गई।
मैं खुश था। मैं उसके कमरे में चला गया।

उसने कमरे में जाकर हम दोनों के लिए भोजन बनाया। हमने मिलकर भोजन किया और फिर उसने हम दोनों के लिए दो बिस्तर लगाए। जब मैं दो बिस्तरों को देखा तो मेरा माथा ठनक गया। जब मैं उसको चोदने की योजना बना रहा था, वह मेरे लिए अलग से बिस्तर लगा रही थी।

फिर मैं कुछ बहाने बनाकर उसके पास लेट गया। मैंने उसे बताया कि मुझे रात में अकेले सोने की आदत नहीं है। मैंने कहा कि उसने कुछ नहीं कहा। मैंने यह भी कहा कि जब तक नींद नहीं आती, मैं एक ही बिस्तर पर लेट जाऊंगा और फिर अपने बिस्तर पर जाकर सो जाऊंगा। मेरी बात ने उसे थोड़ा तसल्ली दी।

Office Girl Antarvasna Xxx Sex Story

हम दोनों कार्यालयों पर कुछ देर तक चर्चा करते रहे। उसने अपनी सहेली के प्रेमी भी बताए। यह सुनते ही मेरा लंड भी मेरी पैंट में उठने लगा। मैंने माही को ऐसा नहीं करने दिया।

इसे भी पढ़ें   छोटी बहिन की चुत को चोदा | Bhai Bahan sex story

बातें करते हुए वह सो गया। मैंने उसे सोते देखा जब उसने बोलना बंद कर दिया। उसकी रात के कपड़े में उभरी हुई चूचियों को देखकर मेरा मन बहकने लगा। उसकी चूचियों पर हल्के से छूकर मैंने देखा। उसने कोई उत्तर नहीं दिया।

फिर मैंने धीरे-धीरे उसकी चूचियों को दबाकर देखा। उसने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी। मैंने उसकी दोनों चूचियों पर एक हाथ रखा जब मेरी हिम्मत बढ़ गई।

उसकी चूचियों को धीरे-धीरे दबाते हुए मैं मज़ा लेने लगा और मेरा लंड खड़ा हो गया। मैं अब रुका नहीं जा रहा था। मैंने उसकी नाइट टॉप पर हाथ रखा। उसकी चूचियों पर हाथ डालकर दबाने लगा। उसकी ब्रा के ऊपर से ही मेरे हाथ उसकी चूचियों को दबा रहे थे।

उसने अचानक एक गहरी सांस ली और दूसरी ओर घूमने लगी। मेरा दिल धड़क उठा। मैंने सोचा कि शायद ये जाग गया है। उसके करवट लेने से पहले ही मैंने अपने हाथ बाहर खींचा।

तब मैं थोड़ा इंतजार करने लगा। मैंने फिर से ट्राई करने का विचार किया जब कुछ मिनट तक कोई प्रतिक्रिया नहीं आई। मित्रों, आप जानते हैं कि सामने एक युवा लड़की सो रही हो तो उसे नियंत्रित करना कितना कठिन होता है।

ऑफिस वाली लड़की को पटाकर करी चुदाई | Office Girl Hindi Sex Story

दो मिनट इंतजार करने के बाद, मैंने फिर से उसकी चूचियों को दबाना शुरू किया। अब मैं उसके बूब्स को पहले से ज्यादा जोर से सहला और मसल रहा था। भी भूल गया कि वह मेरी दोस्त है।

मैंने उसकी चूचियों को तेजी से दबाते हुए उसे जगाया। वह उठकर बैठ गई जब उसने देखा कि मैं उसके बूब्स को छेड़ रहा हूँ। उसने उसे फिर से अपने पेट पर नीचे करते हुए देखा।

वह गुस्से से मेरी ओर देखा, जानकर कि मैं उससे छेड़छाड़ कर रहा था। लेकिन बाद में उसने रोना शुरू कर दिया। मैं डर गया कि वे अब चीख-चीखकर सबको बता देंगे। मेरी गांड फट गई।

मैंने अपने आप को संभालते हुए कहा, “सॉरी माही, ये सब गलती से हुआ।” मैं रुक नहीं गया। तुमसे प्यार करता हूँ। मैं आपका बुरा फायदा नहीं उठाना चाहता।
मेरी बात सुनकर उसे कुछ राहत मिली।

मैंने उसे बहुत मुश्किल से समझा और चुप करवाया। फिर मैंने उसकी ओर देखा। हमने एक बार होंठ मिलाया। लेकिन मैं पूरी तरह से नहीं जानता कि उसने मुझे पीछे धकेल दिया।

लेकिन अब मैं बेकाबू हो गया था। मैंने उसकी गर्दन फिर से पकड़ा और उसके होंठों पर अपने होंठों से चूसने लगा। वह पहले घबरा गई, लेकिन बाद में वह इसे पसंद करने लगी। अब वह मेरी मदद करने लगी।

धीरे-धीरे उसके होंठ चूसने का मजा लेते हुए मैं उसके चूचों को फिर से दबाने लगा। अब वह गर्म हो रही थी। मैं उसकी चूचियों को भींच रहा था और वह हल्के से सिसकार करने लगी।

बाद में मैंने उसकी नाईट ड्रेस को भी उतार दिया। मैंने उसकी ब्रा के ऊपर से ही उसके दूध को दबाना शुरू किया। मैं उसकी चूचियों को दबा रहा था और उसके होंठों को चूस रहा था। मैं उसके होंठ चूसते हुए उसकी ब्रा भी उतार दी।

मैं माही की चूचियों को नंगा कर दिया। एक चूची को अपने हाथ में लेकर दूसरी को मुंह में डाल लिया। उसकी चूची पर मुंह लगाना मजेदार था। मैं खुशी-खुशी उसकी चूचियों को पीने लगा। मैंने उसकी चूचियों को कुछ ही देर में चूस लिया।

अब उसके स्तन कड़क हो गए। अब वह खुश हो गया। मैं भी उसके बूब्स को काफी जोर से दबा और मसल रहा था, जिससे उसे कुछ दर्द भी हो रहा था। उसके निप्पल एकदम से तन गए।

इसे भी पढ़ें   पापा के दोस्त का लंड बड़ा ही मोटा था

मैं धीरे-धीरे उसके पूरे शरीर को चूमने लगा। कभी उसके कंधों पर, कभी उसके गालों पर, तो कभी उसके पेट पर। मैं उसको खाना चाहता था।

मेरा लंड उसकी चूत के बिल्कुल ऊपर था जब मैं उसकी गर्दन को चूस रहा था। मैंने उसके बदन को बहुत सहलाया और चूसा। उसकी चूत के छेद को मैं बार-बार टटोल रहा था। वह अपनी पैंटी पर रगड़ रहा था।

मैंने उसकी पैंटी निकाल दी क्योंकि मुझसे रुका न गया। उसकी चूत से पानी निकलने लगा। उसकी चूत बाहर तक गीली थी। मैंने उसकी चूत पर एक किस किया। किस करते ही वह सिहर गई। मैं उसकी बांहों में कस गया।

मैंने उसका हाथ अपने लंड पर लगाया और अपनी पैंट इसी बीच उतार दी। उसने पहले मेरे हाथ को हटाने की कोशिश की, लेकिन अंततः मेरे लंड को पकड़ लिया। मेरे लिंग को अब उसका हाथ सहलाने लगा।

मैं उसके मुंह में लंड डालने का विचार कर रहा था। मैंने उसे उठाया और उसके मुंह के सामने अपना लंड रखा। उसने नखरा करने लगा। लेकिन मैं हार नहीं मानी।

मैं तेजी से उसकी चूत में उंगली डालने लगा। माही के मुंह से तेज सिसकारियां निकलने लगी। पूरी कोठरी गर्म हो गई। हम दोनों को पसीना आने लगा।

Hot Office Girl Free Hindi Sex Kahani

वह उठी और मुझे अपने ऊपर खींचने लगी। उसने मेरे होंठों को चूसा और मैं उसकी चूत पर अपना लंड रगड़ा। फिर मैंने उसके मुंह के पास अपना लंड फिर से रखा और वह मेरा लंड अपने मुंह में ले लिया।

मुझे बहुत मजा आया जब उसने मुझे लंड दिया। मैं उसके सिर को पकड़कर उसके लंड को चुसवाने लगा। अब मेरे मुंह से सिसकारी और गूं-गूं की आवाज निकल रही थी जब लंड उसके मुंह में जा रहा था।

फिर हम 69वें स्थान पर पहुंचे। उसने मेरी जीभ उसकी चूत में डाल दी और मेरे लंड को चूसने लगी। वह जल्दी ही नियंत्रण से बाहर हो गया। उसकी चुदाई करने की भी मेरी इच्छा थी।

ऑफिस वाली लड़की को पटाकर करी चुदाई | Office Girl Hindi Sex Story

उसने कहा, “आयुष, मैं अब नहीं रह सकता, अंदर डाल दो।”
मैंने सोचा: क्या मैं अपनी जान इसमें डाल दूं?
उसने कहा, “अपना डाल दो।”
मैंने कहा कि एक बार उसे बताओ।
उसने कहा, “अपना लंड डाल दो।”

मैंने पूछा-किस जगह डालूँ? अपने लिंग।
उसने कहा, “मेरी चूत में अपना लंड डाल दो।”
उसकी ये बात सुनकर मैं खुश हो गया। अब वह लड़की, जो मुझे पहले मना करती थी, मेरा लंड अपनी चूत में लेने के लिए तड़प रही थी।

मैंने उसकी चूत पर लंड रखकर पूछा: पहले क्या लिया?
नहीं, वह सिर्फ उंगली सहलाती थी।
मैंने कहा, “ठीक है, तो फिर मैं आज तुम्हारी कुंवारी चूत खोलोगा।” तैयार रहो।
उसने कहा, “हां डालो, मैं तैयार हूँ।”

मैंने कहा कि कॉन्डम नहीं है।
ऐसे ही डाल दो, उसने कहा।
मैंने उत्तर दिया, “ठीक है, जान।”

मैंने उसकी कुंवारी चूत पर अपना लंड डालकर धक्का लगाया। लंड का पहला सुपाड़ा चूत पर से फिसल गया क्योंकि वह टाइट थी।

जब मैंने फिर जोर से धक्का मारा, लंड उसकी चूत में घुस गया। वह दर्द से चिल्ला उठी, लेकिन मैंने उसके होंठों को अपने होंठों से बंद कर दिया। मैं अब रुक गया। उसकी पहली चुदाई थी, इसलिए इतना दर्द उसे नहीं देना था।

मैं कुछ देर रुककर फिर से उसकी चूत में अपना लंड डालने लगा। मैं उसकी चूत में नीचे से अपना लंड सरका रहा था और उसके होंठों को चूस रहा था। धीरे-धीरे मैंने आधा लंड उसकी चूत में डाला।

इसे भी पढ़ें   गर्लफ्रेंड की माँ से चुदाई पार्ट-2 | Girlfriend Ke Maa Ki Chudai

फिर मैंने उसकी चूत में पूरा लंड डाल दिया। मैं उसके होंठों को दबाते हुए फिर से उछली। मैंने कुछ देर रुककर फिर से लंड को चूत में डालने शुरू किया। दर्द कम होने में दो-तीन मिनट लगे। अब मैं उसकी चूत को चुदने लगा।

हम दोनों पूरी तरह से नंगे थे। वह मेरे होंठों को चूस रही थी और मैं उसकी चूत में धक्का दे रहा था। कुछ ही देर में उसकी गांड उठने लगी। अब उसे चूत चुदवाने में मजा आता था।

अब मैं उसकी चूत को तेजी से चोदने लगा। वह भी खुशी से चुदवाने लगी। तीन या चार मिनट में उसकी चूत से पानी निकल गया। चूत से पानी निकलने के कारण कमरे में पच-पच की आवाज आने लगी। अब मेरा लंड उसकी चूत में मलाई की तरह अंदर बाहर हो रहा था।

मजाक करते हुए उसने कहा, आह्ह..। आज आपको धोखा खाना चाहिए..। अब तक, ये चूत और मैं दोनों कुंवारी थे।
हां, मेरी जान, मैं बहुत पहले से तुम्हारी चूत पर देख चुका था।
उसने मेरे होंठों को चूसते हुए अपने गांड को ऊपर उठाया। उसकी पतली चूत भी मुझे बहुत अच्छी लगी।

Kamukta Office Girl And Boy Hindi Sex Story

दस मिनट के बाद वह फिर से गिर पड़ी। अब मेरा सामान भी निकलने को था। मैंने तेजी से उसकी चूत में दो-चार धक्के लगाए और जब लंड एकदम आने लगा तो मैंने उसे लंड निकालकर मुंह में डाल दिया।

उसने मुंह में मेरा लिंग लिया और दो बार चूसा, जिससे मेरे वीर्य की पिचकारी छूटने लगी। मेरा सारा शरीर अकड़ने लगा। झटके देकर मैंने उसके मुंह में अपना सारा माल डाल दिया और उसे पी भी लिया।

बाद में हम दोनों नंगे पड़े रहे। थोड़ी देर के बाद उसने अपने हाथ में मेरा लंड पकड़ा और सहलाने लगा। फिर बिना कहे ही उसने मुंह में मेरा लंड लिया और पांच मिनट तक चूसा, जिससे मेरा लंड फिर से अकड़ गया।

ऑफिस वाली लड़की को पटाकर करी चुदाई | Office Girl Hindi Sex Story

एक बार फिर मैंने उसकी चूत काट दी। अबकी बार मैंने इसे डॉगी की तरह चोदा। कुतिया की तरह चोदना बहुत अच्छा लगा। उसने इस पद को भी बहुत पसंद किया।

उस रात मैंने उसकी चूत को तीन बार चोदा। मैंने अपना नया साल इस तरह मनाया, एक कुंवारी चूत चोदकर। सुबह उठने पर उसके पूरे शरीर पर लाल निशान थे। मैं जी भरकर उसके बदन को चूसा।

उस रात माही मेरी दीवानी बन गई। नैनीताल में पहली जनवरी के दिन मैंने फिर से उसकी चूत मारी। उसकी गांड भी चुदाई की। प्रियजनों, लड़की की गांड चुदाई करना भी अच्छा है।

मैं अपनी अगली कहानियों में आपको बताऊंगा कि मैंने उसकी गांड चुदाई की और कैसा लगा।

आप मेरी Office Girl Hindi Sex Story कैसी लगी मुझे बताएं। मैं आपके विचारों का इंतजार कर रहा हूँ। नीचे दी गयी ईमेल आईडी पर अपना संदेश भेजें, साथ ही कमेंट करना भी न भूलें। आपका धन्यवाद, दोस्तों।
amarkumar8869559@gmail.com

Read More Sex Stories…

नौकरानी को लालच देकर चोदा | Maid Sex For Money Story

सुंदर लड़की को प्रेम जाल में फँसाकर चोदा | Hot Love Sex Story

Related Posts

Report this post

मैं रिया आपके कमेंट का इंतजार कर रही हूँ, कमेंट में स्टोरी कैसी लगी जरूर बताये।

Leave a Comment