बस मैं अनजान लड़की की चुदाई कहानी । Anjaan Ladki Ki Hindi Sex Story

Anjaan Ladki Ki Hindi Sex Story में पढ़ें कि मैं चंडीगढ़ से दिल्ली की बस में एक लड़की के साथ बैठा था। मेरे कंधे पर सर रखकर वह सो गई। हमने इसके बाद क्या किया?

मेरा नाम विनीत है। (बदला हुआ नाम) मैं चंडीगढ़ से हूँ और ३० वर्ष का हूँ।

Ladki Ki Chudai Ki kahani

आज मैं आपको एक सच्चे अनुभव की कहानी बताऊंगा।

2016 में मैं साउथ इंडिया में काम करता था।
और चंडीगढ़ से सीधे ट्रेन तब नहीं थी, इसलिए मैं दिल्ली की ट्रेन लेता था।

यदि आप भी अपनी कहानी इस वेबसाइट पर पब्लिक करवाना चाहते हैं तो नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके अपने कहानी हम तक भेज सकते हैं, हम आपकी कहानी आपके जानकारी को गोपनीय रखते हुए अपनी वेबसाइट पर प्रकाशित करेंगे

कहानी भेजने के लिए यहां क्लिक करें ✅ कहानी भेजें

यह Anjaan Ladki Ki Hindi Sex Story मार्च की है, जब मैं कुछ दिनों के लिए घर आया हुआ था और फिर अपनी जॉब पर लौटना था।
तो मैं 35 सेक्टरों से दिल्ली की बस में पिछले दरवाजे से चढ़ गया!

बस मैं अनजान लड़की की चुदाई कहानी । Anjaan Ladki Ki Hindi Sex Story

मैं बाहर के दरवाजे से तीन सीट छोड़कर बैठा था।
बस में बहुत कम लोग थे और सभी सो रहे थे।

मैंने कंडक्टर से अपना दिल्ली का टिकट लेकर बैठ गया।

बस थोड़ी कम गति से चल रहा था।
ड्राइवर ने लाइट बंद कर दी और कंडक्टर भी अपनी सीट पर जाकर आगे बैठ गया।
बस में एक नीली डिम लाइट जलती थी।

मेरे आगे से बैठी एक लड़की के पैरों पर मेरी नजर पड़ी जब मैं अपनी आरामदायक सीट पर बैठा था।
वह खुद खिड़की की ओर बैठी हुई थी और अपने पैर कुर्सी के हैंडल पर रखे हुए थे।

प्रिय, मैं आपको बता दूँ कि हर लड़का किसी लड़की के किसी अंग से आकर्षित या प्रभावित होता है।
मेरी फैंटेसी लड़कियों के पैर भी ऐसे हैं।
और जो लड़की मुझसे आगे बैठी थी, उसके गोरे और सुंदर पैर इतने खूबसूरत थे कि मुझे लगता था कि मैं तुरंत उसके पैर चाट दूँगा।

Desi Girl Xxx Hindi Sex Story

उसके पैरों पर नीली रोशनी पड़ रही थी।
वह खिड़की की ओर बैठी थी, इसलिए उसके बाल ही उसका चेहरा दिखाते थे।

बस चलते दस मिनट ही हुए थे कि एक आदमी चढ़ गया।

वह मेरे पीछे वाली सीट पर आ गया क्योंकि वह आगे वाली सीटों पर सवारी थी!

लेकिन क्योंकि वह सिर्फ रुकी थी, उसकी नींद थोड़ी खुल गई और उसने अपने पैर हैंडल से बाहर निकाले।

इसे भी पढ़ें   भैया से कैसे चुदवाये सहेली ने सिखाया

क्योंकि कोई अब बस में चढ़कर उस लड़की के पास बैठ सकता था।
तो मैं तुरंत उठकर उसकी सीट पर बैठ गया।

वह अभी भी कुछ स्थिर थी।

बस मैं अनजान लड़की की चुदाई कहानी । Anjaan Ladki Ki Hindi Sex Story

उसने लाल कुर्ती पहनी हुई थी और नीली जींस पहनी हुई थी।
बायें कंधे में एक ब्राउन कलर का पर्स और काले लंबे बालों वाली एकदम गोरी आंखों पर नजर का चश्मा पहना हुआ था।
उसकी हाइट पांच फुट पांच इंच होगी।

मेरा लन्ड टाइट खड़ा था जब मैं उसे देख रहा था।
वैसे तो मैं ब्लू जींस पहनी हुई थी, लेकिन मेरी जींस बहुत टाइट थी, जिससे मेरे खड़े लंड की शेप दिखाई देती थी।
ताकि किसी को पता न चले, मैंने अपना लैपटॉप बैग अपनी गोद में रख लिया।

थोड़ी देर बाद, वह मेरे बाएं कंधे पर अपना सर रखकर सोती रही।
जब मैं बैठा था, मैंने अपने दाएं हाथ से उसके दाएं हाथ को छुआ।

वह नींद में थी, इसलिए कोई प्रतिक्रिया नहीं हुई।

Hot Girl Antarvasna Sex Story

फिर वह थोड़ा उठ सी गई और वापस सीट पर लेट गई जब मैंने अपनी उंगलियां आगे बढ़ाई।

दस मिनट बाद, उसका माथा मेरी गर्दन से सटा हुआ मेरे कंधे पर फिर से आ गया।
तो मुझे और भी ठरक हुआ।

उसकी माथा मेरी गर्दन के नीचे थी और उसके बाल मेरे होठों पर थे।

तुम भी नहीं जान सकते कि मेरी दुर्दशा कैसी थी।

फिर मैंने सर को नीचे झुकाकर उसके माथे पर हल्का सा किस किया।

तो वह मुझे थोड़ा हिला और मेरी गर्दन फट गई, क्योंकि मैं जानता था कि अगर वह ऐसा करता था तो आज बहुत पिटेगा।
मैंने फटाफट मुंह हटा लिया।

पर ठरक कम नहीं हुआ क्योंकि उसका माथा मेरे गले से पूरी तरह चिपका हुआ था।

मैं खुद को नियंत्रित करना मुश्किल हो रहा था।
मैंने सोचा कि क्या होगा पता चलेगा।

तब मैं अपने दाएं हाथ की उंगलियां धीरे-धीरे आगे बढ़ाकर उसके दाहिने मम्मे को छूने की कोशिश करने लगा।
मैंने उसके दाएं मम्मे को अपने अंगूठे और तर्जनी उंगली से हल्का छुआ।
तो जब उसने अपनी आंखें खोल दी, मेरी गाण्ड फट पड़ी।

बस मैं अनजान लड़की की चुदाई कहानी । Anjaan Ladki Ki Hindi Sex Story

लेकिन उसने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी, बल्कि आंखें बंद कर मेरे कंधे पर सर रखकर आराम से सोने लगी।
मैं सिर्फ जानता हूँ कि वह भी खुश है।

इसे भी पढ़ें   मामा की लड़की के साथ सुहागरात (Mama ki ladki ki sath suhagraat)

तो मैं जोर से उसके मम्मे सहलाने लगा।
वह भी मजे से कुछ नहीं कर रही थी, और मेरे गले पर गर्म सांसें बह रही थीं।

यह कुछ भी नहीं कर सकते थे क्योंकि बस की लाइट बंद थी और नीली लाइट जल रही थी, और यह एक सार्वजनिक बस थी, न कि स्लीपर।
हम सिर्फ लिमिट में रहकर मज़ा ले सकते थे क्योंकि हम आगे से तीसरी सीट पर ही बैठे थे।

फिर मैंने फिर से उसके माथे पर किस किया, तो उसने आंखें बंद करके सर ऊपर कर लिया।
वह भी उसके लिप्स पर किस करना चाहती थी।

Hot Girl Xxx Desi Kahani

तो मैंने यकीन किया कि कहीं कोई नहीं देख रहा था, साथ वाली सभी सीटें, पीछे वाली सीटें और आगे वाली सीटें देखकर!
सभी लोग सो रहे थे।

फिर मैंने अपना हाथ उसकी कुर्ती में डालना चाहा और उसके लिप्स पर एक स्मूच की।
पर उसकी कुर्ती का गला तंग था, इसलिए मेरा हाथ नहीं जा सका।

वह बैठ गई और मैंने कुर्ती के नीचे से हाथ डाला और उसके पेट पर सहलाने लगा।
फिर मैं उसकी ब्रा के ऊपर से ही उसके स्तनों को दबाने लगा।

उसने और अधिक जोर से सांस लेने लगी।

मैंने फिर उसके ब्रा में हाथ डाला।
उसके मम्मे बहुत छोटे नहीं थे, लेकिन मेरी मुठ्ठी में आते थे।

मैंने उसकी चूची को खींचा तो वह रोने लगी।

फिर मैंने अपने बाएं हाथ को दाएं हाथ की उंगलियों से सहलाने लगा।
उन्होंने मेरा हाथ भी दबा दिया।

बस मैं अनजान लड़की की चुदाई कहानी । Anjaan Ladki Ki Hindi Sex Story

फिर मैंने उसका हाथ अपने लौड़े पर पकड़ा।

मैं अपनी गोद में बैग रख रहा था, इसलिए वह पैंट के ऊपर से ही मेरा लौड़ा सहलाने लगी।

फिर मैंने फिर से उसकी कुर्ती में हाथ डालकर पैंट का बटन खोला।

मैं धीरे-धीरे उसकी पैन्टी में हाथ डालने लगा।
मैंने अपनी उंगलियां गीली कर दीं।
मैंने सोचा कि उसकी चूत पहले से ही गीली थी।

इसे भी पढ़ें   Ghar Ka Maal Hindi Chudai 1 | Desi Sexy Chut Chudai

फिर मैंने अपनी बीच वाली उंगली उसकी चूत में डाली।
उसने पुसी फिंगर मास्टरबेशन का आनंद लिया और मेरी गर्दन पर काटकर अपनी आवाज़ दबा दी।

Porn Girl Free Sex Kahani

वह मेरे लौड़े को ज़ोर से दबाने लगी जब मैं अपनी उंगली धीरे-धीरे बाहर करने लगा।
उसने मेरी खिड़की खोली।

लेकिन लौड़ा उसे नहीं मिल रहा था क्योंकि मैं नीचे कच्छा पहना था।

फिर मैंने लौड़ा पकड़कर ऊपर-नीचे करने लगा।

उसकी चूत ने कुछ मिनट में ही पानी छोड़ दिया, जिससे वह ढीली हो गई और अब हल्के से मेरी मूठ मारने लगी।

मैंने हाथ निकालकर अपनी उंगलियों से उसकी चूत का नमकीन पानी चाटा।

तब मैंने हल्के से पूछा कि क्या वह लोड़ा मुंह में ले सकती है।
उसने कहा कि अभी खतरा है क्योंकि यह सार्वजनिक बस है।
मैंने कहा: ठीक है।

मेरा वीर्य निकलने वाला था जब वह मुझे मारने लगा।
मैं उसका हाथ पकड़कर तेजी से ऊपर नीचे करने लगा।

मेरा लन्ड जल्दी ही पूरा चिपक गया और उसका हाथ मेरे वीर्य से भर गया।

उसने अपने हाथ बाहर निकालकर अपनी उंगली चाटकर कुर्ती के पल्ले से साफ कर दी।

फिर उसने अपनी कुर्ती के पल्ले से ही मेरा लोड़ा धोया।

मुझे ईमेल करें अगर आप जानना चाहते हैं कि मैंने उसकी चुदाई कैसे की।।  

Vinitsharma521251@gmail.com

Read More Story…

रिश्ते वाली भाभी का फाड़ा भोसड़ा | Xxx Antarvasna Bhabhi Ki Chudai

मौसी की अन्तर्वासना सेक्स स्टोरी | Mousi Ki Antarvasna Sex Story

Related Posts

Report this post

मैं रिया आपके कमेंट का इंतजार कर रही हूँ, कमेंट में स्टोरी कैसी लगी जरूर बताये।

Leave a Comment