पापा के दोस्त की बेटी को चोदा | Free Hindi Xxx Antarvasna Chudai Kahani

Free Hindi Xxx Antarvasna Chudai Kahani मेरे पापा के एक दोस्त की बेटी मेरी कक्षा में हिस्सा लेती थी। मैं उसे चोदना चाहता था क्योंकि वह मुझे पसंद करती थी। एक दिन उसने मुझे अपने घर फोन किया..।

मेरा खड़े लंड सबसे पहले चोदुओं और चुदक्कड़ लौंडियों को देता हूँ।

दोस्तो, मैं राजेन्द्र हूँ और अन्तर्वासना का एक पुराना पाठक हूँ। मैं भोपाल से हूँ और एक निजी संस्था में काम करता हूँ। मैंने तुम्हारी हर सेक्स कहानी पढ़ी है। कुछ कहानियां कल्पनाओं से भरी हुई हैं और कुछ वास्तविक हैं, लेकिन सभी में मज़ा है।

Antarvasna Porn Kahani

तुम्हारी कहानियां पढ़कर मैंने सोचा कि मैं भी अपनी कहानी आपको बताऊँगा ताकि मेरे पुरुष और महिला दोस्तों को मज़ा आए और उनके लंड और चूत का पानी बाहर निकल जाए। जब आप मेरी यौन कहानी पढ़ें तो कृपया मुझे मेल करके बताएं।

यदि आप भी अपनी कहानी इस वेबसाइट पर पब्लिक करवाना चाहते हैं तो नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके अपने कहानी हम तक भेज सकते हैं, हम आपकी कहानी आपके जानकारी को गोपनीय रखते हुए अपनी वेबसाइट पर प्रकाशित करेंगे

कहानी भेजने के लिए यहां क्लिक करें ✅ कहानी भेजें

पापा के दोस्त की बेटी को चोदा | Free Hindi Xxx Antarvasna Chudai Kahani

ये बात उस समय की है, जब मैं पढ़ रहा था, और मैं बहुत युवा था। उस समय इंटरनेट नहीं था, इसलिए मैं छुप कर सेक्स फिल्में सिनेमाघर में देखा करता था। चित्र देखने के बाद मुझे चुदाई करने की इच्छा हुई, तो मुठ मारकर लंड हिलाने लगा।

सीमा नामक एक लड़की उन दिनों मेरे साथ पढ़ती थी। वह मेरे पिता के एक दोस्त की बेटी थी, जो एक ही स्कूल में पढ़ता था। मैं अक्सर उसके घर जाता था।

वह गोरा था और मेरी तरफ आकर्षित हुई। वह भी युवा हो रही थी। उसकी संतरे के आकार की चूचियां और सुंदर गांड थीं। उसकी मटकती गांड को देखकर मेरा लंड मचल गया।

उसने भी मेरी नजरें देखकर समझा कि मैं उसको चोदने की सोच रहा हूँ। जल्दी ही मैंने उसे चोदने का अवसर पाया।

हम लोगों के पेपर शुरू होने वाले थे, तो उसने मुझे बताया कि वह गणित में कमजोर है, इसलिए मैं उसकी घर पर जाकर मदद कर सकता हूँ।
मैंने हाँ कहा।
मुझे पता चला कि इसने पहले कभी मुझसे ऐसा नहीं कहा था कि यह पढ़ने में तेज है। इसका अर्थ है कि मेरी मुराद भी पूरी होगी।

अगले दिन मैं सीमा पर स्थित घर चला गया। जैसे ही मैंने घर की बेल बजाई, सीमा ने दरवाज़ा खोला। वह स्कर्ट और टॉप पहने हुए थी। वह मुझे देखकर मुस्कराई। आज वह बहुत सुंदर लग रही थी।

उसने लोगों को अंदर आने को कहा।
मैंने पूछा: घर में कौन है?
“कोई नहीं है,” उसने कहा। अकेला हूँ। सब लोग बाहर गए हैं और शाम तक वापस नहीं आएंगे।

सीमा के घर में मैं, उसके पापा, मम्मी, भाई भाभी और एक बड़ी बहन भी रहता हूँ। उसकी बहन और भाभी भी खूबसूरत और आकर्षक दिखती हैं।

सीमा मुझे अपने कमरे में ले गई। उस दिन वह बहुत खुश दिखती थी। उसके निप्पल अंगूर के दाने के बराबर थे और उसके टॉप में संतरे के जैसे चुचे थे। मैं उनको दबाने और चूसने लगा।

मैंने चाय नहीं दी जब सीमा ने पूछा। मैं आपसे गणित में क्या पूछना है बता दूंगा। आप अपनी किताब देते हैं।
उसने कहा, “अभी दे दूंगी”..। आज मुझे पढ़ने की इच्छा नहीं है।
मैंने पूछा कि फिर तुमने मुझे फोन किया क्यों?
सीमा ने कहा: “मुझे आपसे कुछ अलग काम है।” इसलिए फोन किया गया।
मैंने पूछा कि आप दूसरा काम क्या कर रहे हैं?

सीमा मुझसे लिपट गई। उसने किस करने लगी और अपने लबों को मेरे लबों पर रख दिया। उसने मुझे कसके साथ बाँध दिया। मेरे सीने पर उसके चुचे गड़े जा रहे थे।

सीमा को भी चूमने लगा। मैं भी खड़ा था। मेरे खड़े लंड को सीमा भी जानती थी। मेरा लंड उसकी चुदासी चूत पर दबा हुआ था। हम फिर जोर से चूम रहे थे।

इसे भी पढ़ें   दो कमसिन बहनों की कुंवारी बुर की चुदाई

मैं अपने दूसरे हाथ से उसकी गांड को दबाने लगा और सीमा की एक चूची को दबाने लगा। सीमा भी खुश थी। उसकी आहें भरने लगी।
सीमा गर्म थी। मैंने जान लिया कि वह चुदना चाहती है।

मैंने सीमा से पूछा कि अगर सभी आपके रिश्तेदार गए, तो आप भी क्यों नहीं गए?

मेरा लंड पैंट फाड़ बाहर आने को बेताब हो गया, दोस्तो, सीमा ने जो बताया।

सीमा ने कहा कि कल रात मैं सोने जा रही थी कि मेरे भाई के कमरे से कुछ आवाजें आईं। जब मैं कमरे के दरवाजे के पास गया, तो मेरे कान में चुदाई की आवाज आई। मैं पास में रखी एक टेबल पर चढ़ गया और दरवाजे के ऊपर की खिड़की से झांककर देखा क्योंकि मैं अंदर क्या हो रहा था देखना चाहता था। अंदर देखकर मेरे होश उड़ गए। मेरी भाभी और मेरा भाई जोर से चुदाई कर रहे थे। भाभी भी चुदाई का आनंद लेती थी।

मैंने उससे सीमा की बातें लेते हुए पूछा: फिर क्या हुआ?
सीमा: भाभी ने जोर से कहा कि चोदो राजा..। जोर से चोदो..। मेरी चूत फाड़ दो, भोसड़ा बना दो, मेरी चूत का..। तब भाभी ने आह्ह्ह उईईई आह्ह्ह कर दिया। भाभी का लंड भी भाभी की चूत में तेजी से घुस गया। भाभी भी गांड उछालने में मज़ा लेती थी।

Desi Kamukta Chudai Ki Kahani

और क्या हो रहा था? मैंने सीमा की चूची दबाते हुए पूछा।
सीमा ने कहा कि भाई ने भाभी को दो बार चोदा था और मैं उन दोनों की चुदाई देखकर गर्म हो गया था। मैं भी गर्म हो गया और पानी छोड़ने लगा। उस रात मैंने दो बार चूत में उंगली डालकर पानी निकाला।

सीमा की चुदाई की बातें सुनकर मेरा उत्साह बढ़ा। मैं पागलों की तरह सीमा को चूमने लगा। मैं भी उसे चूमने लगा।

पापा के दोस्त की बेटी को चोदा | Free Hindi Xxx Antarvasna Chudai Kahani

मैंने सीमा कपड़े उतारने लगे। अब उसने सिर्फ ब्रा पैंटी पहनी हुई थी। उसने लाल पैंटी और ब्रा पहनी हुई थी।
दोस्तो, मैंने सिर्फ सेक्सी फिल्मों में ऐसा देखा था, लेकिन यह सब मेरे जीवन में हुआ।

मैं सीमा को बेड पर लेटाकर उसके पूरे शरीर को चूमने लगा। संगमरमर की तरह गोरा बदन था क्या? मैंने उसकी लाल ब्रा खोली और उसके मम्मों को चूसने लगा। सीमा मेरा पूरा साथ देती जाती थी और खुश होती जाती थी।

सीमा एक कामुक आवाज़ निकाल रही थी। मैंने उसकी जांघों और नाभि को चूम और चाट लिया। मैंने पैंटी के ऊपर से ही उसकी चूत को चूमना शुरू किया।

सीमा उछलने लगी और कहने लगी, “आह आह आह अह्ह्ह उफ्फ्फ..।” अब मैं सीमा की चूत को देखने के लिए उत्सुक था। मैंने पैंटी बाहर निकाली। उसकी नरम चूत को देखकर मैं बेहोश हो गया। अब तक मैं सिर्फ गंदी फिल्मों में चूत देखता था। उसकी चूत बिना बालों की चिकनी थी। उसकी चुत से एक सुखदायक गंध आ रही थी..। और उसके गुप्तांग से रस भी निकल रहा था।

सीमा की मोटी और फूली चूत पावरोटी की तरह थी। मैं झुककर अपनी चूत को चाटना शुरू कर दिया।

सीमा ने मेरी जीभ पर महसूस करते ही आहें भरने लगी। उसने खुशी से कहा, “आह्ह्ह।” चूस लो मेरी चूत..। तुम्हारी चूत को खाओ..। हाय हाय हाय!

सीमा अपनी गांड उछाल उछालकर चूत चटवाती थी। मैं अपनी जीभ से चूत को चोद रहा था और उसने मेरा सर पकड़ रखा था। मैंने अपनी पूरी जीभ चूत में डाल दी। सीमा जल्दी ही अकड़ने लगी।
आह, मैं झड़ने वाली हूँ, सीमा ने कहा।
मैं इन शब्दों को सुनकर भी नहीं हटा और सीमा की चूत के लाल दाने को चाटने लगा।

इसे भी पढ़ें   भांजी की कच्ची चूत की सीलतोड़ चुदाई-2

फिर सीमा ने कहा, “आह, मेरा पानी छूट रहा है।”
अगले ही क्षण, सीमा की चूत से पानी निकल गया। मैं अभी भी अपनी चूत को चाटता रहा। सीमा गिरकर सिसकारियां ले रही थी।

पहली बार मैंने चूत का नमकीन पानी चखा था। मैं बहुत खुश था, इसलिए मैंने चुत को लगातार चाटा और उसको पूरी तरह से साफ कर दिया।

मैं अब तक अपने कपड़े नहीं उतारे। सीमा पार करते हुए मैंने कहा, “तुम मुझे भी नंगा कर दो।”
उसने मेरे कपड़े निकालने लगे। मैं कुछ ही देर में चड्डी में रह गया। चड्डी में मेरा लंड टेंट की तरह तना हुआ था।

सीमा ने चड्डी के ऊपर से ही लंड को सहलाने और चूमने लगा।
उसने मेरी चड्डी उतार दी जब मैंने उसे लंड निकालने को कहा। जैसे साँप बिल से निकलता है, मेरा लंड भी चड्डी से निकलता है।

सीमा खुश हो गई जब उसने 8 इंच का गुलाबी सुपारा देखा। आह, तुम्हारा मोटा बड़ा लंड है।

सीमा मेरे लंड को हाथ में लेकर उसे सहलाने लगी। सीमा ने मुझे बेड पर लेटा दिया और फिर मेरे ऊपर आ गई। उसके सामने सीधा खड़ा हुआ लंड था। सीमा ने लंड को मुँह में लेकर चूसने लगा। वह खुशी से अपने लंड को चूस रही थी। मैं भी मुँह ले रहा था। अब मेरी और सीमा की कामुक आवाजें कमरे में गूंज रही थीं। सीमा मजे लेते हुए लंड चूसती थी।

मैं ब्लू फिल्म के हीरो की तरह अपना वीर्य चुसवा रहा था। मैंने सीमा पार करते हुए कहा, “आह, जोर से लंड चूसो।” मेरा माल निकलने वाला है अगर मैं जोर से चूसना शुरू करूँ।
सीमा ने कहा, “राज, मुझे लंड का माल पीना चाहिए।” प्लीज, अपना सामान जल्दी से मेरे मुँह में डाल दो।

मैं बेड पर खड़ा होकर सीमा से मुँह खोलने के लिए कहा। मैंने लंड को सीमा के पास लाकर हाथ से मुठ मारना शुरू कर दिया। दो मिनट के बाद, मेरे मुँह से आह की आवाज़ निकली, और इसी के साथ मेरे गाढ़ा सफेद लंड से जोरदार पिचकारी की तरह मेरा माल सीमा पर गिरने लगा। मेरे लंड से बार-बार माल गिरता था। सीमा में माल भर गया था।

सीमा मलना शुरू कर दी, जब कुछ माल उसके मम्मों पर गिर गया। उसने मेरा सारा माल पी लिया। मेरा माल उसे बहुत अच्छा लगा।

फिर उसने सुपारे पर अपनी जीभ फेरने लगी और मेरे लंड को हाथ में ले लिया। हम दोनों ने अभी तक एक दूसरे के माल का मज़ा नहीं लिया था। इस बीच, मैं सीमा के अधीन था। हम झड़ गए और सीमा ने मुझे आई लव यू कहा और चूमने लगी।

Papa Ke Dost Ki Beti Ki Chudai

मैं भी उसकी ओर मुस्कुरा रहा था। वह अपने मम्मों को अपने मुँह में लेकर निप्पल पर जीभ फेरने लगी। उसने मेरी गांड पर भी हाथ फेरने लगा। यहीं मेरा लिंग फिर से उठने लगा।

पापा के दोस्त की बेटी को चोदा | Free Hindi Xxx Antarvasna Chudai Kahani

मैं सीमा के ऊपर लेटा था, जिससे मुझे लगता था कि सीमा सख्त है। अब वह चुदने को भी तैयार थी।
मैंने पोजीशन लेकर चूत पर जोर से धक्का मारा। सीमा ने जोर से सीत्कार कर कहा, “उम्म्ह… अहह… हय… याह… मैं मर गया।” मैं मर गया!

अभी मेरा लिंग आधा ही चूत में घुस गया था। तभी मैंने एक और तीव्र धक्का मारा। अब मेरा पूरा लंड उसकी चूत में फंसा हुआ था।
सीमा ने दर्द से रोते हुए कहा, “माँ, मैं मर गया!”

लंड को सैट होने देने के बाद मैंने चोदना शुरू कर दिया। मैं तुरंत लंड को चूत में डालने लगा।
सीमा भी मादक सिसकारियां निकालने लगी—आह आह्ह आह्ह उफ्फ उफ उईईईई आह्ह्ह।
मुझे पकड़ लिया।

इसे भी पढ़ें   मेरा और मेरी बहन का गैंगबैंग

अब मैंने चोदने की स्पीड बढ़ा दी। सीमा ने कहा: राज, कृपया थोड़ा रुको..। मैं बहुत दुखी हूँ।
मैंने उसकी बात मानते हुए चुदाई बंद कर दी और लंड को अपनी चूत से बाहर निकाल लिया।

मेरा लंड खून से लाल था। उसकी चूत भी खून से भर गई थी।

थोड़ी देर डरने के बाद वह खुश हो गई और मुझे फिर से चूमने लगी।

मैं चूत में लंड डालकर चोदने लगा। दर्द भी उसे अब अच्छा लगने लगा।

सीमा ने चुदाई करते हुए कहा, “आह ओह उफ्फ्फ उफ्फ्फ उईईई उईईई आह आह।” वह मेरे चूतड़ों को पकड़कर दबा रही थी और अपनी उंगली मेरी गांड में डालकर मुझे उत्तेजित कर रही थी।

मैं उसको जल्दी से चोद रहा था।
‘हां और तेजी से चोदो… उफ आह अह आह..’ उसने कहा।

मैं उसके मम्मों को चूसते हुए तेजी से अपने लंड को चूत में डालने लगा। अब वह भी मेरे साथ अपनी गांड को नीचे से उछालने लगी। वह चुदाई का पूरा आनंद लेती थी। हम दोनों की आवाजें कमरे में गूंज रही थीं। उसकी चूत से फच-फच की आवाज आती थी। हम दोनों को चुदाई का बहुत मज़ा आ रहा था क्योंकि मेरा लंड चूत के रस से पूरा भीग रहा था।

सीमा दो बार गिर गई, लेकिन मैं अभी भी चुदाई कर रहा था। अब हम दोनों चरम सीमा पर थे।
मैंने सीमा पार करते हुए कहा कि मेरा भी पानी निकलने वाला है।
उसने कहा कि सिर्फ चूत में छोड़ दो।

करीब बीस मिनट की चुदाई हुई। थोड़ी देर के बाद लंड ने चूत में पानी छोड़ दिया। सीमा को गर्म लावा चूत में डालने की तरह महसूस हुआ। मैं सिर्फ उसके ऊपर लेट गया।

मेरा लंड अभी भी मेरी चूत में था। हम गहरी सांस ले रहे थे।
“आज मुझे बहुत मज़ा आया,” सीमा ने कहा।

थोड़ी देर के बाद दोनों उठकर एक दूसरे को धोने लगे। हम दोनों कपड़े पहनकर तैयार हो गए।

मैंने सीमा को चूमा और उससे उसकी भाभी की चूत चुदवाने की बात की।
ठीक है, उसने हंसकर कहा। मैं अपनी भाभी को भी चुदवा दूँगा।

मैंने सीमा को एक बार फिर चूमा और घर आ गया। आज मुझे बहुत मज़ा आया। फिल्म की चुदाई करने से सीमा की चुदाई करने में अधिक मजा आया।

दोस्तो, ये मेरी सीमा के साथ यौन संबंध की कहानी थी..। मेल करके कृपया बताएं कि आपको Free Hindi Xxx Antarvasna Chudai Kahani कैसी लगी। फिर मैं सीमा भाभी की चुदाई की कहानी अगली कहानी में बताऊंगा। तब तक चुत और चूत चुदाओ..। महसूस करो।
Rajendragahlot476@gmail.com मेरी मेल आईडी है।

Read More Sex Story…


Antarvasna Sex Stories

अपनी बहन कि चुत दोस्त को दी गिफ्ट में | Hot Sister Group Sex Kahani

Naukrani ki chudaai ki kahani, बंगाली नौकरानी को बिस्तर पर चोदा भाग -1

Related Posts

Report this post

मैं रिया आपके कमेंट का इंतजार कर रही हूँ, कमेंट में स्टोरी कैसी लगी जरूर बताये।

Leave a Comment