सहेली से चुदाई का चरमसुख। Lesbian Sex Story

मैं और मेरी सहेली अस्पताल में काम करते हैं, lesbian sex story में पढ़ें। मैं एक रात लॉकडाउन में अपनी सहेली के घर रुकी। हमने बहुत दिन से लंड नहीं लिया था।

नमस्कार, मेरे प्यारे!

तुम्हारी प्रिया वापस आ गई है!

दोस्तो, आपके प्यार भरे बहुत से मेल आए। अधिकांश लोगों ने बताया कि वे मेरी कहानियों को आगे भी पढ़ना चाहेंगे।

यदि आप भी अपनी कहानी इस वेबसाइट पर पब्लिक करवाना चाहते हैं तो नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके अपने कहानी हम तक भेज सकते हैं, हम आपकी कहानी आपके जानकारी को गोपनीय रखते हुए अपनी वेबसाइट पर प्रकाशित करेंगे

कहानी भेजने के लिए यहां क्लिक करें ✅ कहानी भेजें

मैं आपकी उसी अनुरोध पर अपनी lesbian sex story आपके लिए लायी हूँ।

ये लॉकडाउन में मेरे साथ हुआ।

नए पाठकों को बता दूं कि मेरा नाम प्रिया है और मैं मध्य प्रदेश से हूँ।

यह कहानी मेरी सबसे अच्छी दोस्त प्रियंका से है। हम दोनों स्कूल से ही दोस्त रहे हैं। हम दोनों एक चिकित्सा संस्थान में काम करते हैं।

Lesbian Sex Story In Hindi

मार्च में कोरोना की वजह से हमें अतिरिक्त समय पर काम करना पड़ा।

काम बहुत अधिक था और मेरा घर अस्पताल से दूर था, इसलिए घर जाने में बहुत समय लगता था।

प्रियंका और मैं एक साथ आते जाते थे।

क्योंकि कोरोना संक्रमण जारी था। तब लोग एक दूसरे से मिलने भी नहीं आ रहे थे। फिर चुदाई तो हो ही नहीं सकता था।

प्रियंका मेरी सबसे अच्छी दोस्त थी और हम दोनों में यौन संबंधों पर भी बहस होती थी। हम दोनों ने लंबे समय से चुदाई नहीं की थी।

हमें एक दूसरे के बारे में पूरी जानकारी है कि किसने किसके साथ रात बिताई है। एक दूसरे के प्रेमियों के बारे में हमें भी पता था।

मैं घटना पर आता हूँ। मैं प्रियंका को उसके घर छोड़कर अपने घर चली आया करती थी जिस दिन हमें हॉस्पिटल से बाहर आने में देर हो गई।

हम दोनों प्रियंका के कमरे में पुराने दिनों की सहेलियों की तरह बैठकर ब्लू फिल्में देख रहे थे।

स्कूल में छुप छुप कर हम दोनों बहुत सारे पोर्न वीडियो देखते थे।

मार्च, अप्रैल और मई पूरे महीने सेक्स फिल्में देखने का यह कार्यक्रम चलता रहा।

रविवार को हम रोमांटिक या पोर्न फिल्म देखते रहते हैं और बीयर पीते हैं।

उसकी चुदाई की फिल्म देखने के बाद मैं फिर अपने घर जाकर अपनी चिकनी चूत में उंगली डालकर चरम आनंद लेती थी।

हमने कुछ दिनों पहले बीयर पीते हुए एक वेब सीरीज देखी, जिसमें कुछ लेस्बियन सीन थे।

मैं आपको बता दूं कि हम दोनों बहुत पुरानी सहेलियां थीं और हमारे बीच सब कुछ खुला था। हमने पहले भी लेस्बियन सेक्स देखा है। लेकिन हमने अभी तक आपस में ऐसा कुछ नहीं किया है।

प्रियंका और मैं उस दिन जब हम फिल्म देख रहे थे, पता नहीं क्या हुआ। वह एक फिल्म देख रही थी जिसके सीन में दो सुंदर लड़कियां पूरी तरह से नंगी होकर एक दूसरे को किस करते हुए लिपट रही थीं।

प्रियंका मेरे बूब्स पर हाथ चलाने लगी, शायद इससे अधिक कुछ नहीं हो सकता था।

मैंने पूछा, लड़की, क्या कर रही है? अधिक चढ़ाई हुई क्या?

उसने कहा कि आज यह ट्राई करने की इच्छा है। लॉकडाउन खुलने के बाद ही लंड मिलेगा। हम आज ऐसा करेंगे। मुझे खुशी होगी।

इसे भी पढ़ें   मेरी कुंवारी भांजी और मेरी चुदाई

मैंने कहा कि मूवी चुपचाप देखो, तू पागल हो गया है कमीनी।

फिर वह फिल्म देखने लगी।

मगर सीन भी बहुत सेक्सी दिखने लगा। एक लड़की ने दूसरी लड़की की चूत को चाट लिया।

पहली मदहोश होकर पागल हो गई।

Indian Lesbian Sex Story

हम दोनों एक समान लेटी हुई थीं। मैं भी चिल्लाने लगी थी। मैं अपनी चूचियों को थोड़ा दबाकर मज़ा लेना चाहती थीं। अपनी चूत को सेक्स सीन देखते हुए सहला लूँ।

लेकिन प्रियंका ने मेरी जांघ पर हाथ रखा और मुझे उकसाने की कोशिश की इससे पहले कि मैं कुछ करूँ।

जब एक लड़का सीन में आता है, तो दोनों लड़कियां भी उससे मज़ा लेने लगती हैं।

अब वह बार-बार उसके लंड को चूसने लगीं, और वह एक की चूचियों को पीते हुए दूसरी की चूचियों में उंगली डालने लगा। फिर उन्होंने लड़के को नीचे लेटाकर उसके होंठों पर और कभी-कभी उसके लंड पर रगड़ने लगे।

लड़के के आने के बाद मेरी चूत और सामने लंड गर्म हो गए। साथ ही नशा भी बढ़ने लगी। अब उत्तेजना में मेरे हाथ भी प्रियंका के बड़े-बड़े चूचों पर पहुँच गए। उसके चूचे मेरे चूचे से भी भारी थे।

उसका वजन 36-30-38 है। हमने एक दूसरे की तरफ आंखों में आंखें डालकर देखा, फिर एक दूसरे की तरफ आगे बढ़कर एक दूसरे के चूचे दबाने लगे।

प्रियंका ने मुझे किस करना शुरू किया। मैंने पहले कभी किसी लड़की के होंठों को नहीं किस किया था, इसलिए मुझे अजीब लगा।

लेकिन मैं भी प्रियंका के होंठों को अपने होंठों में दबाने लगी , क्योंकि चूत की गर्मी ने मुझे गर्म कर दिया।

हम आँखें बंद करके किस देखने लगे।

प्रियंका ने फिर मेरी गर्दन को चूमा। फिर हम एक दूसरे से लिपटने लगे, ब्रा और पैंटी में बिस्तर पर बैठकर अपनी सलवार और कुर्ती उतारी।

हमारा दूध एक दूसरे से टकरा रहा था। लड़कों के साथ वह अलग अहसास था।

लेकिन दूसरी लड़की के जिस्म से सेक्स करना बहुत अलग अहसास है।

लड़के का शरीर पूरी तरह से अलग है।

प्रियंका अब मेरे होंठों को चूमने लगी और मेरी गर्दन और गले पर भी चूमने लगी।

वह मेरे चूचों को ऊपर से चूमने लगी और मेरी छाती को चूमने लगी।

मेरी चूत में पानी आ गया। मैंने प्रियंका को पकड़ा और उसके होंठों पर किस किया।

प्रियंका को गले पर किस करते हुए मैं उसके उभरे इरादे चूमने लगी।

मैंने इसके बाद उसकी ब्रा खोल दी। हमने एक दूसरे को शॉपिंग करते समय ब्रा पैंटी में कपड़े बदलते देखा। लेकिन आज उसके चूचे मेरे सामने पहली बार नंगे थे। लड़कों की मार से उसके चूचे बहुत मोटे हो गए।

फिर घुटनों पर बैठकर अपने पैर पीछे की ओर मोड़ा। मैंने उसके चूचे दबाते हुए उसको नीचे लिटा दिया। मैंने अपनी पैंट भी उतारी और उसकी पैंट भी उतारी।

अब मैंने उसके एक पैर के बीच अपना पैर फँसाया, जैसे मैंने एक फिल्म में देखा था जब हम दोनों की चूत आपस में रगड़ने लगते थे। फिर मैंने ब्रा खोली और प्रियंका की चूत रगड़ी।

इसे भी पढ़ें   देवर राजा प्यास बुझा दो

प्रियंका और मैं रोने लगे।

हम दोनों ने आह्ह जैसी आवाजें निकालीं। स्स्स..। आह..। वाह..। मैं आह..। ठीक है वाह..। वाह..। हाँ..।

Hindi Lesbian Sex Story

ऐसा करते हुए हम एक दूसरे के शरीर को सहला और रगड़ते हुए चले गए।

वह मेरी आँखों में देखकर अपने होंठों को दबा रही थी। फिर वह मेरे चूचे पर हाथ बढ़ाकर दबाने लगी। हम दोनों को आपस में चूत टकराने में बहुत मजा आ रहा था।

चूतें गर्म और आनंददायक थीं, लेकिन उनमें लंड नहीं था।

हम एक दूसरे के चूचों को दबाने में व्यस्त थे।

फिर मैं प्रियंका के चूचे चूसने लगा।

प्रियंका ने रोते हुए कहा- आह्ह। ठीक है मेरी रंडी चूस..। आहहह क्या काम कर रही है..। अच्छी तरह से चूसना..। मेरे निप्पलों पर जोरों से रगड़ो..। आह..। प्रिया रानी, चुप रहो।

मैंने उसके स्तनों को काटना और चूसना शुरू कर दिया।

प्रियंका जल्द ही मेरे ऊपर आई और फिर से होंठों पर किस करने लगे।

हम दोनों एक-दूसरे को भूल गए।

उसके चूचों के निप्पल मेरे चूचों पर बल लगा रहे थे। मैं प्रियंका के बड़े चूतड़ों पर हाथ घुमा रही थी और उन्हें रगड़ते रहने की कोशिश कर रही थी।

प्रियंका ने मेरे दूधों को चूमते हुए मेरी चूत की ओर बढ़ते हुए मेरे होंठों को चूमना बंद कर दिया।

उसने अपनी ब्रा से मेरे पैरों के पास पड़ी मेरी चूत का पानी साफ किया।

मैंने अपने पैर हवा में फैला दिए। प्रियंका अपनी चारों उंगलियों से मेरी चूत को थपथपाने लगी।

उसकी चूत ऊपर से चूम रही थी।

मैंने कहा, “रुक जाओ साहब..।” जीभ नहीं डालनी चाहिए! जल्दी से मेरी चूत में जीभ डाल दो।

प्रियंका ने मुझे बताते ही मेरी चूत चाटने लगी, जिससे उसकी गांड अब हवा में उठी हुई थी।

उसकी कमर झुकाकर उसकी गांड का गोलाकार बढ़ गया।

प्रियंका को इस समय कोई लड़का चोदता तो और मज़ा आता।

लेकिन उस समय हम एक दूसरे का सहारा थे।

प्रियंका एक हाथ से मेरी चूत में उंगली कर रही थी और दूसरा हाथ मेरी चूत के दाने को सहला रही थी।

वह ऊपर को आई और कुछ देर चूत चाटती रही। अब हम दोनों छोटी लड़कियां आपस में इतनी चिपक गईं कि पूछो मत। नागिन की तरह दोनों एक दूसरे के नंगे शरीर से लिपटने लगीं।

मैंने प्रियंका के बड़े-बड़े चूचे पकड़कर उसके मुंह में ले लिया जब वह मेरे मुंह पर बैठकर अपनी चूत रखने के लिए उठी।

वह पूरी तरह उत्साहित थी।

वह मेरे मुंह पर अपने दोनों चूचों से मालिश करने लगी। प्रियंका अपने दोनों चूचों को हिलाकर मजे ले रही थी, मेरा चेहरा उसके चूचों के बीच में था।

प्रियंका उसके बाद मेरे मुंह पर बैठ गई। प्रियंका की चूत को मैं जीभ से चाटने लगी जब वह मेरे मुंह पर अपनी चूत डाल दी।

प्रियंका मेरी अंदर बाहर की जीभ से बहुत मज़ा लेने लगी।

Lesbian Chudai Kahani In Hindi

उस समय प्रियंका का चेहरा देखने लायक था। वह मेरी जीभ से चुदवा रही थी और अपनी चूचियों को मेरे मुंह पर आगे पीछे चलवा रही थी।

इसे भी पढ़ें   दिप्प्रेस्सेद भाभी को मैं थोड़े देर के लिए खुस कर दिया | Indian Hot Bhabhi Ki Chudai

ऐसा लग रहा था कि वह मेरी जीभ से इतना मज़ा ले रही है। जैसे कोई लड़की किसी लड़के के लंड से लेती हैं।

वह तेजी से आह्ह करती थी। प्रिया..। ओह..। मेरी रानी, चलते रहो..। आह..। ओह माई गॉड..। ओह..। आह..। और अंदर घुस जाओ..। आह..। बहुत मनोरंजक है..। आह।

प्रियंका मेरे मुंह पर बैठकर मेरी जीभ से कुछ देर चुदती रही।

हम फिर 69 की पोज में आ गए। प्रियंका मेरे ऊपर लेट गई।

अब उसके मुंह के सामने मेरी चूत थी और मेरी चूत उसके मुंह के सामने थी। हम दोनों ने ऐसा ही करना शुरू किया। दोनों की जीभ एक दूसरे के चूत में घुस गई।

वह उधर से मेरे मुंह में चूत चुदवाने लगी, जब मैं अपनी गांड हिलाकर उसके मुंह में चूत डालने लगी।

हम 5 मिनट तक चूत चटाई करते रहे और बीच बीच में उंगली से चोदते रहे।

फिर प्रियंका भी उधर से झड़ गयी, जब मेरी चूत से पानी छूट गया। हम दोनों चुदाई करने के बाद शांत हो गए। फिर हमने अपनी चूतों को साफ किया।

उसके बाद हमने फैसला किया कि अगली बार कोई लड़का फंसेगा तो हम उसके साथ रहेंगे ताकि लंड की कमी भी पूरी हो जाएगी।

उस दिन मेरी सहेली के साथ मेरा पहला लेस्बियन सेक्स हुआ और अब हमारा संबंध और गहरा हो गया।

ताकि हम एक-एक करके एक दूसरे को संतुष्ट कर सकें, हमने एक डिल्डो भी ऑर्डर किया।

उस रात सब होने के बाद हम सो गए।

अगली सुबह मैं उठने पर सिर दर्द कर रहा था।

प्रियंका भी उठी।

कल रात जो हुआ उसके बाद, हम दोनों को थोड़ी शर्म भी आ रही थी।

लेकिन कुछ समय बाद सब कुछ सामान्य हो गया। फिर हम दोनों वैसे ही रहने लगे।

लेकिन रात में दो चूतों का मिलन बहुत मनोहर था।

लॉकडाउन के दौरान हम दोनों कई बार लेस्बियन संबंध बनाए।

अगली बार मैं आपको अपनी सेक्सी कहानी बताऊँगी, जिसमें मैं और प्रियंका ने कैसे और किसके साथ मस्ती की।

यदि आप मेरी और भी कहानियां पढ़ना चाहते हैं, तो कृपया इस lesbian sex story पर अपनी प्रतिक्रिया दें।

सबसे पहले, मुझे बार-बार मिलने के बारे में ईमेल न करें। मैं परेशान हूँ।

आप मेरी कहानियों को पसंद करें। मैं आपको अपनी यौन जीवन की कई कहानियां बताऊँगी।

यदि मेरे पास समय होगा, तो मैं आपकी मांग को पूरा करूँगी। सभी को धन्यवाद।

priya1rani@gmail.com पर भेजें

Related Posts

Report this post

मैं रिया आपके कमेंट का इंतजार कर रही हूँ, कमेंट में स्टोरी कैसी लगी जरूर बताये।

Leave a Comment