पति के सोने के बाद भाभी की चुदाई | Hot Bhabhi Xxx Kahani

मैंने Hot Bhabhi Xxx Kahani से यौन बातचीत की। मैं अपनी पड़ोसन भाभी को चोदना चाहता था, उन्हें देख रहा था। फिर हमारी दोस्ती अनायास हो गई।

दोस्तो, आज मैं आपको गर्म भाभी की एक बहुत ही सेक्सी और रोमांचक घटना बताने जा रहा हूँ।

अनुज मेरा नाम है। मैं दिल्ली के निकट एक गाँव से हूँ। मैं 22 साल का हूँ, लेकिन नियमित घरेलू व्यायाम और अच्छी सेहत के कारण मैं अपनी उम्र से तीन चार साल बड़ा दिखता हूँ।

दोस्तो, मेरे गांव की सरंपच की लड़की को मैंने कई बार चोदा है। वह मेरी आदर्श थी।
मैंने उस प्यारी लौंडिया के साथ अपने भैया की साली भी चुदाई की है। लेकिन मैंने अभी तक किसी शादीशुदा महिला को नहीं चोदा है। आज से एक साल पहले, मेरी वह इच्छा पूरी हो गई। मैं आज भी उस भाभी से चुदाई करता हूँ।

यदि आप भी अपनी कहानी इस वेबसाइट पर पब्लिक करवाना चाहते हैं तो नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके अपने कहानी हम तक भेज सकते हैं, हम आपकी कहानी आपके जानकारी को गोपनीय रखते हुए अपनी वेबसाइट पर प्रकाशित करेंगे

कहानी भेजने के लिए यहां क्लिक करें ✅ कहानी भेजें

ये बात है जब मैं मुंबई में एक कॉलोनी में रहने लगा था। मैं वहाँ रहते हुए एक कार्यालय में ऑपरेटर था। 25 हजार रुपये मेरा वेतन था।

Sexy Bhabhi Free Xxx Kahani

विवाहित जोड़ा, जिनकी शादी पांच साल पहले हुई थी, मेरे कमरे के सामने वाले सुंदर घर में रहता था।
उस जोड़े में भाभी जी अपने पति के सामने ऐसी लगती थीं जैसे ताजमहल खंडर के सामने।

पति के सोने के बाद भाभी की चुदाई | Hot Bhabhi Xxx Kahani

उनका दो साल का लड़का भी था। उस घर में सिर्फ तीन लोग रहते थे।

भाभी का नाम था अन्वेषी। वह 24 या 25 साल की रही होगी, लेकिन दिखने में 22 साल की सुंदर लौंडिया थीं।
भाभी अकसर जींस टॉप पहनती थीं, जिसमें से भाभी का शरीर कातिलाना लगता था।

भाभी के मम्मों की चौड़ाई ३४ इंच थी। जब भाभी अपने बाल बाल्कनी में सुखा रही थीं, मैंने उनकी चूचियों को हिचकोले लेते हुए देखा था। उनके बूब्स बहुत रसीले लगे।

उस समय मैंने उनकी सुंदर चूचियों को देखा और सोचा कि भाभी से चुदाई करने का अवसर मिलते ही उनको हचक कर चोद दूंगा।
तब से मैं भाभी और उनके पति की निगरानी करने लगा था।

पति पहले कुछ दिन दिखे, लेकिन चार से पांच दिन बाद भाभी अकेली दिखने लगी।

एक दिन, पार्क कॉलोनी से कुछ दूर पार्क में भाभी मुझे दिखीं। उस दिन संडे था, इसलिए वह अपने बेटे के साथ स्कूटी पर चली गई। उन्हें रास्ते में आते ही उनकी स्कूटी पंचर हो गई।

तब भाग्यवश, भाभी ने मुझसे कहा, “हैलो, हेल्प मी।”
मैंने उनकी तरफ देखा और मुस्कुराते हुए कहा, “भाभी जी, क्या आप बता सकते हैं?”
“मैं आपको अक्सर देखता हूँ, आप मेरे घर के सामने ही रहते हैं,” उन्होंने कहा।

यह सुनकर मुझे बहुत खुशी हुई कि भाभी भी मुझे देखेंगे।
इस बात से मैंने एक क्षण में बहुत कुछ सोचा। उस दिन मेरी किस्मत नाच उठी।

मैंने ओके भाभी जी से पूछा कि मैं आपकी किस तरह से मदद कर सकता हूँ?
“मेरी स्कूटी खराब हो गई है, क्या आप मुझे और मेरे बेटे को घर छोड़ सकते हैं?” भाभी ने पूछा।
मैंने कहा कि हाँ, भाभी जी, मेरे लिए पड़ोसी की मदद करना सौभाग्य की बात है। तुम मेरी बाइक पर बैठ जाओ।

इसे भी पढ़ें   भाई बहन की करतूतें (long story)

वह एक स्माइल देकर बाइक पर बैठ गईं और अपनी गांड उचकाईं।

करीब दस मिनट की दूरी थी। मैंने उनसे दस मिनट में पूरी जानकारी निकाली। साथ ही, वे मुझे जानते थे कि मैं यहाँ रहता हूँ और काम करता हूँ।

साथ ही, उन्होंने बताया कि भैया दिल्ली से बाहर रहता है और सरकारी कार्यालय में इंजीनियर है। वह हर दो महीने में कुछ दिनों आते हैं।

मेरी बांछें खिल गईं जब मैंने सुना कि भूखी भाभी को भोजन देना भी मेरा धर्म होगा और इनके साथ आसानी से शादी कर सकता हूँ।

मैं अपने कमरे में आ गया और भाभी जी को उनके घर पर छोड़ दिया।

दो दिन बाद भाभीजी के लड़के के खिलौने में कोई समस्या हुई। नाराज होकर वह रोने लगा। मैं उस समय अपनी बाल्कनी में खड़ा था। भाभी ने मुझे देखा और इशारे से कहा कि घर जाओ।

मैं खुद ऐसे ही मौके की तलाश में था, इसलिए मैं तुरंत पहुंच गया।

जब मैं घर पहुंचा, भाभी ने मुझे बताया कि सोम का खिलौना काम नहीं कर रहा था, इसलिए वह रो रहा था।
मैं उसके खिलौने को ठीक करने के बाद उसके साथ खेलने लगा।

फिर मैं घर आने लगा, तो भाभी ने मुझे चाय पीकर चले जाने को कहा।
मैंने कहा कि रहने दीजिए भाभी।

Desi Bhabhi Ki Kanukta Chudai Ki Kahani

उस दिन मैं आपसे पूछना भूल गया था, जब भाभी ने कहा कि आज आप चाय पीकर ही जाना चाहिए।

भाभी का आग्रह मानकर मैं रुक गया। हम सब बैठकर चर्चा करने लगे जब भाभी चाय ले आईं।

लेकिन मैं उनको भाभी कहने के लिए मजबूर था।

उस दिन भाभी ने खुद कहा कि वह मोबाइल नंबर दे सकती है। मैं आपसे बात करेंगे अगर मुझे जरूरत होगी।

जैसे ही मैंने अपना नंबर दिया, भाभी ने अपने नंबर से मेरा नंबर डायल कर दिया।
इसी तरह मैं भाभी जी का फोन नंबर भी पाया।

अब हम बार-बार मैसेज पर बात करने लगे।

मैं भाभी को चोदने की योजना बनाने लगा, लेकिन मुझे पता नहीं था कि वह मुझे चाहती है या नहीं।
मैं बहुत ही सावधानी से भाभी को अपने शीशे में उतार रहा था क्योंकि मुझे जल्दबाजी में उसे हाथ धोना पड़ सकता था।

एक दिन मैं अपनी पूर्ववर्ती प्रेमिका से बातचीत कर रहा था। गाँव के पुराने सरपंच की लड़की एकता थी।

बाद में बिजी ने मेरा नंबर कॉल किया।
साथ ही, मैंने भाभी को फोन करते देखा। मैं एकता से तब भी बात करता रहा।

मैंने करीब दस मिनट बाद भाभी को फोन किया।
तुम बिजी हो, उन्होंने कहा। मैं आपसे कुछ काम करना चाहता था।
मैंने कहा, “सॉरी भाभी..।” मैं अपने दोस्त से बात कर रहा था।

पति के सोने के बाद भाभी की चुदाई | Hot Bhabhi Xxx Kahani

तब भाभी ने इठलाकर कहा, “ओहो… तो जाओ, आप अपनी जीएफ से बात करो, मैं अपना काम खुद कर लूंगी।”
उनकी बातों से मुझे कुछ गुस्सा आ रहा था।

इसे भी पढ़ें   एक अनजान आदमी ने गांडू की गांड मारी। New Hindi Gay Sex Stories

मैंने भाभी से कहा, “अरे तुम मत बोलो”। क्या अच्छा काम था। उस समय मैं अपने दोस्त से एक महत्वपूर्ण चर्चा कर रहा था।

तब उन्होंने कहा, “ठीक है, दोस्त से बात कर रहे थे।” मैं सिर्फ यह बताना चाहता था कि मैं कल शॉपिंग करने जा रहा हूँ। मैं अकेला हूँ और मेरी दोस्त साथ नहीं जा पा रही है; क्या आप मेरे साथ जा सकते हैं?
मैंने हाँ कहा।

हम दोनों दूसरे दिन खरीददारी करने चले गए।

भाभी ने वहाँ बहुत कुछ खरीदा।
लेकिन मैंने देखा कि उनके मम्मों का साइज़ सिर्फ 34 इंच था जब वह जालीदार पैंटी और रेड कलर की ब्रा पहन रही थीं। मैंने बुदबुदाते हुए अपने विचार को सही ठहराते हुए खुद को शाबाशी दी।

ठीक उसी समय भाभी ने मेरी तरफ देखा और मुस्कुराई।
मैंने स्माइल भी बंद कर दी।

क्या हुआ? भाभी ने आंख नचाते हुए पूछा।
मैंने कहा कि मैं खुद को खुश कर रहा था।

हैरान होकर भाभी मेरी तरफ देखने लगीं।

मैंने धीरे-धीरे कहा कि मैंने जो गैस किया था, उसी तरह का साइज़ निकला।
यह सुनकर भाभी ने मुझे आंख मार दी।

हम दोनों घर वापस आ गए कुछ देर बाद।
तब से भाभी मुझसे बहुत अधिक बात करने लगी थीं और अब मुझे बार-बार फोन पर मैसेज करने लगी थीं।

मैं भी उनके मैसेज का जवाब देता था। धीरे-धीरे, हमारे संदेश कुछ छोटे होने लगे।

भाभी को लगता था कि वह बहुत अकेली थी, इसलिए मुझे अक्सर मैसेज करने लगी कि अगर मैं तुम्हें ज्यादा मैसेज करूँ तो तुम्हें कोई परेशानी नहीं होगी।
मैंने कहा, “अरे भाभी, आपके संदेश से मैं बहुत खुश हूँ।” तुम मुझे अयोग्य क्यों समझते हो? तुम्हारा मैसेज पढ़कर बहुत अच्छा लगा।

इसके बाद से हम दोनों देर रात तक बहस करते रहे।

बात इतनी बढ़ गई कि वो मुझे बाबू जानू कहने लगीं, और मैं भाभी जी को जान और अन्वेषी कहने लगा।

एक दिन रात में, उन्होंने मुझे गैरकानूनी जोक्स भेजे, जिसमें चुदाई का खुलकर बखान था।

मैंने ये मसाला पढ़कर अगले दिन भाभी को एक वेवसीरीज का एक हॉट सीन वाली वीडियो भेजा। जिसमें लड़का लड़की को चादर के अंदर चुदाई कर रहा था और लड़की के चिल्लाने की आवाज भी कामुक थी।

Padosi Bhabhi Ki Porn Xxx Stories

मैंने उनसे माफी मांगी और वीडियो को तुरंत देखा, क्योंकि यह एक गलती थी। मैं तुम्हें नहीं भेजना चाहिए था।
कोई बात नहीं, कभी-कभी हो जाता है, भाभी ने कहा। लेकिन मैं इससे परेशान नहीं हूँ। मैं गाँव से नहीं हूँ, इसलिए सब कुछ जारी है।

अब अन्वेषी भाभी मुझे यौन सीन वाली वीडियो भी भेजने लगी। इस तरह से बात खुलने लगी और एक दिन उन्होंने मुझे एक अंतरराष्ट्रीय पोर्न वीडियो भेजा। लड़का वीडियो में लड़की को चोदता है जब उसका प्रेमी बाहर जाता है।

इसे भी पढ़ें   विधवा बुआ की फाड़ी चुत | Indian Sex Ki Hindi Kahani

अन्वेषी भाभी ने इस वीडियो को जानबूझकर भेजा था। मैंने देखा कि भाभी की चुत कुलबुला रही है।

मैं अब ऐसे वीडियो उनके पास भेजने लगा हूँ। अब हम दोनों पूरी तरह से खुले हुए थे।

एक दिन भाभी ने मुझे लिखा कि मैं इस पोर्न ऐक्ट्रेस से ज्यादा हॉट हूँ जब मैं एक ब्लू फिल्म देख रहा था।
मैंने पूछा कि तुम ऐसा कैसे कह सकते हो?

पति के सोने के बाद भाभी की चुदाई | Hot Bhabhi Xxx Kahani

भाभी ने पूछा: देखोगे?
मैंने कहा कि दिखाओ।

ठीक उसी समय, भाभी ने मुझे अपनी चूचियों की नंगी तस्वीरें भेजी और मुझसे पूछा कि क्या मैं इस पोर्न ऐक्ट्रेस से प्यार करता हूँ?
मैंने कहा, भाभी, तुम बहुत सुंदर हो।

भाभी ने स्पष्ट रूप से मुझे अपनी चुदाई का निमंत्रण दिया था, लेकिन वह खुलकर नहीं कह पाई थीं।

अन्वेषी भाभी, एक दिन मैंने उनसे पूछा कि आपने कब से शादी नहीं की है?
तब उन्होंने कहा कि पिछले दो महीने से यौन संबंध नहीं थे। इसी तरह का वीडियो देखकर काम कर रहा हूँ।

मैंने उनसे पूछा: भाभी, क्या आप कभी यौन संबंध बनाते समय रोई हो?
नहीं, अनिकेत कभी ऐसा नहीं हुआ, उन्होंने कहा। कुछ ही मिनट में वह टैं बोल देता है। वह इतना भी छोटा नहीं है कि मैं रो सकूँ।

मैंने बताया कि आप जल्द ही रोने वाले हैं।
कैसे? उन्होंने पूछा।

मैंने कहा कि मैं अब आपके साथ सेक्स करना चाहता हूँ, इसलिए आपको रुलाऊंगा। और आप मुझे रोक नहीं सकते।
भाभी ने मुझे मना करने लगा: “यह सब नहीं है, बेटा!”

मैं उनसे गुस्सा हो गया और गर्म भाभी से बातचीत करना छोड़ दिया।

जब वह मुझे फोन करके पूछा कि क्या हुआ, मैं चैट ऑफ़ कर दिया।
मैंने कहा कि मैं आपके साथ सेक्स नहीं करना चाहता था..। इसलिए आज से सब कुछ समाप्त करना ही सही होगा।

मैं जानता था कि भाभी सिर्फ मुझे चोदने के लिए तैयार थीं।

मैं करूँगा, लेकिन आज नहीं, कल नाईट में।
मैंने OK कहा और फोन काट दिया।

अगले दिन की प्रतीक्षा करने लगा।

दोस्तो, मैं अगले भाग में अन्वेषी भाभी की चुदाई की कहानी को आगे लिखूँगा और बताऊंगा कि भाभी चाहती थी कि मैं उन्हें उनके पति के बाजू में रगड़ कर चोदूँ। प्लीज़ मुझे अपनी सेक्स कहानी बताना न भूलें।
anuj64307@gmail.com

Read More Sex Stories…

अपने पत्नी की सहेली को चोद दिया | Wife Friend Hindi Vasna Sex Story

नौकरानी के साथ चुदाई – Antarvasna Story

Related Posts

Report this post

मैं रिया आपके कमेंट का इंतजार कर रही हूँ, कमेंट में स्टोरी कैसी लगी जरूर बताये।

Leave a Comment