भाई के लंड का वीर्य चखी

दोस्तों, बारिश का मौसम खुशनुमा ही होता है और अगर बेड पर आप बेड पार्टनर के साथ हों तब तो कहिए कि मन प्रफुल्लित हो उठेगा लेकिन यहां जिया अपने लवर के साथ नहीं बल्कि अपने छोटे भाई अमित के साथ थी, भाई की उम्र महज १७ वर्ष तो फिलहाल अच्छे से मूंछ और दाढ़ी भी नहीं उगी है साथ ही लंबाई ५’१० इंच तो गोरा रंग लेकिन अभी मेरे सामने कहिए तो बच्चा ही है।

तो मैं २० साल की जवान लड़की और लंबाई ५’४ इंच साथ ही सांवला रंग तो संतरे समान चूचियां और गोल गद्देदार गान्ड लेकिन चूत फिलहाल पूरी तरह से परिपक्व नहीं हुई है कारण कि चूत रानी को लंड का स्वाद नहीं मिला है, तो भी चूत के दोनो फांक लालिमा लिए हुए साथ ही फुली हुईं तो छेद कम लचीला और मैं बेड पर अमित के साथ लेटे हुए थी तो उसने मेरी चूत चाट चाटकर गर्म कर दिया।

फिर उससे रस निकला तो वो चाट भी लिया और अब बगल में लेटकर मेरे जिस्म को सहलाने लगा ” जिया क्या तुम पहले भी किसी लड़के के साथ( मैं करवट हुई और उसे बाहों में लेकर चूमने लगी ) तू तो जवान हो गया, अपनी बड़ी बहन से ऐसे सवाल कर रहा है।( वो मेरी चूतड को सहलाने लगा ) फिर भी कोई तो बॉय फ्रेंड होगा या आपका आशिक
( मैं उससे लिपटकर बोली ) मेरे पीछे तो कई हैं लेकिन मैं अभी तक किसी को घांस नहीं डाली हूं।

इसे भी पढ़ें   प्यारी बहु के लिए ब्रा पेंटी खरीदा ससुर जी ने

आज पहली बार किसी का लंड इतने करीब से देखी फिर उसे चूस ली, मेरी वर्जिनिटी कायम है ” तो वो मेरे ओंठ चूमा फिर मुझे चित करके मेरे छाती के उपर चेहरा किया तो मैं खुद अपने चूची को पकड़ उसके चेहरे पर रगड़ने लगी और वो मुंह खोले चूची अंदर लिया फिर चूसने लगा, धीरे से मेरे सेक्सी जिस्म पर लेट कर चूची चूसने लगा तो उसका लंड मेरे चूत पर ठोकर मार रहा था, सोची की एक बार लंड अंदर घुसा लूं क्या, फिर लगा जल्दबाजी में चूत की सील तुड़वाना ठीक नही और उसके बाल सहलाते हुए मैं मजे ले रही थी ” उह ओह आह चूस चूसने में कोई मनाही नहीं उह बुर की खुजली ”
अमित मेरी चूची मुंह से निकाला फिर दूसरी चूची मुंह में लिए चूसने लगा तो मैं उसके बाल और पीठ सहलाते हुए तन बदन के कामुकता से जूझ रही थी वैसे भी अब तो मेरे पास विकल्प था कि किससे चूत की सील तुड़वाई जाई…. छोटा भाई या नीलेश या अभी अपने कुंवारेपन को बरकरार रखा जाए तो चूची छोड़कर वो मेरे ऊपर से उठा और मैं उसे बोली ” फ्रेश हो लो फिर तेरा चूस चूस कर निकाल दूंगी ” जिया लेटी रही और कुछ देर में अमित बेड पर आया तो बिजली भी आ गई लेकिन तेज बारिश कम होने का नाम ही नहीं ले रहा था, अब उसको लेटने बोली फिर उसके बदन पर डॉगी स्टाईल में हुई लेकिन मेरा चेहरा उसके पैर की ओर तो मेरे चूतड के नीचे उसका चेहरा, दोनों जांघें फैलाए किसी रण्डी की तरह अब योनि पूजन में लग गई

यदि आप भी अपनी कहानी इस वेबसाइट पर पब्लिक करवाना चाहते हैं तो नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके अपने कहानी हम तक भेज सकते हैं, हम आपकी कहानी आपके जानकारी को गोपनीय रखते हुए अपनी वेबसाइट पर प्रकाशित करेंगे

कहानी भेजने के लिए यहां क्लिक करें ✅ कहानी भेजें

इसे भी पढ़ें   पूजा दीदी की सील

तो मेरा भाई भी काफी समझदार था और वो मेरे चूतड को ही चूमने लगा और मैं उसके लंड पकड़ चूमने लगी, लंड की मोटाई को घुमाते हुए ओंठ से चूमने का मजा ले रही थी लेकिन अमित कुछ ज्यादा ही उत्तेजित था फिर वो मेरे चूत को फैलाया और जीभ से कुत्ते की तरह चाटने लगा तो उसके एक हाथ मेरे मुलायम बूब्स दबा रहे थे और जिया पूरा लंड मुंह में भर कुछ पल तो मुंह बन्द किए चूसती रही लेकिन फिर मुंह का झटका देते हुए मुखमैथुन करने लगी और अमित मेरे चूत से जीभ निकाला फिर अपने उंगली चूत में घुसाने लगा तो उसकी जीभ गान्ड को चाटने लगी और मेरी प्यासी मुंह लंड निकाल कर जीभ से चाटते हुए जांघ सहला रहा था ” ओह उह आह मजा आ रहा है लेकिन उंगली क्यों
( अमित बोला ) तो लंड पेल दूं सेक्सी ” मैं चुप रही और वो मेरे चूत से उंगली निकाला फिर गान्ड के छेद पर थूका और जीभ से चाटने लगा तो मुझे दुबारा चूत से रस निकलने का एहसास हुआ लेकिन फिलहाल निकल नहीं रहा था और अब मैं उसके बदन पर से उतर गई

तो अमित गुस्से में बोला ” ओह बीच में ही मजा किरकिरा कर दी ” मैं चुप रही और उसके लंड मुंह में लिए चूसने लगी तो वो अपने चूतड़ ऊपर उठाते हुए लंड से मेरी मुख चुदाई करने लगा, ये तो मस्ती की पराकाष्ठा थी तो मैं भी अपना मुंह हिलाते हुए लंड चूस रही थी और मुझे वीर्य का स्वाद चखना था इसलिए चूसती रही। अमित मेरे बाल पकड़ा फिर चूतड ऊपर करते हुए मुंह को ही चोद रहा था तो मेरे मुंह से थूक निकलने लगी और पल भर बाद वो बोला ” उह उई अब मेरा रस निकल जाएगा ” , तो मैं उसके पूरे लंड मुंह में लिए सर को स्थिर की तो लंड से वीर्य का फव्वारा निकल पड़ा, मुंह में गर्म चिपचिपा वीर्य आंनद आ गया और मुंह से लंड निकाली तो मेरे ओंठ से बदन तक पर भी वीर्य लग चुका था, अमित बोला ” तेरी एक तस्वीर खींच लूं क्या बिल्कुल धंधे वाली लग रही हो ” और मैं वाशरूम चली गई फिर फ्रेश हुई और दोनों अपने अपने बेड पर जाकर सो गए।

Related Posts

इसे भी पढ़ें   कुंवारी बहन की बुर कुंवारे भाई ने फाड़ी
Report this post

मैं रिया आपके कमेंट का इंतजार कर रही हूँ, कमेंट में स्टोरी कैसी लगी जरूर बताये।

1 thought on “भाई के लंड का वीर्य चखी”

Leave a Comment