सेक्स की लत लगी तो दीदी बनी सहारा। Anal Girl Lick Xxx Kahani

Anal Girl Lick Xxx Kahani में मैंने बताया है कि मैं कॉलेज में लड़कियों की गांड चोदने और चाटने का आदी हो गया था। मेरी दीदी ने मुझे रोका और मुझे अपने शरीर से मज़ा लेने दिया।

प्रिय, मैं लकी!

कहानी का पहला हिस्सा

कॉलेज की लड़कियों के साथ अश्लील यौन संबंध । Dirty Xxx Gand Ki Kahani

यदि आप भी अपनी कहानी इस वेबसाइट पर पब्लिक करवाना चाहते हैं तो नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके अपने कहानी हम तक भेज सकते हैं, हम आपकी कहानी आपके जानकारी को गोपनीय रखते हुए अपनी वेबसाइट पर प्रकाशित करेंगे

कहानी भेजने के लिए यहां क्लिक करें ✅ कहानी भेजें

अब तक आपने पढ़ा था कि मेरी कॉलेज की दोस्त राशिदा और उसकी सहेलियों ने मुझे गांड चाटने और सेक्स करने की आदत डाल दी थी।

एक दिन दीदी ने मुझे कॉलेज में लड़कियों की गांड चोदकर उनका पेशाब पीते देखा।

इसके बाद, Anal Girl Lick Xxx Kahani जारी है।

मैं शाम को घर आया तो दीदी खाना बना रही थी।

मैं सीधे अपने कमरे में चला गया क्योंकि पापा अभी तक नहीं लौटे थे।

Xxx Big Sister Xxx Lick Kahani

थोड़ी देर बाद दीदी ने कहा, “लकी, खाना खाओ!”

लेकिन मेरे पिता का डर था कि कहीं दीदी ने उन्हें सब बताया होगा।

फिर खाना लेकर दीदी मेरे कमरे में आई और कहा कि खाओ।

दीदी को देखकर मुझे रोना आया।

दीदी ने कहा कि खाना खाने के बाद बात करेंगे।

और दीदी भोजन मेज पर रखकर चली गई।

मुझे रात को सोते हुए दीदी ने जगाया।

मैंने दीदी को देखा और पूछा, क्या हुआ?

दीदी ने कहा कि कॉलेज में आज सुबह जो हुआ, वह गलत है। ये बंद करो।

फिर मैं दीदी के पैरों में गिर गया और उसे गले लगाया।

मैंने कहा, दीदी, मैंने बहुत कोशिश की, लेकिन ये सब छोड़ने में सफल नहीं हुआ। मुझे सेक्स की लत लग चुकी हूँ। मुझसे मैं नहीं रुका जाता!

मैं तुम्हारी मदद करूंगी अगर तुम कोशिश करो।

फिर मैं दीदी का कहना मानकर सो गया।

अगले दिन मेरी हालत फिर से खराब होने लगी।

नशे और सेक्स की बार-बार याद आती थी।

किसी तरह दिन समाप्त हो गया।

फिर रात आ गई।

मेरे साथ दीदी सोई थी।

रात में मैंने दीदी की गांड मेरी ओर देखा।

मैं गांड देखकर पागल हो गया और एनल गर्ल लिक करने लगा।

सलवार के ऊपर से ही मैं दीदी की गांड चूमने लगा।

यह क्या कर रहे हो, लकी? दीदी ने उठकर कहा।

फिर मैं जाग गया और खुद पर बहुत गुस्सा आया।

मैंने सोचा कि सब इसी से हो रहा है, इसलिए मैंने लंड को निकालकर उसे खींचने लगा।

मुझे रोका गया और दीदी ने कहा कि मैं शांत रहूँ।

फिर मैं रोने लगा।

मैं चुप रहा।

मैंने कहा कि आपको देखकर मुझे गंदे विचार आ रहे थे। मैं इस बार अपनी जान दे दूंगा।

तुम ऐसा कुछ नहीं करोगे, उन्होंने कहा।

इतना कहकर दीदी ने मेरा लंड पकड़कर सहलाने लगी।

मैंने दीदी को रोकना चाहा, लेकिन उसने कहा, “लकी, इससे तुम्हें आराम मिलेगा।”

अब मैं भी खुश होने लगा था।

मैं अपनी आंखें बंद करके लेटा रहा।

मेरा लंड दीदी सहलाती रही।

थोड़ी देर बाद मैं थक गया।

मेरा लोवर ऊपर कर दीदी ने अपने दुपट्टे से मेरा लन्ड साफ किया।

अब मुझे राहत मिली।

फिर मैं कब सो गया पता नहीं चला।

दीदी ने मुझे सुबह कॉलेज के लिए तैयार होने के लिए फोन किया।

अब मैं दीदी को देख नहीं पा रहा था।

लकी, तुम मुझसे गलत बात कर रहे हो, दीदी ने कहा। रात में जो हुआ मुझे उससे कोई परेशानी नहीं, क्योंकि एक बहन अपने प्यारे भाई के लिए इतना कर सकती है।

फिर मैंने उन लड़कियों से भी बातचीत करना छोड़ दी।

अब शायद मुझसे भी उनका मन भर गया था।

इसे भी पढ़ें   छोटी बहिन की चुत को चोदा | Bhai Bahan sex story

अब दीदी रात भर मेरे पास सोती और मेरा लंड पकड़कर पानी निकालती।

धीरे-धीरे दीदी को चोदने का मन करने लगा।

मैं हमेशा सोचता रहता कि दीदी की गांड कैसी होगी और उनकी सीलपैक चूत चोदने में कितना मजा आएगा।

मैंने दीदी के प्यार का फायदा उठाकर उनको नियंत्रित करने का विचार बनाया।

Hot Indian Sister Lick Kahani

तब मैंने दीदी को एक वीडियो दिखाया जिसमें हाथ से लंड हिलाने या मुठ मारने से लंड की नसें कमजोर होने के बारे में बताया गया था।

वीडियो देखते हुए दीदी ने कहा कि हम इसे आज से समाप्त कर देंगे।

फिर मैंने कहा: “लेकिन दीदी, मुझे लंड न शांत होने पर नींद नहीं आती।”

फिर क्या करना चाहिए, उन्होंने कहा?

मैंने कहा, दीदी, मुझे आपके साथ सेक्स करना है।

तुम पागल हो गया क्या?दीदी बोली।

दीदी मुझे डांटकर दूसरी ओर मुंह करके सोने लगी।

मैं भी सोने की कोशिश करने लगा, लेकिन दीदी की गांड देखकर सो नहीं पाया।

इसके बाद मैं दीदी की गांड पर हाथ फेरने लगा।

दीदी ने उठकर मुझे थप्पड़ मार दिया।

मुझे बहुत गुस्सा आया जब वे उठकर दूसरे कमरे में चली गईं।

मैं मन मारकर सोने का प्रयास करने लगा।

अगले दिन, मैं फिर दीदी से कॉलेज में नहीं मिलने लगा।

राशिदा और उसकी सहेलियां यह सब देखकर मेरे आसपास घूमने लगीं।

मैं राशिदा के पैरों में गिरकर माफी मांगने लगा।

क्या मेरी गांड की याद आ गई? वे पूछने लगीं।

दीदी ने सब देखकर उनसे दूर होने को कहा।

राशिदा ने कहा कि अगर इतनी चिंता है तो इसको गांड चटवा दो!

दीदी ने कहा, “मैं तुम्हारे जैसी नहीं हूँ; मैं रिश्तों और इज्जत का ख्याल रखती हूँ।”

फिर हम घर चले गए।

मैंने दीदी से कहा कि या तो मुझे उनके साथ रहने दो, या मुझे उनके पैरों में पड़ा रहने दो।

मैं तुम्हारे साथ नहीं कर सकता, वह रोने लगी जब मैंने कहा। हम दोनों भाई-बहन हैं। और वे तुम्हें बर्बाद कर देंगे अगर तुम उनके पास जाओगे।

मैंने कहा कि मैं अपनी जान दे दूंगा और इसे मानने से इनकार कर दिया।

फिर मैं घर शाम को लौटा।

पिताजी भी आए थे।

दीदी भोजन कर रही थी।

मैं अपने कमरे में गया।

दीदी मुझे खाने के लिए बुलाने आई, तो मैंने कहा कि मुझे भूख नहीं है।

दीदी ने कहा कि अगर वह नहीं खाएगा तो पिता से कह देंगी।

फिर मैं भोजन करने आया।

मैं खाने के बाद कमरे में चला गया।

रात को दीदी मेरे पास आई और मुझे बताने लगी कि अगर किसी को इस बारे में पता चला तो हम बहुत बदनाम हो जाएंगे और हम किसी को मुँह दिखाने लायक नहीं रहेंगे।

मैं आपसे बहुत प्यार करता हूँ और आपको पाना चाहता हूँ, दीदी।

लकी, इसमें बहुत खतरा है, दीदी ने कुछ देर चुप रहकर कहा। मैं गर्भवती हो जाऊँ तो?

मैंने कहा कि गोली खाने से बच्चा नहीं होगा।

दीदी ने कहा कि मैं जानती हूँ, लेकिन उससे लड़कियां बांझ भी हो सकती हैं।

मैं कंडोम लगा लूंगा, मैंने कहा।

नहीं, मैं आप पर भरोसा नहीं करती, दीदी ने कहा। तुम जो करना है उसे ऊपर से ही करो, अंदर नहीं देना।

यह सुनकर मुझे बहुत खुशी हुई।

Antarvasna Didi Ki Chut Chudai Ki Xxx Kahani

दीदी ने मुझे पकड़ लिया और मेरे होंठों को चूसने लगी।

मैं भी उनका साथ देने लगा।

मैं धीरे-धीरे दीदी के सारे कपड़े उतारने लगा।

अब मैं दीदी की चूचियों को दबाने और चूसने लगा।

इसे भी पढ़ें   दीदी को बेड पर लेटाकर चोदा | Cousin Sister Xxx Hot Porn Kahani

मैंने दीदी की चूचियों को मसलकर उनका रंग लाल कर दिया।

लकी, धीरे धीरे करो, मैं कहीं भागी नहीं जा रही, दीदी ने कहा।

मैंने दीदी की चूचियां चूसने के बाद उनकी नाभि चूसने लगा।

दीदी ने आंखें बंद करके मज़ा लिया।

अब मैं दीदी की चूत देखने लगा।

दीदी की गुलाबी चूत छोटी थी और पूरी तरह से सील बंद थी।

दीदी अब गीली होने लगी।

मैंने दीदी की सील पैक पर अपना मुंह रखा और चूत को चाटने लगा।

यह गंदा है, इसे मत चाटो, दीदी ने तुरंत होश में आकर कहा।

लेकिन मैंने दीदी से कुछ नहीं सुना।

दीदी ने बार-बार कहा, “ये गंदी जगह मत छूओ”, “आहह, मत छूओ, छोड़ो।”

ऐसा होने पर दीदी की चूत से पानी निकल गया।

मैं दीदी की चूत के पूरे पानी को चाट गया।

उसकी चूत का पानी बहुत मीठा था।

अब खुश है ना? वे लंबी सांस लेने लगी।

मैंने कहा कि मेरा पानी अभी निकला नहीं है।

मैं हाथ से कर देती हूं, उसने कहा।

नहीं, मुझे मजा नहीं आता, मैंने कहा।

उसने कहा कि चूत में तो नहीं डालने दूंगी।

मैंने कहा कि कोई बात नहीं, और फिर भी छेद हैं!

मैंने दीदी की गांड की ओर संकेत किया।

नहीं, गंदी जगह है, उन्होंने कहा। तुम्हारा लंड मुंह में होता तो बेहतर होता।

यह कहते ही दीदी मेरा वीर्य चूसने लगी।

साथ ही दीदी ने अपनी चूत मेरे मुंह में डाल दी।

अब मैं उसकी चूत चूस रहा था और वे मेरा लंड चूस रही थी!

हम एक दूसरे के मुंह में गिर पड़े।

यहाँ भी मैंने दीदी की चूत का पानी अपने मुंह में डाल दिया।

फिर हमने लिपलॉक किया और एक दूसरे का पानी पीया।

हम फिर लिपटकर सो गए।

सुबह मैंने फिर से दीदी को लंड पकड़ाया, तो उसने चूसकर पानी निकाल दिया।

फिर हम स्कूल गए।

आज मैं जानबूझकर राशिदा के पास जा रहा था क्योंकि मेरा मूड दीदी की गांड मारने का था।

लकी, तुमने वादा किया था कि नहीं जाओगे, दीदी ने कहा।

मैंने कहा कि मेरा मन चुदाई कर रहा है, दीदी।

ठीक है, तुम उसके पीछे मत जाओ; मैं घर जाकर तुम्हारा पानी निकाल दूंगी।

मैंने कहा कि मुझे सिर्फ चुदाई करनी है।

यह कहकर मैं राशिदा को बाथरूम में ले गया।

जब दीदी मुझे रोकने लगी, मैंने कहा, “मैं नहीं जानता, मेरा पानी अभी निकाल दो राशिदा अंदर अपनी गांड खोले खड़ी है।”

तो दीदी मुझे दूसरे बाथरूम में ले गई और मेरा लंड बाहर निकालकर चेन खोलने लगी।

दीदी मेरा पानी चूसकर चुपचाप वहां से चली गई।

घर पहुंचकर मैं रात होने का इंतजार करने लगा।

मैंने उन्हें पकड़ लिया जब दीदी काम खत्म करके रूम में आई।

मैं दीदी के होंठ चूसने लगा और उसे तुरंत नंगी कर दिया।

दीदी को मैंने पलंग पर लिटा दिया।

Xxx Sister Porn Stories

मैं दीदी की चूचियों को मसलना शुरू कर दिया।

वे अपनी आंखें बंद करके सिसकारियां लेने लगे।

मैं दीदी की चूत चाटने लगा।

“आज मेरे पीरियड्स हैं, यहां भी गंदी है,” दीदी ने कहा।

यह सुनकर मैं क्रोधित हो गया।

मैंने दीदी को बताया कि मैं आज आपकी टट्टी भी खाऊंगा क्योंकि आपका कुछ गंदा नहीं हैं।

मैं इतना कहकर दीदी की चूत चाटने लगा।

दीदी की चूत से खून निकल रहा था।

जब मैं दीदी की चूत चाटने लगा, उसका पूरा शरीर कांपने लगा, उसका बदन पसीने से भीग गया था।

तुरंत मैंने दीदी को उल्टा करके उनकी गोरी, चिकनी, गुलाबी गांड के छेद पर जीभ लगा दी।

इसे भी पढ़ें   भाई ने अपनी सगी बहन को चोदा।

दीदी तुरंत हड़बड़ा गई।

दीदी ने कहा कि ऐसा मत करो, ये गंदी जगह हैं। यहाँ मुंह नहीं मारना चाहिए!

लेकिन मैंने दीदी की एक ना सुनी और उसे पकड़ा।

मैंने दीदी की चूत पर अपना लंड रखा।

दीदी मुझे रोकने से पहले ही मैंने जोर से झटका मारा और दीदी की सील तोड़ दी।

दीदी की जान निकल गई।

मैं दीदी को चोद रहा था जब वह रो रही थी।

उसके पैर बहुत छोटे थे।

दीदी की चूत में मेरा लंड बहुत गर्म था, इसलिए मैं उसकी चूत में झड़ गया।

दीदी होश में आई जब उसे गर्म वीर्य महसूस हुआ।

वे बहुत रोने लगी।

लकी, तुमने ऐसा कुछ किया!

दीदी की चूत से वीर्य और खून निकल रहे थे।

दीदी की चूत से पीरियड्स के दौरान इतना खून और पानी निकला कि उसके गांड के नीचे खून और वीर्य का बड़ा दाग़ बन गया।

तुमने मेरी इज्जत लूट ली, उन्होंने कहा।

फिर दीदी गाली देने लगी।

Xxx Didi Ki Hindi Sex Stories

लेकिन मैंने कुत्ते की तरह उनकी गांड चाटना शुरू किया।

मैंने दीदी की गुलाबी गांड को चाटकर साफ किया।

पलंग पर उल्टी पड़ी हुई वे अभी भी रो रही थी।

मैं दीदी के ऊपर लेट गया और उसके चूतड़ों को फैलाकर उसके गांड के छेद पर अपना लंड लगाया।

कुत्ते, अपनी औकात मत दिखाओ, वे क्रोधित होकर कही।

मैंने दीदी की गांड में एक झटके में लंड डाला, इससे पहले कि वे कुछ और कहती।

वे तिलमिलाकर रोने लगी।

दीदी की गांड फट गई, खून बह गया।

मैं गांड जोर से चोदने लगा।

फिर वे कुछ देर बाद शांत हो गई।

तब दीदी ने कहा कि अब बहुत अजीब लग रहा है।

लेकिन मैं गांड को चोदता रहा।

मैं अपने वीर्य को बाहर निकालने वाला था।

मैं दीदी की गांड में झड़ गया और उसके ऊपर लेट गया।

वे रो रही थीं।

मैंने उन्हें सीधे पकड़ा।

फिर मैंने उन्हें बाथरूम में ले जाकर उनके होंठ चूस लिया।

वहां, मैंने दीदी की चूत और गांड को साफ करके वापस कमरे में लाया।

चुदाई से वे थक गई थीं।

हम फिर सो गए, मैं भी चिपक कर सो गया।

मैं आधी रात को नींद से उठ गया तो मैंने देखा कि दीदी गांड मेरी तरफ कर रही थी।

मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया।

ये कहानी भी पढ़े –मैं और मेरी बेटी फाइनेंसर से चुदी। Hot Mom And Dauther Hindi Sex Story

मैं चुदाई करने लगा।

लेकिन दीदी सोती हुई बहुत खूबसूरत लगी।

दीदी को इतना प्यार था कि मैं उसे नहीं जगाया और उसके चूतड़ों में लंड डालकर सो गया।

अब दीदी मुझे हर दिन यौन संबंध बनाने देती थी।

मित्रों, यह मेरी दीदी की चुदाई की कहानी थी।

मुझे बताओ कि आपको ये Anal Girl Lick Xxx Kahani कैसी लगी।

कहानी पर अपनी राय देना न भूलें।

Related Posts

Report this post

मैं रिया आपके कमेंट का इंतजार कर रही हूँ, कमेंट में स्टोरी कैसी लगी जरूर बताये।

Leave a Comment