ट्रेन में सफर के दौरान चुद गयी | Xxx Desi Girl Hindi Sex Story

Xxx Desi Girl Hindi Sex Story, मैं शौहर के साथ ट्रेन में सफर कर रहा था। मेरी गांड को पीछे से एक अन्य आदमी धकेलने लगा। मेरा मन चुदाई करने लगा। मैं अपनी चूत की भूख कैसे बुझाऊँ?

मेरा नाम है सना। मेरे शौहर साहिल ने कुछ दिन पहले फ्री सेक्स कहानी पर अपनी कहानी पोस्ट की थी। नए पाठकों को बता देना चाहता हूँ कि मैं सेक्स का शौकीन हूँ और अपने शौहर का प्रयोग करती रहती हूँ।

हम वाराणसी में रहते हैं। मेरी उम्र 23 वर्ष है और मेरे प्रेमी की उम्र 25 वर्ष है। पुराने पाठक मेरे लेखक को जानते हैं। मैं अपने शरीर के माप से भी नए पाठकों को परिचित करवाती हूँ।

मेरे बूब्स 34 इंच के हैं। मेरे कमर ३० और गांड ३६ की हैं। मेरी मखमली गांड मेरे शौहर को बहुत पसंद है। आप लोगों ने कुछ दिन पहले एक फ्री सेक्स कहानी वेबसाइट पर शौहर-बीवी की कहानी पढ़ी होगी, जिसमें बीवी की चुदाई वीडियो दिखाई जाती है।

यदि आप भी अपनी कहानी इस वेबसाइट पर पब्लिक करवाना चाहते हैं तो नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके अपने कहानी हम तक भेज सकते हैं, हम आपकी कहानी आपके जानकारी को गोपनीय रखते हुए अपनी वेबसाइट पर प्रकाशित करेंगे

कहानी भेजने के लिए यहां क्लिक करें ✅ कहानी भेजें

हम दोनों ने पहले फेसबुक पर एक खाता बनाया था, लेकिन बाद में वह बंद हो गया। बाद में मेरे प्रेमी ने यूट्यूब चैनल बनाया, जिससे हमसे काफी लोग जुड़ गए।

Desi Hot Women Porn Kahani

जैसा कि आप सब जानते हैं, मुझे चुदने में बहुत दिलचस्पी है। मेरे प्रेमी मुझे विभिन्न पोजीशन में चोदते हैं। उनके साथ मुझे बहुत संतुष्टि मिलती है। हम लोग शौहर-बीवी में चुदाई करने का बहुत आनंद लेते हैं। सेक्स में हमेशा कुछ नया करना पसंद करते हैं।

हम दोनों इस शौक के कारण कुछ और नया करने की कोशिश करते रहते हैं। आज की कहानी भी उसी रुचि का परिणाम है। मैं अब आपका अधिक समय नहीं लेते हुए अपने अनुभवों को आपके साथ साझा करने जा रहा हूँ।

ट्रेन में सफर के दौरान चुद गयी | Xxx Desi Girl Hindi Sex Story

2019 फरवरी है। मैं और मेरे शौहर बलिया जिले में शादी करने जा रहे थे। हम लोग वाराणसी कैंट स्टेशन पर अपनी ट्रेन का इंतजार कर रहे थे।

हमें स्वतन्त्रता सेनानी एक्सप्रेस यात्रा करनी पड़ी। ट्रेन आने तक प्लेटफार्म पर काफी भीड़ थी। वहाँ बहुत भीड़ थी, इसलिए चलते पैर रखने के लिए जगह नहीं थी।

हम सब कुछ करके ट्रेन में चढ़ गए। मैं बहुत गुस्सा था, लेकिन क्या कर सकता था? उन दिनों ठंड का मौसम था, इसलिए गर्मी का उतना अनुभव नहीं हुआ।

हमारी ट्रेन 15 मिनट में गाजीपुर स्टेशन पर पहुंच गई। ट्रेन गाजीपुर पहुंचने पर रुकी। मुसाफिरों की भीड़ भी वहाँ थी। पहले से ही ट्रेन में बहुत सारे लोग थे, और गाजीपुर स्टेशन पर ट्रेन और अधिक भर गई।
मैं धक्का मुक्की में अपने शौहर से अलग हो गया। मैं दस कदम की दूरी पर चली गयी और मेरे शौहर पीछे खड़े रह गये। फिर ट्रेन फिर से चल पड़ी।

ट्रेन चलने के बाद मुझे लगता था कि मेरे चूतड़ कुछ टाइट हो गए हैं। मैंने देखा कि एक लड़का मेरी गांड से सटकर खड़ा था।

मेरी गांड पर उसका लंड सटा हुआ था। शायद उसका लिंग खड़ा हो गया था। मैं भीड़ में थोड़ा आगे खिसकने की कोशिश की। बाद में वह भी थोड़ा आराम से आगे खिसक गया। फिर वह मेरी गांड पर फिर से धकेलने लगा।

मैंने अपनी इच्छा की ओर देखा। उस लड़के की बद्तमीजी को इशारों में ही शौहर से बताया। साहिल ने मेरी तरफ देखा और मुस्कुराने लगे। मैं भीड़ से मज़ा लूंगा, यह उनका संकेत था।

Xxx Desi Lady Chudai Kahani

शौहर की अनुमति मिलने पर मैं भी खुश हो गया। तब मैं भी खेलने लगा। मैंने देखा कि वह लड़का बहाने से मेरी गांड को टच करते हुए अपनी कमर को आगे करता था। कभी-कभी हाथ से उसे छूने की कोशिश करता था, तो कभी मेरी गांड पर लंड रगड़ता था।

उसका तना हुआ लंड मेरी गांड पर स्पष्ट था। अब मैं अपनी कमर पीछे धकेल दी। उसने सोचा कि मैं भी उसकी शरारत में उसका साथ दे रहा हूँ, इसलिए वह अपने लंड को मेरी गांड के बीच में घुसने की कोशिश करने लगा।

अब उसने यकीन कर लिया कि मैं उसकी हरकत को गलत नहीं मान सकता। वह अपने लंड को मेरी गांड के बीच में घुसेड़ने की कोशिश करने लगा जब मैं कमर पीछे करती।

इसे भी पढ़ें   मैंने पड़ोस की एक जवान लड़की की बुर मारी | Vergin Girl Antarvasna Sex Story

खेल लगभग दस मिनट तक चला। मैं चुदने के लिए तैयार हो गया लगता था। अब उसने मेरी गांड पर जोर से अपना लंड डालने लगा।

सूट के ऊपर से मैंने बुर्क़ा पहना हुआ था। यही कारण था कि मैं बुर्के के ऊपर से ही उसके लंड को अपनी गांड पर महसूस कर रहा था। मैं भी बार-बार उसके लंड की ओर अपनी गांड धकेल रहा था।

फिर मौका देखकर उसने मेरी गांड पर हाथ रखा। वह मेरी गांड की गोलाइयों को हाथों से नापने लगा। मेरे चूतड़ों को दबाने लगा। मेरी गांड का साइज देखने लगा।

ट्रेन में सफर के दौरान चुद गयी | Xxx Desi Girl Hindi Sex Story

मुझे भी कोई परेशानी नहीं थी, बल्कि मुझे खुशी हो रही थी कि एक अन्य आदमी मेरी गांड का दीवाना हो गया था। वैसे भी, मेरे शौहर साहिल मेरी गांड को बहुत पसंद करते हैं।

उस लड़के के मर्दाना हाथों ने मेरे चूतड़ों को नाप लिया। लगभग दो घंटे बीत चुके थे। फिर उसने मेरी गांड पर हाथ फेरा। मैं अपने चूतड़ सहलाने लगा। मैंने भी हाथ नीचे ले जाकर पीछे कर दिया।

उसके लंड को पैंट में टटोलने लगी। उसके लंड पर मेरा हाथ पहुँचा। मैं उसके लंड को हाथ से सहलाने लगा। उसका लंड एकदम से टाइट हो गया। पूरी तरह से कड़क लग रहा था। मैं उसके लिंग को मसला।

मेरी चूत भी उसके लंड को मसलने लगी। मैंने पहनी हुई पैंटी गीली हो गई। हमारा स्टेशन भी आ गया था। मैं उतरने लगी तो उसने धीरे-धीरे मेरा नंबर कान में मांगा।

मैंने उसे फोन नंबर नहीं दिया, बल्कि उससे कहा कि वह यूट्यूब पर Xxx नाम से खोज करे। मैंने उसे अपने चैनल का नाम बताया। उन्होंने कहा कि हमारे चैनल पर हमसे जुड़े रहना चाहिए।

मैं उतर गया। लेकिन मेरी चूत भट्टी की तरह जलती थी। मैं उसके लंड से चुदवाने के लिए तैयार हो जाती अगर कोई मर्द मेरी चूत को चोदने की इच्छा करता।

Xxx Hot Girl Porn kahani

हम भी बलिया पहुंचे इसी तरह। हमने खाना खाया और कुछ किया। अगले दिन शादी हुई। लेकिन मेरी चूत में प्यास जाग गई। मैं चुदने की इच्छा रखता था। हम लोग अगले दिन शादी में पहुंचे।

शादी में सब लोग थे। मेरी चूत के दर्द में आंसू बहने लगे। मैं मर्दों के लौड़ों को ताड़ने का प्रयत्न कर रहा था। अंदर से प्यास आती थी। मेरी चूत एक मर्द का लंड चाहती थी।

लेकिन मैं किसी तरह नियंत्रण में रहा। फिर शादी का मुख्य कार्यक्रम था। जयमाल करने के लिए सभी लड़कियां स्टेज पर आ गईं।

वहाँ पर एक लड़का मुझे ऐसे घूर रहा था कि लगता था कि वह मुझे अभी चोद देगा। वह भी देखने में बहुत हैंडसम लग रहा था। वह गोरा और चौड़ा था।

मैं आपको बता दूं कि मैं 20 से 22 वर्ष के लड़के से सेक्स करना पसंद करता हूँ। जिनकी शरीर जिम बंदों की तरह है। जिसका रंग गोरा हो, मोटा हो और देखने में क्यूट सा हो। ऐसे लड़कों से चुदने के लिए मैं तुरंत तैयार हो जाऊँगा।

मैं उन लड़कों पर फिदा हो जाता हूँ जो थोड़े केयरिंग हैं। मैं अपनी चूत को उनके सामने ऐसे खोल देती हूँ कि वे मुझे हर तरह से बजा सकें। मुझे लगता था कि ये सभी गुण उस लड़के में दिखाई दे रहे थे जो मुझे घूर रहा था।

मैंने अपने शौहर से उसके साथ यौन संबंध बनाने की इच्छा व्यक्त की। उसने देखा और कहा कि यह हमारे जान-पहचान वालों में से है। यह ठीक नहीं होगा।

उस लड़के से चुदने का मेरा बहुत मन था, लेकिन शौहर ने मुझे मना कर दिया। मैं इसके बाद कुछ नहीं कर सकता था। मेरे प्रेमी साहिल मुझे बहुत सपोर्ट करते हैं और अगर हमारे रिश्ते नहीं होते तो वह मुझे उससे चुदवा देते।

मैं बहुत दुखी हो गया। फिर शौहर ने कहा कि मैं तुम्हारी मदद नहीं कर पाऊंगा, लेकिन अगर तुम खुद इसे पटाकर चुदवाना चाहते हो तो मैं तुम्हें इसे करने की अनुमति दे रहा हूँ। अब आपका काम है कि उसको कैसे पटाओ।

साथ ही, मैं नहीं देख सकता कि आप उसका लंड अपनी चूत में लेते हैं। वह घोड़ी बनकर उसके लौड़े की सवारी करती है और उसके लंड को मुंह में लेकर चूसती है। मैं इन सब को भूल जाऊंगा।

इसे भी पढ़ें   पड़ोस की सेक्सी लड़की से चुदाई का मज़्ज़ा लिया। Hot Xxx Desi Girl Ki Chudai

शौहर की बात सुनकर मैं भी निराश हो गया कि हमारी लाइव चुदाई उन्हें नहीं दिखाई देगी। यही कारण था कि मैंने उस हैंडसम लड़के से चुदवाने की कल्पना को अपने मन से बाहर कर दिया।

शादी की रस्मों की प्रथा इसी तरह चलती रही। लड़की उसके बाद चली गई। काफी देर बीत चुकी थी। मैं सुबह काफी थक गया था, इसलिए मैं जाकर सोने लगा। इसके बाद शाम को मैंने सोया।

फिर मैं नहाने गया। शावर के नीचे खड़ी होकर बिना कपड़े पहनने लगी। पानी मेरी चूचियों पर गिर रहा था। मुझे अच्छा लगने लगा। चूचियों से पानी मेरी चूत तक चला गया।

Hindi Kamukta Desi Girl Sex Story

मैं धीरे-धीरे गर्म हो गया। मैं अपनी चूत को सहलाने लगा। पानी ऊपर से गिरता रहा और मैं नीचे से अपनी चूत को सहलाती रही।

फिर मैंने अपनी बीच वाली उंगली अपनी चूत में डाल दी। मैं अपनी चूत में हाथ डालने लगी। लेकिन लंड और उंगली में अंतर है। मैं 20 मिनट तक चूत में उंगली रखकर झड़ गया।

मैं नहाकर निकल गया। मैं शाम को कजिन के साथ घूमने गया। हम दूर घूमने गए। घूमते हुए थोड़ा आगे निकल गए। वहां कुछ अजीब वातावरण था। औरतें वहां मर्दों को बुला रही थीं।

उन्हें देखकर लगता था कि वे सब रंडी हैं। सब कुछ उसने अपने लिए कस्टमर फांसने में लगाया था।
मैंने अपनी कजिन से पूछा कि ये सब कौन हैं और ये कहाँ है।
उसने कहा कि यह एक गुदड़ी बाजार है। यहाँ मर्द मजे लेने आते हैं।

ट्रेन में सफर के दौरान चुद गयी | Xxx Desi Girl Hindi Sex Story

मैंने सोचा कि यह बलिया का रेड लाइट क्षेत्र है, मैंने कजिन को टोका: मुझे यहां क्यों लाया?
“हम सिर्फ अनजाने में आ गये,” उसने कहा।
फिर हम वापस वहां जाने लगे। मैं रास्ते भर उन्हीं के बारे में सोचता रहा।

मैं यह सोचकर दुखी हो गया कि यहां पर औरतों को हर दिन नए लंड मिलते होंगे। यहाँ की औरतें बड़े, मोटे, छोटे या लम्बे लंड का स्वाद लेंगी।

मैं दो दिन तक इसी तरह का जीवन जीना चाहता था। मैं भी अपने कस्टमर को बुलाता हूँ। उनको अपनी गांड से रिझाती। अपनी मुनिया में सभी प्रकार के लंड डालती। लेकिन ये सिर्फ मेरे अनुमानों में था। ऐसा मेरे साथ नहीं होने वाला था।

फिर मैं उस रात प्यासी होकर सो गया क्योंकि मैं शादी के माहौल में शौहर के साथ चुदाई नहीं कर पा रही थी। हमें अगली सुबह घर जाना था। शादी का सारा सामान हमने इकट्ठा कर लिया था।

हम स्टेशन पर पहुंचते ही पैसेंजर ट्रेन आई। वह ट्रेन में आते समय बहुत भीड़ थी। हमें ट्रेन में चढ़ने का कोई रास्ता नहीं दिखाई दिया। मैं बहुत मुसीबत में था, लेकिन कोई और चारा नहीं था।
लोग एक दूसरे को अंदर धकेल रहे थे।

फिर मेरे शौहर ने कहा कि हम अपने सामान को लग्जेज रूम में रख देंगे।
मैं भी उनकी बात मान गया। तब हम लग्गेज डिब्बे में चले गए।

मैं और शौहर ही वहाँ थे। ट्रेन चली गई। तब मेरे शरीर पर ठंडी हवा चलने लगी।
मैंने शौहर से कहा कि यह यात्रा यादगार होगी। मैंने उनसे पूछा कि चलती ट्रेन में मेरी चुदाई क्यों नहीं करते?
उसने कहा कि विचार बुरा नहीं है।

फिर मैंने उनके निर्देशानुसार अपने सारे कपड़े निकाल दिए। मैं डिब्बे में पूरी तरह से नंगी हो गई। फिर मैंने बुर्का ऊपर से डाल दिया ताकि कोई भी आने में कोई परेशानी न हो।

मैंने एहतियातन किया, हालांकि कोई भी नहीं आया था। मैं फिर शौहर को किस करने लगी। ट्रेन तेजी से दौड़ रही थी। बहुत रोमांचक यात्रा थी।

तब मेरे प्रेमी मेरे बोबे दबाने लगे। अब मैं रोने लगा। हम दोनों बहुत उत्साहित थे। मैं पहली बार चलती हुई गाड़ी में सेक्स करने का मजा ले रहा था। आह्ह, मेरे राजा, मैं बहुत खुश हूँ। उन्माद की आहें मेरे मुंह से बह रही थीं।

मेरे शौहर ने मेरा बुर्का उठाया। उसके बाद, वे मेरी चूचियों को पीने लगे। मैं उनके चूचों को कसकर निचोड़ने लगा। मैं दस मिनट तक उनके बूब्स को चूसा और फिर नीचे बैठकर उनके लंड को चूसने लगी।

इसे भी पढ़ें   रातभर बहन की चूत में लंड रखा

ट्रेन में चलते हुए लंड चूसने में बहुत मजा आ रहा था। मैं उनके लिंग को खुशी से चूस रहा था, पुच-पुच की आवाज से। मेरे शौहर का मोटा मूसल लंड मेरे गले में घुस गया। मेरी चूत से पानी निकलने लगा।

मैं बहुत गर्म हो गया था, इसलिए मैंने अपने शौहर से कहा कि बस अब चोद दो। मैं अब रह नहीं सकता। फिर चलती ट्रेन में मुझे घोड़ी बना दिया। मेरी चूत उन्हें चूसने लगी। मैं जन्नत घूमने लगी।

Anal Lady Porn Xxx Kahani

“उम्म्ह… अहह… हय… याह..। याह..। शौहरदेव, मेरी मुनिया को देखो। बहुत दिलचस्प है।”

मेरे जानू ने फिर मेरी चूत पर लंड डाला। किसी ने मेरी जलती हुई भट्टी पर लोहा डाल दिया।

फिर वो तुरंत मेरी चूत में पानी डालने लगे। मैं रोने लगा। मैं क्रोधित होकर उनके लंड को अपने अंदर लेने लगा। तभी ट्रेन एक स्टेशन पर रुकी।

हम दोनों चले गए और मैं कपड़े से अपना बदन ढक लिया। लेकिन उस डिब्बे में कोई नहीं आया। तब हम दोनों फिर से शुरू हुए। मैं फिर से घोड़े की तरह चोदने लगे। मैं बहुत खुश था। दो दिन से मुझे प्यास लगी।

जब वह मुझे चोदने से थक गए, तो वह नीचे लेट गए और मैं उनके लंड पर बैठकर उछलने लगी। मैं खुद को जड़ तक खा रहा था। वह अपनी गर्दन उठाकर लंड लेने लगी।

फिर मेरे प्रेमी मुझे काफी समय तक गोद में उठा कर चोदने लगे। फिर कोई स्टेशन आया और चुदाई रुक गई।

ट्रेन में सफर के दौरान चुद गयी | Xxx Desi Girl Hindi Sex Story

जब ट्रेन फिर से चली, शौहर ने कहा, “अब गांड चुदाई करने का मन है।”
मैंने शौहर करने की इच्छा पर अपनी मखमली गांड उनके सामने रख दी। उन्हें एक झटके में मेरी गांड के छेद पर थूक लगाकर पूरा लंड डाल दिया।

मैं चीख पड़ी क्योंकि मैं इस बड़े झटके के लिए पूरी तरह से तैयार नहीं थी। जैसे किसी ने मेरी गांड में चाकू डाला हो।

जब मुझे दर्द होने लगा, मैं अपने प्रेमी को गाली देने लगा: “हट मादरचोद, मुझे चुदवानी नहीं है।” क्या आप जानते हैं कितना दर्द हो रहा है? कभी अपनी गांड में देखो।

मेरे प्रेमी ने मुझसे माफी मांगी। फिर वो मुझे मनाने लगे और फिर मेरी गांड में फिर से लंड डालने लगे। अबकी बार उन्होंने आराम से लंड डाला। फिर मुझे गप-गप कर चोदने लगे। मैं बहुत दुखी था। लेकिन मज़ा भी आ रहा था।

मैं अपनी चूत में हाथ डालने लगा। 15 मिनट चोदने के बाद मैं गिर गया, लेकिन वे नहीं गिरे। फिर हम भाग गए। थोड़ी देर बाद मुझे फर्श पर डाल दिया। दोनों पैरों को उठाकर मेरी चूत में गोलियां मारने लगे।

हम वाराणसी स्टेशन पर बीस मिनट की चुदाई के समाप्त होने तक पहुंच गए थे। मैंने अपने कपड़े धोए। उसने सिर्फ बुर्का पहना था। कुछ भी नहीं था।

जब हम ट्रेन से उतरे, सभी मर्द मुझे ही घूर रहे थे। फिर थोड़ी दूर आकर शौहर ने बताया कि तुम चलते हुए बुर्का गांड में फंसा हुआ था। इसलिए हर कोई तुम्हें देखता था।
मैंने आँख दबाकर कहा, “सभी को देखने दो।”

फिर हम घर चले गए।

तो यह थी ट्रेन में बीवी से चुदाई की हमारी कहानी।
क्या तुमने ट्रेन में Xxx Desi Girl Hindi Sex Story पसंद की? मुझे मेल करके सूचित करें।
मैं आपके हर संदेश का इंतजार करेंगे।

Related Posts

Report this post

मैं रिया आपके कमेंट का इंतजार कर रही हूँ, कमेंट में स्टोरी कैसी लगी जरूर बताये।

Leave a Comment